Submit your post

Follow Us

वो इंडियन खिलाड़ी जिसने अरब सागर में छक्का मारा था!

1985 में एक फ़िल्म आई जिसका नाम था ‘कभी अजनबी थे’. अगर आपने इस फ़िल्म का नाम नहीं सुना तो हैरान मत होइएगा. क्योंकि इस फिल्म ने बहुत झंडे नहीं गाड़े थे. फिल्म के हीरो थे संदीप पाटिल. पाटिल एक्टर नहीं थे मगर उनके अंदर के स्टार को इस ऑफर ने जीत लिया. फिल्म के एक साल पहले भारत का वेस्टइंडीज़ दौरा था. इस सीरीज़ के एक महीने बाद वर्ल्ड कप शुरू होना था. वो वर्ल्ड कप जिसने पूरे इंडिया को क्रिकेट के लिए पागल बना दिया. वो वर्ल्ड कप जिसकी हाइलाइट्स आप अब भी हर वर्ल्ड कप से पहले देखते हैं. जब क्रिकेट में लौटे तो वो जादू कहीं गुम हो गया. कुछ ऐसे ही मस्तमौला उड़ाऊ क़िस्म की पर्सनाल्टी रहे हैं वो.


वो बैट नहीं हथौड़ा था

ये बल्लेबाज़ इंडियन बैटिंग में आंधी-तूफ़ान की तरह आया. उसके शॉट, शॉट नहीं हमले होते थे. उसके बारे में अफ़वाह है कि पारसी जिमख़ाना में खेले एक मैच में उसका मारा एक छक्का अरब सागर में गिरा था. मगर ये अफवाह इतनी झूठी नहीं लगती क्योंकि उस डोमेस्टिक सीज़न में इस बैट्समैन ने 102 छक्के मारे थे. 1983 में इंग्लैंड के ख़िलाफ़ सेमी-फाइनल में पाटिल ने 32  बॉल पर 51 रन बनाए. ये आज के टी-20 के मापदंडों के हिसाब से भी बहुत तेज़ है. इसी साल जयपुर में इंडिया-पाकिस्तान का एक मैच हुआ. पापा बताते हैं कि इस मैच में संदीप पाटिल ने अपने तोप रुपी बैट से एक स्ट्रेट ड्राइव मारी. रिसीविंग एन्ड पर थे फ़ास्ट बॉलर मुदस्सर नज़र,  जिन्हें इस जानलेवा शॉट के रास्ते से हटने को बस सेकंड का दसवां हिस्सा ही मिला. बापू के जन्मदिन पर हुए इस मैच में संदीप ने काम बापू की सीख के बिलकुल उलट किया. दरअसल सचिन तेंदुलकर और डेविड वार्नर से बहुत पहले से ही संदीप पाटिल तब के सबसे भारी बल्ले से खेला करते थे. उनका फ़ंडा था कि गेंद पर भरपूर मार की जाए. गावस्कर, अमरनाथ और वेंगसरकर की शांत और तकनीकी बैटिंग को पीछे छोड़ संदीप पाटिल गेंद को चपटाने में विश्वास रखते थे.


विलिस को मारे पूरे ओवर में चौके

अगर आप वीरेंद्र सहवाग के उमर गुल को वर्ल्ड कप में लगाये 5 चौके याद कर-करके खुश होते हैं, तो बता दें उनसे 29 साल पहले ये काम पाटिल ने टेस्ट मैच में किया था. बॉब विलिस इंग्लैंड के करामाती फ़ास्ट बॉलर थे. हाइट थी 6 फुट 6 इंच. इंडिया का 1982 का इंग्लैंड दौरा था. पहली बैटिंग करते हुए मैनचेस्टर के ओल्ड ट्रैफर्ड पर इंग्लैंड ने 425 बनाये. दूसरे दिन लगभग चाय के आसपास बैटिंग करने आई भारतीय टीम. शास्त्री, वेंगसरकर और गावस्कर 25 के टीम स्कोर पर वापिस लौट चुके थे. संदीप पाटिल नंबर 7 पर खेल रहे थे और उनकी एंट्री तब हुई जब टीम 136 पर 5 विकेट खो चुकी थी. विलिस के साथ इंग्लैंड के पास डेरेक प्रिंगल और महान ऑलराउंडर इयान बॉथम भी थे. इस इनिंग्स में पाटिल ने नाबाद 129 रन बनाए. 18 चौके और 2 छक्के भी मारे. मगर गुरु इस इनिंग्स की असली हाईलाइट है वो एक ओवर जिसमें पाटिल ने विलिस की बखिया उधेड़ दी. रख-रख के मारे 6 चौके बॉब विलिस को. इस ओवर की चौथी बॉल पर किया लेट-कट देखने वाला है. रॉक-बैक करके पॉइंट के पीछे कट कर दिया है. अगली बॉल पर घसकट्टा ही सही मगर जबर पुल मारा है.


