Submit your post

रोजाना लल्लनटॉप न्यूज चिट्ठी पाने के लिए अपना ईमेल आईडी बताएं !

Follow Us

UAE के शहजादे के 'जय सिया राम' कहने वाले वीडियो की असलियत क्या है

1.20 K
शेयर्स

संयुक्त अरब अमीरात. शॉर्ट में UAE. वहीं, जहां दुबई है. इस्लामिक देश है. वहां के शहजादे हैं शेख मुहम्मद बिन जायद अल नहयान. क्राउन प्रिंस. उन्होंने एक प्रोग्राम में भाषण दिया. भाषण की शुरुआत उन्होंने ‘जय सिया राम’ बोलकर की. जय सिया राम? ये तो गजब हो गया! एक मुस्लिम राजा ने ऐसे ‘जय सिया राम’ बोल दिया! यानी उनके ऊपर भी राम और सीता का जादू चल गया!

क्या है इस वायरल वीडियो में
ये कहानी सोशल मीडिया पर खूब चल रही है. वायरल हो रही है. एक अच्छा-खासा वीडियो है. मंच पर मुरारी बापू बैठे हैं. लोग तालियां बजा रहे हैं. इतने में एक शख्स सफेद रंग के कपड़े पहने स्टेज पर पहुंचता है. वैसी ही ड्रेस, जैसी अरब के शेख पहनते हैं. वो माइक के सामने खड़ा होता है और वहां मौजूद लोगों की तरफ देखकर कहता है- जय सिया राम. और लोग ताली बजाने लगते हैं. इतना ही नहीं. बल्कि वो राम कथा सुनने भी पहुंचे. बल्कि इसी राम कथा की शुरुआत में बोलते हुए उन्होंने ‘जय सिया राम’ कहकर लोगों को अभिवादन किया.

लोग लिख रहे हैं कि ये ‘जय सिया राम’ बोल रहा इंसान असल में UAE के क्राउन प्रिंस हैं. माने शहजादे. अगले सुल्तान. वायरल पोस्ट के मुताबिक, ये वीडियो अबू धावी में गुरु मुरारी बापू के हाथों आयोजित एक प्रोग्राम का है. इसी में बोलने के लिए शेख जायद को बुलाया गया था. और ये ‘जय सिया राम’ यहीं पर हुआ.

JJDDJ
तस्वीर में बाईं ओर हैं UAE के क्राउन प्रिंस मुहम्मद बिन जायद. दाहिनी ओर हैं सुल्तान साउद अल कसीमी.

इस वीडियो को कई वेबसाइट्स ने उठाया है. कई बड़े मीडिया चैनलों ने भी इसे शेयर किया. इस पुराने वीडियो को हाथोहाथ लेने की एक वजह मोदी जी भी हैं. प्रधानमंत्री मोदी विदेशी दौरे पर UAE गए. PM बनने के बाद वहां का ये उनका दूसरा दौरा था. मौका भी था और दस्तूर भी. सो सोशल मीडिया के शेर ये वीडियो खोदकर लाए. और खूब चल भी गई.

PM मोदी के UAE दौरे से मैचिंग है टाइम
इस वीडियो को शेयर करने वाले ज्यादातर लोग इसे मोदी जी से जोड़ रहे थे. कि मोदी राज में भारत की ताकत बहुत बढ़ गई है. इतनी कि एक कट्टर मुसलमान सुल्तान, इस्लामिक देश का सर्वेसर्वा भी ‘जय सिया राम’ बोल रहा है. माने ये वीडियो एक तरह से मोदी जी की बढ़ती ताकत और उनके असर का सबूत है.

वीडियो का सच क्या है?
सरासर झूठ. शेख मुहम्मद बिन जायद ने ‘जय सिया राम’ नहीं बोला. वो कभी इस तरह के किसी प्रोग्राम में शामिल नहीं हुए. बल्कि वीडियो में जो शख्स नजर आ रहा है, वो प्रिंस जायद हैं ही नहीं. ये शख्स है सुल्तान साउद अल कसीमी. साउद भी UAE के ही रहने वाले हैं. मीडिया में हैं. इनका लिखा अक्सर छपता रहता है वहां. फाइनैंशल टाइम्स, द इंडिपेंडेंट, द गार्डियन और न्यू यॉर्क टाइम्स जैसे अखबारों में भी इनका लिखा छपता रहता है. अरब और वहां से जुड़े मसलों के जानकार हैं. और ये वीडियो भी अभी का नहीं है. पुराना है. सितंबर 2016 का है. 

