Submit your post

रोजाना लल्लनटॉप न्यूज चिट्ठी पाने के लिए अपना ईमेल आईडी बताएं !

Follow Us

आज मैच SA से नहीं, उस मैदान से है जहां हम केन्या से भी हारे हैं

1.05 K
शेयर्स

क्रिकेट मैप में इंडिया के सामने केन्या की टीम कहीं नहीं टिकती है. मगर दुनिया ने एक दिन उस मैच की भी गवाही दी थी जब इंडिया केन्या बन गई थी, और केन्या इंडिया. खेल के हर डिपार्टमेंट में इंडिया को चित्त कर दिया था. वो मैच था 17 अक्टूबर 2001 को साउथ अफ्रीका में पोर्ट एलिज़ाबेथ के सेंट जॉर्ज पार्क में. तीन देशों की सीरीज थी- स्टैंडर्ड बैंक सीरीज. इंडिया, केन्या औऱ साउथ अफ्रीका के बीच इस टूर्नामेंट के छठे मैच में हम हार गए थे.

केन्याई कप्तान स्टीव टिकोलो ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया. टीम इंडिया काफी कॉन्फिडेंट थी क्योंकि पिछले मैच में केन्या को महज 90 रन पर ऑल आउट कर टीम जीत चुकी थी. अब इस मुकाबले में केन्याई ओपनरों ने अपना पहला विकेट 28वें ओवर में गंवाया. तब तक स्कोर बोर्ड पर 121 रन टंग चुके थे. इनमें से एक भारतीय मूल का रविंद्र शाह था जिसने 50 रन की पारी खेली. केन्याई टीम ने 50 ओवरों में 246/6 रन जोड़ लिए.

उस मैच का वीडियो देखिए:

अब बारी थी इंडिया की. केन्याई गेंदबाज सचिन और सौरव की जोड़ी पर भारी पड़ना शुरू हो गए. इंडिया ने पहला विकेट महज 7 रन पर खो दिया. सचिन को 3 रन पर अंगारा ने बोल्ड मारा. सचिन ने जो 20 गेंदें खेलीं वो लाजवाब थीं.  इसके बाद गांगुली भी बोल्ड. इंडिया ने 100 रन पर 6 विकेट खो दिए. पूरी टीम 50 ओवर भी नहीं खेल पायी और 46.4 ओवरों में 176 पर ऑल आउट हो गई. कोई भी इंडियन बल्लेबाज 50 रन का भी आंकड़ा नहीं छू सका. टॉप स्कोरर हरभजन सिंह रहे जिन्होंने 37 रन जोड़े थे. केन्या के लिए 70 रन की ये जीत आज तक बड़ी उपलब्धि है.

pic
पोर्ट एलिजाबेथ में इंडिया की जीत का स्कोर 0/5 रहा है.

पोर्ट एलिज़ाबेथ में इंडिया ने अब तक 5 वनडे मैच खेले हैं. 4 साउथ अफ्रीका के खिलाफ और एक केन्या के खिलाफ. पांचों हारे हैं. मगर इस बार परिस्थितयां अलग हैं. अलग यूं कि 6 मैचों की इस वनडे सीरीज में इंडिया 3-1 से पहले ही आगे है. यहां इस ग्राउंड पर सीरीज जीतकर न सिर्फ साउथ अफ्रीका में पहली सीरीज जीतने का मौका है बल्कि इस मैदान पर भी अपना पहला मैच जीतने की उम्मीद है.


Also Read:

वीडियो : इमरान ताहिर पर मैदान में किये गए घटिया कमेंट्स

श्रीसंत के हाथों छक्का खाने वाला आंद्रे नेल अब कोहली को ललकार रहा है

रोहित शर्मा सुधर जाएं, वरना U-19 चैंपियन टीम का ये लड़का उनकी जगह खा जाएगा

काश! उस दिन सचिन के बल्ले से 12 रन और निकल जाते

लल्लनटॉप न्यूज चिट्ठी पाने के लिए अपना ईमेल आईडी बताएं !

