Submit your post

Follow Us

बहुत हुआ कोहिनूर, अब सुनो दरिया-ए-नूर की कहानी

सुना है प्यारे पड़ोसी पाकिस्तान ने कोहिनूर हीरे की दावेदारी में खुद को शामिल कर लिया है. कि ब्रिटेन इंडिया को वापस नहीं कर रहा है कोहिनूर. तो पाकिस्तान को ही दे दे. सबको खजाना चाहिए. और चाहिए भी क्यों न हो , इतना महंगा और नायाब पत्थर जो है. लेकिन आप लोगन को ई पता है कि कोहिनूर के अलावा भी एक गजब का पत्थर है? हल्का गुलाबी रंग. वजन 182 कैरेट. कमरे में रखो तो ऐम्प-लैम्प की जरूरत न पड़े. नाम है दरिया-ए-नूर.

दरिया-ए-नूर दो शब्दों से बना है. दरिया मतलब सागर और नूर का मतलब रौशनी. दरिया-ए-नूर का मतलब हुआ रौशनी का सागर. कोहिनूर और दरिया-ए-नूर दोनों भाई-भाई हैं. क्योंकि ये निकले थे आंध्र प्रदेश की कोल्लूर खान से. फिर दोनों जुदा हो गए. आज कोहिनूर इंगलैंड की रानी के ताज पे सजता है. कॉन्डम बिकते हैं कोहिनूर नाम से भाई. और चावल भी बिकते हैं खुशबू वाले. लेकिन बेचारे दरिया-ए-नूर को कोई नहीं पूछता. लेकिन हम तो पूछते हैं. तो इसी बात पे सुनो दरिया-ए-नूर की कहानी.

फ्रांस में एक तैवेर्निएर नाम का सुनार था. अपने समय में बड़ा मशहूर. पैसा खूब कमाता था. पैसा कमाता था तो घूमता भी था दुनिया भर में. 17वीं शताब्दी में 6 बार इंडिया आया. एक ट्रिप के दौरान वो पहुंचा दक्षिण भारत के गोलकोंडा खान. मौका मिल गया 242 कैरेट का बड़ा सा गुलाबी हीरा देखने का. महाशय ने झट से उसे ग्रेट टेबल डायमंड नाम दिया. ऐसा कहा जाता है कि ग्रेट टेबल डायमंड ऐक्सिडेन्टली दो अलग-अलग टुकड़ो में टूट गया. बड़ा टुकड़ा बन गया दरिया-ए-नूर. और छोटे का नाम पड़ा नूर-उल-एन.

फ्रांसीसी ट्रैवलर तैवेर्निएर
फ्रांसीसी ट्रैवलर तैवेर्निएर

कहानी कोहिनूर जैसी ही है. सबसे पहले काकतीय वंश के पास रहा. जिन्होंने ने इसे असल में खान से निकलवाया था. फिर इसे खिल्जी वंश के राजाओं ने लूट लिया. खिल्जी से ये मुगलों के हाथों में आया. पर दुनिया का सुपर डकैत नादिर शाह तो अभी आया ही नहीं था.

3
नादिर शाह

नादिर शाह जो आया तो सब लूट के ले गया. दरिया-ए-नूर, कोहिनूर, और तख़्त-ए-ताऊस. यानी मोर वाला सिंहासन. इस तरह दोनों हीरे पहुंच गए ईरान. फिर दादा नादिर का हीरा मिला पोते शाहरुख को.

और फिर ईरान में हुआ शाह लोत्फ़ अली ख़ान नाम का. ज़ंद वंश का था. 22 साल का उम्र में लोत्फ़ दरिया-ए-नूर को जेब में भर के घूमता था. लेकिन जंग हीरे से नहीं. तलवार से जीती जाती है. जिसमें लोत्फ़ ज़रा कमज़ोर निकला.

लोत्फ़ अली खान
लोत्फ़ अली खान

हीरा पहुंच गया अग़ा मोहम्मद खान के हाथों में. फिर उसी वंश के फ़तेह अली खान के पास. फ़तेह अली था गज़ब होशियार. हीरे के एक साइड पर अपना नाम लिखवा लिया था.

