Submit your post

Follow Us

भाइयों की मुक्ति के लिए गंगा को धरती पर लाए थे भगीरथ

भगीरथ के परदादा के 60 हजार भाइयों (रिश्तों में मत जाइए, इट्स कॉम्प्लिकेटेड) को कपिल मुनि ने अपनी शक्ति से भस्म कर दिया था. फिर भगीरथ के दादा यानी अंशुमान ने कपिल को पूजा वूजा करके मनाया तो कपिल मुनि बोले कि इन जले हुए लोगों की राख को अगर गंगाजल में डुबोएं, तभी उन्हें मुक्ति मिलेगी. पर गंगा तो स्वर्ग में रहती थीं. जब अंशुमान और उनके बेटे दिलीप से वो धरती पर आने के लिए न मानीं, तब भगीरथ ने कहा कि हम भी अपना लक ट्राई करते हैं.

 

भगीरथ ने बहुत बड़ी तपस्या की और गंगा जी प्रकट हुईं. भगीरथ ने उनसे धरती पर आने की रिक्वेस्ट की. गंगा जी ने कहा- मैं आ तो जाऊं, पर अगर मेरे धरती पर गिरते ही मुझे किसी ने कैच नहीं किया तो मैं धरती फोड़कर पाताल में घुस जाउंगी. तब भगीरथ ने शंकर भगवान से कहा कि महादेव आप आप गंगा जी को कैच कर लें तो वो धरती पर आने के लिए मान जाएंगी. शंकर भगवान ने भगीरथ की तपस्या से खुश हो कर कहा: श्योर, व्हाई नॉट!

 

गंगा के धरती पर आने के बाद भगीरथ ने अपना रथ दौड़ाया. भगीरथ के पीछे-पीछे गंगा जी चल पड़ीं. जहां जहां गंगा जी गईं, वो जगह पवित्र होती गई. अंत में वो उस जगह पहुंचीं जहां भगीरथ के पुरखों की राख थी और उन्हें मुक्त कराया.

 

(श्रीमद्भागवत महापुराण, नौवां स्कंध, आठवां अध्याय)

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

कौन हो तुम

संविधान के कितने बड़े जानकार हैं आप?

ये क्विज़ जीत लिया तो आप जीनियस हुए.

क्रिकेट के पक्के वाले फैन हो तो इस क्विज़ को जीतकर बताओ

कित्ता नंबर मिला, सच-सच बताना.

सलमान खान के फैन, इधर आओ क्विज खेल के बताओ

क्विज में सही जवाब देने वाले के लिए एक खास इनाम है.

QUIZ: देश के सबसे महान स्पोर्टसमैन को कितना जानते हैं आप?

आज इस जादूगर की बरसी है.

चाचा शरद पवार ने ये बातें समझी होती तो शायद भतीजे अजित पवार धोखा नहीं देते

शुरुआत 2004 से हुई थी, 2019 आते-आते बात यहां तक पहुंच गई.

रिव्यू पिटीशन क्या होता है? कौन, क्यों, कब दाखिल कर सकता है?

अयोध्या पर फैसले के खिलाफ ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड रिव्यू पिटीशन दायर करने जा रहा है.

इन नौ सवालों का जवाब दे दिया, तब मानेंगे आप ऐश्वर्या के सच्चे फैन हैं

कुछ ऐसी बातें, जो शायद आप नहीं जानते होंगे.

अमिताभ बच्चन तो ठीक हैं, दादा साहेब फाल्के के बारे में कितना जानते हो?

खुद पर है विश्वास तो आ जाओ मैदान में.

‘ताई तो कहती है, ऐसी लंबी-लंबी अंगुलियां चुडै़ल की होती हैं’

एक कहानी रोज़ में आज पढ़िए शिवानी की चन्नी.

मोदी जी का बड्डे मना लिया? अब क्विज़ खेलकर देखो कितना जानते हो उनको

मितरों! अच्छे नंबर चइये कि नइ चइये?