Submit your post

Follow Us

रिसर्च में दावा, इस नए बल्ले से यॉर्कर गेंद भी होगी बाउंड्री पार

जब छोटा था तो घर में कपड़े धोने की मशीन का कोई कॉन्सेप्ट नहीं था. मां लकड़ी की थापी से कपड़ों की धुलाई करती थीं. सुबह जिस थापी से कपड़ों की धुलाई होती थी, दोपहर बाद उससे क्रिकेट खेला जाता था.

वो ही पहला बल्ला था, जो घर, गली, मौहल्ले में इस्तेमाल किया. इसके बाद टीवी पर क्रिकेट देखा, तो उसमें सचिन और द्रविड़ के बल्ले पर लगे MRF और BRITANNIA के स्टीकर वाले बल्लों ने खूब रोमांचित किया.

धीरे-धीरे उस थपकी की जगह 100-120 रुपये में नकली MRF, BRITANNIA के स्टीकर लगे चूने के बल्लों ने ले ली. लेकिन 1999 विश्वकप आते-आते ये पता चलने लगा कि जिस बल्ले से दादा आगे बढ़कर डीप क्वर एरिया में गेंद को पार पहुंचा देते हैं वो इंग्लिश विलो ट्री की लकड़ी से बना होता है.

खैर, ये सब तब तो मन की बात रही. अब बात कर लेते हैं कि आखिर आज क्यों मन में बल्ले को लेकर विचार आया. दरअसल एक खबर आई है कि अब क्रिकेट की फील्ड पर नए तरह का बल्ला आज़माया जा सकता है. ये बल्ला बांस की लकड़ी से बना होगा.

एक नई रिसर्च आई सामने

क्रिकेट बैट अभी तक विलो की लकड़ी से बनाए जाते हैं लेकिन रिसर्चर अब ऐसे बैट पर काम कर रहे हैं जो बांस की लकड़ी से बने होंगे. उनका मानना है कि इससे शॉट खेलने आसान होंगे. यहां तक की जो फास्ट बोलर अपनी यॉर्कर्स पर इतराते हैं, उन पर भी बैट्समेन चौके जड़ देंगे.

इंग्लैंड की कैंब्रिज यूनिवर्सिटी की एक रिसर्च हुई. उस रिसर्च को किया दर्शील शाह और बेन टिंक्लर-डेविस ने. इस रिसर्च में पता चला है कि बांस के बने बैट का इस्तेमाल कम खर्च वाला होगा. साथ ही साथ उसका ‘स्वीट स्पॉट’ भी बड़ा होगा. मतलब की जहां से गेंद लगकर तेज़ी से बाउंड्री की तरफ दौड़ती है. वो जगह बल्ले के बड़े हिस्से पर होगी.

Virat Bat
विराट कोहली.

दर्शील शाह कहते हैं कि

बांस सस्ता है और काफी मात्रा में उपलब्ध भी है. यह तेजी से बढ़ता है और टिकाऊ है. बांस को टहनियों से उगाया जा सकता है और उसे तैयार होने में सात साल ही लगते हैं.

गार्जियन अखबार के मुताबिक विलो का पेड़ लगभग 15 साल में उगता है.

इसके साथ ही दर्शिल ये भी कहते हैं की

‘विलो की सप्लाई काफी कम है, और जिस तेज़ी से खेल फैल रहा है. ऐसे में इसकी कमी पड़ सकती है. बांस चीन, जापान, साउथ अमेरिका जैसे देशों में भी काफी मात्रा में पाया जाता है जहां क्रिकेट अब लोकप्रिय हो रहा है.’

रिसर्च कह रही है कि बांस से बना बैट ‘विलो’ से बने बैट की तुलना में ज़्यादा सख्त और मजबूत’ होगा. लेकिन इसके टूटने की संभावना अधिक है.

Ajinkya Rahane Bat
अजिंक्य रहाणे.

बांस के बल्ले को लेकर बहस

रिसर्च ने तो बता दिया कि पहले से ही खेल पर हावी बल्लेबाज़ों को मदद के लिए बांस का बल्ला दे दो. लेकिन इस रिसर्च को लेकर डिबेट भी छिड़ी हुई है.

