Submit your post

Follow Us

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ वनडे सीरीज से भारत को क्या मिला?

भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच तीन मैचों की वनडे सीरीज खत्म हो चुकी है. ऑस्ट्रेलिया ने 2-1 से सीरीज अपने नाम कर ली. आखिरी वनडे में भारतीय महिला टीम ने ऑस्ट्रेलिया को दो विकेट से हरा दिया. और इस जीत के साथ ही भारत ने ऑस्ट्रेलिया के विजय रथ पर ब्रेक भी लगा दिया.

बता दें कि मेग लेनिंग की टीम पिछले 26 वनडे मैच से अजेय चल रही थी. टॉस जीतकर बल्लेबाजी करने उतरी ऑस्ट्रेलियाई टीम ने एश गार्डनर और बेथ मूनी के पचासे के दम पर 264 रन बनाए और मेहमान टीम को जीत के लिए 265 रन का लक्ष्य दिया. इससे पहले भारत ने कभी भी इतने बड़े लक्ष्य को हासिल नहीं किया था.

लेकिन 26 सितंबर को इतिहास लिखा जाना था. शफाली वर्मा, यस्तिका भाटिया के पचासे के दम पर भारत ने आठ विकेट खोकर ऐतिहासिक जीत हासिल की. 37 रन देकर तीन विकेट चटकाने वाली झूलन गोस्वामी को प्लेयर ऑफ द मैच के अवॉर्ड से नवाजा गया.

बहरहाल, तीन मैचों की वनडे सीरीज में दोनों टीमों के खिलाड़ियों ने शानदार प्रदर्शन किया. और अच्छी बात ये है कि फरवरी में होने वाले महिला विश्वकप को देखते हुए दोनों टीमों ने नए चेहरों को मौका दिया. आइये बात करते हैं कि वनडे सीरीज से भारतीय महिला टीम को क्या मिला?

#Yastika Bhatia

ये कहना अतिशयोक्ति होगी कि यस्तिका भाटिया नंबर तीन के लिए बेस्ट हैं. लेकिन तीसरे वनडे मैच में जिस तरह 21 साल की इस बल्लेबाज ने दिलेरी दिखाई, और लगभग 93 के स्ट्राइक रेट से 64 रन की पारी खेली, वो काबिल-ए-तारीफ है. यस्तिका ने इंटेंट दिखाया, जिसकी सख्त जरूरत टीम इंडिया के बल्लेबाजों को है. तीन वनडे मैचों में यस्तिका ने 102 रन बनाए. मंधाना के बाद वह भारत की तरफ से दूसरी लीडिंग रन स्कोरर रहीं. मिडल ऑर्डर में जेमाइमा के बाद यस्तिका भाटिया के रूप में एक बढ़िया विकल्प मिला है.

#Richa Ghosh

नई विकेटकीपर बल्लेबाज हैं. ऋचा को मौका विकेटकीपिंग की वजह से नहीं बल्कि पावर हिटिंग एबिलिटी की वजह से मिला. इस बात में कोई शक नहीं कि ऋचा घोष में बड़े शॉट्स लगाने का माद्दा है. लेकिन उन्हें विकेटकीपिंग सुधारनी होगी. या फिर तानिया भाटिया को विकेटकीपिंग सौंपकर ऋचा को फिनिशर के तौर पर तैयार किया जा सकता है.

अब फिनिशर में आप हरमनप्रीत कौर का नाम मत लीजियेगा. क्योंकि बीते तीन सालों में उनका स्ट्राइक रेट और फॉर्म माशाअल्लाह है.

# Pooja Vastrakar

झूलन गोस्वामी के बाद कौन? इस सवाल का जवाब भारत को हर हाल में ढूंढना पड़ेगा. और जवाब पूजा वस्त्राकर हो सकती हैं. बशर्ते मैनेजमेंट को पूजा पर भरोसा दिखाना होगा. ये नहीं कि एक सीरीज खराब प्रदर्शन किया तो बाहर कर दो.

भारत के पेस अटैक में झूलन गोस्वामी के अलावा शिखा पांडे हैं. विश्वकप न्यूजीलैंड की पिच पर खेला जाना है. ऐसे में पूजा वस्त्राकर तीसरी पेसर के रूप में बेहतर ऑप्शन हो सकती हैं.

# Mithali Raj

मिताली राज लेजेंड हैं और उन्होंने भारतीय टीम को काफी सालों से अपने कंधे पर ढोया है. लेकिन ये टुक-टुक खेलने का जमाना नहीं है. मिताली राज के साथ सबसे बड़ी दिक्कत स्ट्राइक रेट की है. साल 2018 के बाद से मिताली ने 32 वनडे पारियों में 1201 रन बनाए हैं. एवरेज 50 का रहा है. इस दौरान उन्होंने एक शतक और 10 अर्धशतक लगाया है. लेकिन स्ट्राइक रेट 62 का रहा है.

भारत के जीते हुए 18 मैचों की 16 पारियों में मिताली ने 584 रन बनाए. पांच पचासे जरूर लगाए है. लेकिन इस दौरान उनका स्ट्राइक रेट सिर्फ 59 का रहा है. वहीं हारे हुए 16 मैचों में मिताली ने एक शतक और पांच अर्धशतक लगाए हैं. इस दौरान उनका एवरेज 44 का और स्ट्राइक रेट 66 का रहा है. अच्छी बात है कि मिताली राज एक छोर को थामे रखती हैं. लेकिन उनकी वजह से रन की रफ़्तार पर ब्रेक लग जाता है. और दूसरे खिलाड़ियों पर दबाव बढ़ता है.

