Submit your post

Follow Us

'कनकशन' टेस्ट क्या होता है जिसमें स्टीव स्मिथ फेल हो गए और उन्हें मैदान से बाहर जाना पड़ा?

एशेज सीरीज़ जारी है. सीरीज़ के पहले मैच को ऑस्ट्रेलिया ने 251 रनों से जीता था. दूसरे मैच में ऑस्ट्रेलिया का बुरा हाल रहा लेकिन टीम मैच ड्रा करवा ले गई. इस मैच में इंग्लैंड ने पहली पारी में 258 रन बनाए और ऑस्ट्रेलियाई टीम 250 रन बनाकर सिमट गई. दूसरी पारी में इंग्लैंड ने 5 विकेट पर 258 रन बनाकर पारी घोषित कर दी. 267 रन को चेज़ करते हुए ऑस्ट्रेलियाई टीम 6 विकेट पर 154 रन बना सकी और मैच ड्रा रहा.

इस मैच में स्टीव स्मिथ को लेकर खूब बातें हो रही हैं. हुआ ये था कि ऑस्ट्रेलिया की टीम पहली इनिंग्स में बैटिंग कर रही थी. 77वें ओवर की दूसरी गेंद पर स्मिथ बैटिंग कर रहे थे. जोफ्रा आर्चर की 148.7 किलोमीटर प्रति घंटे स्पीड वाली बाउंसर ने स्मिथ की गर्दन को चोटिल किया और उन्हें 80 रन पर रिटायर हर्ट होना पड़ा. पीटर सीडल के आउट होने बाद स्मिथ फिर से बैटिंग को आए. अपनी पारी में 12 रन और जोड़कर 92 रन बनाकर आउट हो गए. ये टेस्ट मैच का चौथा दिन था. इसके बाद वह पूरे मैच में मैदान में नहीं दिखे. स्मिथ की जगह मार्नस लाबुशेन को मौका मिला. दूसरी पारी में बैटिंग को आए लाबुशेन ने मौके को भुनाया और 59 रन बनाए और मैच ड्रा कराने में अहम रोल निभाया. लेकिन ऐसा हुआ कैसे? चलते मैच में एक प्लेयर कैसे दूसरे को रिप्लेस कर सकता है? उनका ‘कनकशन’ टेस्ट हुआ. अगर इस टेस्ट में वह फिट पाए जाते तो मैदान में उतरते लेकिन फिट नहीं उतरे तो मैदान से बाहर ही रहे.

मार्नस लाबुशेन (फोटो: ट्विटर | क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया)
मार्नस लाबुशेन (फोटो: ट्विटर | क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया)

अब ये ‘कनकशन’ टेस्ट क्या होता है?

हम सालों से क्रिकेट देख रहे हैं लेकिन क्रिकेट के इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ है जब किसी टेस्ट मैच की पहली इनिंग्स में कोई और बैट्समन बैटिंग करने को उतरा हो और दूसरी इनिंग्स में उसकी जगह कोई और बैट्समन. ऐसा इसलिए हुआ कि क्रिकेट की माय-बाप संस्था आईसीसी ने 1 अगस्त से नियमों में कुछ बदलाव किए हैं.

नए नियम की शुरुआत इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के बीच एशेज सीरीज से हुई है. नए नियम के तहत अगर कोई खिलाड़ी चोटिल होता है तो उसकी जगह कोई दूसरा खिलाड़ी ले सकता है. आईसीसी ने कहा कि जैसा खिलाड़ी होगा उसकी जगह दूसरा खिलाड़ी भी वैसा ही होना चाहिए. आसान भाषा में इसका मतलब यह है कि अगर कोई बॉलर चोटिल होता है तो उसकी जगह नया बॉलर आएगा और बैट्समन की जगह बैट्समन ही लेगा. इसके लिए मैच रेफरी की इजाज़त लेनी होगी. स्टीव स्मिथ के केस में भी मैच रेफरी रंजन मदुगले की इजाज़त लेनी पड़ी थी. इससे पहले किसी भी मैच में किसी खिलाड़ी के चोटिल होने पर सबस्टीट्यूट प्लेयर सिर्फ फील्डिंग कर सकता था लेकिन अब पूरे मैच में भाग ले सकता है.

