Submit your post

Follow Us

बच्चे की ऑनलाइन पढ़ाई के लिए स्मार्टफ़ोन लें, या लैपटॉप या फिर टैबलेट? कन्फ्यूजन हुआ दूर

“बंटी की ऑनलाइन क्लास के लिए स्मार्टफ़ोन लें, टैबलेट लें या फिर लैपटॉप? क्या ठीक रहेगा?”

“मोनू की ऑनलाइन पढ़ाई के लिए कौन-सा टैबलेट लेना ठीक रहेगा?”

इस बात के काफ़ी अच्छे-ख़ासे चांस हैं कि आपने इस तरह के सवाल किसी से किए होंगे या फिर आपसे इस टाइप के सवाल पूछे गए होंगे. कोरोना वायरस के चलते ज़िंदगी में बहुत सारे बदलाव आए हैं. कुछ छोटे-मोटे हैं और कुछ बड़े-बड़े. अब किसी भी तरह की लाइन में लगने पर पीछे खड़े अंकल की तोंद हमसे नहीं टकराती. ये छोटे बदलाव हैं. और बड़े बदलाव में शामिल हैं, स्कूलों का ऑनलाइन पढ़ाई का सिस्टम.

अब जब बच्चे घर पर बैठे-बैठे ऑनलाइन क्लास लेंगे तो पैरेंट्स को कॉपी-किताब के साथ-साथ ऑनलाइन क्लास अटेंड कराने वाला डिवाइस भी तो लेना ही पड़ेगा. अब ये डिवाइस क्या हो? क्या देखकर लिया जाए? अच्छे ऑप्शन क्या हैं? रुके रहिए. इन सब सवालों के जवाब मिलेंगे. यहीं पर.

Giphy

स्मार्टफ़ोन? टैबलेट? लैपटॉप?

अपने यहां ऑनलाइन पढ़ाई-लिखाई का सिस्टम पहले कोचिंग वग़ैरह में ही इस्तेमाल होता था. मगर कोविड के ख़तरे के बीच अब ये स्कूल की पढ़ाई का भी ज़रिया बन गया है. पता नहीं, स्कूल कब खुलेंगे? खुले भी तो बच्चे को भेजना कितना सेफ़ होगा? इस तरह के सवाल परमानेंट बने हुए हैं. मगर इन सवालों के बीच एक और सवाल भी उछाल मार रहा है. बच्चे की पढ़ाई के लिए स्मार्टफ़ोन लें, टैबलेट लें, या फिर लैपटॉप?

बाक़ी सवालों के ऊपर तो बहुत-सी बहस चल ही रही हैं. हम आख़िरी वाले सवाल का सीधे सपाट शब्दों में जवाब बताते हैं. भय्या, पढ़ाई के लिए टैबलेट से बेहतर कुछ नहीं. ये बात हम ऐसे ही हवा में नहीं कह रहे हैं. कुछ रीज़न हैं इसके. टैबलेट में लैपटॉप और स्मार्टफ़ोन दोनों की ख़ासियत हैं, वो भी बिना इनकी कमियों के.

Galaxy Tab S7
सैमसंग गैलेक्सी टैब S7 (फ़ोटो: सैमसंग)

स्मार्टफ़ोन हल्का फुल्का है और इस्तेमाल करना आसान है, मगर पढ़ाई के लिए इसकी स्क्रीन छोटी पड़ जाती है. लैपटॉप की स्क्रीन बड़ी है मगर स्मार्टफ़ोन के मुक़ाबले काफ़ी भारी है और मोबिलिटी उतनी अच्छी नहीं है. वहीं टैबलेट हल्का है, इस्तेमाल करना आसान है और बड़ी स्क्रीन भी है. ऊपर से टैबलेट पर किताबें पढ़ने में काफ़ी मज़ा आता है. टेड़ा रखकर क्लास अटेंड करिए, फिर सीधा रखकर किताब की तरह इस्तेमाल कर लीजिए. दोनों तरह से इस्तेमाल कर सकते हैं.