विडियो देखकर कई लोग बड़े भावुक भी हुए. सेक्युलरों को गाली बकी. कि देखो, एक इस्लामिक देश का राजा 'जय सिया राम' बोल रहा है.
वीडियो देखकर कई लोग बड़े भावुक भी हुए. सेक्युलरों को गाली बकी. कि देखो, एक इस्लामिक देश का राजा ‘जय सिया राम’ बोल रहा है.

भारत में राजकीय अतिथि बनकर आ चुके हैं प्रिंस जायद
और प्रिंस जायद कौन हैं? आपको याद है 2017 की 26 जनवरी. उस साल गणतंत्र दिवस के प्रोग्राम में मुख्य अतिथि कौन थे हमारे, कुछ याद है? हां, वो प्रिंस जायद ही थे. 2016 में भी वो भारत आए थे. हमारे राजकीय अतिथि बनकर. ये बताने का मकसद है उनकी याद दिलाना. UAE के क्राउन प्रिंस इतने अजनबी नहीं दुनिया के लिए कि उन्हें पहचानने में भूल कर दी जाए.

फर्जी बात को सोच मानने की ये भी वजह हो सकती है
इस फर्जी पोस्ट की सबसे बुरी बात है इसकी रीच. कई अखबारों ने इसे सच मान लिया. अंग्रेजी, हिंदी और कई भाषा के अखबारों ने इसे चलाया. UAE में सुल्तान द्वारा हिंदू मंदिर बनाने के लिए जमीन दी गई. प्रधानमंत्री मोदी वहां पहुंचे और मंदिर से जुड़ा भव्य प्रोग्राम भी हुआ. लोगों के लिए ये बड़ी बात थी. इस्लामिक देशों में ऐसा कहां होता है? शायद ये भी एक वजह है कि लोगों ने प्रिंस जायद के ‘जय सिया राम’ बोलने की बात सच मान ली.

मोदी जब प्रधानमंत्री बनने के बाद दो बार UAE जा चुके हैं. UAE के क्राउन प्रिंस और वहां की सेना के डेप्युटी सुप्रीम कमांडर
मोदी जब प्रधानमंत्री बनने के बाद दो बार UAE जा चुके हैं. UAE के क्राउन प्रिंस और वहां की सेना के डेप्युटी सुप्रीम कमांडर शेख मुहम्मद बिन जायद भी मोदी कार्यकाल में दो बार भारत आ चुके हैं.

इतनी तस्वीरें हैं क्राउन प्रिंस की, फिर भी?
गलतियां सबसे होती हैं. मगर कुछ गलतियां ऐसी होती हैं, जो नहीं होनी चाहिए थीं. एकदम साधारण. ऐसा नहीं कि शेख मुहम्मद बिन जायद बड़े गुमनाम से शख्स हैं. एक सेकंड लगता उनकी शक्ल देखने, उन्हें पहचानने में. इतना भी नहीं कर सकते, तो इंटरनेट पर इतना वक्त गुजारने का फायदा क्या है?


ये भी पढ़ें: 

प्रिया प्रकाश की आंखों पर सलमान खान भी फिसल गए!

इस ट्रैफिक पुलिसवाले ने मेरा दिल जीत लिया

ATM में उल्टा पिन डालने से क्या होता है?

बस में DU की लड़की के पास मास्टरबेट कर रहा था, उसने वीडियो बना लिया

कौन है ये लड़की, जिसकी तस्वीरों की फेसबुक पर बाढ़ आ गई है


कौन हैं प्रिया वरियर जिनके पीछे इंटरनेट पागल हुआ पड़ा है?

लल्लनटॉप न्यूज चिट्ठी पाने के लिए अपना ईमेल आईडी बताएं !