ऐसे चोटिल हुए थे स्टीव स्मिथ. वीडियो देखिए.

‘कनकशन’ टेस्ट के बारे में विस्तार से जानते हैं

हरेक क्रिकेट बोर्ड का ‘कनकशन’ टेस्ट का तरीका अलग-अलग है लेकिन मूल में यही है कि अगर खिलाड़ी ‘कनकशन’ टेस्ट में फेल होते हैं तो वह आगे मैच नहीं खेल सकेंगे और अगर ‘कनकशन’ टेस्ट में पास होते हैं तो वह मैच खेल सकते हैं. स्मिथ के केस में क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया के नियम क्या कहते हैं?

‘कनकशन’ टेस्ट को लेकर क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया का कहना है कि अगर किसी खिलाड़ी के सिर या गर्दन पर चोट लगती है, तो मूवमेंट का एसेसमेंट किया जाना चाहिए. मैदान से ही एसेसमेंट की शुरुआत होती है और देखा जाता है कि कितनी चोट है. क्या खिलाड़ी को चक्कर आ रहा है? सिर दर्द है? कॉन्शियसनेस में है या नहीं? क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया की पॉलिसी मुताबिक, मेडिकल स्टाफ चेक करते हैं कि कनकशन के ठोस संकेत हैं या नहीं.

यदि इससे भी आगे की एसेसमेंट की जरुरत होती है, तो खिलाड़ी को SCAT5 या CogSport टेस्ट के जरिए और भी टेस्ट के लिए खिलाड़ी को मैदान से बाहर ले जाया जाता है. अब आप पूछेंगे किये SCAT5 और CogSport क्या होता है?

SCAT5 बोले तो स्पोर्ट कनकशन एसेसमेंट टूल. कनकशन के लिए इसे स्टैण्डर्ड टूल माना जाता है. इस टूल के जरिए कई छोटे-छोटे टेस्ट लिए जाते हैं. इस टेस्ट को 10 मिनट में पूरा कर लिया जाता है. इस टेस्ट को फीफा, ओलंपिक्स, रग्बी जैसे खेल टूर्नामेंट में भी इस्तेमाल किया जाता है. कॉगस्पोर्ट एक कंप्यूटर प्रोग्राम है जो ‘कंप्यूटर-बेस्ड न्यूरोसाइकोलॉजिकल’ टेस्ट के लिए डिजाइन किया गया है. इसके जरिए खिलाड़ियों में कुछ भी हुए परिवर्तन का पता लगाया जा सकता है.

अभी हाल ही में, वर्ल्ड कप में न्यूज़ीलैंड और अफ़गानिस्तान के साथ मैच में राशिद खान को हेलमेट पर बॉल लगी थी और इसके बाद उन्होंने न्यूज़ीलैंड के साथ मैच में बॉलिंग नहीं की थी क्योंकि वह कनकशन टेस्ट में फेल हो गए थे. लेकिन उस वक्त आईसीसी नियमों के मुताबिक सबस्टीट्यूट प्लेयर राशिद की जगह सिर्फ फील्डिंग कर सकते थे.

Rashid Khan
वर्ल्ड कप 2019 में अफ़गानिस्तान के राशिद खान को भी ‘कंकशन’ टेस्ट से गुजरना पड़ा था. (फोटो: रॉयटर्स)

वीडियो- रवि शास्त्री बने रहेंगे भारतीय क्रिकेट टीम के कोच, लोगों ने कहा- कोहली का सिक्का चल गया

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

कौन हो तुम

'मनी हाइस्ट' की खतरनाक इंस्पेक्टर अलिशिया, जिन्होंने असल में भी मीडिया के सामने उत्पात किया था

'मनी हाइस्ट' की खतरनाक इंस्पेक्टर अलिशिया, जिन्होंने असल में भी मीडिया के सामने उत्पात किया था

सब सही होता तो, टोक्यो या मोनिका में से एक रोल करती नजवा उर्फ़ अलिशिया.

