Submit your post

Follow Us

कितनी बारिश होगी, ये बताने वाले एल नीन्यो और ला निन्या क्या हैं?

भारत में अगस्त के महीने में औसत से करीब 25 फीसदी ज्यादा बारिश हुई. इससे जुलाई में हुई कम बारिश की भरपाई हो गई. जुलाई में औसत से करीब 10 फीसदी कम बारिश हुई थी. आप कहेंगे, हमें क्या मतलब. हमें तो बस गिरती बारिश के वीडियो बनाकर इन्स्टाग्राम पर डालने से मतलब है. इसलिए बता रहे हैं, क्योंकि इन्स्टाग्राम के लिए ये तस्वीरें आपको आने वाले कई दिनों तक मिल सकती हैं. क्योंकि कुछ मौसम वैज्ञानिकों का कहना है कि इस साल भारत में मानसून देर से लौट सकता है. इसकी वजह से सितंबर में ज्यादा बारिश हो सकती है. ये भी कहा जा रहा है कि इससे इस बार ठंड भी ज्यादा पड़ेगी. और इसके पीछे कारण बताया जा रहा है ला-निन्या को.

कौन हैं ये निन्या दीदी? और कैसे ले आती हैं ये हमारे हिस्से की बारिशें, समझेंगे आसान भाषा में.

बारिश कैसे होती है

सबसे पहले रैपर श्री बादशाह जी को याद करेंगे और कहेंगे ‘हाय गर्मी’. यही कहती है धरती भी, जब तापमान बढ़ता है. तापमान बढ़ता है, तो हमारी वॉटर बॉडीज, जैसे समुद्र, नदी, झील, तालाब, सबका पानी भाप बनकर ऊपर उठता है. आसमान में जाता है. ऊपर जाकर ये पानी जमा हो जाता है, क्योंकि ऊपर तापमान कम रहता है. यही वाष्प जब इकट्ठा हो जाता है, तो बारिश कराता है. धरती का तापमान जितना बढ़ेगा, बारिश उतनी ज्यादा होगी. मान लीजिए कि मई-जून के मौसम में जब गर्मी पड़नी थी, तब नहीं पड़ी. ऐसे में जुलाई में होने वाली बारिश कम हो जाएगी.

बाढ़ की प्रतीकात्मक तस्वीर
बाढ़ की प्रतीकात्मक तस्वीर

क्रोनोलॉजी समझिए

सामान्य परिस्थितियों में क्या होता है-

#जब गर्मी पड़ती है, भारत का भूभाग गर्म होता. गर्मी तो पानी पर भी पड़ती है. लेकिन पानी और धरती के मिज़ाज अलग-अलग होते हैं. ठीक वैसे ही जैसे आपका और आपके प्रेमी या प्रेमिका का. खैर.

#तो धरती झट से गर्म होती है. लेकिन पानी ठंडा बना रहता है.

#गर्म धरती के ऊपर की हवा भी गर्म हो जाती है. हवा भी गर्म होने पर ऊपर उठती है.

#ऊपर उठती हवा नीचे लो प्रेशर बनाती है. इतने में समुद्री हवाएं चल पड़ती हैं, हाई से लो प्रेशर की ओर.

#अब हवा क्यों बहती है, ये तो साइंस का भारी मसला है. किसी और दफ़ा समझाएंगे उसको. आप बस ये समझें कि जब समुद्री हवाएं आती हैं, तो साथ में लाती हैं नमी. इससे होती है बारिश.

लेकिन अभी तक हम निन्या दीदी तक नहीं पहुंचे हैं. क्योंकि हमारे रास्ते में खड़ा है नीन्यो. अब ये नीन्यो, निन्या का रिश्ते में क्या लगता है. ये तो अपनी-अपनी श्रद्धा है. आप जो भी मानें.

