Submit your post

Follow Us

ओह! तो भारी चालान कटने की असली वजह ये है!

75
शेयर्स

नया मोटर वेहिकल संशोधन क़ानून अब प्रभाव में है. चालानों की दर बढ़ गयी है. कई-कई मामलों में दस गुने ज्यादा. लेकिन चालान लगवा वही लोग रहे हैं, जिन्हें नहीं पता कि किन-किन बातों पर अब चालान लग जाएगा. चप्पल सैंडल पहनकर गाड़ी न चलाने जैसी बातें तो अब हमारे सामने आ रही हैं. रोज़ ज्ञानार्जन हो रहा है. चालान कटने की वैसे तो बहुत सारी वजहें हैं. लेकिन हम बताएंगे आपको कि वो मोटामोटी वजहें क्या हैं, जिनकी वजह से फौरी तौर पर आपका चालान कट सकता है.

पहली वजह  – सुरक्षा का ख़याल न करना

Helmet PTI

गाड़ी चलाने वालों का सबसे तेज़ी से इस वजह से चालान कट रहा है कि वे अपनी सुरक्षा का ख़याल नहीं रखते हैं. अगर बाइक पर चलते हैं तो हेलमेट पहनना ज़रूरी है. और कार से चलते हैं तो खुद तो ज़रूर सीट बेल्ट पहनें. आपके साथ वाली सीट पर जो यात्रा कर रहा हो, उसका भी सीट बेल्ट पहनना ज़रूरी है. हेलमेट न पहनने पर तो चालान लगेगा. साथ ही आपके सीट बेल्ट न पहनने, या ड्राईवर सीट के बगल में बैठे व्यक्ति के सीट बेल्ट न पहनने पर भी चालान लगेगा. कितना चालान? 1000 रुपए का. हेलमेट कौन-सा? खबरों के मुताबिक़ 100-150 में बिकने वाले हेलमेट नहीं. बल्कि बाकायदे ISI मार्का हेलमेट.

दूसरी वजह – ज़रूरी कागज़ न होना

या तो ड्राइविंग लाइसेंस रखिये, या तो उसकी डिजिटल कॉपी.
या तो ड्राइविंग लाइसेंस रखिये, या तो उसकी डिजिटल कॉपी.

किन कागज़ों की बात की जाती है, जो अक्सर ट्रैफिक पुलिस गाड़ी चलाने वालों से मांगती है? कुल चार कागज़ हैं – ड्राइविंग लाइसेंस, रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट, गाड़ी का इंश्योरेंस और गाड़ी के प्रदूषण का सर्टिफिकेट. क्या हैं ये कागज़?

1). ड्राइविंग लाइसेंस. मतलब वो कागज़ जो ये बताता है कि आप गाड़ी चलाने योग्य हैं. हर तरह की गाड़ी चलाने के लिए उसका लाइसेंस होना चाहिए. आपके पास बस बाइक चलाने का लाइसेंस है तो आप बाइक ही चला सकते हैं. कार या दूसरी गाड़ी नहीं. कार या गाड़ी चलाने का लाइसेंस है तो कार या गाड़ी ही चला सकते हैं, बाइक या दूसरी गाड़ी नहीं. अगर ड्राइविंग लाइसेंस नहीं है तो 5 हज़ार का जुर्माना लगेगा. और अगर आप लाइसेंस का गलत इस्तेमाल कर रहे हैं – मसलन, कार के लाइसेंस पर ट्रक और बाइक के लाइसेंस पर कार चला रहे हैं – तो भी 5 हज़ार का जुर्माना लगेगा.

2). गाड़ी का रजिस्ट्रेशन एक ज़रूरी कागज़ होता है. जिस गाड़ी पर आप चल रहे हैं, और पुलिस को उस गाड़ी का रजिस्ट्रेशन का कागज़ नहीं दिखा पाते हैं, तो मन में पहला संदेह यही होता है कि आपके पास जो गाड़ी है, वो आपकी नहीं है. या तो किसी और की है, या तो चोरी की है. इस वजह से गाड़ी का रजिस्ट्रेशन न होने पर चालान लगाए जाते हैं.