अग़ा मोहम्मद खान
अग़ा मोहम्मद खान

फ़तेह अली खान
फ़तेह अली खान

जब वंश के अगले बंदे नसीरुद्दीन के पास हीरा पहुंचा तो उसने हीरे को क़ुरूस यानी साइरस द ग्रेट के ताज पर लगाना चाहा.

shah-nasser-ed-din-of-iran
शाह नसीरुद्दीन काजार

पर क़ुरूस ने उसे ताज में जड़ाने से मन कर दिया. तो नसीर ने उसे अपने बाजूबंद पर जड़वा लिया और अक्सर पहनने लगा. आदमी फैशनेबल था. रॉयल फैशन से जैसे ही बाजूबंद का फैशन खत्म हुआ, नसीर उसे ब्रूच की तरह इस्तेमाल करने लगा. 1902 में नसीरूद्दीन यूरोप घुमने गया थे. उस वक्त उन्होंने दरिया-ए-नूर को अपनी टोपी की शान बनाई थी.

मोज़फरुद्दीन शाह काज़ार फारस का पांचवां काज़ार राजा था. इसके राज में हीरे को गोलेस्टन पैलेस ट्रेजरी म्यूजियम में छिपा कर रखा गया था.

शाह मोज़फरुद्दीन काजार
शाह मोज़फरुद्दीन काजार

फिर आया रेजा शाह. रेज़ा पहलवी वंश के फॉउंडर था. उन्होंने दरिया-ए-नूर को 1926 में अपने राजतिलक में पहना था. वो भी अपनी फौज वाली टोपी पर.

रेजा शाह पहलवी
रेजा शाह पहलवी

तब से ईरान में ही लटका हुआ है ये हीरा. लेकिन कोई नहीं कह रहा मोदी जी से कि जाओ हीरा ले के आओ. कोहिनूर से इतना प्यार है कि देश वालों को ये लगता है कि अच्छे दिन तभी आएंगे जब मोदी जी ब्रिटेन की महारानी से हमारा कोहिनूर वापस ले आएंगे. लेकिन अब हमने कोहिनूर के भाई के बारे में बता दिया है आपको. तो कोहिनूर छोड़ो. फोकस को जरा दरिया-ए-नूर पर शिफ्ट करो.


ये भी पढ़ें:

वो शायर, जो नेहरू को धोखा देकर पाकिस्तान चला गया

शशि कपूर की वो पांच फ़िल्में जो आपको बेहतर इंसान बना देंगी

कॉमेडी लैजेंड टुनटुन का इंटरव्यू: ‘ज़मीन के लिए मेरे माता-पिता और भाई को क़त्ल कर दिया गया था!’

ये है ताजमहल के बनने की असली कहानी

Box Office कलेक्शन में ‘बॉक्स ऑफिस’ यूं ही नहीं आया है

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

कौन हो तुम

विधायक विजय मिश्रा, जिन्हें यूपी पुलिस लाने लगी तो बेटियां बोलीं- गाड़ी नहीं पलटनी चाहिए

चलिए, विधायक जी की कन्नी-काटी जानते हैं.

नेशनल हैंडलूम डे: और ये है चित्र देखो, साड़ी पहचानो वाली क्विज

कभी सोचा नहीं होगा कि लल्लन साड़ियों पर भी क्विज बना सकता है. खेलो औऱ स्कोर करो.

सौरव गांगुली पर क्विज़!

सौरव गांगुली पर क्विज़. अपना ज्ञान यहां चेक कल्लो!

कॉन्ट्रोवर्सियल पेंटर एमएफ हुसैन के बारे में कितना जानते हैं आप, ये क्विज खेलकर बताइये

एमएफ हुसैन की पेंटिंग और विवाद के बारे में तो गूगल करके आपने खूब जान लिया. अब ज़रा यहां कलाकारी दिखाइए.

'हिटमैन' रोहित शर्मा को आप कितना जानते हैं, ये क्विज़ खेलकर बताइए

आज 33 साल के हो गए हैं रोहित शर्मा.

क्विज़: खून में दौड़ती है देशभक्ति? तो जलियांवाला बाग के 10 सवालों के जवाब दो

जलियांवाला बाग कांड के बारे में अपनी जानकारी आप भी चेक कर लीजिए.

बजट का कितना ज्ञान है, ये क्विज़ खेलकर चेक कर लो!

कितना नंबर पाया, बताते हुए जाना. #Budget2020

संविधान के कितने बड़े जानकार हैं आप?

ये क्विज़ जीत लिया तो आप जीनियस हुए.

क्रिकेट के पक्के वाले फैन हो तो इस क्विज़ को जीतकर बताओ

कित्ता नंबर मिला, सच-सच बताना.

सलमान खान के फैन, इधर आओ क्विज खेल के बताओ

क्विज में सही जवाब देने वाले के लिए एक खास इनाम है.