बात एल नीन्यो की

#मैप में आपने प्रशांत महासागर यानी पसिफ़िक ओशन देखा होगा. ये एकदम पश्चिम में भी दिखता है और एकदम पूरब में भी. वजह? दुनिया गोल है रे बांगड़ू. ग्लोब में देखिये. प्रशांत महासागर के ईस्ट में दिखेगा नॉर्थ और साउथ अमेरका. वेस्ट में दिखेगा ऑस्ट्रेलिया और साउथ एशिया.

World Map

#ग्लोब में देखेंगे, तो ये भी पाएंगे कि पसिफ़िक ओशन से गुज़र रही है इक्वेटर की रेखा. यानी यहां पड़ती है जमकर गर्मी. इससे समुद्र का एक हिस्सा हो जाता है काफी गरम.

#अब दक्षिण अमेरिका के पश्चिमी तट से चलती है ट्रेड विंड. और आती है ऑस्ट्रेलिया के पूर्वी तट तक. ट्रेड विंड यानी व्यापारिक हवा. व्यापारिक क्यों? क्योंकि ये पुराने ज़माने में व्यापारियों को, जो समुद्र के रास्ते ट्रेवल करते थे, की मदद करती थी.

#ये ट्रेड विंड गरम हो रखे पानी को ऑस्ट्रेलिया की ओर ले आती हैं. ऑस्ट्रेलिया के तट से गरम और नम हवा ऊपर उठती है. ऊपर जाकर ठंडी हो जाती है. और फिर पूरब यानी दक्षिण अमेरिका की ओर बहने लगती है. ऐसे हवा का पूरा चक्का कम्प्लीट हो जाता है. और बन जाती है हवा की साइकिल.

#इस तरह ऑस्ट्रेलिया के पूर्वी तट पर रहती हैं गर्म धाराएं. और दक्षिण अमेरिका के पश्चिमी तट पर रहती हैं ठंडी धाराएं. इन्हें अंग्रेजी में कहते हैं- ओशन करेंट. दक्षिण अमेरिका के पश्चिमी तट पर- यानी चिली, पेरू और इक्वडोर के तट की ओर रहता है हम्बोल्ट करेंट. जैसा कि हमने बताया ये ठंडा करेंट होता है. और तमाम तरह की मछलियों का घर है ये.

#जब तक हम्बोल्ट करेंट ठीक है, तब तक सब ठीक है. मछलियां, मौसम, हम और ये धरती.

लेकिन ये सामान्य परिस्थितियां हैं. इन्हें बिगाड़ने आता है एक नटखट बालक. जिसका स्पैनिश नाम है एल नीन्यो.

एल नीन्यो क्या करता है?

#पसिफ़िक में बहने वाली ट्रेड विंड कभी कभी कमज़ोर पड़ जाती हैं. और गरम धाराएं ऑस्ट्रेलिया की ओर न बहकर जमा हो जाती हैं दक्षिण अमेरिका के पश्चिमी तट पर. और यहां करवाती है भारी बारिश. बस इन्हीं गरम धाराओं को कहते हैं एल नीन्यो.

#अब हवाएं अपनी सारी नमी दक्षिण अमेरिका के पश्चिमी तट पर ही बरसा देती हैं. तो ऑस्ट्रेलिया की ओर जाती है सूखी हवा. इससे उस इलाके में नमी की बेहद कमी हो जाती है. इसका सीधा असर पड़ता है इंडिया के मॉनसून पर.

Pedestrians holding umbrellas walk through a market during monsoon rains in Mumbai

तो एक नटखट बालक आता है. और हमारी बारिशें चुरा लेता है. और हर बार की तरह, दुनिया को एक लड़की बचा लेती है. नाम ला-निन्या.
ला निन्या का काम है हवाओं को फिर पहले जैसा चलाना. हमने आपको बताया था न. नॉर्मल परिस्थितियों में हवा कैसे चलती है. वैसा ही हो जाता है सबकुछ. यानी कमज़ोर पड़ी व्यापारिक हवाओं को फिर से मजबूती मिल जाती है.

