Submit your post

Follow Us

मध्य प्रदेश ड्रामा स्कूल: कोर्स पूरा कराने की मांग कर रहे छात्रों को निष्कासित क्यों कर दिया गया?

नमस्ते सर,
मैं म. प्र. नाट्य विद्यालय भोपाल का छात्र हूं. मेरे दोस्त पिछले 12 दिन से स्कूल के बाहर बैठे हैं. हमारा एक साल का कोर्स कोरोना की वजह से अधूरा छूट गया है. स्कूल और संस्कृति विभाग हमें जनरल प्रोमोशन देना चाहते हैं, लेकिन हम अपना कोर्स पूरा करना चाहते हैं, जब भी स्थिति सामान्य होगी. लेकिन कोई हमें इतना सा जवाब नहीं दे रहा है.

मध्य प्रदेश नाट्य विद्यालय के छात्र विनय बघेला ने ये मैसेज हमें भेजा है. मध्य प्रदेश नाट्य विद्यालय एक साल का कोर्स कराता है, जो हर जुलाई से शुरू होता है. लॉकडाउन की वजह से इस साल के छात्रों की क्लासेज पूरी नहीं हो पाईं, जिसके बाद स्कूल की ओर से इन्हें जनरल प्रमोशन देने की बात की जाने लगी. लेकिन ये छात्र चाहते हैं कि जनरल प्रमोशन की बजाय इनकी बाकी क्लासेज पूरी की जाएं. इसी मांग को लेकर विनय और उनके साथी स्कूल कैम्पस के बाहर अनुरोध प्रदर्शन कर रहे हैं. फिलहाल विनय समेत आठ छात्रों को संस्थान ने निष्कासित कर दिया है.

भोपाल में कैंपस के बाहर प्रदर्शन करते स्टूडेंट्स
भोपाल में कैंपस के बाहर प्रदर्शन करते स्टूडेंट्स

नाट्य विद्यालय का कोर्स एक साल का होता है. 15 जुलाई 2020 को कोर्स समाप्त होना था. कोरोना की वजह से 16 मार्च को ही क्लासेज बंद कर दी गईं और छात्रों को घर जाने के लिए कह दिया गया. उस समय कहा गया कि सरकार के अगले आदेश पर आपको अवगत कराया जाएगा कि आपकी बची हुई क्लासेज कब होंगी. नाट्य विद्यालय के छात्र घनश्याम सोनी बताते हैं,

लॉकडाउन के दौरान हमें मेल करके बताया गया कि आपने जो सीखा है, वाइस ट्रेनिंग ली है, आपने जो प्रोडक्शन किया है, उसके हिसाब से प्रोजेक्ट बनाइए. प्रैक्टिस कीजिए. जो हम छात्रों ने किया और प्रोजेक्ट भी भेजे. इसी बीच में हमें तीन ऑनलाइन क्लासेज दी गईं. गोविंद नामदेव जी की एक्टिंग क्लास, बाल रंगमंच के ऊपर वाणी त्रिपाठी जी की और प्ले राइटिंग को लेकर आसिफ सर की. हमें ये आश्वासन दिया गया था कि आपको बताया जाएगा कि आपकी बची हुई क्लासेज कब लगेंगी.

हम सभी छात्र इस उम्मीद में थे कि हमारी चार महीने की जो क्लासेज हैं, वो लगेंगी ही लगेंगी. लेकिन अचानक हमें इंटर्नशिप का मेल आ जाता है. और हम अखबार में खबर देखते हैं कि नए सत्र की जो स्टार्टिंग है, वो सितम्बर से होने जा रही है. साथ ही इस साल के बच्चों को जनरल प्रमोशन दिया जा रहा है.

छात्रों को संस्थान से निकालने के लिए भेजे गए पत्र का हिस्सा.
छात्रों को संस्थान से निकालने के लिए भेजे गए पत्र का हिस्सा.