# फील्डिंग और फिटनेस खराब

मिताली राज की अगुवाई वाली भारतीय टीम ने दूसरे और तीसरे मैच में प्रदर्शन अच्छा किया. अगर दूसरे वनडे मैच में नो बॉल न होती तो शायद सीरीज का रिजल्ट भी भारत के फेवर में होता. लेकिन हमें इस पर भी ध्यान देना होगा कि इसमें कितनी सच्चाई है? तीनों वनडे मैचों में भारत की फील्डिंग का स्तर बेहद घटिया रहा. कई मिसफील्ड हुए.

खिलाड़ियों ने आसान कैच छोड़े. रन आउट के मौक़े गंवाए. फिटनेस लेवल बेहद खराब रहा. आप इंटरनेशनल क्रिकेट की टॉप टीम से ऐसी उम्मीद नहीं कर सकते हैं. विश्वकप से पहले टीम इंडिया के मैनेजमेंट को सबसे ज्यादा फील्डिंग और फिटनेस पर काम करना होगा. क्योंकि यही छोटी-छोटी चीजें जीत और हार का अंतर पैदा करती है.


IPL 2021: रुतुराज ने ऐसा क्या कमाल कर दिया कि वो धोनी-रोहित से आगे निकल गए?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

कौन हो तुम

10 साल पहले भी शाहरुख़ का समीर वानखेड़े से सामना हुआ था, समीर ने ठोका था तगड़ा जुर्माना

10 साल पहले भी शाहरुख़ का समीर वानखेड़े से सामना हुआ था, समीर ने ठोका था तगड़ा जुर्माना

जगह थी मुंबई एयरपोर्ट. अब दस साल बाद फिर से दोनों का नाम एक साथ सुर्ख़ियों में है.

'स्क्विड गेम' के प्लेयर नंबर 199 'अली' की कहानी, जिनके इंडियन होने ने सीरीज़ में एक्स्ट्रा मज़ा दिया

'स्क्विड गेम' के प्लेयर नंबर 199 'अली' की कहानी, जिनके इंडियन होने ने सीरीज़ में एक्स्ट्रा मज़ा दिया

अली का रोल करने वाले इंडियन एक्टर अनुपम त्रिपाठी का सलमान-शाहरुख़ कनेक्शन क्या है?

IPL का कित्ता ज्ञान है, ये क़्विज़ खेलकर चेक कल्लो!

IPL का कित्ता ज्ञान है, ये क़्विज़ खेलकर चेक कल्लो!

ईमानदारी से स्कोर भी बताते जाना. हम इंतज़ार करेंगे.

'मनी हाइस्ट' वाले प्रोफेसर की पूरी कहानी, जिनकी पत्नी ने कहा था, 'कभी फेमस नहीं हो पाओगे'

'मनी हाइस्ट' वाले प्रोफेसर की पूरी कहानी, जिनकी पत्नी ने कहा था, 'कभी फेमस नहीं हो पाओगे'

अलवारो मोर्टे ने वेटर तक का काम किया हुआ है. और एक वक्त तो ऐसा था कि बकौल उनके कैंसर से जान जाने वाली थी.

एक्टर शरत सक्सेना की कहानी, जिन्होंने 71 साल की उम्र में ज़बरदस्त बॉडी बनाकर सबको चौंका दिया

एक्टर शरत सक्सेना की कहानी, जिन्होंने 71 साल की उम्र में ज़बरदस्त बॉडी बनाकर सबको चौंका दिया

हीरो बनने आए शरत सक्सेना कैसे गुंडे का चमचा बनने पर मजबूर हुए?

'भीगे होंठ तेरे' वाले कुणाल गांजावाला आजकल कहाँ हैं?

'भीगे होंठ तेरे' वाले कुणाल गांजावाला आजकल कहाँ हैं?

एक वक़्त इंडस्ट्री में टॉप पर थे कुणाल और उनके गाने पार्टियों की जान हुआ करते थे.

राज कुंद्रा की पूरी कहानी, 18 की उम्र में शॉल बेचने से शुरुआत करने वाले राज यहां तक कैसे पहुंचे?

राज कुंद्रा की पूरी कहानी, 18 की उम्र में शॉल बेचने से शुरुआत करने वाले राज यहां तक कैसे पहुंचे?

IPL स्कैंडल, मॉडल्स के आरोप, अंडरवर्ल्ड कनेक्शंस के आरोप, एक्स वाइफ के इल्ज़ाम सब हैं इस कहानी में.

रिचर्ड ब्रैनसन: जिन्होंने पहले अंतरिक्ष के दर्शन करके जेफ बेजोस का मजा खराब कर दिया

रिचर्ड ब्रैनसन: जिन्होंने पहले अंतरिक्ष के दर्शन करके जेफ बेजोस का मजा खराब कर दिया

रिचर्ड ब्रेन्सन की कहानी, जहां भी गए तहलका मचा दिया.

'सिंघम' IPS से तमिलनाडु BJP के सबसे युवा अध्यक्ष बने अन्नामलाई की कहानी

'सिंघम' IPS से तमिलनाडु BJP के सबसे युवा अध्यक्ष बने अन्नामलाई की कहानी

पहला चुनाव हार गए थे, बीजेपी ने राज्य की जिम्मेदारी सौंपी है.

'तड़प-तड़प के' जैसा प्रेमियों का ब्रेकअप एंथम देने वाले सिंगर के के आजकल कहां हैं?

'तड़प-तड़प के' जैसा प्रेमियों का ब्रेकअप एंथम देने वाले सिंगर के के आजकल कहां हैं?

उनके गाए 'पल' गाने के बगैर आज भी किसी कॉलेज का फेयरवेल पूरा नहीं होता.