कहानी 'मनी हाइस्ट' वाली नैरोबी की, जिन्होंने कभी इंडियन लड़की का किरदार करके धूम मचा दी थी

कहानी 'मनी हाइस्ट' वाली नैरोबी की, जिन्होंने कभी इंडियन लड़की का किरदार करके धूम मचा दी थी

जानिए क्या है नैरोबी उर्फ़ अल्बा फ्लोरेस का इंडियन कनेक्शन और कौन है उनका फेवरेट को-स्टार?

10 साल पहले भी शाहरुख़ का समीर वानखेड़े से सामना हुआ था, समीर ने ठोका था तगड़ा जुर्माना

10 साल पहले भी शाहरुख़ का समीर वानखेड़े से सामना हुआ था, समीर ने ठोका था तगड़ा जुर्माना

जगह थी मुंबई एयरपोर्ट. अब दस साल बाद फिर से दोनों का नाम एक साथ सुर्ख़ियों में है.

'स्क्विड गेम' के प्लेयर नंबर 199 'अली' की कहानी, जिनके इंडियन होने ने सीरीज़ में एक्स्ट्रा मज़ा दिया

'स्क्विड गेम' के प्लेयर नंबर 199 'अली' की कहानी, जिनके इंडियन होने ने सीरीज़ में एक्स्ट्रा मज़ा दिया

अली का रोल करने वाले इंडियन एक्टर अनुपम त्रिपाठी का सलमान-शाहरुख़ कनेक्शन क्या है?

IPL का कित्ता ज्ञान है, ये क़्विज़ खेलकर चेक कल्लो!

IPL का कित्ता ज्ञान है, ये क़्विज़ खेलकर चेक कल्लो!

ईमानदारी से स्कोर भी बताते जाना. हम इंतज़ार करेंगे.

'मनी हाइस्ट' वाले प्रोफेसर की पूरी कहानी, जिनकी पत्नी ने कहा था, 'कभी फेमस नहीं हो पाओगे'

'मनी हाइस्ट' वाले प्रोफेसर की पूरी कहानी, जिनकी पत्नी ने कहा था, 'कभी फेमस नहीं हो पाओगे'

अलवारो मोर्टे ने वेटर तक का काम किया हुआ है. और एक वक्त तो ऐसा था कि बकौल उनके कैंसर से जान जाने वाली थी.

एक्टर शरत सक्सेना की कहानी, जिन्होंने 71 साल की उम्र में ज़बरदस्त बॉडी बनाकर सबको चौंका दिया

एक्टर शरत सक्सेना की कहानी, जिन्होंने 71 साल की उम्र में ज़बरदस्त बॉडी बनाकर सबको चौंका दिया

हीरो बनने आए शरत सक्सेना कैसे गुंडे का चमचा बनने पर मजबूर हुए?

'भीगे होंठ तेरे' वाले कुणाल गांजावाला आजकल कहाँ हैं?

'भीगे होंठ तेरे' वाले कुणाल गांजावाला आजकल कहाँ हैं?

एक वक़्त इंडस्ट्री में टॉप पर थे कुणाल और उनके गाने पार्टियों की जान हुआ करते थे.

राज कुंद्रा की पूरी कहानी, 18 की उम्र में शॉल बेचने से शुरुआत करने वाले राज यहां तक कैसे पहुंचे?

राज कुंद्रा की पूरी कहानी, 18 की उम्र में शॉल बेचने से शुरुआत करने वाले राज यहां तक कैसे पहुंचे?

IPL स्कैंडल, मॉडल्स के आरोप, अंडरवर्ल्ड कनेक्शंस के आरोप, एक्स वाइफ के इल्ज़ाम सब हैं इस कहानी में.

रिचर्ड ब्रैनसन: जिन्होंने पहले अंतरिक्ष के दर्शन करके जेफ बेजोस का मजा खराब कर दिया

रिचर्ड ब्रैनसन: जिन्होंने पहले अंतरिक्ष के दर्शन करके जेफ बेजोस का मजा खराब कर दिया

रिचर्ड ब्रेन्सन की कहानी, जहां भी गए तहलका मचा दिया.