Thelallantop

पहले लेग में बेंच गर्म करने वाले खिलाड़ी ने कैसे KKR को फाइनल में पहुंचा दिया?

वेंकटेश अय्यर और मैच जिताने के बाद राहुल त्रिपाठी ( फोटो क्रेडिट : PTI)

कोलकाता नाइट राइडर्स IPL 2021 के फाइनल में पहुंच गयी है. दूसरे क्वॉलिफायर मुकाबले में KKR ने दिल्ली कैपिटल्स को तीन विकेट से हरा दिया है. अब दुबई में चेन्नई सुपर किंग्स और कोलकाता नाइट राइडर्स के बीच फाइनल मुकाबला खेला जाएगा. KKR तीसरी बार फाइनल में पहुंची है. और IPL फाइनल में कोलकाता का रिकॉर्ड शत प्रतिशत है. बता दें कि टीम अब तक दो बार फाइनल में पहुंची और दोनों ही बार ट्रॉफी जीती है.

मैच की बात करें तो टॉस ऑयन मॉर्गन ने जीता. और पहले गेंदबाजी करने का फैसला किया. दिल्ली की तरफ से पृथ्वी शॉ ने धमाकेदार शुरुआत की. लेकिन शिखर धवन को खाता खोलने में ही सात गेंद लग गई. बावजूद इसके, DC ने चार ओवर में 32 रन बना लिए. पृथ्वी शॉ 12 गेंदों में 18 रन बनाकर आउट हुए. और धवन ने 39 गेंदों का सामना करते हुए 36 रन की पारी खेली.

तीसरे नंबर पर मार्कस स्टोइनिस को भेजा गया. लेकिन चोट से लौटे खिलाड़ी अक्सर रिदम में नहीं होते हैं. स्टोइनिस रंग में नहीं दिखे. 23 गेंदों में 18 रन बना कर चलते बने. शिवम मावी ने क्लीन बोल्ड किया. वहीं, श्रेयस अय्यर ने नाबाद 30 रन बनाए. किसी तरह दिल्ली कैपिटल्स 135 रन तक पहुंच सकी. अब फाइनल का टिकट के लिए कोलकाता को 120 गेंदों में 136 रन बनाने थे.

# Venkatesh Iyer

और कोलकाता की नैया पार करने की जिम्मेदारी उठाई वेंकटेश अय्यर (Venkatesh Iyer) और शुभमन गिल ने. शुरुआत जबरदस्त हुई. पहले विकेट के लिए ओपनर्स ने 96 रन जोड़ दिए. शुभमन गिल ने 46 रन बनाए. एक चौका और एक छक्का लगाया. जबकि वेंकटेश अय्यर ने 41 गेंदों का सामना करते हुए 55 रन की पारी खेली. चार चौके और तीन छक्के लगाए. शारजाह की धीमी पिच पर वेंकटेश अय्यर ने सही शॉट सेलेक्शन किया. खराब गेंदों पर बड़े शॉट लगाए. और छोटी बाउंड्री का फायदा उठाया.

वेंकटेश को कगीसो रबाडा ने स्टीव स्मिथ के हाथों कैच आउट कराया. लेकिन आउट होने से पहले वेंकटेश ने एक बड़ा मुकाम हासिल किया. वो 2008 के बाद IPL इतिहास में KKR के ऐसे पहले बल्लेबाज बने. जिन्होंने अपने पहले सीजन में ही 300 प्लस रन कूटे. और दिलचस्प बात ये है कि पहले लेग में वेंकटेश को एक भी मैच खेलने का मौका नहीं मिला. उन्होंने दिल्ली के खिलाफ IPL करियर का तीसरा अर्धशतक लगाया.

# डेथ ओवर्स में रोमांच 

बता दें कि 16वें ओवर के बाद कोलकाता को जीत के लिए 24 गेंदों में 13 रन बनाने थे. और यहां से मैच एकदम दिल्ली की ओर मुड़ गया. 17वें ओवर से दो रन आए. और एक विकेट शुभमन का गिरा. अगले ओवर में कार्तिक का विकेट गिरा और एक रन आए. 19वें ओवर में भी कुछ ऐसा ही हाल रहा है. मॉर्गन का विकेट गिरा और सिर्फ तीन रन आए.

आखिरी ओवर में कोलकाता को जीत के लिए सात रन की जरूरत थी. अश्विन गेंदबाजी के लिए आए. पहली गेंद पर राहुल त्रिपाठी ने एक सिंगल लिया. और अगली गेंद पर कोई रन नहीं बना. तीसरी और चौथी गेंद पर विकेट गिरा. शाकिब और सुनील नरेन आउट हुए. अब जीत के लिए KKR को दो गेंदों में छह रन बनाने थे. और राहुल त्रिपाठी ने छक्का लगाकर मैच जीता दिया.

# Varun Chakravarthy

वेंकटेश को 55 रन की पारी के लिए भले ही प्लेयर ऑफ द मैच का अवॉर्ड मिला. लेकिन इस मैच में वरुण चक्रवर्ती के योगदान को नकारा नहीं जा सकता है. कमाल की गेंदबाजी की. चार ओवर में 26 रन देकर दो विकेट अपने नाम किये. और दोनों बड़े विकेट थे. पहले पृथ्वी शॉ को अपने जाल में फंसाकर वरुण ने चलता किया.

और इसके बाद धवन को पैवेलियन भेजा. जो धीरे-धीरे पचासे की ओर बढ़ रहे थे. बता दें कि चेन्नई सुपर किंग्स और कोलकाता नाइट राइडर्स के बीच IPL 2021 का फाइनल मुकाबला 15 अक्टूबर, शुक्रवार को खेला जाएगा.

कैप्टन कोहली की कप्तानी के पांच सबसे बड़े विवादों के बारे में जानते हैं आप?

Read more!

Recommended