छात्रों का कहना है कि लॉकडाउन के दौरान उन्हें कुछ प्रोजेक्ट वर्क दिए गए, कुछ वीडियोज बनाकर भेजने के लिए कहा गया, जिसे उन्होंने पूरा भी किया. साथ ही तीन ऑनलाइन क्लासेज भी हुईं. यहां तक तो सब ठीक था, लेकिन जब नाट्य विद्यालय द्वारा नए सत्र के लिए आवेदन और वर्तमान सत्र के छात्रों को जनरल प्रमोशन देने की खबरें सामने आईं, तो छात्रों ने प्रदर्शन शुरू किया. मध्य प्रदेश नाट्य विद्यालय की छात्रा केतकी सवाल करती हैं,

जब वर्तमान सत्र अभी खत्म ही नहीं हुआ है, तो फिर नए सत्र की बात किस आधार पर की जा रही है. मेरी ये मांग है कि जब भी स्थिति ठीक हो, जब भी अन्य शिक्षण संस्थान खुलें, सरकार द्वारा नीतियां बनाई जाए. तब मुझे मेरी चार महीने की बकाया क्लासेज मिलें. ऑनलाइन क्लासेज को इसमें न शामिल किया जाए, क्योंकि ये थिएटर फील्ड है, प्रैक्टिकल फील्ड है. इसमें आप प्रैक्टिकली जितना सीख पाते हैं, उस तरह से ऑनलाइन नहीं सीख सकते हैं. ये बात खुद डायरेक्टर साहब का भी मानना है कि ऑनलाइन क्लासेज सही नहीं है. साथ ही हमसे प्रॉडक्शन भी कराया जाए, जो हमारे ट्रेनिंग का पार्ट है.

निष्कासन के बाद विभिन्न संस्थानों द्वारा छात्रों के लिए जारी किया गया समर्थन पत्र.
निष्कासन के बाद विभिन्न संस्थानों द्वारा छात्रों के लिए जारी किया गया समर्थन पत्र.

जनरल प्रमोशन की बजाय क्लासेज पूरी करने की मांग कर रहे आठ छात्रों को 17 अगस्त को निष्कासित कर दिया गया. वजह बताया गया मीडिया से बात करना और अनुरोध प्रदर्शन करना. साथ ही ये भी कहा गया कि इन छात्रों का आचरण और व्यवहार विद्यालय के अनुरूप नहीं रहा है. निष्कासित छात्रों में से एक विनय बताते हैं,

एडमिशन के समय हमसे एक पेपर (कोड ऑफ कंडक्ट) पर साइन करवाया गया था. अब जब हमें निष्कासित कर दिया गया है, तो ये बताया गया है कि जिस कागज पर आपने साइन किया था, उस पर लिखी बातों का आपने उल्लंघन किया है. साथ ही ये भी लिखा है कि जब तक आप विद्यालय में थे, आपका अनुशासन विद्यालय के अनुरूप नहीं था. अगर ऐसा था, तो आप पहले ही ये बात बता सकते थे. विद्यालय के सामने अनुरोध प्रदर्शन करना भी गलत है. इन सबकी वजह से आपको निष्कासित किया जा रहा है.

हम लोग थियेटर स्टूडेंट हैं. जनरल प्रमोशन मिलने के बाद हम ड्रामा स्कूल पासआउट तो कहे जाएंगे, लेकिन हमारे पास नॉलेज के नाम पर कुछ नहीं रहेगा. बस हम इसीलिए जनरल प्रमोशन नहीं चाहते हैं.

विद्यालय का क्या कहना है?

जनरल प्रमोशन और कोर्स पूरा करने की मांग कर रहे छात्रों के मुद्दे पर स्कूल एडमिनिस्ट्रेशन का पक्ष जानने के लिए हमने बात की स्कूल के डायरेक्टर आलोक चटर्जी से. उन्होंने कहा,

दरअसल विद्यार्थियों से बात हो चुकी है. हमने उनके प्रस्ताव पर उच्चाधिकारियों से चर्चा करके मंत्री स्तर पर भेज दिया है. वहां से जो भी जवाब आएगा, विद्यार्थियों को तुरंत सूचित कर दिया जाएगा. ये बात धरने पर बैठे विद्यार्थियों को बताई जा चुकी है. कोरोना काल चल रहा है. सरकार के जो निर्देश हैं, हम उसका पालन कर रहे हैं. सरकार के निर्देशों के बाहर हम नहीं जा सकते, क्योंकि ये सरकारी संस्थान है.