टैबलेट क्या देखकर ख़रीदें?

तो टैबलेट तो डन हो गया. अब ये सवाल बनता है कि टैबलेट लेने से पहले क्या-क्या चीज़ें देखनी चाहिए. अगर आपका बजट आपको एक आइपैड लेने की इजाज़त देता है तो सबसे सही ऑप्शन यही है. इसमें वो सारी चीज़ें हैं, जो एक टैबलेट में होनी चाहिए. पढ़ाई के मामले में भी और बाक़ी दूसरे काम के लिए भी. इसकी क़ीमत 29,900 रुपए से शुरू होती है. लेकिन अगर आप कुछ पैसे बचाना चाहते हैं और सिर्फ़ ऐसा टैबलेट लेना चाहते हैं, जो आपके बच्चे की ऑनलाइन क्लास अटेंड करने के काम आ सके तो फिर ये देखिए:

Ipad
ऐपल आइपैड रेंज. (फ़ोटो: ऐपल)

स्क्रीन: पहली चीज़, जो सबसे ज़्यादा मैटर करती है वो है स्क्रीन. इस बात का ध्यान रखें कि टैबलेट में 10-इंच का डिस्प्ले हो और वो भी फ़ुल एचडी (Full HD) यानी 1080p रेजॉल्यूशन वाली. 8-इंच की स्क्रीन से भी काम चल सकता है. लेकिन स्क्रीन जितनी बड़ी हो, उतना अच्छा है. इसलिए कोशिश करिए कि 10-इंच वाला ही टैबलेट लें.

कनेक्टिविटी: दूसरी चीज़ आपको ये डिसाइड करनी है कि आपको टैबलेट ‘वाइफ़ाई ओनली’ चाहिए या फिर ‘एलटीई (LTE) + वाइफ़ाई’ वाला. पहले में इंटरनेट वाइफ़ाई के ज़रिए ही चलेगा. और दूसरे में आप 4G सिम डालकर भी इंटरनेट से कनेक्ट कर सकते हैं. अगर आपके पास ब्रॉड्बैंड कनेक्शन है तो वाइफ़ाई ओनली वाला लेकर आप कुछ पैसे बचा सकते हैं, वरना फ़िर आपको सिम वाला ही टैबलेट लेना चाहिए.

ऑपरेटिंग सिस्टम: टैबलेट लेते वक़्त ऑपरेटिंग सिस्टम का भी ध्यान रखिए. अगर ऐंड्रॉयड टैबलेट देख रहे हैं तो ऐंड्रॉयड ओएस 9 के नीचे वाला डिवाइस ना लें. टैबलेट में अपडेट स्मार्टफ़ोन की तरह जल्दी-जल्दी नहीं मिल पाते हैं, इसलिए ऐंड्रॉयड 8 वाले टैबलेट ना लें तो बेहतर है. बाक़ी विंडोज़ टैबलेट भी मौजूद हैं, मगर ये चलाने में ऐंड्रॉयड टैबलेट जितना आसान नहीं होते.

स्पीकर और कैमरा: स्पीकर का अच्छा होना टैबलेट के लिए बहुत ज़रूरी है. अगर आवाज़ ही सही नहीं आएगी तो टैबलेट लेने का कोई फ़ायदा ही नहीं है. कई टैबलेट में डोल्बी एटमॉस वग़ैरह का सपोर्ट भी मिलता है जो साउंड एक्सपीरियंस को अच्छा करता है. इसके साथ ही देख लें कि फ़्रंट कैमरा VGA ना हो. विडियो कॉल ठीक तरह से करने के लिए फ़्रंट कैमरा का अच्छा होना काफ़ी ज़रूरी है.

