Submit your post

Follow Us

दुनिया के सबसे ताकतवर धर्मगुरु पोप का चुनाव कैसे होता है, जान लीजिए

नेटफ्लिक्स पर एक मूवी है Two Popes. यह फिल्म पूर्व पोप बेनेडिक्ट और पोप फ्रांसिस के रिश्ते पर बनी है. फिल्म के एक सीन में अर्जेंटीना मूल के पोप फ्रांसिस, पोप बेनेडिक्ट से कहते हैं-

दुनिया के सारे तानाशाह चुनने की हमारी आजादी को छीनना चाहते हैं. हम दोनों इस बात को अच्छी तरह से जानते हैं…

तो इस चुनने की आजादी का मामला ही चर्च और पोप के चुनाव में सबसे अहम है. पोप यानी दुनिया के सबसे ताकतवर धर्मगुरु. आइए जानते हैं, क्या है पोप को चुने जाने की प्रक्रिया, और किस तरह से दुनिया के सामने नए पोप का ऐलान होता है.

आज ये मसला क्यों?

पोप का चुनाव अभी नहीं होना है, लेकिन जो लोग पोप को चुनने का काम करते हैं, उन वोटरों का नॉमिनेशन हुआ है. इन्हें कार्डिनल कहते हैं. पोप ने 13 नए कार्डिनल्स का ऐलान किया है, जो 8 देशों के हैं. इनमें विल्टन ग्रेगरी भी हैं, जो वॉशिंगटन डीसी के आर्चबिशप हैं. यह पहली बार है, जब किसी अफ्रीकन-अमेरिकी को कार्डिनल घोषित किया गया है. अमेरिका में चल रहे नस्लभेद विरोधी अभियान ब्लैक लाइव्स मैटर के मद्देनजर इसे बड़ी बात माना जा रहा है.

कैथोलिक धर्म में कार्डिनलों का बहुत अहम स्थान होता है. दुनिया भर में 184 कार्डिनल हैं. इनमें से पांच भारत के हैं. ये कार्डिनल उस देश में कैथलिक धर्म के बड़े गुरु के समान होते हैं. कार्डिनल में से ही पोप का चुनाव किया जाता है.

पोप को सलाह देने के लिए 9 सदस्यों की एक कार्डिनल काउंसिल होती है. इसका काम पोप को विभिन्न मामलों पर राय देना है. हाल ही में पोप फ्रांसिस ने एक बार फिर मुंबई के आर्चबिशप कार्डिनल ओस्वाल्ड ग्रैसियस को इस कार्डिनल काउंसिल का मेंबर नॉमिनेट किया है.

Sale(300)
मुंबई के आर्चबिशप ओस्वाल्ड ग्रैसियस को पोप फ्रांसिस ने अपने करीबी सलाहकार मंडल में फिर से चुना है.

पोप के बारे में नहीं पता तो जान लीजिए

ईसा मसीह के बाद कैथलिक धर्म के सबसे बड़े पद को पोप कहा जाता है. इसका शाब्दिक मतलब होता है पापा यानी पिता. पोप कैथलिक ईसाइयों के सबसे बड़े धर्मगुरु होते हैं. दुनिया में एक देश है वेटिकन सिटी. सबसे छोटा, लेकिन यहीं से पोप का राजकाज चलता है.

कितने दिन पर होते हैं पोप के इलेक्शन?

पोप वैसे तो ताउम्र पोप रहते हैं. लेकिन पिछले पोप बेनेडिक्ट ने 2013 में पद से इस्तीफा दे दिया था. पिछले 600 साल के इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ था, जब किसी पोप ने खुद पद छोड़ा. उसके बाद ही मौजूदा पोप फ्रांसिस का चुनाव हुआ था.

कौन बन सकता है पोप?