रंगरूट. दी लल्लनटॉप की एक नई पहल. जहां पर बात होगी नौजवानों की. उनकी पढ़ाई-लिखाई और कॉलेज-यूनिवर्सिटी कैंपस से जुड़े मुद्दों की. हम बात करेंगे नौकरियों, प्लेसमेंट और करियर की. अगर आपके पास भी ऐसा कोई मुद्दा है तो उसे भेजिए हमारे पास. हमारा पता है  YUVA.LALLANTOP@GMAIL.COM


DU में ऑनलाइन एग्जाम नहीं दे पाए स्टूडेंट्स के लिए हाई कोर्ट ने अलग इंतजाम किया है

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

कौन हो तुम

इन नौ सवालों का जवाब दे दिया, तब मानेंगे आप ऐश्वर्या के सच्चे फैन हैं

इन नौ सवालों का जवाब दे दिया, तब मानेंगे आप ऐश्वर्या के सच्चे फैन हैं

कुछ ऐसी बातें, जो शायद आप नहीं जानते होंगे.

क्विज़: नुसरत फतेह अली खान को दिल से सुना है, तो इन सवालों का जवाब दो

क्विज़: नुसरत फतेह अली खान को दिल से सुना है, तो इन सवालों का जवाब दो

आज बड्डे है.

ये क्विज जीत नहीं पाए तो तुम्हारा बचपन बेकार गया

ये क्विज जीत नहीं पाए तो तुम्हारा बचपन बेकार गया

आज कार्टून नेटवर्क का हैपी बड्डे है.

रणबीर कपूर की मम्मी उन्हें किस नाम से बुलाती हैं?

रणबीर कपूर की मम्मी उन्हें किस नाम से बुलाती हैं?

आज यानी 28 सितंबर को उनका जन्मदिन होता है. खेलिए क्विज.

करीना कपूर के फैन हो तो इ वाला क्विज खेल के दिखाओ जरा

करीना कपूर के फैन हो तो इ वाला क्विज खेल के दिखाओ जरा

बेबो वो बेबो. क्विज उसकी खेलो. सवाल हम लिख लाए. गलत जवाब देकर डांट झेलो.

रवनीत सिंह बिट्टू, कांग्रेस का वो सांसद जिसने एक केंद्रीय मंत्री के इस्तीफे का प्लॉट तैयार कर दिया!

रवनीत सिंह बिट्टू, कांग्रेस का वो सांसद जिसने एक केंद्रीय मंत्री के इस्तीफे का प्लॉट तैयार कर दिया!

17 सितंबर को किसानों के मुद्दे पर बिट्टू ऐसा बोल गए कि सियासत में हलचल मच गई.

मोदी जी का बड्डे मना लिया? अब क्विज़ खेलकर देखो उनको कितना जानते हो मितरों

मोदी जी का बड्डे मना लिया? अब क्विज़ खेलकर देखो उनको कितना जानते हो मितरों

अच्छे नंबर चइये कि नइ चइये?

KBC में करोड़पति बनाने वाले इन सवालों का जवाब जानते हो कि नहीं, यहां चेक कर लो

KBC में करोड़पति बनाने वाले इन सवालों का जवाब जानते हो कि नहीं, यहां चेक कर लो

करोड़पति बनने का हुनर चेक कल्लो.

विधायक विजय मिश्रा, जिन्हें यूपी पुलिस लाने लगी तो बेटियां बोलीं- गाड़ी नहीं पलटनी चाहिए

विधायक विजय मिश्रा, जिन्हें यूपी पुलिस लाने लगी तो बेटियां बोलीं- गाड़ी नहीं पलटनी चाहिए

चलिए, विधायक जी की कन्नी-काटी जानते हैं.

नेशनल हैंडलूम डे: और ये है चित्र देखो, साड़ी पहचानो वाली क्विज

नेशनल हैंडलूम डे: और ये है चित्र देखो, साड़ी पहचानो वाली क्विज

कभी सोचा नहीं होगा कि लल्लन साड़ियों पर भी क्विज बना सकता है. खेलो औऱ स्कोर करो.