Submit your post

Follow Us

पुलिस ने विकास दुबे और उसके गैंग के लोगों को एक-एक करके कैसे मारा?

विकास दुबे की 10 जुलाई की सुबह पुलिस मुठभेड़ में मौत हो गयी. 2-3 जुलाई की रात से लेकर अब तक इस पूरे मामले में पुलिस ने विकास दुबे समेत छह लोगों को मार दिया है. इस पूरे मामले में जो भी डिटेल आयीं, वो पुलिस के हवाले आयीं. पुलिस ने विकास दुबे गैंग के कथित सदस्यों के बारे में जो कहानी बताई, वो कुछ यूं है.

प्रेम प्रकाश पांडे और अतुल दुबे

एनकाउंटर का दिन : 3 जुलाई

प्रेम प्रकाश पांडे रिश्ते में विकास दुबे का मामा लगता था. सूत्रों के हवाले से आ रही ख़बर की मानें तो विकास ने गिरफ्तारी के बाद बताया था कि बिकरू गांव में हुई घटना के समय उसके मामा प्रेमप्रकाश के ही घर में CO देवेंद्र मिश्र को मारा गया था. घटना के कुछ ही घंटों के भीतर पुलिस ने इलाक़े की तफ़्तीश शुरू की. विकास और उसके कई साथी भागकर दूसरे ठिकानों की ओर जा चुके थे, लेकिन पुलिस के अनुसार, प्रेम प्रकाश और अतुल बिकरु गांव के जंगल में ही छिपे हुए थे. हथियार से लैस थे. पुलिस ने घेरा और दोनों ओर से फ़ायरिंग शुरू हुई. ख़बरों की मानें, तो प्रेम प्रकाश को तीन गोलियां लगीं, जबकि अतुल को नौ. दोनों ही मौक़े पर ख़त्म हो गए. इस घटना में तीन पुलिसकर्मी भी घायल हुए.

अमर दुबे

एनकाउंटर का दिन : 8 जुलाई 

विकास दुबे के साथ अमर दुबे (बाएं)

अमर दुबे विकास दुबे का ख़ास था. उसका गनर. उस पर दबाव बनाने के लिए पहले ही उसकी मां को गिरफ़्तार कर लिया था. इधर कानपुर से निकलकर अमर दुबे पहुंच चुका था हमीरपुर के मदौहा गांव में. STF के दावों की मानें, तो विकास दुबे और घटना के बारे में बहुत सारी जानकारी अमर दुबे के पास थी. इसलिए STF उसे ज़िंदा पकड़ना चाहती थी. 6 जुलाई की सुबह STF पहुंची मदौहा. घेरेबंदी की. दावा करते हैं कि अमर दुबे से सरेंडर करने के लिए कहा गया. लेकिन अमर दुबे ने सरेंडर करने के बजाय फ़ायरिंग करनी शुरू कर दी. पुलिस ने भी जवाबी फ़ायरिंग की. अमर दुबे मारा गया. और दो पुलिसकर्मी भी घायल हुए.

प्रभात मिश्रा

एनकाउंटर का दिन : 9 जुलाई 

Prabhat Mishta
प्रभात मिश्रा

विकास दुबे के कथित सहयोगी प्रभात मिश्रा को एक दिन पहले यानी 8 जुलाई को फ़रीदाबाद से गिरफ़्तार किया गया था. इसी दिन फ़रीदाबाद न्यायालय से यूपी STF को ट्रांज़िट रिमांड मिला. STF प्रभात मिश्रा को लेकर कानपुर चल पड़ी. 9 जुलाई की भोर में कानपुर दाख़िल हुई यूपी पुलिस. पनकी थाना क्षेत्र के पास ही वैन का टायर पंक्चर हो गया. पुलिस के अनुसार, जब पंक्चर बनाया जा रहा था, उस समय प्रभात ने पुलिस की पिस्टल छीन ली और फ़ायरिंग कर दी. भागने की कोशिश की. आत्मरक्षा में पुलिस ने भी फ़ायरिंग की. प्रभात मारा गया.