# कोई भी पुरुष, जो कैथलिक हो और जिसका बपतिस्मा हो चुका हो, वह पोप बन सकता है. बपतिस्मा एक कैथलिक रीति है, जिसके बाद ही कोई कैथलिक कहलाता है. चर्च के नियमों से साफ है कि कोई महिला पोप नहीं बन सकती. हालांकि कहा जाता है कि मध्य काल में एक बार एक महिला ने पुरुषों के कपड़े पहनकर पोप का कामकाज देखा था. इस विषय पर 2009 में ‘पोप युआन ‘ (Pope Joan) नाम से एक फिल्म भी बन चुकी है.

कैसे होता है पोप का चुनाव?

पोप का चुनाव की प्रक्रिया बेहद गोपनीय और काफी जटिल होती है. चर्च के नियमों के अनुसार, पोप के इलेक्शन में कार्डिनल वोट देते हैं. लेकिन 80 साल से ज्यादा उम्र के कार्डिनल वोट नहीं दे सकते.

# दुनिया भर के कार्डिनलों का समूह पोप कॉनक्लेव के लिए वैटिकन में जमा होता है. फिर वोटिंग के जरिए पोप को चुना जाता है. इसके लिए पहले से कोई नाम प्रस्तावित नहीं होता.

# पोप चुनने की प्रक्रिया सिस्टीन चैपल में चलती है. इस दौरान कार्डिनल बाहर की दुनिया से कटे रहते हैं. आपको लग सकता है कि कोई अंदर से ट्वीट करके बता ही सकता है. इसकी कोई उम्मीद नहीं है क्योंकि भीतर न तो फोन और न ही ईमेल करने की इजाजत होती है.

# यह आम पॉलिटिकल इलेक्शन से अलग होता है. कोई भी कार्डिनल किसी पोप के नाम का प्रचार या नारेबाजी नहीं कर सकता. लेकिन इसके बाद भी नए पोप के नाम पर मीडिया में अटकलबाजी होती रहती है. पिछली बार के पोप इलेक्शन में घाना के पीटर टुर्कसन और नाइजीरिया के जॉन ओनाइकेन के नामों की चर्चा चल रही थी. अश्वेत पोप चुने जाने की ऐतिहासिक घटना का मीडिया भी इंतजार कर रही थी, लेकिन ऐसा नहीं हुआ.

# वोटिंग में शामिल कार्डिनल को गोपनीयता की शपथ लेनी पड़ती है कि वे पोप के लिए इस वोटिंग की कोई भी जानकारी दुनिया के सामने सार्वजनिक नहीं करेंगे.

Sale(301)
पोप के चुनाव की प्रक्रिया काफी लंबी और जटिल होती हैं. इसमें दुनियाभर के कार्डिनल भाग लेते हैं.

ये सफेद धुएं का क्या चक्कर है?

# बाहरी दुनिया को वेटिकन सिटी के चर्च की चिमनी से निकलने वाले धुएं से पता चलता है कि पोप का चुनाव कहां तक पहुंचा है. हर राउंड के बाद बैलट को विशेष रसायन के साथ फरनेस में डाला जाता है. काला धुआं मतलब प्रक्रिया अभी चल रही है. सफेद धुआं होने का संकेत होता है कि पोप का चयन हो गया.

# हर कार्डिनल दिन में चार बार वोट डालता है. हर कार्डिनल बैलट पर अपना मत लिखकर शपथ लेता है और प्लेट में रख देता है.

# वोटों को गिनने का काम स्कूटनियर करते हैं. वह गिनकर वोट दूसरी प्लेट में रखता है. यह भी सुनिश्चित करता है कि सभी कार्डिनल्स ने वोट दिए हों.

# स्क्रूटनियर हर बैलट से नाम नोट करके दूसरे को देगा. दूसरा स्क्रूटनियर भी यही काम करेगा.

# तीसरा स्क्रूटनियर हर नाम को जोर-जोर से कॉन्क्लेव में बोलेगा और प्रत्येक बैलट को सुई से एक धागे में पिरोता जाएगा.

# अगर किसी भी नाम पर दो-तिहाई बहुमत नहीं मिल पाता है, तो सिस्टीन चैपल में जमा कार्डिनल मामूली बहुमत के फॉर्मूले पर भी राजी हो सकते हैं.

