Submit your post

Follow Us

इन जगहों पर सांस लेने की वजह से मर जाते हैं लोग

दिवाली के बाद जब दिल्लीवालों ने बिस्तर छोड़ा, तो सबसे पहले उन्हें दीदार हुआ स्मॉग का. बालकनी और खिड़कियों के बाहर अथाह स्मॉग दिख रहा था. दो दिन पहले ही जो अघाकर पटाखे फोड़े गए थे, उसी का रिजल्ट आया है ये. एकदम फर्स्ट डिवीजन. इसने बता दिया कि ठंड शुरू हुई हो या न हुई हो, लेकिन स्मॉग झेलने के लिए तैयार हो जाइए. पर स्मॉग को कोहरा मत समझ लीजिएगा. फर्क है दोनों में.

स्मॉग शब्द बना है ‘स्मोक’ और ‘फॉग’ से. जब कोहरे में ढेर सारा धुआं मिल जाता है, तो ये स्मॉग बन जाता है. कोहरा नेचुरल होता है, जिससे शरीर को कोई नुकसान नहीं होता. लेकिन, जब इसमें जहरीला धुआं मिल जाता है, तो ये आपके लिए जहर बन जाता है. स्मॉग में कारों और फैक्ट्री का जहरीला धुआं और जलने पर धातु से निकले कण होते हैं. स्मॉग में जहरीले कण इतने छोटे होते हैं कि ये आपके फेफड़े में तो जाते ही हैं, साथ ही, दिमाग में भी जा सकते हैं. इसकी वजह से कैंसर होना छोटी सी बात है. इन कणों को PM कहते हैं

वैसे स्मॉग के बारे में और जानना हो, तो यहां क्लिक कीजिए:

यहां हम आपको बताएंगे कि दुनिया के कौन से देश/शहर स्मॉग से सबसे ज्यादा जूझ रहे हैं और इससे बचने के लिए वहां क्या-क्या किया गया.

1. बीजिंग (चीन)

beijing-smog1

स्मॉग की सबसे ज्यादा खबरें बीजिंग से ही आती हैं. ये शहर कई सालों से स्मॉग झेल रहा है और यहां की स्मॉग की तस्वीरें बेहद खतरनाक दिखती हैं. चीन में दुनिया की 20% आबादी रहती है, लेकिन दुनिया में वायु प्रदूषण की वजह होने से वाली कुल मौतों में से 40% चीन में ही होती हैं. चीन की सरकार अब तक कई बार स्मॉग करने की डेडलाइन तय कर चुकी है, लेकिन कभी अपना टारगेट पूरा नहीं कर पाई. अरबों डॉलर खर्च होने के बावजूद चीनी हमेशा जहरीली हवा में सांस लेते हैं. स्मॉग की वजह से वहां कई बार स्कूल तक बंद करने पड़ते हैं. एक आंकड़े के मुताबिक चीन में जितने भी फेस मास्क बिकते हैं, उसका एक छठा हिस्सा अकेले बीजिंगवाले खरीदते हैं.

बचने के लिए क्या किया

डान रूसगार्ड का लगाया एयर क्लीनर
डान रूसगार्ड का लगाया एयर क्लीनर

स्मॉग से निपटने के लिए चीन ने कोयले और कारों के उपयोग पर कई पाबंदियां लगा रखी हैं. एक बार तो आधी प्राइवेट कारों के चलने पर रोक लगा दी गई थी. डच डिजाइनर डान रूसगार्ड ने बीजिंग में एक बड़ा सा एयर प्यूरीफायर लगाया है, जो गंदी हवा को खींचकर इसे डायमंड या किसी ठोस चीज में बदल देता है. डान के मुताबिक ये दुनिया का सबसे बड़ा एयर प्यूरीफायर है.

कैन में बिकती साफ हवा
कैन में बिकती साफ हवा

चीन में ऐसे ही और प्यूरीफायर लगाने की प्लानिंग चल रही है. स्मॉग की वजह से चीन में साफ ऑक्सीजन को कैन में बेचने का धंधा भी खूब चल रहा है.

2. अहवाज (ईरान)

ahvaz-smog

स्मॉग के मामले में अहवाज WHO की लिस्ट में पहले नंबर पर रहा है. इस हिसाब से ये दुनिया में सबसे गंदी हवा वाला शहर है. अहवाज में बहुत ही बड़ी इंडस्ट्रीज हैं, जहां तेल और धातु का उपयोग होता है. यहां नेचुरल गैस का प्रॉडक्शन भी होता है. इसी वजह से यहां सांस लेना खुदकुशी करने जैसा है. लोग बिना मास्क के बाहर नहीं निकल पाते. वहां की सरकार खुद मान चुकी है कि इस शहर में स्मॉग का सबसे बड़ा कारण दोयम दर्जे का गैसोलीन है. साल में 6 महीने से ज्यादा वक्त तक तेहरान के 90 लाख से ज्यादा लोग रबर, सल्फर और कार्बन जैसे कणों वाली हवा में सांस लेते हैं. इस वजह से हर रोज 270 लोगों की मौत हो जाती है.

