Submit your post

Follow Us

कैसे बने धरती पर सात महाद्वीप?

5
शेयर्स

मनु और शतरूपा के बेटे थे- प्रियव्रत. वैसे तो उनको राजा बनना चाहिए था पर उन्होंने कहा भइया ये सब हाई-फाई काम हमसे न हो पाएगा और चले गए जंगल तपस्या करने. तब ध्रुव के पापा उत्तानपाद को राजा बनाया गया था.

एक समय ऐसा आया कि प्रजापति दक्ष ने राज-काज सब छोड़ दिया. ऐसे में पृथ्वी पर कोई राजा नहीं बचा. तब मनु को अपने तपस्वी बेटे प्रियव्रत की याद आई. उन्होंने रिक्वेस्ट की कि आप थोड़ा धरती को देख लीजिये. तप में बिजी प्रियव्रत ने साफ मना कर दिया. फिर ब्रह्मा जी की मदद से मनु ने किसी तरह प्रियव्रत को उनकी ज़िम्मेदारियों का एहसास दिलाया और वो राजा बन गए.

प्रियव्रत प्रजा की बड़ी चिंता करते थे. एक दिन उन्होंने सोचा कि ऐसी क्या बात है कि सूरज आधी धरती पर ही एक बार में रोशनी देता है. क्या उसके रास्ते में कोई रुकावट आ रही है? अगर मैं वो रुकावट हटा दूं तो पूरी धरती पर दिन ही दिन होगा और रात ख़त्म हो जाएगी. वो क्या है न, प्रियव्रत को धरती के रोटेशन का कॉन्सेप्ट पता नहीं था. पर वो दिल के अच्छे थे.

वे अपने रथ पर सवार निकल पड़े सूरज और धरती के भले के लिए. जलते हुए सूरज के पीछे सात दिन तक चक्कर लगाते रहे. इससे उनके रथ से धरती पर सात निशान पड़ गए और धरती सात हिस्सों में बंट गयी. यही हुए हमारे सात द्वीप.

राजा के दस बेटे थे, जिनमें से तीन संन्यासी बन गए थे. बाकी सात पुत्रों को उन्होंने सातों द्वीपों का राजा बनाया. इसके बाद उन्हें लगा कि धरती पर उनका काम खत्म हो गया है, तो नारद जी से बात करके वो सन्यासीपने में लौट गए.

(श्रीमद्भगवत पुराण)

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

कौन हो तुम

QUIZ: देश के सबसे महान स्पोर्टसमैन को कितना जानते हैं आप?

आज इस जादूगर की बरसी है.

संविधान के कितने बड़े जानकार हैं आप?

ये क्विज़ जीत लिया तो आप जीनियस हुए.

चाचा शरद पवार ने ये बातें समझी होती तो शायद भतीजे अजित पवार धोखा नहीं देते

शुरुआत 2004 से हुई थी, 2019 आते-आते बात यहां तक पहुंच गई.

रिव्यू पिटीशन क्या होता है? कौन, क्यों, कब दाखिल कर सकता है?

अयोध्या पर फैसले के खिलाफ ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड रिव्यू पिटीशन दायर करने जा रहा है.

इन नौ सवालों का जवाब दे दिया, तब मानेंगे आप ऐश्वर्या के सच्चे फैन हैं

कुछ ऐसी बातें, जो शायद आप नहीं जानते होंगे.

अमिताभ बच्चन तो ठीक हैं, दादा साहेब फाल्के के बारे में कितना जानते हो?

खुद पर है विश्वास तो आ जाओ मैदान में.

‘ताई तो कहती है, ऐसी लंबी-लंबी अंगुलियां चुडै़ल की होती हैं’

एक कहानी रोज़ में आज पढ़िए शिवानी की चन्नी.

मोदी जी का बड्डे मना लिया? अब क्विज़ खेलकर देखो कितना जानते हो उनको

मितरों! अच्छे नंबर चइये कि नइ चइये?

कॉन्ट्रोवर्सियल पेंटर एमएफ हुसैन के बारे में कितना जानते हैं आप, ये क्विज खेलकर बताइये

एमएफ हुसैन की पेंटिंग और विवाद के बारे में तो गूगल करके आपने खूब जान लिया. अब ज़रा यहां कलाकारी दिखाइए.

इस क्विज़ में परफेक्ट हो गए, तो कभी चालान नहीं कटेगा

बस 15 सवाल हैं मित्रों!