Submit your post

Follow Us

इंडियन क्रिकेट का वो कप्तान, जो एक हीरोइन को 4 साल तक गुलाब भेजता रहा

खूबसूरत शर्मिला टैगोर. क्रिकेट के मैदान में जहां बैठतीं. मैदान में बल्ला पकड़ा वो क्रिकेटर, उसी डारेक्शन में छक्का मार देता. अपनी प्रेमिका को देखकर शॉट मारने का ये हुनर टीम इंडिया के सिर्फ एक खिलाड़ी के पास था, नाम था नवाब मंसूर अली खान पटौदी.

क्रिकेट, बॉलीवुड और मुहब्बत के मैदान में मशहूर ये ‘अधपका किस्सा’ आज फिर ताजा हो गया है. जाहिर है कि हम आपको इसकी वजह आगे बताएंगे ही…

जुलाई 1961 की वो पहली तारीख थी. 20 बरस का मंसूर इंग्लैंड के होव में कार में सवार होकर कहीं जा रहा था. तभी रास्ते में हादसा होता है. कार का शीशा टूटकर मंसूर की दायीं आंख में घुस जाता है. अस्पताल ले जाया जाता है. डॉक्टर बताते हैं अब मंसूर की दायीं आंख कभी काम नहीं करेगी. मंसूर की एक आंख काम करना बंद कर चुकी थी, लेकिन उसका हौसला चौड़ से भरा था.

6 महीने बीतते हैं. यही मंसूर दिसंबर 1961 में इंग्लैंड के खिलाफ अपने टेस्ट करियर की शुरूआत करता है. उसी साल मद्रास में खेले तीसरे टेस्ट में 103 रन बनाता है. इंग्लैंड के खिलाफ इंडिया पहली सीरीज जीत चुका था. जीत का क्रेडिट पूरी टीम को गया. लेकिन जिस एक खिलाड़ी ने इंदिरा गांधी से लेकर उस वक्त की बिकिनी पहनने वाली हिम्मती एक्ट्रेस शर्मिला टैगोर के मन, दिल में जगह बनाई, वो था वही मंसूर अली खान पटौदी. जिसे बाद में दुनिया ने प्यार से टाइगर पटौदी पुकारा.

5 जनवरी 1941 को पैदा हुए मंसूर  22 सितंबर 2011 को दुनिया छोड़कर जा चुके हैं. जब-जब टाइगर पटौदी का बर्थडे या बरसी आती है, उनकी जिंदगी से जुड़े किस्से याद आने लगते हैं. आज हम आपको सुनाएंगे टाइगर पटौदी के ‘क्रिकेटाना’ और पर्सनल लाइफ 7 किस्से.

1.

150 कमरों की हवेली. 100 से ज्यादा नौकर. गुड़गांव और भोपाल में जिन पटौदियों की अब भी अच्छी खासी जमीन है. यहां जमीन को राजघरानों और महलों वाली जमीन समझिए. मंसूर अली नवाबों के खानदान से थे. अब्बा इफ्तिखार अली खान जाने-माने क्रिकेटर थे. इंग्लैंड की तरफ से खेलते थे. मंसूर जब 11 बरस के थे, तब अब्बा इफ्तिखार अली की दिल्ली में पोलो खेलते हुए मौत हो गई थी. कैलेंडर में तारीख थी 5 जनवरी. यानी वो तारीख, जब मंसूर का जन्मदिन होता था.

2.

मंसूर 21 बरस की उम्र में टीम इंडिया के कप्तान बन गए थे. उस वक्त के सबसे यंग कप्तान. कुल 46 मैच खेले, जिसमें 40 मैचों में कप्तानी की. इनमें से 9 मैचों में जीत मिली. 19 में हार और 19 मैच ड्रॉ रहे. इंडिया के बाहर पहली जीत दिलाने का क्रेडिट भी कप्तान पटौदी को ही जाता है. साल था 1968, मैच था न्यूजीलैंड के खिलाफ. 1961 से 1975 तक टीम इंडिया के लिए क्रिकेट खेले. करीब 2790 रन बनाए. साल 1975 में टीम के लिए खेलना बंद कर दिया.

mansoor-ali-khan-pataudi

3.