क्रिकेट के नियम बनाने वाली संस्था मेरिलबोन क्रिकेट क्लब (MCC) ने बांस के बल्ले के इस्तेमाल के आइडिया को खारिज कर दिया है.

MCC ने कहा कि खेल को अधिक टिकाउ बनाने के लिए अंग्रेजी विलो के उपयोग के विकल्प पर विचार किया जाना चाहिए. लेकिन बांस का उपयोग करके बल्ले का निर्माण करने के लिए क्रिकेट के मौजूदा कानूनों में एक बदलाव की आवश्यकता होगी. जिस पर अगली बैठक में चर्चा करेगी.

क्या है बांस के बल्ले के लिए अड़ंगा, कौन देगा मंज़ूरी?

ICC (इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल) के नियमों के मुताबिक अभी इंटरनेशनल क्रिकेट में सिर्फ लकड़ी यानि विलो के बैट के इस्तेमाल की इजाजत है. ऐसे में ये बल्ला बिना किसी रुकावट के खेल में शामिल हो जाएगा. इस पर अभी संशय है. वैसे भी इस बैट का अभी कई स्तरों पर इस्तेमाल करके इसे अपनी सफलता साबित करनी है.

आईसीसी में नए नियम इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल के सुझाव पर बनाए जाते हैं. लेकिन क्रिकेट से जुड़े पारंपरिक नियमों का कॉपीराइट मेरिलबोन क्रिकेट क्लब के पास है. मेरिलबोन क्रिकेट क्लब पहले आईसीसी की गवर्निंग बॉडी हुआ करता था. उदाहरण के तौर पर क्रिकेट मैदान पर इस्तेमाल होने वाले बल्ले से जुड़े नियम में बदलाव की जरूरत है तो वह अधिकार आईसीसी के पास नहीं बल्कि एमसीसी के पास है.

ऐसे में अगर बांस के इस बैट को इंटरनेशनल क्रिकेट में एंट्री पानी है तो MCC से अप्रूवल टिकट लेना होगा.

क्रिकेट में मशहूर है इंग्लिश और कश्मीरी विलो

ऊपर आपको बता ही दिया कि अगर बांस के बल्ले को मंज़ूरी मिली तो उसे विलो के रास्ते से होकर गुज़रना होगा. विलो के पेड़ इंग्लैंड के ऐसेक्स इलाके में सबसे ज़्यादा पाए जाते हैं. वहीं भारत में ये कश्मीर में मिलते हैं. इसी वजह से क्रिकेटप्रेमी भारत में कश्मीर के बल्लों की भारी डिमांड रहती है.

लेकिन फिर भी इंटरनेशनल क्रिकेट हो या प्रोफेशनल क्रिकेट. ज़्यादातर क्रिकेटर्स इंग्लिश विलो का ही इस्तेमाल करते हैं. कई भारतीय क्रिकेटर्स भी इंग्लिश विलो बनाने वाले कंपनी गन एंड मोर, साइक्स, डंकन के बल्ले से खेलते दिखते हैं.

Aaron Finch Bat
ऑस्ट्रेलियाई कप्तान एरॉन फिंच.

कुकाबुरा पेस प्रो, स्पार्टन, रिबॉक सेंचुरियन, SS टन, पूमा, SG,G&M, ग्रे निकल्स, एडिडास, कुकाबुरा कहूना. ये क्रिकेट के बैट बनाने वाली ऐसी बड़ी कंपनीज़ हैं, जिनके बैट से वर्ल्ड क्रिकेट के बड़े से बड़े क्रिकेटर्स खेलते हैं.

क्रिकेट के बल्ले बनाने वाली इन सभी 10 बड़ी कंपनियों में सिर्फ इंग्लिश विलो या कश्मीर विलो का इस्तेमाल ही होता है. ज़्यादातर कहें तो इंग्लिश विलो का ही.

सिर्फ कुकाबुरा कहूना और ग्रे निकल्स ही ऐसी कंपनी हैं जो कश्मीरी विलो का इस्तेमाल करती हैं. वर्ल्ड क्रिकेट के बड़े नाम एबी डीविलियर्स, डेविड वॉर्नर, रिकी पोन्टिंग, एलिस्टर कुक, शिवनारायण चंद्रपॉल, मार्टिन गप्टिल, कैमरन वाइट इन कश्मीरी विलो बल्लों का इस्तेमाल कर चुके हैं.

