Submit your post

Follow Us

अमेरिका में वैक्सीन वालों के लिए मास्क लगाने में छूट का ऐलान, भारत में क्या दिक्कत है?

सेंटर फॉर डिसीज़ कंट्रोल. CDC. अमेरिका की सरकारी हेल्थ एजेंसी है. इसने कहा है कि अगर आप पूरी तरह से वैक्सीनेटेड हैं यानी अगर आपने वैक्सीन के दोनों डोज़ लगवा लिए हैं तो आपको ज्यादातर जगहों पर मास्क लगाने की ज़रूरत नहीं है. अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडेन ने भी इसे लेकर एक वीडियो मैसेज ट्वीट किया है.

इसमें वो कह रहे हैं कि अब या तो वैक्सीन लगवा लो या मास्क पहनकर घूमो.

हालांकि, अमेरिका में अभी भी पब्लिक ट्रांसपोर्ट का इस्तेमाल करते वक्त मास्क लगाना ज़रूरी है.

तो क्या वैक्सीन लगवा चुके भारत के लोग भी बिना मास्क के घूम सकते हैं?

इस जवाब के लिए हमें समझना होगा कि अमेरिका की तुलना में भारत में कितना वैक्सीनेशन हुआ है? CDC की वेबसाइट पर उपलब्ध डेटा के मुताबिक,

– अमेरिका में अभी तक 11 करोड़ 89 लाख से ज्यादा लोग पूरी तरह वैक्सीनेट हो चुके हैं. ये वहां की आबादी की 35.8 प्रतिशत है.
– वहां 15 करोड़ 46 लाख से ज्यादा लोगों को कोरोना वायरस वैक्सीन की कम से कम एक डोज़ लग गई है. ये वहां की आबादी का 46.6 प्रतिशत है.
– केसेस की बात करें तो अमेरिका में 8 मई से लेकर 13 मई के बीच हर दिन कोरोना वायरस के 40 हज़ार से कम मामले रिपोर्ट हुए हैं.

Covid Vaccine
कोरोना संकट से निपटने में वैक्सीन के साथ-साथ मास्क और सोशल डिस्टेंसिंग बेहद ज़रूरी हैं.

अब भारत की बात करते हैं. सरकार की तरफ से जारी आंकड़ों के मुताबिक,

– भारत में करीब 4 करोड़ आबादी को वैक्सीन के दोनों डोज़ लग चुके हैं. ये भारत की कुल आबादी का मात्र 2.89 प्रतिशत है.
– करीब 18 करोड़ की आबादी ऐसी है जिसे वैक्सीन का कम से कम एक डोज़ लगा है. ये कुल आबादी का महज 13 प्रतिशत है.
– केसेस की बात करें तो 22 अप्रैल से 14 मई के बीच किसी भी दिन तीन लाख से कम केस रिपोर्ट नहीं हुए. इस बीच 6 से 9 मई के बीच हर दिन चार लाख से ज्यादा मामले सामने आए.

यूएस और भारत की तुलना करेंगे तो पाएंगे कि दोनों देशों की वैक्सीनेटेड पॉपुलेशन के प्रतिशत और डेली आ रहे मामलों में बहुत ज्यादा अंतर है.

अमेरिका में वैक्सीनेशन का प्रतिशत भारत की तुलना में कई गुना ज्यादा और डेली आ रहे मामले कई गुना कम हैं. इसलिए अमेरिका अपने नागरिकों को जो छूट दे रहा है. वही छूट भारत में लागू करने से यहां महामारी के और तेज़ी से बढ़ने की आशंका बढ़ जाएगी.

Pfizer Vaccine Shots
भारत समेत कई अन्य देशों में ब्रेक थ्रू इंफेक्शन के मामले सामने आए हैं. ब्रेकथ्रू इंफेक्शन यानी कम्प्लीट वैक्सीनेशन के बाद भी हो जाने वाला इंफेक्शन. (सांकेतिक फोटो-PTI)

कम्प्लीट वैक्सीनेशन के बाद दोबारा इंफेक्शन का खतरा तो है ही

CDC ने ये एडवाइस तो दे दी कि वैक्सीनेशन पूरा होने के बाद मास्क लगाने की ज़रूरत नहीं है. लेकिन अमेरिका में ही ब्रेकथ्रू इंफेक्शन के 9000 मामले सामने आ चुके हैं. कोरोना वायरस वैक्सीन के दोनों डोज़ लगने के बाद भी अगर कोई कोरोना वायरस से इंफेक्ट हो जाए तो उसे ब्रेकथ्रू इंफेक्शन कहते हैं. अमेरिका में इस तरह के इंफेक्शन से 130 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है.

