Submit your post

Follow Us

दिसंबर में रेप हुआ, मार्च में FIR लिखी गई, अब लड़की के शरीर पर पेट्रोल छिड़कर आग लगा दी

2.57 K
शेयर्स

उत्तर प्रदेश का उन्नाव. 4 दिसंबर की तारीख़. एक 24 साल की लड़की. पांच आदमी. गांव के बाहर का खेत. जहां लड़की को घसीटकर ले जाया गया. यहीं खेत में उसके ऊपर पेट्रोल छिड़का गया और आग लगा दी गई. जिस लड़की को ज़िंदा जलाने की कोशिश हुई, दिसंबर 2018 में उसके साथ गैंगरेप हुआ था. मार्च 2019 में पुलिस ने इस गैंगरेप की शिकायत भी दर्ज़ की थी. पुलिस ने इस मामले में पांच लोगों को पकड़ा है. इनमें से एक का नाम है शुभम त्रिवेदी. दिसंबर 2018 में लड़की के साथ हुए गैंगरेप केस में शुभम भी आरोपी है. वो 25 नवंबर को जमानत पर छूटा था.

वारदात के समय लड़की अपने गांव हिंदूनगर से रेलवे स्टेशन की ओर जा रही थी. वहां उसे रायबरेली के लिए ट्रेन पकड़नी थी. ख़बरों के मुताबिक, वहां उसके रेप केस की तारीख़ थी (फोटो: विशाल, इंडिया टुडे)
वारदात के समय लड़की अपने गांव हिंदूनगर से रेलवे स्टेशन की ओर जा रही थी. वहां उसे रायबरेली के लिए ट्रेन पकड़नी थी. ख़बरों के मुताबिक, वहां उसके रेप केस की तारीख़ थी (फोटो: विशाल, इंडिया टुडे)

कोर्ट जा रही थी, रास्ते में उसे पकड़कर शरीर में आग लगाई
उन्नाव में बिहार थानाक्षेत्र है. इसका एक गांव है- भाटन खेड़ा. यहीं की वारदात है ये. लड़की पैदल-पैदल अपने गांव से रेलवे स्टेशन जा रही थी. उसे रायबरेली के लिए ट्रेन पकड़नी थी. रिपोर्ट्स के मुताबिक, वहां स्थानीय कोर्ट में तारीख़ थी. उस रेप केस की, जिसकी शिकायत लड़की ने मार्च में की थी. रास्ते में पांच लोगों ने उसे पकड़ा. फिर उसे पकड़कर गांव के बाहर एक खेत में ले गए और पेट्रोल छिड़ककर उसके शरीर में आग लगा दी. गांव के ही किसी शख्स ने 100 नंबर पर फोन करके पुलिस को इस वारदात की ख़बर दी. जब पुलिस उस खेत में पहुंची, तब तक लड़की का शरीर आग से बेहद जख़्मी हो चुका था. आरोपी भाग चुके थे. पुलिस ने लड़की को पास के ही ज़िला सरकारी अस्पताल में भर्ती करवाया. वहां से उसे लखनऊ अस्पताल के लिए रेफर कर दिया गया. पुलिस के मुताबिक, पीड़िता ने उन्हें पांच लोगों का नाम बताया. पुलिस ने इन पांचों को पकड़ लिया है.

लड़की को ऐम्बुलेंस में रखकर लखनऊ अस्पताल ले जाती उन्नाव पुलिस (फोटो: विशाल, इंडिया टुडे)
लड़की को ऐम्बुलेंस में रखकर लखनऊ अस्पताल ले जाती उन्नाव पुलिस (फोटो: विशाल, इंडिया टुडे)

FIR में क्या बताया था लड़की ने?
मार्च 2019 में लड़की ने उन्नाव के बिहार थाने में जो FIR लिखवाई, उसमें दो लोगों के नाम थे- शिवम त्रिवेदी और शुभम त्रिवेदी. FIR के मुताबिक, लड़की और आरोपी एक ही गांव के रहने वाले हैं. कहा गया कि शिवम ने लड़की को फुसलाया. उसे प्यार और शादी का झांसा देकर अपने साथ रायबरेली ले गया. वहां लड़की का रेप किया. रेप का विडियो भी बना लिया उसने. फिर उस विडियो को पब्लिक कर देने की धमकी देकर लड़की के साथ बार-बार बलात्कार करता रहा. लड़की उससे शादी करने को कहने लगी. आरोपी उसे फिर से रायबरेली ले आया. यहां किराये पर एक कमरा लेकर उसने लड़की को वहां रखा. FIR के मुताबिक, आरोपी उसे कमरे से बाहर नहीं निकलने देता था. बाहर निकलने पर जान से मारने की धमकी देता था.