ले लिया बाउंसर का बदला

इस इनिंग्स को याद करते हुए मुझे कोहली का ऐडिलेड में मारा सैकड़ा याद आता है. वो क्या कहते हैं? विपरीत परिस्थितियों में. इंडिया-ऑस्ट्रेलिया के 1980-81 के टूर पर पहले ही टेस्ट में इंडिया का पहला टोटल 201 था. इसमें शामिल थी पाटिल की 65 की रोमांचक पारी जिसमें उन्होंने 9 चउव्वे भी लगाए. आउट करने के चक्कर में ऑस्ट्रेलिया के उन्मादी फ़ास्ट बॉलर लेन पैस्को ने उनके सिर पर बाउंसर मारी. पाटिल ने हेलमेट नहीं पहना था और उन्हें रिटायर्ड हर्ट होना पड़ा.

पाटिल को तुरंत हॉस्पिटल दौड़ाया गया. आईसीयू में भर्ती होना पड़ा. 10 घंटे नींद और बेहोशी से लड़ते रहे. थोड़ी ही देर पहले अभिमन्यु के चक्रव्यूह भेदने की सी पारी वो पिच पर खेल रहे थे. अब भी लड़ाई वही थी, खेल अलग हो गया था. 24 साल के संदीप का सचमुच बैपटिज़्म बाइ फायर हो रहा था. मगर पाटिल पर सनक सवार थी. चोट को मार दी गोली. अगली ही सुबह इंडिया की दूसरी पारी में फिर उतर गए मैदान में. पाटिल से इस बार रन नहीं बने. उनके कान से लगातार ख़ून बह रहा था और दर्द बस वही जानते थे.

अगला मैच ऐडिलेड में था. ऑस्ट्रेलिया ने पहले बैटिंग की और बना डाले 528. जवाब में 130 पर इंडिया के 4 विकेट गिर गए. संदीप पाटिल फिर एक बार पिच पर उतरे. इस बार हेलमेट के साथ. ऑस्ट्रेलिया के अटैक में लेन पैस्को और रॉडनी हॉग तो थे ही, साथ ही थे डेनिस लिली. लिली न ही केवल आज तक के सबसे मुक़म्मल फ़ास्ट बॉलर रहे हैं, वो उस टाइम की सबसे घातक बाउंसर मारते थे. सिर पर पीला पट्टा बांधकर आग उगलता था वो आदमी. पाटिल ने इसी पेस अटैक के सामने गज़ब शॉट लगाने शुरू कर दिए. जब अगले दिन वो आउट हुए, उन्होंने 240 बॉल पर 174 की विस्फ़ोटक पारी खेल ली थी. भगवान बड़े बोल न बुलवाये, मगर पाटिल में विव रिचर्ड्स की छाप पड़ती भी दिखाई दे रही थी. सर विव की ही तरह आज भी वो उतने ही स्टाइलिश हैं. देखें ये इनिंग्स


ओमान और केन्या की नैया लगाई पार

2014 ही में केन्या ने वन-डे और टी-20 स्टेटस खोया है. याद होगा इसी अफ्रीकन टीम ने 2003 में साउथ अफ्रीका में हुए वर्ल्ड कप में क्या कहर ढाया था. पहले न्यूज़ीलैंड और फिर श्री लंका को 53 रन से हराया. याद रहे कि इस श्री लंकाई टीम में सनथ जयसूर्या, चामिंडा वास, मुथैया मुरलीधरन और अरविंद डिसिल्वा थे.  बांग्लादेश और ज़िम्बाब्वे को हराकर सेमीफाइनल में पहुंची केन्या की टीम. जहां वो इंडिया से हार गई. दरअसल इस बीच केन्या के कोच थे संदीप पाटिल. पाटिल ने अपने खुरदरे अग्रेशन को केन्या के लड़कों में उतार दिया. और कर दिया बड़े-बड़ों का अपसेट. इससे पहले संदीप इंडिया ‘ए’ के कोच रह चुके थे. केन्या के बाद रुख किया ओमान का. उनके अंडर ओमान ने एसीसी ट्रॉफी में तगड़ा परफॉरमेंस दिया और फिर आईसीसी ट्रॉफी के लिए क्वालीफाई कर लिया. वो माधवराव सिंधिया के आग्रह पर मध्य प्रदेश की कप्तानी भी कर चुके हैं.

ये आर्टिकल प्रणय ने लिखा है.