मंसूर अली खान पटौदी क्रिकेट के अलावा कई और खेलों में भी धुरंधर थे. हॉकी, रैकेट, सॉकर, बैडमिंटन खूब खेलते थे. अब्बा को पोलो का शौक था. बाद के दिनों में पटौदी IPL की गवर्निंग काउंसिल से जुड़े रहे. पटौदी के BCCI से लफड़े के भी चर्चे आम हैं. पटौदी ने BCCI पर पेमेंट न करने का आरोप लगाया. 2010 में IPL से भी साइड हो लिए. यानी नवाबी पूरी जोरों पर रही. पटौदी ने 1991 में भोपाल से कांग्रेस की टिकट पर चुनाव लड़ा था, पर हार गए.

nawab pataudi-1

4.

अब क्रिकेट से टाइगर पटौदी की मुहब्बत की तरफ बढ़ते हैं. साल 1967 में ‘एन इवनिंग इन पेरिस’ फिल्म में एक एक्ट्रेस ने बिकिनी पहनी. फिल्मफेयर मैगजीन के लिए शूट भी करवाया. सब तरफ हल्ला हो गया. एक्ट्रेस का नाम का शर्मिला टैगोर. टाइगर पटौदी और शर्मिला टैगोर की मुलाकात दोस्तों की वजह से हुई. ये मुलाकात यूं भी अलग थी कि टाइगर पटौदी पक्के नवाब फैमिली वाले थे और शर्मिला बॉलीवुडिया और बंगाली एक्ट्रेस. दोनों का धर्म अलग था, लेकिन धागे के दो सिरे एक दूजे से मिलने की तरफ बढ़ रहे थे.

sharmila-tagore-and-mansoor-ali-khan-pataudi

5.

रिलेशन के शुरुआती दिन चल रहे थे. टाइगर पटौदी ने शर्मिला टैगोर को एक गिफ्ट दिया. ये गिफ्ट था रेफ्रिजेरेटर. सोचिए मुहब्बत में आज जब चॉकलेट टैडीबियर दिए जा रहे हैं. एक ऐसा भी दौर था, एक ऐसा भी नवाब था जो अपनी महबूबा को रेफ्रिजेरेटर दे रहा था. टाइगर पटौदी की बेटी सोही अली खान ने दी लल्लनटॉप को दिए इंटरव्यू में कहा, ‘अब्बा ने एक नहीं, अम्मा को 7-7 रेफ्रिजेरेटर भिजवाए.’ हालांकि ये गिफ्टस शर्मिला को इम्प्रैस नहीं कर पाए. लेकिन शर्मिला ने टाइगर से मिलने का मन बना लिया था. पटौदी ने इसके बाद वही ट्रिक अपनाई, जिसे आज भी रगड़ा जा रहा है. गुलाब का फूल भेजा 4 साल तक. तब जाकर कहीं नवाब को आगे के सालों में जिंदगी भर के लिए ‘नवाबन’ मिल पाईं.

tiger pataudi

6.

शर्मिला टैगोर बंगाली हिंदू परिवार से थीं. मंसूर अली खान नवाबों के परिवार से. जाहिर है कि दोनों परिवारों के ख्याल एक-दूजे से कोसों दूर थे. लेकिन फिर भी दोनों लवर्स एक दूसरे परिवारों को मनाने में तैयार हो गए. मार्च 1967 में दोनों ने सगाई की. 27 दिसंबर 1969 को दोनों ने ब्याह रचा लिया. कहा गया कि शर्मिला नवाब से शादी के लिए हिंदू से मुसलमान हो गईं. शर्मिला टैगोर का नाम बदलकर हो गया आयशा सुल्तान. हालांकि दुनिया आज भी शर्मिला को शर्मिला टैगोर नाम से ही जानती है. दोनों की शादी में तब के प्रेसिडेंट जाकिर हुसैन और इंदिरा गांधी शामिल हुए थे.

mansoor ali khan pataudi marriage

अब थोड़ी रिश्तेदारी, खूनी संबंधों की बात…

7.