रणबीर उर्फ़ बउवा शुक्ला

एनकाउंटर का दिन : 9 जुलाई 

विकास का कथित सहयोगी रणबीर उर्फ़ बऊआ शुक्ला
विकास का कथित सहयोगी रणबीर उर्फ़ बऊआ शुक्ला

इटावा में हुआ बउवा का कथित एनकाउंटर. इटावा पुलिस के मुताबिक़ उन्हें एक कार चोरी की सूचना मिली. पुलिस के मुताबिक़ इसे 9 जुलाई की ही सुबह बकेवर इलाके के महेवा कस्बे के पास से रणबीर उर्फ़ बउवा और उसके साथियों ने लूटा था. चेकिंग के दौरान सिविल लाइन इलाके की कचौरा घाट रोड पर पुलिस ने बदमाशों को घेर लिया, लेकिन उन्होंने पुलिस पर फायरिंग कर दी. जवाबी कार्रवाई में रणबीर उर्फ़ बउवा मारा गया, जबकि उसके साथी भाग गए. कानपुर पुलिस ने रणबीर उर्फ़ बउवा की शिनाख्त की. कल मध्य प्रदेश पुलिस से पूछताछ में विकास दुबे ने रणबीर उर्फ़ बउवा का नाम लिया था. बताया था कि रणबीर उर्फ़ बउवा के घर से ही 2-3 जुलाई की रात पुलिस पर सबसे ज़्यादा फ़ायरिंग हुई थी. साथ ही CO देवेंद्र मिश्र का पैर भी बउवा ने ही किसी धारदार हथियार से काट दिया था.

विकास दुबे

एनकाउंटर का दिन : 10 जुलाई 

पुलिस की कस्टडी में विकास दुबे
पुलिस की कस्टडी में विकास दुबे

कानपुर कांड के मुख्य आरोपी विकास दुबे को यूपी STF उज्जैन से लेकर कानपुर आ रही थी. विकास को एक दिन पहले उज्जैन में गिरफ़्तार किया गया था. कानपुर की सीमा में घुसने के थोड़ी देर बाद ही विकास दुबे को लेकर आ रही गाड़ी TUV 300 पलट गयी. पुलिस का कहना है कि विकास दुबे ने मौक़े का फ़ायदा उठाने की कोशिश की. घायल पुलिसकर्मियों और STF के जवानों की पिस्टल लेकर भागने की कोशिश करने लगा. पुलिस ने विकास को पास के ही खेत में रोकने की कोशिश की. विकास दुबे ने फ़ायरिंग कर दी. STF ने भी जवाबी फ़ायरिंग की. इस फ़ायरिंग में विकास दुबे को कई गोलियां लगीं. उसे अस्पताल ले जाया गया. कुछ देर बाद डॉक्टरों ने विकास दुबे को मृत घोषित कर दिया. 


वीडियो : मां ने बताया, इस वक्त उज्जैन ही क्यों गया था विकास दुबे

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

कौन हो तुम

सौरव गांगुली पर क्विज़!

सौरव गांगुली पर क्विज़. अपना ज्ञान यहां चेक कल्लो!

चीन और जापान जिस द्वीप के लिए भिड़ रहे हैं, उसकी पूरी कहानी

आइए जानते हैं कि मामला अभी क्यों बढ़ा है.

भारतीयों के हाथ में जो मोबाइल फोन हैं, उनमें चीन की कितनी हिस्सेदारी है

'बॉयकॉट चाइनीज प्रॉडक्ट्स' के ट्रेंड्स के बीच ये बातें जान लीजिए.

कॉन्ट्रोवर्सियल पेंटर एमएफ हुसैन के बारे में कितना जानते हैं आप, ये क्विज खेलकर बताइये

एमएफ हुसैन की पेंटिंग और विवाद के बारे में तो गूगल करके आपने खूब जान लिया. अब ज़रा यहां कलाकारी दिखाइए.

'हिटमैन' रोहित शर्मा को आप कितना जानते हैं, ये क्विज़ खेलकर बताइए

आज 33 साल के हो गए हैं रोहित शर्मा.

क्विज़: खून में दौड़ती है देशभक्ति? तो जलियांवाला बाग के 10 सवालों के जवाब दो

जलियांवाला बाग कांड के बारे में अपनी जानकारी आप भी चेक कर लीजिए.

मधुबाला को खटका लगा हुआ था इस हीरोइन को दिलीप कुमार के साथ देखकर

एक्ट्रेस निम्मी के गुज़र जाने पर उनको याद करते हुए उनकी ज़िंदगी के कुछ किस्से

90000 डॉलर का कर्ज़ा उतारकर प्राइवेट जेट खरीद लिया था इस 'गैंबलर' ने

उस अमेरिकी सिंगर की अजीब दास्तां, जो बात करने के बजाए गाने में ज़्यादा कंफर्टेबल महसूस करता था

YES Bank शुरू करने वाले राणा कपूर कौन हैं, जिन्होंने नोटबंदी को 'मास्टरस्ट्रोक' बताया था

यस बैंक डूब रहा है.

सात साल पहले केजरीवाल ने वो बात कही थी जो आज वो ख़ुद नहीं सुनना चाहते

बरसों पुरानी इस बात की वजह से सोशल मीडिया पर घेर लिए गए हैं.