तो एल नीन्यो और ला निन्या असल में कोई भौतिक चीज़ नहीं, बल्कि मौसमी इवेंट्स के नाम हैं.

मेट्रोलॉजी स्काईमेट वेदर सर्विस के जीपी शर्मा लल्लनटॉप से बताते हैं-

“एल नीन्यो से बारिश कम होती है. ला निन्या से ज्यादा होती है. इस साल ला निन्या अभी हुआ नहीं है. अंडर वॉच है. प्रोसेस शुरू हो जाए, तो उसे अंडर वॉच रख देते हैं. तो फिलहाल ला निन्या अंडर वॉच है. ला निन्या है, तो हम ये भी उम्मीद करते हैं कि ठंड थोड़ी ज्यादा रहेगी.”

तो ये थे वो बालक-बालिका, जो हजारों मील दूर से हमारे किसानों का भविष्य तय कर देते हैं. हमारी सड़कों का वर्तमान भी तय कर देते हैं. वैसे तो पसिफ़िक ओशन की हवाओं के इस सिस्टम में तमाम और चीजें भी हैं. लेकिन उसमें अगर हम घुसे, तो मामला बहुत फंस जाएगा. क्या आप इसमें कुछ जोड़ना चाहते हैं? तो कमेंट सेक्शन में लिखें. कोई गलती हो, तो वो भी बताएं. सिखाने के साथ-साथ इसी तरह सीखते रहेंगे हम और आप आसान भाषा में. ये जानकारी लाए थे मेरे साथी डेविड. मेरा नाम सौरभ है. शुक्रिया.


क्या है वाइल्डलाइफ प्रोटेक्शन एक्ट, जिसके तहत आप मोर नहीं पाल सकते

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

कौन हो तुम

विधायक विजय मिश्रा, जिन्हें यूपी पुलिस लाने लगी तो बेटियां बोलीं- गाड़ी नहीं पलटनी चाहिए

चलिए, विधायक जी की कन्नी-काटी जानते हैं.

नेशनल हैंडलूम डे: और ये है चित्र देखो, साड़ी पहचानो वाली क्विज

कभी सोचा नहीं होगा कि लल्लन साड़ियों पर भी क्विज बना सकता है. खेलो औऱ स्कोर करो.

सौरव गांगुली पर क्विज़!

सौरव गांगुली पर क्विज़. अपना ज्ञान यहां चेक कल्लो!

कॉन्ट्रोवर्सियल पेंटर एमएफ हुसैन के बारे में कितना जानते हैं आप, ये क्विज खेलकर बताइये

एमएफ हुसैन की पेंटिंग और विवाद के बारे में तो गूगल करके आपने खूब जान लिया. अब ज़रा यहां कलाकारी दिखाइए.

'हिटमैन' रोहित शर्मा को आप कितना जानते हैं, ये क्विज़ खेलकर बताइए

आज 33 साल के हो गए हैं रोहित शर्मा.

क्विज़: खून में दौड़ती है देशभक्ति? तो जलियांवाला बाग के 10 सवालों के जवाब दो

जलियांवाला बाग कांड के बारे में अपनी जानकारी आप भी चेक कर लीजिए.

बजट का कितना ज्ञान है, ये क्विज़ खेलकर चेक कर लो!

कितना नंबर पाया, बताते हुए जाना. #Budget2020

संविधान के कितने बड़े जानकार हैं आप?

ये क्विज़ जीत लिया तो आप जीनियस हुए.

क्रिकेट के पक्के वाले फैन हो तो इस क्विज़ को जीतकर बताओ

कित्ता नंबर मिला, सच-सच बताना.

सलमान खान के फैन, इधर आओ क्विज खेल के बताओ

क्विज में सही जवाब देने वाले के लिए एक खास इनाम है.