Submit your post

रोजाना लल्लनटॉप न्यूज चिट्ठी पाने के लिए अपना ईमेल आईडी बताएं !

Follow Us

क्यों कठुआ रेप पर गुस्सा करने वाले ये लोग भी संभावित रेपिस्ट ही हैं!

3.49 K
शेयर्स

कठुआ में 8 साल की बच्ची से हुए गैंगरेप ने करोड़ों लोगों की चेतना को झकझोर दिया. आज तमाम लोग कठुआ की बच्ची को इंसाफ देने की मांग कर रहे हैं. ये लोग देश में बढ़ रहे रेप से चिंतित हैं और सख्त ऐक्शन की आस में सरकार का मुंह ताक रहे हैं.

इन तमाम लोगों के सामने कुछ ऐसे भी हैं, जो इस रेप का बचाव कर रहे हैं. ऐसा करने वाले सभी तिरंगों से लैस नहीं हैं. कुछ ने सोशल मीडिया पर भी मोर्चा संभाल रखा है और मर चुकी उस बच्ची का बेशर्म मज़ाक उड़ा रहे हैं. देखिए उदाहरण:

बाईं तरफ है फेसबुक पोस्ट और दाईं तरफ हैं पोस्ट पर विक्रम के कॉमेंट्स.
फेसबुक के किसी ग्रुप में एके सिंघल नाम के एक शख्स ने कठुआ गैंगरेप पीड़िता के पक्ष में एक पोस्ट लिखी. (बाएं) उस पर विक्रम ने खुशी जताते हुए कॉमेंट्स किए कि जो हुआ, उससे उसे बहुत अच्छा लगा. (दाएं)

फेसबुक पर किसी ग्रुप में एके सिंघल नाम के एक शख्स ने कठुआ की बच्ची की कहानी बताते हुए एक पोस्ट लिखी. विक्रम सिंह राजपूत नाम के एक यूज़र ने सिंघल की पोस्ट पर बेहद घटिया कॉमेंट्स किए. उसने लिखा कि इस रेप की खबर से उसे बहुत मज़ा आया. विक्रम राजस्थान के राजसमंद जिले के केलवाड़ा गांव का रहने वाला है और दावा करता है कि वो बीजेपी का कार्यकर्ता है. विक्रम अकेला नहीं है. फेसबुक पर उसके जैसे तमाम लोग हैं.

विक्रम की फेसबुक वॉल, जहां वो खुद को गौरवान्वित राजपूत और बीजेपी कार्यकर्ता बताता है.
विक्रम की फेसबुक वॉल, जहां वो खुद को गौरवान्वित राजपूत और बीजेपी कार्यकर्ता बताता है.

विक्रम के इन कॉमेंट्स के बाद हज़ारों लोगों ने उसे गालियां दीं. एके सिंघल की पोस्ट गालियां भरे कॉमेंट्स से भर गई. और यहीं हम एक सोसायटी के तौर पर अपनी लड़ाई हारते दिख रहे हैं. क्यों? क्योंकि रेप का विरोध कर रहे लोग भी वही सब करने की बातें लिख रहे हैं, जो कठुआ में उस बच्ची के साथ हुआ.

रेप का विरोध करने वालों का नैतिक आधार है कि रेप करने वाले लोग बुरे हैं और हम अच्छे हैं. किसी ने रेप का समर्थन किया, तो इन ‘अच्छे’ लोगों को गुस्सा आ गया. लेकिन गुस्से में, आवेश में वो सही-गलत का फर्क भूलकर बेहद घटिया बातें लिख रहे हैं. विक्रम ने बेहद असंवेदनशील कॉमेंट किए, इसमें कोई शक नहीं. पर गुस्से में इसका जवाब देने वाले ये भूल गए कि अपनी भाषा से वो भी कठुआ रेप के दोषियों की जगह ले रहे हैं.

