Submit your post

Follow Us

उत्तर प्रदेश से अलग राज्य बनाने की ख़बरों का सच क्या है?

लखनऊ और दिल्ली के बीच माहौल में तनाव वाली चर्चाएं कई दिनों से सियासी गलियारों में हैं. कयास लगाए जा रहे थे कि यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ से पीएम मोदी और अमित शाह की कुछ अनबन चल रही है. इन कयासों के बीच गुरुवार को सीएम योगी आदित्यनाथ दिल्ली पहुंचे. कल उन्होंने गृह मंत्री अमित शाह से मुलाकात की. और आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मिले. दोनों के बीच एक घंटे तक बैठक चली. इसके बाद योगी आदित्यनाथ पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा से भी मिलने पहुंचे.

तो इन मुलाकातों के मायने क्या हैं? सूत्रों से छनकर मीडिया तक आ रही खबरों के मुताबिक अगले चुनाव में यूपी जीतने की रणनीति बन रही है. पिछले दिनों आरएसएस और बीजेपी नेतृत्व ने यूपी से फीडबैक लिया था. फीडबैक में ये सामने आया कि कोरोना की दूसरी लहर में कुप्रबंधन से यूपी सरकार की छवि खराब हुई है. लोगों में नाराज़गी है और नुकसान 100 सीटों तक का हो सकता है. इसीलिए बीजेपी अपना घर दुरुस्त करने में लगी है. जिसका एक हिस्सा हो सकता है मंत्रिमंडल में फेरबदल. कुछ नए सहयोगियों को मंत्रिमंडल में लिया जा सकता है. बीजेपी में ये महसूस किया जा रहा है कि पिछले चार साल में सहयोगी दलों को बिल्कुल महत्व नहीं दिया गया. ओमप्रकाश राजभर इसीलिए छोड़ कर चले गए. अब अपना दल और निषाद पार्टी को मनाने का प्रयास हो रहा है. कल अमित शाह से अनुप्रिया पटेल और संजय निषाद की मुलाकात हुई थी. उन्हें मंत्रिमंडल और कुछ सरकारी पदों से नवाजा जा सकता है. ये ही विषयवस्तु योगी आदित्यनाथ की पीएम मोदी और अमित शाह के साथ बैठक में रही होगी, ऐसे अनुमान लगाए जा रहे हैं.

जितिन प्रसाद योगी मंत्रिमंडल में शामिल होंगे?

खबरें हैं कि कांग्रेस से बीजेपी में शामिल हुए जितिन प्रसाद को भी योगी मंत्रिमंडल में शामिल किया जा सकता है. बीजेपी को उत्तर प्रदेश में एक मजबूत ब्राह्मण चेहरे की तलाश है और ये खाली जगह बीजेपी जितिन प्रसाद से भरने की कोशिश में है. उत्तर प्रदेश में जुलाई में 5 विधान परिषद सीटों के लिए चुनाव होने हैं. जितिन प्रसाद को एमएलसी बनाया जा सकता है.

मंत्रिमंडल में फेरबदल वाली खबरों के साथ ए के शर्मा का नाम भी आ जाता है. गुजरात कैडर के पूर्व आईएएस अफसर. पीएम मोदी और अमित शाह के भरोसेमंद कहे जाते हैं. एमएलसी बनाए जाने के बाद से उन्हें योगी कैबिनेट में शामिल करने की चर्चा थी. लेकिन ऐसा हुआ नहीं. अब नए घटनाक्रमों के बाद फिर से उनका नाम लिया जा रहा है. एके शर्मा की सक्रियता इन दिनों यूपी में बीजेपी का गठबंधन मैनेज करने में भी दिख रही है. कभी उनके निषाद पार्टी के नेताओं से मिलने की खबर आती है, कभी वो अनुप्रिया पटेल से मिलते हैं. यानी यूपी में बीजेपी की सियासत में उनका दायरा और कद दोनों बढ़ रहे हैं. और अब मंत्री पद भी उनको मिल सकता है, ऐसी चर्चाएं हैं.

इस तरह की अटकलों के बीच एक खबर और चली. कि मोदी सरकार उत्तर प्रदेश राज्य को दो हिस्सों में बांटने की तैयारी में है. दैनिक भास्कर अखबार ने अपने सूत्रों के हवाले से खबर छापी कि पूर्वांचल को अलग राज्य बनाने की कवायद है. गोरखपुर समेत पूर्वी यूपी के कई ज़िलों को मिलाकर पूर्वांचल बनाया जा सकता है. लेकिन योगी आदित्यनाथ इसके विरोध में हैं. भास्कर के मुताबिक इसी बात पर योगी आदित्यनाथ और गृह मंत्री अमित शाह में अनबन है. हालांकि यूपी के विभाजन वाली बात में कोई दम नहीं दिखता है. हम जानते हैं कि राज्य का विभाजन एक लंबी प्रक्रिया है. पहले विधानसभा विभाजन का प्रस्ताव पास करती है. फिर केंद्र के पास भेजा जाता है. केंद्र बंटवारे को लेकर कमीशन बनाता है. कमिशन की रिपोर्ट आती है. फिर राष्ट्रपति संसद को राज्य पुनर्गठन बिल लाने के लिए कहता है. और संसद बिल पास करती है तब जाकर कहीं नया राज्य बनता है. कोई वजह नहीं दिखती कि बीजेपी यूपी चुनाव से राज्य के विभाजन जैसा कुछ करेगी. ना तो अलग पूर्वांचल की मांग इतनी मजबूत है, और ना ही बीजेपी का इसमें कोई सियासी फायदा अभी दिख रहा है. तो इसे हम विशुद्ध कयास ही मान सकते हैं.