3). यही बात गाड़ी के इंश्योरेंस के साथ भी है. गाड़ी का इंश्योरेंस होने से आपको तो फायदा है ही. गाड़ी टूटती-फूटती है या चोरी होती है तो आपको मुआवज़ा मिलेगा. ऐसा करने के पहले बीमा कंपनियां ये भी सुनिश्चित करती हैं कि आपकी गाड़ी को नुकसान कैसे हुआ? इसलिए कहा भी जाता है कि आप हर साल अपना इंश्योरेंस रिन्यू कराएं. आप पूछेंगे कि गाड़ी मेरी-नुकसान मेरा, मेरी मर्जी हो कि मैं बीमा लेता हूं या नहीं. लेकिन ये आपकी मर्जी पर निर्भर नहीं करता है. बीमा इसलिए दिया जाता है कि आप तनावमुक्त रह सकें और किसी नुकसान की स्थिति में भरपाई हो सके. आपको परेशान न होना पड़े.

4). प्रदूषण सर्टिफिकेट. एक और ज़रूरी कागज़. Pollution Under Control Certificate. यानी PUC Certificate. अगर हो तो पता चलता है कि आपकी गाड़ी से जो धुआं निकल रहा है, उससे होने वाला प्रदूषण मानकों से कम है. अगर नहीं हो तो पता चलता है कि या तो आपकी गाड़ी ज्यादा प्रदूषण फैला रही है, या तो आपने ज़रूरी नहीं समझा कि प्रदूषण की जांच कराई जाए. ये भी इसलिए कि आपका थोड़ा ध्यान पर्यावरण की ओर भी हो.

तीसरी वजह – शराब 

शराब पीकर गाड़ी चलाना एक जुर्म था, जुर्म रहेगा.
शराब पीकर गाड़ी चलाना एक जुर्म था, जुर्म रहेगा.

शराब पीकर गाड़ी चलाना जुर्म है. आप जानते ही होंगे. फिर भी कुछ लोग नहीं इससे बाज नहीं आते हैं. अगर आप शराब पीकर गाड़ी चलाते हैं तो आपका एक्सीडेंट हो सकता है. आपकी वजह से दूसरे लोगों की जिंदगी भी खतरे में पड़ सकती है. इस वजह से शराब पीकर गाड़ी चलाने पर 10 हज़ार रुपयों का चालान लगाया जा रहा है.

चौथी वजह  – गाड़ी तेज़ भगाना

Traffic challan in delhi

ओवरस्पीडिंग एक जुर्म है. इससे भी जीवन का नुकसान हो सकता है. सरकारी आंकड़े हैं. साल 2018 में जितने सड़क हादसे हुए, उनमें से 66 प्रतिशत गति सीमा से तेज़ गाड़ी चलाने की वजह से हुए हैं. सरकार इन आंकड़ों में सख्ती से कमी लाना चाहती है. इसलिए तेज़ी से बाइक-स्कूटर जैसे वाहन भगाने पर 1 हज़ार रुपए का और कार जैसे वाहन भगाने पर 2 हज़ार रुपयों का जुर्माना लगाया जा रहा है. अलग-अलग सड़कों पर अलग-अलग स्पीड लिमिट होती है. उस स्पीड लिमिट को पढ़कर-देखकर चलें और ध्यान रखें कि आप उसके ऊपर न चल रहे हों.

पांचवीं वजह – ट्रैफिक के नियम तोड़ना 

ट्रैफिक नियम इसलिए बनाए जाते हैं कि आप और दूसरे लोग सुरक्षित रहें. अगर आप ट्रैफिक रूल तोड़ते हैं – मसलन, लाल बत्ती पार कर जाते हैं या मोबाइल फोन पर बात करते हुए गाड़ी चला रहे हैं –  तो ऐसी स्थिति में 5 हज़ार रुपयों का जुर्माना लगाया जा रहा है. यही नहीं, जेल भी भेजा जा सकता है. एक साल के लिए.