भारत में भी ऐसे कुछ मामले सामने आए हैं जिनमें वैक्सीन के दोनों डोज़ लगने के बाद भी लोग कोरोना वायरस से संक्रमित हुए हैं. कुछ रिपोर्ट्स में कहा जा रहा है कि कोरोना वायरस के वेरिएंट B.1.617 ब्रेकथ्रू इंफेक्शन कर सकते हैं. 14 मई की सुबह ही गायनेकोलॉजिस्ट डॉक्टर एसके भंडारी की मौत की खबर आई. डॉक्टर भंडारी 86 साल की थीं और फुली वैक्सीनेटेड थीं. फिर भी उन्हें कोविड 19 इंफेक्शन हो गया और उनकी मौत हो गई. उनके 97 साल के पति भी कोरोना वायरस से संक्रमित हैं. ICU में भर्ती हैं. वो भी फुली वैक्सीनेटेड थे, लेकिन उनको भी दोबारा इंफेक्शन हो गया.

Standalone Package: Masks As The New Normal
सांकेतिक तस्वीर-PTI

वैक्सीनेशन और मास्क को लेकर डॉक्टर्स क्या कहते हैं?

डॉक्टर विपिन वशिष्ठ. वैक्सीन एक्सपर्ट हैं. उनके मुताबिक,

कोई भी वैक्सीन 100 प्रतिशत असरदार नहीं होती. हिंदुस्तान में इस्तेमाल हो रही वैक्सीन कोविशील्ड और कोवैक्सिन 60 से 70 प्रतिशत असरदार हैं. मतलब अगर 10 लोगों को वैक्सीन लगी है तो उनमें से तीन-चार लोगों को इंफेक्शन हो सकता है.

डॉक्टर वशिष्ठ कहते हैं कि लोग सोचते हैं कि वैक्सीन लगवा लेने के बाद उन्हें कोविड नहीं होगा. ये गलत सोच है. मास्क को लेकर लापरवाही आपके लिए बेहद खतरनाक हो सकती है. उनका कहना है कि जब तक ज्यादा से ज्यादा लोग वैक्सीनेट नहीं हो जाते और जब तक कोरोना वायरस के मामलों में कमी नहीं आती तब तक मास्क और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना हर किसी के लिए ज़रूरी है.

फिलहाल भारत में ऐसी कोई गाइडलाइन नहीं है जो कहती हो कि अगर आप पूरी तरह वैक्सीनेटेड हैं तो मास्क पहनना ज़रूरी नहीं है. एक्सपर्ट्स का मानना है कि वैक्सीन केवल आपकी सुरक्षा के एक लेयर को बढ़ाती है. कोरोना वायरस के चेन को तोड़ने के लिए ज़रूरी है कि वैक्सीन लगवाने के साथ-साथ मास्क, सोशल डिस्टेंसिंग और हाथ की साफ-सफाई का खास ध्यान रखा जाए.


सेहत: वैक्सीन लगवाने के बाद ये गलती न करें वरना हो जाएगा कोरोना

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

कौन हो तुम

माधुरी से डायरेक्ट बोलो 'हम आपके हैं फैन'

आज जानते हो किसका हैप्पी बड्डे है? माधुरी दीक्षित का. अपन आपका फैन मीटर जांचेंगे. ये क्विज खेलो.

जिन मीम्स को सोशल मीडिया पर शेयर कर चौड़े होते हैं, उनका इतिहास तो जान लीजिए

कौन सा था वो पहला मीम जो इत्तेफाक से दुनिया में आया?

पार्टियों को चुनाव निशान के आधार पर पहचानते हैं आप?

चुनावी माहौल में क्विज़ खेलिए और बताइए कितना स्कोर हुआ.

लगातार दो फिफ्टी मारने वाले कोहली ने अब कहां झंडे गाड़ दिए?

राहुल के साथ यहां भी गड़बड़ हो गई.

रोहित शेट्टी के ऊपर ऐसी कड़क Quiz और कहां पाओगे?

14 मार्च को बड्डे होता है. ये तो सब जानते हैं, और क्या जानते हो आके बताओ. अरे आओ तो.

आमिर पर अगर ये क्विज़ नहीं खेला तो दोगुना लगान देना पड़ेगा

म्हारा आमिर, सारुक-सलमान से कम है के?

परफेक्शनिस्ट आमिर पर क्विज़ खेलो और साबित करो कितने जाबड़ फैन हो

आज आमिर खान का हैप्पी बड्डे है. कित्ता मालूम है उनके बारे में?

अनुपम खेर को ट्विटर और वॉट्सऐप वीडियो के अलावा भी ध्यान से देखा है तो ये क्विज खेलो

चेक करो अनुपम खेर पर अपना ज्ञान.

कहानी राहुल वैद्य की, जो हमेशा जीत से एक बिलांग पीछे रह जाते हैं

'इंडियन आइडल' से लेकर 'बिग बॉस' तक सोलह साल हो गए लेकिन किस्मत नहीं बदली.

गायों के बारे में कितना जानते हैं आप? ज़रा देखें तो...

कितने नंबर आए बताते जाइएगा.