Unnamed

परफ़ॉर्मेंस: ऑनलाइन पढ़ाई के लिए टैबलेट की परफ़ॉर्मेंस का बहुत अच्छा होना ज़रूरी नहीं है. कोई भी octa कोर वाला प्रॉसेसर और 2-3 GB रैम काफ़ी रहेगी क्लास अटेंड करने, किताब पढ़ने और इंटरनेट ब्राउज़र इस्तेमाल करने के लिए. इसके अलावा आप इस टैबलेट पर मूवीज़ वग़ैरह भी देख सकते हैं.

अच्छे ऑप्शन कौन-से हैं?

जो चीज़ें हमने ऊपर बताई हैं, उनको देखकर आप ख़ुद से एक अच्छा टैबलेट ढूँढ सकते हैं. इसके साथ ही हम आपको 10,000 से 20,000 रुपए की रेंज में कुछ ऑप्शन सजेस्ट कर रहे हैं, जो आपके बच्चे की ऑनलाइन पढ़ाई के लिए ठीक रहेंगे:

*सैमसंग गैलेक्सी टैब A10.1 (वाइफ़ाई): 14,999 रुपए

*ह्वावे मीडिया पैड T5 (एलटीई + वाइफ़ाई): 14,990 रुपए

*लिनोवो टैब M10 FHD REL (एलटीई + वाइफ़ाई): 15,999 रुपए

*लिनोवो टैब M10 FHD Plus (एलटीई + वाइफ़ाई): 19,999 रुपए

इनके अलावा 8-इंच में भी कुछ अच्छे मॉडल मौजूद हैं. ऑनर पैड 5 (एलटीई + वाइफ़ाई) और लिनोवो टैब M8 (2nd gen) (वाइफ़ाई). इनकी क़ीमत 16,999 रुपए और 14,999 रुपए है. और इन दोनों को इनके प्रॉसेसर और साउंड क्वालिटी के लिए कंसीडर कर सकते हैं.


वीडियो: फ़्लैगशिप फ़ोन की बजाए मिड-रेंज स्मार्टफ़ोन लेने की पांच वजहें जान लीजिए

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

कौन हो तुम

विधायक विजय मिश्रा, जिन्हें यूपी पुलिस लाने लगी तो बेटियां बोलीं- गाड़ी नहीं पलटनी चाहिए

चलिए, विधायक जी की कन्नी-काटी जानते हैं.

नेशनल हैंडलूम डे: और ये है चित्र देखो, साड़ी पहचानो वाली क्विज

कभी सोचा नहीं होगा कि लल्लन साड़ियों पर भी क्विज बना सकता है. खेलो औऱ स्कोर करो.

सौरव गांगुली पर क्विज़!

सौरव गांगुली पर क्विज़. अपना ज्ञान यहां चेक कल्लो!

कॉन्ट्रोवर्सियल पेंटर एमएफ हुसैन के बारे में कितना जानते हैं आप, ये क्विज खेलकर बताइये

एमएफ हुसैन की पेंटिंग और विवाद के बारे में तो गूगल करके आपने खूब जान लिया. अब ज़रा यहां कलाकारी दिखाइए.

'हिटमैन' रोहित शर्मा को आप कितना जानते हैं, ये क्विज़ खेलकर बताइए

आज 33 साल के हो गए हैं रोहित शर्मा.

क्विज़: खून में दौड़ती है देशभक्ति? तो जलियांवाला बाग के 10 सवालों के जवाब दो

जलियांवाला बाग कांड के बारे में अपनी जानकारी आप भी चेक कर लीजिए.

बजट का कितना ज्ञान है, ये क्विज़ खेलकर चेक कर लो!

कितना नंबर पाया, बताते हुए जाना. #Budget2020

संविधान के कितने बड़े जानकार हैं आप?

ये क्विज़ जीत लिया तो आप जीनियस हुए.

क्रिकेट के पक्के वाले फैन हो तो इस क्विज़ को जीतकर बताओ

कित्ता नंबर मिला, सच-सच बताना.

सलमान खान के फैन, इधर आओ क्विज खेल के बताओ

क्विज में सही जवाब देने वाले के लिए एक खास इनाम है.