Submit your post

Follow Us

वो डायरेक्टर जिसने अक्षय कुमार को बनाया, जिसका अहसान अक्की रोज़ मानते हैं

प्रमोद चक्रवर्ती (1929-2004) को आज याद कर रहे हैं. तेरह साल पहले, 12 दिसंबर को उनका निधन हो गया था.

3.51 K
शेयर्स

अक्षय कुमार बता चुके हैं कि कैसे वो बंबई में बच्चों को कराटे सिखाते थे और दिल्ली से कुंदन की जूलरी जैसे सामान लाकर बेचते थे. ये उनके बैंकॉक में पांच साल कराटे सीखकर आने के बाद के दिनों के संघर्ष की बात है. वे महीने के पांच-छह हजार रुपये कई धंधों के बाद कमा पाते थे. उनके एक स्टूडेंट के पिता मॉडल कॉर्डिनेटर थे. उन्होंने अक्षय से कहा कि वे मॉडल क्यों नहीं बनते और उनको एक फर्नीचर ब्रांड के लिए मॉडलिंग का काम भी दिलवाया. इसके बाद अक्षय मॉडलिंग के लिए लोगों को अप्रोच करने लगे, रैंप वॉक करने लगे. इसी दौरान एक व्यक्ति ने सिर्फ कुछ ही पलों में उनकी जिंदगी बदल दी. उसकी वजह से आज वे सुपरस्टार अक्षय कुमार हैं.

बिना किसी की सिफारिश के, बिना स्टार फैमिली से होते हुए उस व्यक्ति ने अक्षय को उनकी पहली फिल्म दी. वो इंसान थे प्रमोद चक्रवर्ती.

प्रमोद ने अपने स्टाफ के व्यक्ति नरेंद्र सिंह को कहा था कि उन्हें अगली फिल्म के लिए नए लड़के-लड़की की जरूरत है. एक दिन नरेंद्र ने अक्षय को सामने से आते हुए देखा. उन्होंने अक्षय को बुलाया और पूछा कि क्या उनको डांस आता है. अक्षय ने कहां, हां, पंजाबी डांस भी कर लेता हूं और दूसरे वाले भी. फिर उनसे पूछा कि क्या फाइटिंग कर लेते हैं तो उन्होंने बताया कि बैंकॉक से कराटे में ब्लैक बेल्ट लेकर आए हुए हैं. तो नरेंद्र तुरंत अक्षय का प्रोफाइल लेकर प्रमोद चक्रवर्ती के पास गए.

उन्होंने आधे घंटे में अक्षय को कास्ट कर लिया. वो नरेंद्र सिंह तब से अक्षय के मेकअप मैन हैं और उनकी हेल्थ का भी ध्यान रखते हैं.

अक्षय की साइन की पहली फिल्म दीदार के मुहूर्त पर डायरेक्टर प्रमोद चक्रवर्ती, अक्षय कुमार, करिश्मा कपूर और उनके पिता रणधीर कपूर.
‘दीदार’ के मुहूर्त पर डायरेक्टर प्रमोद चक्रवर्ती, अक्षय कुमार, करिश्मा कपूर और उनके पिता रणधीर कपूर.

अक्षय हमेशा प्रमोद चक्रवर्ती का नाम बड़ी श्रद्धा से लेते हैं. वे उस पहले अवसर के बारे में बताते हैं, “आज भी मुझे याद है. शाम के साढ़े छह बजे हुए थे. उन्होंने मेरे हाथ में 5,001/- रुपये का चैक दिया था. कहा, बेटा मैं आपके साथ एक फिल्म बनाऊंगा. और मुझे तीन फिल्मों के लिए साइन किया. उसके बाद मैंने कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा.” करियर के बेहद शुरू में भी अक्षय ने कहा था, ” मैं तो इस फिल्म इंडस्ट्री में कच्चा आया था. मेरा कोई पुरखा इस इंडस्ट्री से ताल्लुक नहीं रखता था. मैं बस अपने बूते हूं. एक इंसान जिनके भरोसे हूं वो हैं श्री प्रमोद चक्रवर्ती और उनका पूरा परिवार. मेरा और कोई नहीं है.”

प्रमोद ने अक्षय को लिया था 1992 में आई फिल्म ‘दीदार’ में जिसमें करिश्मा कपूर, तनुजा और अनुपम खेर जैसे सितारे उनके साथ थे. लेकिन उनका स्क्रीन डेब्यू 1991 में डायरेक्टर राज सिप्पी की फिल्म ‘सौगंध’ से हो गया था. ये प्रमोद के करियर के आखिरी वर्ष थे. उन्होंने 1998 में अपनी आखिरी फिल्म ‘बारूद’ बनाई और उसमें भी हीरो अक्षय ही थे. छह साल बाद 2004 में उनका निधन हो गया.

नए जमाने में उनकी पहचान सिर्फ इतनी सी रह गई है कि उन्होंने अक्षय कुमार को बॉलीवुड में लॉन्च किया लेकिन उनका फिल्मी काम इससे बहुत ज्यादा रहा है.

वे  15 अगस्त 1929 को बंगाल (ढाका) में जन्मे थे. बड़े हुए तो घर से भाग गए. ये पता नहीं था कि क्या करना है लेकिन बंबई पहुंच गए. उनकी जेब में तब सिर्फ पांच रुपये थे. पेट भरने के लिए कई काम किए. बाद में दूरदर्शन में न्यूज़ और डॉक्यूमेंट्री फिल्मों में अंग्रेजी अनुवाद का काम करने लगे. इसी दौरान एडिटिंग सीख गए. इसी काम से फिल्मों में एंट्री हुई.