शिकायत के मुताबिक, आरोपी कई शहरों में लेकर गया उसे. लगातार उसका रेप करता रहा. लड़की शादी के लिए दबाव बनाने लगी. इसपर 19 जनवरी, 2018 को आरोपी ने रायबरेली के सिविल कोर्ट में शादी का एक करारनामा बनवाया. इसके बाद भी करीब एक महीने तक उसने लड़की को रायबरेली में ही रखा. फिर उसे उसके गांव जाकर छोड़ दिया. उसने शादी करने से भी इनकार कर दिया.

लड़की का कहना है कि आरोपी उसे और उसके परिवार को जान से मारने की धमकी देता था. डरकर लड़की अपनी बुआ के घर चली गई. वहीं रहने लगी. आरोपी ने किसी तरह से उसकी बुआ का पता मालूम किया और 12 दिसंबर, 2018 को अपने एक दोस्त- शुभम के साथ वहां पहुंच गया. आरोपी ने लड़की से कहा कि वो मामला सुलझाना चाहता है. फिर मंदिर ले चलने के बहाने वो लड़की को उसकी बुआ के घर से बाहर लाया. FIR के मुताबिक, आरोपी और उसका दोस्त मिलकर लड़की को जबरन खेतों में ले गए. वहां दोनों ने असलहा दिखाकर उसके साथ बलात्कार किया.

लड़की के पिता का कहना है कि रेप के आरोपी ने उन्हें और उनके परिवार को कई बार धमकियां दीं (फोटो: विशाल, इंडिया टुडे)
लड़की के पिता का कहना है कि रेप के आरोपी ने उन्हें और उनके परिवार को कई बार धमकियां दीं (फोटो: विशाल, इंडिया टुडे)

दिसंबर में रेप हुआ, मार्च में FIR लिखी गई
लड़की ने लौटकर पूरी बात अपनी बुआ को बताई. इनका आरोप है कि इन्होंने पहले लालगंज थाना में शिकायत लिखवाने की कोशिश की थी. मगर वहां पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की. फिर 20 दिसंबर, 2018 को लड़की ने रजिस्टर्ड चिट्ठी भेजकर राजबरेली के पुलिस अधीक्षक को अपने साथ हुए अपराध की शिकायत की. मगर फिर भी कार्रवाई नहीं की गई. उन्नाव में लिखवाई गई इस FIR के बाद लालगंज थाने में भी FIR लिखी गई. 5 मार्च, 2019 को. उन्नाव थाने वाली रिपोर्ट में 12 दिसंबर, 2018 को हुए गैंगरेप की शिकायत थी. वहीं लालगंज थाने वाली रिपोर्ट में जनवरी 2018 से दिसंबर 2018 के बीच बार-बार हुए रेप का ज़िक्र है.


टोंक में स्कूल से घर लौट रही बच्ची का रेप, स्कूल बेल्ट से ही गला घोंटकर मार दिया

हैदराबाद रेप-मर्डर केस: आरोपियों ने घटना के पहले क्या क्या किया?

तेलंगाना रेप-मर्डर केस: पीड़ित परिवार ने कहा, ना निर्भया केस के बाद हालात बदले, ना अब बदलेंगे

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

कौन हो तुम

QUIZ: देश के सबसे महान स्पोर्टसमैन को कितना जानते हैं आप?

आज इस जादूगर की बरसी है.

संविधान के कितने बड़े जानकार हैं आप?

ये क्विज़ जीत लिया तो आप जीनियस हुए.

चाचा शरद पवार ने ये बातें समझी होती तो शायद भतीजे अजित पवार धोखा नहीं देते

शुरुआत 2004 से हुई थी, 2019 आते-आते बात यहां तक पहुंच गई.

रिव्यू पिटीशन क्या होता है? कौन, क्यों, कब दाखिल कर सकता है?

अयोध्या पर फैसले के खिलाफ ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड रिव्यू पिटीशन दायर करने जा रहा है.

इन नौ सवालों का जवाब दे दिया, तब मानेंगे आप ऐश्वर्या के सच्चे फैन हैं

कुछ ऐसी बातें, जो शायद आप नहीं जानते होंगे.

अमिताभ बच्चन तो ठीक हैं, दादा साहेब फाल्के के बारे में कितना जानते हो?

खुद पर है विश्वास तो आ जाओ मैदान में.

‘ताई तो कहती है, ऐसी लंबी-लंबी अंगुलियां चुडै़ल की होती हैं’

एक कहानी रोज़ में आज पढ़िए शिवानी की चन्नी.

मोदी जी का बड्डे मना लिया? अब क्विज़ खेलकर देखो कितना जानते हो उनको

मितरों! अच्छे नंबर चइये कि नइ चइये?

कॉन्ट्रोवर्सियल पेंटर एमएफ हुसैन के बारे में कितना जानते हैं आप, ये क्विज खेलकर बताइये

एमएफ हुसैन की पेंटिंग और विवाद के बारे में तो गूगल करके आपने खूब जान लिया. अब ज़रा यहां कलाकारी दिखाइए.

इस क्विज़ में परफेक्ट हो गए, तो कभी चालान नहीं कटेगा

बस 15 सवाल हैं मित्रों!