Also Read

जो लोग टेस्ट क्रिकेट में सहवाग को मिस करते हैं, उनके लिए अच्छी खबर है

जब अकेले माइकल होल्डिंग ने इंग्लैंड से बेइज्जती का बदला ले लिया था

अजीत वाडेकर, वो कप्तान जिसने दुनिया जीती अौर फिर खो दी

जब वाजपेयी ने क्रिकेट टीम से हंसते हुए कहा- फिर तो हम पाकिस्तान में भी चुनाव जीत जाएंगे

अगर गावस्कर को वाडेकर बाथरूम में बंद न करते तो गैरी सोबर्स लगातार चौथी सेंचुरी मार देते!

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

कौन हो तुम

एक्टर शरत सक्सेना की कहानी, जिन्होंने 71 साल की उम्र में ज़बरदस्त बॉडी बनाकर सबको चौंका दिया

एक्टर शरत सक्सेना की कहानी, जिन्होंने 71 साल की उम्र में ज़बरदस्त बॉडी बनाकर सबको चौंका दिया

हीरो बनने आए शरत सक्सेना कैसे गुंडे का चमचा बनने पर मजबूर हुए?

'भीगे होंठ तेरे' वाले कुणाल गांजावाला आजकल कहाँ हैं?

'भीगे होंठ तेरे' वाले कुणाल गांजावाला आजकल कहाँ हैं?

एक वक़्त इंडस्ट्री में टॉप पर थे कुणाल और उनके गाने पार्टियों की जान हुआ करते थे.

राज कुंद्रा की पूरी कहानी, 18 की उम्र में शॉल बेचने से शुरुआत करने वाले राज यहां तक कैसे पहुंचे?

राज कुंद्रा की पूरी कहानी, 18 की उम्र में शॉल बेचने से शुरुआत करने वाले राज यहां तक कैसे पहुंचे?

IPL स्कैंडल, मॉडल्स के आरोप, अंडरवर्ल्ड कनेक्शंस के आरोप, एक्स वाइफ के इल्ज़ाम सब हैं इस कहानी में.

रिचर्ड ब्रैनसन: जिन्होंने पहले अंतरिक्ष के दर्शन करके जेफ बेजोस का मजा खराब कर दिया

रिचर्ड ब्रैनसन: जिन्होंने पहले अंतरिक्ष के दर्शन करके जेफ बेजोस का मजा खराब कर दिया

रिचर्ड ब्रेन्सन की कहानी, जहां भी गए तहलका मचा दिया.

'सिंघम' IPS से तमिलनाडु BJP के सबसे युवा अध्यक्ष बने अन्नामलाई की कहानी

'सिंघम' IPS से तमिलनाडु BJP के सबसे युवा अध्यक्ष बने अन्नामलाई की कहानी

पहला चुनाव हार गए थे, बीजेपी ने राज्य की जिम्मेदारी सौंपी है.

'तड़प-तड़प के' जैसा प्रेमियों का ब्रेकअप एंथम देने वाले सिंगर के के आजकल कहां हैं?

'तड़प-तड़प के' जैसा प्रेमियों का ब्रेकअप एंथम देने वाले सिंगर के के आजकल कहां हैं?

उनके गाए 'पल' गाने के बगैर आज भी किसी कॉलेज का फेयरवेल पूरा नहीं होता.

कर लिया योगा? अब क्विज खेलने से होगा

कर लिया योगा? अब क्विज खेलने से होगा

आन्हां, ऐसे नहीं कि योग बस किए, दिखाना पड़ेगा कि बुद्धिबल कित्ता बढ़ा.

तमिल जनता आखिर क्यों कर रही है 'फैमिली मैन-2' का विरोध, क्या है LTTE की पूरी कहानी?

तमिल जनता आखिर क्यों कर रही है 'फैमिली मैन-2' का विरोध, क्या है LTTE की पूरी कहानी?

जब ट्रेलर आया था, तबसे लगातार विरोध जारी है.

माधुरी से डायरेक्ट बोलो 'हम आपके हैं फैन'

माधुरी से डायरेक्ट बोलो 'हम आपके हैं फैन'

आज जानते हो किसका हैप्पी बड्डे है? माधुरी दीक्षित का. अपन आपका फैन मीटर जांचेंगे. ये क्विज खेलो.

जिन मीम्स को सोशल मीडिया पर शेयर कर चौड़े होते हैं, उनका इतिहास तो जान लीजिए

जिन मीम्स को सोशल मीडिया पर शेयर कर चौड़े होते हैं, उनका इतिहास तो जान लीजिए

कौन सा था वो पहला मीम जो इत्तेफाक से दुनिया में आया?