बचने के लिए क्या किया

ahvaz-smog1

दुनिया के 10 सबसे प्रदूषित शहरों में से 4 ईरान में हैं और यहां की सरकार ने अपनी पेट्रोकेमिकल इंडस्ट्री पर लगाम लगाकर स्मॉग कम करने की कोशिश की है. दुनियाभर में कई देश यहीं से तेल खरीदते हैं, लेकिन सरकार यहां की रिफाइनरीज पर रोक लगा रही है. साथ ही, कई ईरानी पेट्रोकेमिकल प्लांट बंद कर दिए गए हैं. लोकल इंडस्ट्रीज पर लगाम लगाने के लिए डोमेस्टिक एमीशन ट्रेडिंग स्कीम भी लाई गई, ताकि एनर्जी का दोहन कम किया जा सके. इसके अलावा ईरान हवा साफ करने वाली टेक्नॉलजी पर सबसे तेजी से काम कर रहा है.

3. उलान बटोर (मंगोलिया)

mongolia-smog

उलान बटोर दुनिया की सबसे ठंडी राजधानियों में शुमार है, लेकिन साथ ही, सबसे ज्यादा वायु प्रदूषण के मामले में ये दूसरे नंबर पर रहा है. सर्दी के महीनों में कोयले और लकड़ी की आग की वजह से शहर में स्मॉग 70 फीसदी तक बढ़ जाता है. साथ ही, रेगिस्तान की रेत, मिट्टी और खेती की कमी पॉवर प्लांट्स और वाहन स्मॉग को बहुत बढ़ा देते हैं. इस शहर में भी इंडस्ट्रीज बहुत ज्यादा हैं, जिससे लोग जहरीली हवा में सांस लेने को मजबूर हैं. इस शहर की हवा WHO के पैमानों के मुकाबले सात फीसदी गंदी है.

बचने के लिए क्या किया

mongolia-smog1

मंगोलिया की सरकार ने वर्ल्ड बैंक की मदद से क्लीन एयर प्रॉजेक्ट का काम शुरू किया है. इसके लिए उसे साढ़े चार करोड़ डॉलर्स की मदद मिली है और डेढ़ करोड़ डॉलर की क्रेडिट भी दी गई है. इस प्रॉजेक्ट से वहां के गरीब इलाकों में रहने वाले लोगों द्वारा स्टोव और बॉयलर्स का यूज करने में मदद मिलेगी. साथ ही, मंगोलिया अमेरिका के साथ मिलकर हवा क्लीन करने वाले कई प्रॉजेक्ट्स पर काम कर रहा है.

4. मॉस्को (रूस)

moscow-smog

रूस के मॉस्को में स्मॉग सुनकर भले बहुत अजीब लगे, लेकिन ये शहर भी जहरीली हवा के बीच सांस लेता है. इस शहर में हाइड्रोकार्बन का असर सबसे ज्यादा है. 2010 में जब मॉस्को में आग लगी थी, तो हालात इतने खराब हो गए थे कि लोग शहर छोड़कर भागने लगे थे. ट्रेन और फ्लाइट्स उस समय एकदम फुल रहती थीं. सांस लेते समय लोगों का गला तक चोक होने लगा था. बीते दो-तीन सालों से मॉस्को में हवा इतनी खराब हो गई है कि वहां 300 से 400 किमी के दायरे में चार-पांच दिनों तक स्मॉग छाया रहता है. सप्ताह में दो-तीन बार स्मॉग बहुत ज्यादा हो जाता है.

बचने के लिए क्या किया

moscow-smog1

मॉस्को में स्मॉग का सबसे बड़ा कारण वहां चलने वाली हवा है. वहां हवा की दिशा ही ऐसी रहती है कि मॉस्को स्मॉग में डूब जाता है. हालांकि, सरकार ने कुछ कदम उठाए हैं. वहां अब खुले में कचरा जलाने पर रोक लगाई गई है और लकड़ी जलाने पर भी पाबंदी है. सरकार बार-बार लोगों से अपील करती है कि लोग बिना मास्क लगाए बाहर न निकलें.

5. मेक्सिको सिटी (मेक्सिको)

mexico-smog

मेक्सिको में स्मॉग तो है ही, साथ ही, इसकी भौगोलिक स्थिति इसके हालात और भी ज्यादा खराब कर देती है. ये शहर तीन तरफ से पहाड़ों से घिरा हुआ है, ऐसे में स्मॉग शहर के ऊपर छाया ही रहता है. हवा में बहुत ज्यादा सल्फर डाईऑक्साइड और हाइड्रोकार्बन्स होने की वजह से इसे सबसे प्रदूषित शहरों में गिना जाता है, जबकि एक समय ये सबसे साफ शहरों में शुमार था. यहां स्मॉग का सबसे बड़ा कारण वाहन हैं. इतनी परेशानी के बावजूद यहां हर साल हजारों नए वाहन सड़क पर आ जाते हैं.