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

कौन हो तुम

Quiz: आप भोले बाबा के कितने बड़े भक्त हो

भगवान शंकर के बारे में इन सवालों का जवाब दे लिया तो समझो गंगा नहा लिया

साउथ अफ्रीका की हरी जर्सी देख कर शिखर धवन को हो क्या जाता है!

बेबी को बेस, धवन को साउथ अफ्रीका पसंद है.

क्या आखिरी एपिसोड में टॉम ऐंड जेरी ने आत्महत्या कर ली?

टॉम ऐंड जेरी में कभी खून नहीं दिखाया गया था, सिवाय इस एपिसोड के.

क्विज: आईपीएल में डिविलियर्स सबसे पहले किस टीम से खेले थे?

भीषण बल्लेबाज़ एबी डिविलियर्स के फैन होने का दावा है तो ये क्विज खेलके दिखाओ.

क्विज़: योगी आदित्यनाथ के पास कितने लाइसेंसी असलहे हैं?

योगी आदित्यनाथ के बारे में जानते हो, तो आओ ये क्विज़ खेलो.

देशों और उनकी राजधानी के ऊपर ये क्विज़ आसान तो है मगर थोड़ा ट्रिकी भी है!

सारे सुने हुए देश और शहर हैं मगर उत्तर देते वक्त माइंड कन्फ्यूज़ हो जाता है

क्विज: अरविंद केजरीवाल के बारे में कितना जानते हैं आप?

अरविंद केजरीवाल के बारे में जानते हो, तो ये क्विज खेलो.

आमिर पर अगर ये क्विज़ नहीं खेला तो डुगना लगान देना परेगा

म्हारा आमिर, सारुक-सलमान से कम है के?

रजनीकांत के फैन हो तो साबित करो, ये क्विज खेल के

और आज तो मौका भी है, थलैवा नेता जो बन गए हैं.

फवाद पर ये क्विज खेलना राष्ट्रद्रोह नहीं है

फवाद खान के बर्थडे पर सपेसल.

न्यू मॉन्क

जब पृथ्वी का अंत खोजने के लफड़े में लापता हुए शिव के 1005 साले!

दुनिया का अंत खोजने के चक्कर में नारद को मिला ऐसा श्राप कि सुट्ट रह गए बाबा जी.

कृष्ण की 16,108 पत्नियों की कहानी

पत्नी सत्यभामा की हेल्प से पहले किया राक्षस का काम तमाम. फिर अपनी शरण में ले लिया उसकी कैद में बंद लड़कियों को.

ब्रह्मा की हरकतों से इतने परेशान हुए शिव कि उनका सिर धड़ से अलग कर दिया

बड़े काम की जानकारी, सीधे ब्रह्मदारण्यक उपनिषद से.

जब एक-दूसरे को मारकर खाने लगे शिव के बच्चे

ब्रह्मा जी ने सोचा कि सृष्टि को आगे बढ़ाने की ज़िम्मेदारी शंकर जी को सौंप दी जाए. पर ये फैसला गलत साबित हुआ.

शिव-पार्वती ने क्यों छोड़ा हिमालय पर्वत?

जब अपनी ही मां से नाराज हुईं पार्वती.

सावन से जुड़े झूठ, जिन पर भरोसा किया तो भगवान शिव माफ नहीं करेंगे

भोलेनाथ की नजरों से कुछ भी नहीं छिपता.

स्वयंवर से पहले ही एक दूजे के हो चुके थे शिव-पार्वती

हिमालयपुत्री पार्वती ने जन्म के कुछ समय बाद ही घोर तपस्या शुरू कर दी. मकसद था-शिव को पाना.

इस ब्रह्मांड में कैसे पैदा हुआ था चांद!

चांद सी महबूबा और चंदा मामा का गाना गाने से पहले ये तो जान लो. कि चंद्रमा बना कैसे.

इंसानों का पहला नायक, जिसके आगे धरती ने किया सरेंडर

और इसी तरह पहली बार हुआ इंसानों के खाने का ठोस इंतजाम. किस्सा है ब्रह्म पुराण का.

इस गांव में द्रौपदी ने की थी छठ पूजा

छठ पर्व आने वाला है. महाभारत का छठ कनेक्शन ये है.