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

कौन हो तुम

Quiz: आप भोले बाबा के कितने बड़े भक्त हो

भगवान शंकर के बारे में इन सवालों का जवाब दे लिया तो समझो गंगा नहा लिया

साउथ अफ्रीका की हरी जर्सी देख कर शिखर धवन को हो क्या जाता है!

बेबी को बेस, धवन को साउथ अफ्रीका पसंद है.

क्या आखिरी एपिसोड में टॉम ऐंड जेरी ने आत्महत्या कर ली?

टॉम ऐंड जेरी में कभी खून नहीं दिखाया गया था, सिवाय इस एपिसोड के.

क्विज: आईपीएल में डिविलियर्स सबसे पहले किस टीम से खेले थे?

भीषण बल्लेबाज़ एबी डिविलियर्स के फैन होने का दावा है तो ये क्विज खेलके दिखाओ.

क्विज़: योगी आदित्यनाथ के पास कितने लाइसेंसी असलहे हैं?

योगी आदित्यनाथ के बारे में जानते हो, तो आओ ये क्विज़ खेलो.

देशों और उनकी राजधानी के ऊपर ये क्विज़ आसान तो है मगर थोड़ा ट्रिकी भी है!

सारे सुने हुए देश और शहर हैं मगर उत्तर देते वक्त माइंड कन्फ्यूज़ हो जाता है

क्विज: अरविंद केजरीवाल के बारे में कितना जानते हैं आप?

अरविंद केजरीवाल के बारे में जानते हो, तो ये क्विज खेलो.

आमिर पर अगर ये क्विज़ नहीं खेला तो डुगना लगान देना परेगा

म्हारा आमिर, सारुक-सलमान से कम है के?

रजनीकांत के फैन हो तो साबित करो, ये क्विज खेल के

और आज तो मौका भी है, थलैवा नेता जो बन गए हैं.

फवाद पर ये क्विज खेलना राष्ट्रद्रोह नहीं है

फवाद खान के बर्थडे पर सपेसल.

न्यू मॉन्क

जब पृथ्वी का अंत खोजने के लफड़े में लापता हुए शिव के 1005 साले!

दुनिया का अंत खोजने के चक्कर में नारद को मिला ऐसा श्राप कि सुट्ट रह गए बाबा जी.

कृष्ण की 16,108 पत्नियों की कहानी

पत्नी सत्यभामा की हेल्प से पहले किया राक्षस का काम तमाम. फिर अपनी शरण में ले लिया उसकी कैद में बंद लड़कियों को.

ब्रह्मा की हरकतों से इतने परेशान हुए शिव कि उनका सिर धड़ से अलग कर दिया

बड़े काम की जानकारी, सीधे ब्रह्मदारण्यक उपनिषद से.

जब एक-दूसरे को मारकर खाने लगे शिव के बच्चे

ब्रह्मा जी ने सोचा कि सृष्टि को आगे बढ़ाने की ज़िम्मेदारी शंकर जी को सौंप दी जाए. पर ये फैसला गलत साबित हुआ.

शिव-पार्वती ने क्यों छोड़ा हिमालय पर्वत?

जब अपनी ही मां से नाराज हुईं पार्वती.

सावन से जुड़े झूठ, जिन पर भरोसा किया तो भगवान शिव माफ नहीं करेंगे

भोलेनाथ की नजरों से कुछ भी नहीं छिपता.

स्वयंवर से पहले ही एक दूजे के हो चुके थे शिव-पार्वती

हिमालयपुत्री पार्वती ने जन्म के कुछ समय बाद ही घोर तपस्या शुरू कर दी. मकसद था-शिव को पाना.

इस ब्रह्मांड में कैसे पैदा हुआ था चांद!

चांद सी महबूबा और चंदा मामा का गाना गाने से पहले ये तो जान लो. कि चंद्रमा बना कैसे.

इंसानों का पहला नायक, जिसके आगे धरती ने किया सरेंडर

और इसी तरह पहली बार हुआ इंसानों के खाने का ठोस इंतजाम. किस्सा है ब्रह्म पुराण का.

इस गांव में द्रौपदी ने की थी छठ पूजा

छठ पर्व आने वाला है. महाभारत का छठ कनेक्शन ये है.