शर्मिला टैगोर और टाइगर पटौदी के तीन बच्चों को आप जानते ही हैं. सैफ अली, सोहा अली और सबा अली खान. सैफ और सोहा फिल्मों में हैं. सबा ज्वैलरी का बिजनेस करती हैं. नवाब सैफ अली खान की वाइफ करीना कपूर हैं. अब सरहद पार के रिलेशन की बात. पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड के जो चेयरमैन रहे शहरयार खान. ये टाइगर पटौदी के कजन हैं. पाकिस्तानी आर्मी में एक मेजर जनरल हुए. नाम था शेर अली खान पटौदी. ये टाइगर पटौदी के अंकल थे.

pataudi-family-pic

टाइगर पटौदी ने एक ऑटोबायोग्राफी लिखी थी, द टाइगर्स टेल. अपना नाम टाइगर पड़ने के बारे में मंसूर अली खान पटौदी ने एक बार कहा था,

‘टाइगर नाम मुझे बहुत छोटे में मिल गया था. तब मैंने क्रिकेट खेलना भी शुरू नहीं किया था. ये नाम मुझे क्यों मिला, पता नहीं. पर जहां तक मुझे याद है. जब मैं छोटा था जो मैं टाइगर की तरह ही हाथ और पैरों से फर्श पर चल लेता था.’


दोनों की लव स्टोरी पर बेटी सोहा अली ने कई मजेदार किस्से बताए हैं-

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

कौन हो तुम

'हिटमैन' रोहित शर्मा को आप कितना जानते हैं, ये क्विज़ खेलकर बताइए

आज 33 साल के हो गए हैं रोहित शर्मा.

क्विज़: खून में दौड़ती है देशभक्ति? तो जलियांवाला बाग के 10 सवालों के जवाब दो

जलियांवाला बाग कांड के बारे में अपनी जानकारी आप भी चेक कर लीजिए.

मधुबाला को खटका लगा हुआ था इस हीरोइन को दिलीप कुमार के साथ देखकर

एक्ट्रेस निम्मी के गुज़र जाने पर उनको याद करते हुए उनकी ज़िंदगी के कुछ किस्से

90000 डॉलर का कर्ज़ा उतारकर प्राइवेट जेट खरीद लिया था इस 'गैंबलर' ने

उस अमेरिकी सिंगर की अजीब दास्तां, जो बात करने के बजाए गाने में ज़्यादा कंफर्टेबल महसूस करता था

YES Bank शुरू करने वाले राणा कपूर कौन हैं, जिन्होंने नोटबंदी को 'मास्टरस्ट्रोक' बताया था

यस बैंक डूब रहा है.

सात साल पहले केजरीवाल ने वो बात कही थी जो आज वो ख़ुद नहीं सुनना चाहते

बरसों पुरानी इस बात की वजह से सोशल मीडिया पर घेर लिए गए हैं.

क्या भारत सरकार से पूछे बिना पाकिस्तान चली गई इंडियन कबड्डी टीम?

अब ढेरों खेल-तमाशा हो रहा है.

बजट का कितना ज्ञान है, ये क्विज़ खेलकर चेक कर लो!

कितना नंबर पाया, बताते हुए जाना. #Budget2020

संविधान के कितने बड़े जानकार हैं आप?

ये क्विज़ जीत लिया तो आप जीनियस हुए.

क्रिकेट के पक्के वाले फैन हो तो इस क्विज़ को जीतकर बताओ

कित्ता नंबर मिला, सच-सच बताना.