अब अगर क्रिकेट के मैदान पर बांस के बल्लों को मंज़ूरी मिली तो हो सकता है हम विलो की जगह बैंबू के बल्लों पर चर्चा करते दिखें.


दिल्ली में PM मोदी के खिलाफ पोस्टर चिपकाने के मामले में 25 लोग गिरफ्तार 

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

कौन हो तुम

राज कुंद्रा की पूरी कहानी, 18 की उम्र में शॉल बेचने से शुरुआत करने वाले राज यहां तक कैसे पहुंचे?

राज कुंद्रा की पूरी कहानी, 18 की उम्र में शॉल बेचने से शुरुआत करने वाले राज यहां तक कैसे पहुंचे?

IPL स्कैंडल, मॉडल्स के आरोप, अंडरवर्ल्ड कनेक्शंस के आरोप, एक्स वाइफ के इल्ज़ाम सब हैं इस कहानी में.

रिचर्ड ब्रैनसन: जिन्होंने पहले अंतरिक्ष के दर्शन करके जेफ बेजोस का मजा खराब कर दिया

रिचर्ड ब्रैनसन: जिन्होंने पहले अंतरिक्ष के दर्शन करके जेफ बेजोस का मजा खराब कर दिया

रिचर्ड ब्रेन्सन की कहानी, जहां भी गए तहलका मचा दिया.

'सिंघम' IPS से तमिलनाडु BJP के सबसे युवा अध्यक्ष बने अन्नामलाई की कहानी

'सिंघम' IPS से तमिलनाडु BJP के सबसे युवा अध्यक्ष बने अन्नामलाई की कहानी

पहला चुनाव हार गए थे, बीजेपी ने राज्य की जिम्मेदारी सौंपी है.

'तड़प-तड़प के' जैसा प्रेमियों का ब्रेकअप एंथम देने वाले सिंगर के के आजकल कहां हैं?

'तड़प-तड़प के' जैसा प्रेमियों का ब्रेकअप एंथम देने वाले सिंगर के के आजकल कहां हैं?

उनके गाए 'पल' गाने के बगैर आज भी किसी कॉलेज का फेयरवेल पूरा नहीं होता.

कर लिया योगा? अब क्विज खेलने से होगा

कर लिया योगा? अब क्विज खेलने से होगा

आन्हां, ऐसे नहीं कि योग बस किए, दिखाना पड़ेगा कि बुद्धिबल कित्ता बढ़ा.

तमिल जनता आखिर क्यों कर रही है 'फैमिली मैन-2' का विरोध, क्या है LTTE की पूरी कहानी?

तमिल जनता आखिर क्यों कर रही है 'फैमिली मैन-2' का विरोध, क्या है LTTE की पूरी कहानी?

जब ट्रेलर आया था, तबसे लगातार विरोध जारी है.

माधुरी से डायरेक्ट बोलो 'हम आपके हैं फैन'

माधुरी से डायरेक्ट बोलो 'हम आपके हैं फैन'

आज जानते हो किसका हैप्पी बड्डे है? माधुरी दीक्षित का. अपन आपका फैन मीटर जांचेंगे. ये क्विज खेलो.

जिन मीम्स को सोशल मीडिया पर शेयर कर चौड़े होते हैं, उनका इतिहास तो जान लीजिए

जिन मीम्स को सोशल मीडिया पर शेयर कर चौड़े होते हैं, उनका इतिहास तो जान लीजिए

कौन सा था वो पहला मीम जो इत्तेफाक से दुनिया में आया?

पार्टियों को चुनाव निशान के आधार पर पहचानते हैं आप?

पार्टियों को चुनाव निशान के आधार पर पहचानते हैं आप?

चुनावी माहौल में क्विज़ खेलिए और बताइए कितना स्कोर हुआ.

लगातार दो फिफ्टी मारने वाले कोहली ने अब कहां झंडे गाड़ दिए?

लगातार दो फिफ्टी मारने वाले कोहली ने अब कहां झंडे गाड़ दिए?

राहुल के साथ यहां भी गड़बड़ हो गई.