और छठवीं वजह – सही कपड़े नहीं पहनना

इन कपड़ों में गाड़ी चलाने पर बहुत बुरा झेलेंगे. (साभार : रॉयटर्स)
इन कपड़ों में गाड़ी चलाने पर बहुत बुरा झेलेंगे. (साभार : रॉयटर्स)

सबसे पहले यूपी से ये नियम सामने आया है. 10 सितम्बर को लखनऊ के एसपी ट्रैफिक ने सर्कुलर जारी करते हुए कहा कि गाड़ी चलाते समय अगर सवार हाफपैंट, लुंगी, चप्पल, सैंडल पहनते हैं तो उनका दो हज़ार रुपयों का चालान किया जाएगा. लेकिन मोटर वेहिकल ऐक्ट में सीधे से कपड़ों के बारे में कुछ नहीं कहा गया है. लेकिन इस आदेश के पीछे मोटर वेहिकल एक्ट के सेक्शन 179 का हवाला दिया जा रहा है, जिसमें कहा गया है कि ट्रैफिक नियमों का पालन करने के लिए जिम्मेदार अथॉरिटी द्वारा बनाए गए नियमों का पालन करना आवश्यक है. और इसलिए ये नियम बनाया गया है. तमिलनाडु सरकार की वेबसाइट से पता चलता है कि पहले वहां भी वाहन चालकों को कपड़ों को लेकर हिदायत दी गयी थी.

यही वजहें हैं कि ट्रैफिक पुलिसकर्मी लोगों का इतना भारीभरकम चालान काट रहे हैं. और चालान ही क्या? गाड़ी भी ज़ब्त हो जा रही है. चालान जमा होगा कोर्ट में. फिर गाड़ी छूटेगी.


लल्लनटॉप वीडियो : हाथ में फरसा लिए हरियाणा के CM खट्टर ने क्यों कहा ‘गर्दन काट दूंगा तेरी’

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

कौन हो तुम

‘ताई तो कहती है, ऐसी लंबी-लंबी अंगुलियां चुडै़ल की होती हैं’

एक कहानी रोज़ में आज पढ़िए शिवानी की चन्नी.

मोदी जी का बड्डे मना लिया? अब क्विज़ खेलकर देखो कितना जानते हो उनको

मितरों! अच्छे नंबर चइये कि नइ चइये?

कॉन्ट्रोवर्सियल पेंटर एमएफ हुसैन के बारे में कितना जानते हैं आप, ये क्विज खेलकर बताइये

एमएफ हुसैन की पेंटिंग और विवाद के बारे में तो गूगल करके आपने खूब जान लिया. अब ज़रा यहां कलाकारी दिखाइए.

इस क्विज़ में परफेक्ट हो गए, तो कभी चालान नहीं कटेगा

बस 15 सवाल हैं मित्रों!

क्विज़: खून में दौड़ती है देशभक्ति? तो जलियांवाला बाग के 10 सवालों के जवाब दो

इंग्लैंड के सबसे बड़े पादरी ने कहा वो शर्मिंदा हैं. जलियांवाला बाग कांड के बारे में अपनी जानकारी आप भी चेक कर लीजिए.

KBC क्विज़: इन 15 सवालों का जवाब देकर बना था पहला करोड़पति, तुम भी खेलकर देखो

आज से KBC ग्यारहवां सीज़न शुरू हो रहा है. अगर इन सारे सवालों के जवाब सही दिए तो खुद को करोड़पति मान सकते हो बिंदास!

क्विज: अरविंद केजरीवाल के बारे में कितना जानते हैं आप?

अरविंद केजरीवाल के बारे में जानते हो, तो ये क्विज खेलो.

क्विज: कौन था वह इकलौता पाकिस्तानी जिसे भारत रत्न मिला?

प्रणब मुखर्जी को मिला भारत रत्न, ये क्विज जीत गए तो आपके क्विज रत्न बन जाने की गारंटी है.

ये क्विज़ बताएगा कि संसद में जो भी होता है, उसके कितने जानकार हैं आप?

लोकसभा और राज्यसभा के बारे में अपनी जानकारी चेक कर लीजिए.

संजय दत्त के बारे में पता न हो, तो इस क्विज पर क्लिक न करना

बाबा के न सही मुन्ना भाई के तो फैन जरूर होगे. क्विज खेलो और स्कोर करो.