उन्होंने 1952 में डायरेक्टर राज खोसला को असिस्ट किया. फिर 1958 में अपनी पहली फिल्म डायरेक्ट की थी. नाम था ’12 ओ-क्लॉक’ जिसमें गुरु दत्त हीरो थे और वहीदा रहमान हीरोइन. इसमें वी. के. मूर्ति सिनेमैटोग्राफर थे जिन्होंने इससे पहले ‘प्यासा’ जैसी मास्टरपीस में छायांकन किया था और बाद में ‘काग़ज़ के फूल’ जैसी क्लासिक का. ये भी दुर्लभ संयोग है कि ‘दीदार’ के सिनेमैटोग्राफर भी लैजेंड्री मूर्ति ही थे.

1962 में उन्होंने अपना प्रोडक्शन हाउस ‘प्रमोद फिल्म्स’ शुरू किया. इसके तले जो पहली फिल्म बनाई वो थी जॉय मुखर्जी स्टारर ‘जिद्दी’ (1964) जो बहुत बड़ी हिट साबित हुई और वे स्थापित नाम हो गए. उन्होंने अगली फिल्म भी मुखर्जी के साथ ही बनाई. नाम था ‘लव इन टोकियो’ (1966) जिसे गाने आज भी याद किए जाते हैं.

उन्होंने तमाम बड़े एक्टर्स के साथ काम किया. राजेश खन्ना के साथ ‘शत्रु’ (1986), अमिताभ बच्चन के साथ ‘नास्तिक’ (1983), देव आनंद के साथ ‘वॉरंट’ (1975), ऋषि कपूर के साथ ‘बारूद’ (1976) और शम्मी कपूर के साथ ‘तुमसे अच्छा कौन है’ (1969) जैसी फिल्में बनाईं. सबसे ज्यादा भागीदारी उनकी धर्मेंद्र और हेमामालिनी के साथ रही. धर्मेंद्र को लेकर उन्होंने ‘नया ज़माना’ (1971), ‘जुगनू’ (1973), ‘आज़ाद’ (1978), ‘ड्रीम गर्ल’ (1977) और ‘जागीर’ (1984) जैसी फिल्में बनाईं. उनकी ज्यादातर फिल्में कमर्शियल रूप से सफल रही हैं.

ये भी संयोग है कि अक्षय कुमार इन्हीं फिल्मों को देखकर बड़े हो रहे थे और उनके फेवरेट हीरो धर्मेंद्र थे.

प्रमोद चक्रवर्ती के पोते प्रतीक चक्रवर्ती भी डायरेक्टर हैं. उन्होंने जब 2012 में अपनी पहली फिल्म ‘फ्रॉम सिडनी विद लव’ बनाई तो अक्षय ने प्रमोशन किया.


ये भी पढ़ें:

अस्थाना देखा, वायरस देखा, खुराना देखा पर बोमन की खींची इन 60 फोटो को न देखा तो क्या देखा!

थोड़े दिन में अक्षय कुमार कहेंगे, ‘ये वाला जांघिया पहनोगे, तभी देशभक्त कहलाओगे तुम’

48 फिल्म स्टार्स जो अपना असली नाम नहीं बदलते तो बॉलीवुड में नहीं चलते

ये भी देखें:

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

कौन हो तुम

KBC क्विज़: इन 15 सवालों का जवाब देकर बना था पहला करोड़पति, तुम भी खेलकर देखो

आज से KBC ग्यारहवां सीज़न शुरू हो रहा है. अगर इन सारे सवालों के जवाब सही दिए तो खुद को करोड़पति मान सकते हो बिंदास!

क्विज: अरविंद केजरीवाल के बारे में कितना जानते हैं आप?

अरविंद केजरीवाल के बारे में जानते हो, तो ये क्विज खेलो.

क्विज: कौन था वह इकलौता पाकिस्तानी जिसे भारत रत्न मिला?

प्रणब मुखर्जी को मिला भारत रत्न, ये क्विज जीत गए तो आपके क्विज रत्न बन जाने की गारंटी है.

ये क्विज़ बताएगा कि संसद में जो भी होता है, उसके कितने जानकार हैं आप?

लोकसभा और राज्यसभा के बारे में अपनी जानकारी चेक कर लीजिए.

संजय दत्त के बारे में पता न हो, तो इस क्विज पर क्लिक न करना

बाबा के न सही मुन्ना भाई के तो फैन जरूर होगे. क्विज खेलो और स्कोर करो.

बजट के ऊपर ज्ञान बघारने का इससे चौंचक मौका और कहीं न मिलेगा!

Quiz खेलो, यहां बजट की स्पेलिंग में 'J' आता है या 'Z' जैसे सवाल नहीं हैं.

कर लिया योगा? अब क्विज खेलने से होगा

आन्हां, ऐसे नहीं कि योग बस किए, दिखाना पड़ेगा कि बुद्धिबल कित्ता बढ़ा.

रोहित शेट्टी के ऊपर ऐसी कड़क Quiz और कहां पाओगे?

14 मार्च को बड्डे होता है. ये तो सब जानते हैं, और क्या जानते हो आके बताओ. अरे आओ तो.

परफेक्शनिस्ट आमिर पर क्विज़ खेलो और साबित करो कितने जाबड़ फैन हो

आज आमिर खान का हैप्पी बड्डे है. कित्ता मालूम है उनके बारे में?

चेक करो अनुपम खेर पर अपना ज्ञान और टॉलरेंस लेवल

अनुपम खेर को ट्विटर और व्हाट्सऐप वीडियो के अलावा भी ध्यान से देखा है तो ये क्विज खेलो.