बचने के लिए क्या किया

mexico-smog1

मेक्सिको में हवा साफ करने के लिए सरकार ने नई ट्रांसपोर्ट पॉलिसियां बनाई हैं, ताकि नए वाहन कम से कम खरीदे जा सकें. साथ ही, जिन लोगों के पास गाड़ियां हैं, उनसे कम से कम एक दिन गाड़ी न चलाने के लिए कहा गया. कई फैक्ट्रियां बंद कर दी गई.


वीडियो देखें : एक्टर विश्व भानु ने कॉलोनी के मुस्लिम पड़ोसियों पर जो आरोप लगाए, उसकी हकीकत जान लीजिए

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

कौन हो तुम

10 साल पहले भी शाहरुख़ का समीर वानखेड़े से सामना हुआ था, समीर ने ठोका था तगड़ा जुर्माना

10 साल पहले भी शाहरुख़ का समीर वानखेड़े से सामना हुआ था, समीर ने ठोका था तगड़ा जुर्माना

जगह थी मुंबई एयरपोर्ट. अब दस साल बाद फिर से दोनों का नाम एक साथ सुर्ख़ियों में है.

'स्क्विड गेम' के प्लेयर नंबर 199 'अली' की कहानी, जिनके इंडियन होने ने सीरीज़ में एक्स्ट्रा मज़ा दिया

'स्क्विड गेम' के प्लेयर नंबर 199 'अली' की कहानी, जिनके इंडियन होने ने सीरीज़ में एक्स्ट्रा मज़ा दिया

अली का रोल करने वाले इंडियन एक्टर अनुपम त्रिपाठी का सलमान-शाहरुख़ कनेक्शन क्या है?

IPL का कित्ता ज्ञान है, ये क़्विज़ खेलकर चेक कल्लो!

IPL का कित्ता ज्ञान है, ये क़्विज़ खेलकर चेक कल्लो!

ईमानदारी से स्कोर भी बताते जाना. हम इंतज़ार करेंगे.

'मनी हाइस्ट' वाले प्रोफेसर की पूरी कहानी, जिनकी पत्नी ने कहा था, 'कभी फेमस नहीं हो पाओगे'

'मनी हाइस्ट' वाले प्रोफेसर की पूरी कहानी, जिनकी पत्नी ने कहा था, 'कभी फेमस नहीं हो पाओगे'

अलवारो मोर्टे ने वेटर तक का काम किया हुआ है. और एक वक्त तो ऐसा था कि बकौल उनके कैंसर से जान जाने वाली थी.

एक्टर शरत सक्सेना की कहानी, जिन्होंने 71 साल की उम्र में ज़बरदस्त बॉडी बनाकर सबको चौंका दिया

एक्टर शरत सक्सेना की कहानी, जिन्होंने 71 साल की उम्र में ज़बरदस्त बॉडी बनाकर सबको चौंका दिया

हीरो बनने आए शरत सक्सेना कैसे गुंडे का चमचा बनने पर मजबूर हुए?

'भीगे होंठ तेरे' वाले कुणाल गांजावाला आजकल कहाँ हैं?

'भीगे होंठ तेरे' वाले कुणाल गांजावाला आजकल कहाँ हैं?

एक वक़्त इंडस्ट्री में टॉप पर थे कुणाल और उनके गाने पार्टियों की जान हुआ करते थे.

राज कुंद्रा की पूरी कहानी, 18 की उम्र में शॉल बेचने से शुरुआत करने वाले राज यहां तक कैसे पहुंचे?

राज कुंद्रा की पूरी कहानी, 18 की उम्र में शॉल बेचने से शुरुआत करने वाले राज यहां तक कैसे पहुंचे?

IPL स्कैंडल, मॉडल्स के आरोप, अंडरवर्ल्ड कनेक्शंस के आरोप, एक्स वाइफ के इल्ज़ाम सब हैं इस कहानी में.

रिचर्ड ब्रैनसन: जिन्होंने पहले अंतरिक्ष के दर्शन करके जेफ बेजोस का मजा खराब कर दिया

रिचर्ड ब्रैनसन: जिन्होंने पहले अंतरिक्ष के दर्शन करके जेफ बेजोस का मजा खराब कर दिया

रिचर्ड ब्रेन्सन की कहानी, जहां भी गए तहलका मचा दिया.

'सिंघम' IPS से तमिलनाडु BJP के सबसे युवा अध्यक्ष बने अन्नामलाई की कहानी

'सिंघम' IPS से तमिलनाडु BJP के सबसे युवा अध्यक्ष बने अन्नामलाई की कहानी

पहला चुनाव हार गए थे, बीजेपी ने राज्य की जिम्मेदारी सौंपी है.

'तड़प-तड़प के' जैसा प्रेमियों का ब्रेकअप एंथम देने वाले सिंगर के के आजकल कहां हैं?

'तड़प-तड़प के' जैसा प्रेमियों का ब्रेकअप एंथम देने वाले सिंगर के के आजकल कहां हैं?

उनके गाए 'पल' गाने के बगैर आज भी किसी कॉलेज का फेयरवेल पूरा नहीं होता.