विक्रम की मां और बहन, जिनका कठुआ गैंगरेप से कोई लेना-देना नहीं है, उन्हें ऐसे-ऐसे शब्दों से नवाज़ा गया है, क्योंकि लोगों को उनके बेटे की हरकत से तकलीफ थी.
विक्रम की मां, जिन्हें शायद फेसबुक के बारे में पता भी न हो, जिनका कठुआ गैंगरेप से कोई लेना-देना नहीं है, उन्हें ऐसे-ऐसे शब्दों से नवाज़ा गया है, क्योंकि लोगों को उनके बेटे की हरकत से तकलीफ थी. उसकी बहन से उसकी कीमत पूछी जा रही है.

रेप का समर्थन करने वालों को हमारी सोसायटी संभावित बलात्कारी मान रही है. संभावित बलात्कारी यानी वो, जो समाज-कानून के डर और लोकलाज के भय से थमे हुए हैं, लेकिन मौका मिलने पर वो भी बलात्कारी साबित हो सकते हैं. यही वजह है कि हमारे समाज को दोषियों से ज़्यादा उन लोगों से डरने की ज़रूरत है, जो रेप विक्टिम के पक्ष में खड़े नज़र आ रहे हैं.

विक्रम के कॉमेंट पढ़कर लोगों को ये बर्दाश्त नहीं हुआ कि कोई रेप विक्टिम के लिए ऐसा कैसे लिख सकता है. पर उसके विरोध में लोगों ने जो बातें लिखीं, वो वही हैं, जो हमने कठुआ वाली बच्ची की FIR में पढ़ीं. कठुआ वाली बच्ची के साथ बार-बार रेप किया गया. फेसबुक पर लोग विक्रम की मां-बहन के साथ बार-बार जानवरों से रेप कराने की बात लिख रहे हैं. उस बच्ची को को नशे की गोलियां दे-देकर रेप किया गया. फेसबुक पर लोग विक्रम की मां-बहन के साथ रेप कर-करके उन्हें पागल कर देने की बात लिख रहे हैं. उन्हें वेश्या से लेकर और न जाने क्या-क्या ठहराया जा चुका है.

ये हालत है. कॉमेंट में जितने शब्द हैं, उससे ज़्यादा गालियां हैं.
ये हालत है. कॉमेंट में जितने शब्द हैं, उससे ज़्यादा गालियां हैं.

इन कथित अच्छे लोगों ने विक्रम की मां और बहन के साथ मौखिक और लिखित बलात्कार ही किया है. जो बातें कोई किसी के लिए नहीं सुनना चाहता, वो सभी विक्रम की मां और बहन के लिए लिखी गईं. विक्रम की शादी वाली फोटो पर करीब साढ़े चार हज़ार लोगों ने पागल कर देने वाली गालियां दीं, जिसके बाद उसने वो फोटो डिलीट कर दी.

हमें यहीं सोचने की ज़रूरत है. कठुआ में जिन्होंने तिरंगा लेकर रेपिस्ट्स का बचाव किया, वो अपनी बुराई खुलकर सामने रख चुके हैं. पर जो लोग खुद को विक्टिम के पक्ष में बता रहे हैं, उन्हें शांति से सोचने की ज़रूरत है. क्या आपको इतना गुस्सा आ गया कि आप सही और गलत का फर्क भूल गए! क्या आप अपने और रेपिस्ट्स के बीच का फर्क भूल गए! कठुआ में जो हुआ, वो पागलपन और सनक का नतीजा है. इसे रोकने के लिए हमें शांत होकर सोचना होगा. हमारे दिमाग में इतना ज़हर और नफरत न भर जाए कि हम भी रेपिस्ट्स की जमात में खड़े नज़र आएं.

comments2
किसी की मां-बहन के लिए ऐसे कॉमेंट्स देखने के बाद हमारी ज़िम्मेदारी और बढ़ जाती है कि हम अपना समाज सुधारें, इसकी सोच सुधारें.