यूपी के बाद अब राजस्थान की तरफ चलते हैं

जितिन पटेल के कांग्रेस में जाने के बाद से सबसे ज़्यादा हलचल बढ़ी राजस्थान में. सचिन पायलट के गुट ने अपनी नाराज़गी जाहिर करना शुरू कर दिया. आगे क्या करना है ये वाली मंत्रणा भी सचिन पायलट के गुट में चल रही है. आज जयपुर में सचिन पायलट ने तेल की बढ़ी हुई कीमतों के खिलाफ प्रदर्शन किया. प्रदर्शन में उनके खेमे के कई और भी विधायक थे. गहलोत सरकार नाराज़ होकर विधायक पद से इस्तीफा देने वाले वरिष्ठ कांग्रेस नेता हेमाराम चौधरी भी पायलट के साथ हैं. इस बीच खबर आई कि सचिन पायलट ने यूपी की बीजेपी नेता रीता बहुगुणा जोशी से बात की है. हालांकि इस पर सवाल के जवाब में सचिन पायलट ने तंज के लहजे में कहा कि शायद उन्होंने सचिन तेंडुलकर से बात की होगी.

अनुमान ये लगाया जा रहा है कि सचिन पायलट नाराज़ ज़रूर हैं लेकिन बीजेपी में शामिल नहीं होना चाहते. सूत्रों के मुताबिक वो मंत्रिमंडल में फेरबदल चाहते हैं जिसका वादा उनसे पहले किया भी गया था. उनके खेमे के 5-6 मंत्री वो गहलोत के कैबिनेट में चाहते हैं. खबरें आ रही हैं कि कांग्रेस के हाईकमान ने उनकी नाराज़गी का संज्ञान लेकर समझाइश की कोशिश शुरू कर दी है. उन्हें दिल्ली बुलाया गया है. इस बीच ये भी खबर है कि जल्द ही अशोक गहलोत मंत्रिमंडल में फेरबदल कर सकते हैं. और कुल मिलाकर कांग्रेस इस संकट को मैनेज करती दिख रही है.


विडियो- यूपी ATS ने बताया, रोहिंग्या कैसे आ रहे और ये पूरा काम अंतरराष्ट्रीय गिरोह करता है?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

कौन हो तुम

माधुरी से डायरेक्ट बोलो 'हम आपके हैं फैन'

माधुरी से डायरेक्ट बोलो 'हम आपके हैं फैन'

आज जानते हो किसका हैप्पी बड्डे है? माधुरी दीक्षित का. अपन आपका फैन मीटर जांचेंगे. ये क्विज खेलो.

जिन मीम्स को सोशल मीडिया पर शेयर कर चौड़े होते हैं, उनका इतिहास तो जान लीजिए

जिन मीम्स को सोशल मीडिया पर शेयर कर चौड़े होते हैं, उनका इतिहास तो जान लीजिए

कौन सा था वो पहला मीम जो इत्तेफाक से दुनिया में आया?

पार्टियों को चुनाव निशान के आधार पर पहचानते हैं आप?

पार्टियों को चुनाव निशान के आधार पर पहचानते हैं आप?

चुनावी माहौल में क्विज़ खेलिए और बताइए कितना स्कोर हुआ.

लगातार दो फिफ्टी मारने वाले कोहली ने अब कहां झंडे गाड़ दिए?

लगातार दो फिफ्टी मारने वाले कोहली ने अब कहां झंडे गाड़ दिए?

राहुल के साथ यहां भी गड़बड़ हो गई.

रोहित शेट्टी के ऊपर ऐसी कड़क Quiz और कहां पाओगे?

रोहित शेट्टी के ऊपर ऐसी कड़क Quiz और कहां पाओगे?

14 मार्च को बड्डे होता है. ये तो सब जानते हैं, और क्या जानते हो आके बताओ. अरे आओ तो.

आमिर पर अगर ये क्विज़ नहीं खेला तो दोगुना लगान देना पड़ेगा

आमिर पर अगर ये क्विज़ नहीं खेला तो दोगुना लगान देना पड़ेगा

म्हारा आमिर, सारुक-सलमान से कम है के?

परफेक्शनिस्ट आमिर पर क्विज़ खेलो और साबित करो कितने जाबड़ फैन हो

परफेक्शनिस्ट आमिर पर क्विज़ खेलो और साबित करो कितने जाबड़ फैन हो

आज आमिर खान का हैप्पी बड्डे है. कित्ता मालूम है उनके बारे में?

अनुपम खेर को ट्विटर और वॉट्सऐप वीडियो के अलावा भी ध्यान से देखा है तो ये क्विज खेलो

अनुपम खेर को ट्विटर और वॉट्सऐप वीडियो के अलावा भी ध्यान से देखा है तो ये क्विज खेलो

चेक करो अनुपम खेर पर अपना ज्ञान.

कहानी राहुल वैद्य की, जो हमेशा जीत से एक बिलांग पीछे रह जाते हैं

कहानी राहुल वैद्य की, जो हमेशा जीत से एक बिलांग पीछे रह जाते हैं

'इंडियन आइडल' से लेकर 'बिग बॉस' तक सोलह साल हो गए लेकिन किस्मत नहीं बदली.

गायों के बारे में कितना जानते हैं आप? ज़रा देखें तो...

गायों के बारे में कितना जानते हैं आप? ज़रा देखें तो...

कितने नंबर आए बताते जाइएगा.