Sale(303)
सिस्टीन चैपल यानी वेटिकन सिटी के चर्च से पोप के इलेक्शन के वक्त जब सफेद धुआं निकलता है तो आम जनता को पता चल जाता है कि नया पोप चुन लिया गया है.

# हर चक्र की वोटिंग के बाद कार्डिनल के बैलट पेपर को जला दिया जाता है. सिस्टीन चैपल की चिमनी से इसके बाद धुआं निकलता है. अगर किसी को बहुमत नहीं मिल पाता, तो इस आग में कुछ ऐसा मिला दिया जाता है, जिससे काला धुआं निकले.

# यह काम तब तक चलता रहता है किसी एक पोप को दो तिहाई बहुमत न मिल जाए. लेकिन अगर सफेद धुआं निकला तो उसका मतलब होता है कि नए पोप का चुनाव हो गया है.

# इसके बाद पोप के रूप में चुने गए व्यक्ति के नए नाम का चयन किया जाता है. मतलब उनके असली नाम के अलावा पोप के तौर पर उनका नाम. मिसाल के तौर पर वर्तमान पोप का असली नाम जॉर्ज मारियो बर्गोल्लियो है. लेकिन उन्हें पोप फ्रांसिस कहा जाता है. हालांकि कोई भी पहले पोप ‘पीटर द एपोसल’ का नाम नहीं चुन सकता.

# प्रक्रिया पूरी होने के बाद वेटिकन सिटी के चर्च बैसिलिका की बालकनी से घोषणा की जाती है कि ‘नए पोप मिल गए हैं’. यह ऐलान उच्च पदस्थ कार्डिनल करते हैं. उसके बाद पोप खिड़की पर आते हैं और लोगों को नया पोप मिल जाता है.


वीडियो – पोप फ्रांसिस ने नाबालिग से रेप करने वाले पादरी को धार्मिक जिम्मेदारियों से बेदखल कर दिया

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

कौन हो तुम

क्विज़: नुसरत फतेह अली खान को दिल से सुना है, तो इन सवालों का जवाब दो

आज बड्डे है.

ये क्विज जीत नहीं पाए तो तुम्हारा बचपन बेकार गया

आज कार्टून नेटवर्क का हैपी बड्डे है.

रणबीर कपूर की मम्मी उन्हें किस नाम से बुलाती हैं?

आज यानी 28 सितंबर को उनका जन्मदिन होता है. खेलिए क्विज.

करीना कपूर के फैन हो तो इ वाला क्विज खेल के दिखाओ जरा

बेबो वो बेबो. क्विज उसकी खेलो. सवाल हम लिख लाए. गलत जवाब देकर डांट झेलो.

रवनीत सिंह बिट्टू, कांग्रेस का वो सांसद जिसने एक केंद्रीय मंत्री के इस्तीफे का प्लॉट तैयार कर दिया!

17 सितंबर को किसानों के मुद्दे पर बिट्टू ऐसा बोल गए कि सियासत में हलचल मच गई.

मोदी जी का बड्डे मना लिया? अब क्विज़ खेलकर देखो उनको कितना जानते हो मितरों

अच्छे नंबर चइये कि नइ चइये?

KBC में करोड़पति बनाने वाले इन सवालों का जवाब जानते हो कि नहीं, यहां चेक कर लो

करोड़पति बनने का हुनर चेक कल्लो.

विधायक विजय मिश्रा, जिन्हें यूपी पुलिस लाने लगी तो बेटियां बोलीं- गाड़ी नहीं पलटनी चाहिए

चलिए, विधायक जी की कन्नी-काटी जानते हैं.

नेशनल हैंडलूम डे: और ये है चित्र देखो, साड़ी पहचानो वाली क्विज

कभी सोचा नहीं होगा कि लल्लन साड़ियों पर भी क्विज बना सकता है. खेलो औऱ स्कोर करो.

सौरव गांगुली पर क्विज़!

सौरव गांगुली पर क्विज़. अपना ज्ञान यहां चेक कल्लो!