अगर हम इसी भाषा से किसी की मां-बहन को संबोधित करेंगे, तो फिर ‘अच्छे लोगों’ और उन रेपिस्ट्स में क्या अंतर है? और अगर ये अंतर नहीं रखना है, अगर आप नैतिकता और अच्छाई का महज़ दिखावा कर रहे हैं, तो अपने असली चेहरे के साथ सामने आइए. कम से कम बाकी के अच्छे लोगों को तो पता चले कि उन्हें किस-किससे सतर्क रहने की ज़रूरत है.

हम एक बार फिर आसान हिंदी में वही साधारण बात कह रहे हैं, जो हम हमेशा से आपसे कहते आए हैं. कठुआ में जो हुआ, वो नहीं होना चाहिए था. कठुआ की तरह देश के कोने-कोने में जो हो रहा है, वो नहीं होना चाहिए. पर ऐसी घटनाओं को रोकने के लिए हमें आवेश में नहीं, बल्कि शांति से सोचना होगा. बदलाव आएगा, तो इसी तरह आएगा. किसी की मां-बहन को भर-भरकर गालियां देने से नहीं.


ये भी पढ़ें:

कठुआ गैंगरेप के बाद सबसे कायदे की बात इस आदमी ने कही है

क्या है सासाराम रेप केस, जिसे लोग कठुआ रेप केस के जवाब में पेश कर रहे हैं?

मंदिर में बच्ची से गैंगरेप की पूरी कहानी, जहां पुलिसवाले ने कत्ल से पहले कहा – रुको मैं भी रेप कर लूं

ये वीडियो आपके बच्चों को बताएगा कि हम कैसे इंसानों से जानवर में बदल गए थे

 

लल्लनटॉप न्यूज चिट्ठी पाने के लिए अपना ईमेल आईडी बताएं !

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें
Those threatening the family members of Kathua rape supporters carry the same rapist mentality

कौन हो तुम

कंट्रोवर्शियल पेंटर एम एफ हुसैन के बारे में कितना जानते हैं आप, ये क्विज खेलकर बताइये

एम.एफ हुसैन की पेंटिंग और विवाद तो गूगल कर आपने खूब समझ लिया. अब जरा यहां कलाकारी दिखाइए

KBC क्विज़: इन 15 सवालों का जवाब देकर बना था पहला करोड़पति, तुम भी खेलकर देखो

अगर सारे जवाब सही दिए तो खुद को करोड़पति मान सकते हो बिंदास!

राजेश खन्ना ने किस हीरो के खिलाफ चुनाव लड़ा और जीता था?

राजेश खन्ना के कितने बड़े फैन हो, ये क्विज खेलो तो पता चलेगा.

QUIZ: आएगा मजा अब सवालात का, प्रियंका चोपड़ा से मुलाकात का

प्रियंका की पहली हिंदी फिल्म कौन सी थी?

कौन है जो राहुल गांधी से जुड़े हर सवाल का जवाब जानता है?

क्विज है राहुल गांधी पर. आगे कुछ न बताएंगे. खेलो तो बताएं.

Quiz: संजय दत्त के कान उमेठने वाले सुनील दत्त के बारे में कितना जानते हो?

जिन्होंने अपनी फ़िल्मी मां से रियल लाइफ में शादी कर ली.

क्विज़: योगी आदित्यनाथ के पास कितने लाइसेंसी असलहे हैं?

योगी आदित्यनाथ के बारे में जानते हो, तो आओ ये क्विज़ खेलो.

माधुरी से डायरेक्ट बोलो 'हम आपके हैं फैन'

आज जानते हो किसका हैप्पी बड्डे है? माधुरी दीक्षित का. अपन आपका फैन मीटर जांचेंगे. ये क्विज खेलो.

'हिटमैन' रोहित शर्मा को आप कितना जानते हैं, ये क्विज़ खेलकर बताइए

आज 31 साल के हो गए हैं रोहित शर्मा.

सलमान खान के फैन, इधर आओ क्विज खेल के बताओ

क्विज में सही जवाब देने वाले के लिए एक खास इनाम है.