Submit your post

Follow Us

कहानी उस दिन की, जब सचिन और अज़हर ने साउथ अफ्रीका की गेंदबाज़ी के उन्हीं के घर में बखिए उधेड़े

ajay sharmaसूरत, गुजरात के रहने वाले अजय शर्मा के जीवन में दो ही शौक हैं. एंटरमार कविताओं वाले कवियों के जीवन में चरस बोए रहना और क्रिकेट को जुनून की तरह जीना. क्रिकेट की दुनिया में ऐसा कुछ शायद ही रहा हो, जो इनकी निगाह से छूटा हो. क्रिकेट की अपनी इस दीवानगी को कभी-कभी फेसबुक पोस्ट बनाने की कोशिश करते हैं. और क्या कामयाब कोशिश करते हैं! किस्सागोई की शक्ल में ऐसा ही एक कमाल का वाक़या पढ़िए. जब विदेश की धरती पर टीम इंडिया के दो अंगद पैर जमाए खड़े हो गए थे….


काउंटर अटैक. वन मैन आर्मी. ये ऐसी दो चीजें हैं, जो जंग का मैदान हो, सिनेमा का पर्दा हो, या फिर खेल का मैदान, हमेशा ही ह्यूमन साइकोलॉजी को आकर्षित करती आई हैं.

यह बात उस दौर की है, जब टीम इंडिया ज़रा सा भी प्रेशर पड़ने पर ताश के पत्तों के महल की तरह बिखर जाती थी. लेकिन 4 जनवरी 1997 को दो खिलाड़ियों द्वारा अचानक से किये गए हल्ला बोल से हर कोई अचंभित हो गया था.

आज हम टीम इंडिया द्वारा 23 साल पहले किये गये एक ऐसे काउंटर अटैक की बात करेंगे. जिसके बारे में दक्षिण अफ्रीका क्रिकेट बोर्ड के अध्यक्ष अली बाकर ने कहा था कि मैने अपने देश में इससे तगड़ा जवाबी हमला कभी नहीं देखा. और जिसने स्टेडियम में बैठे दक्षिण अफ्रीका के क्रांतिकारी नेता नेल्सन मंडेला को भी तालियां बजाने पर मजबूर कर दिया था.

Nelson Mandela
दक्षिण अफ्रीका के पूर्व राष्ट्रपति नेल्सन मंडेला. (एएफपी)

साल 1997. भारत का दक्षिण अफ्रीका दौरा.

सचिन तेंदुलकर के हाथ में नई-नई कप्तानी आई थी. सौरव गांगुली, राहुल द्रविड़ और वीवीएस लक्ष्मण जैसे नाम, जो अब भारतीय क्रिकेट के इतिहास में दिग्गज बन चुके हैं, उस वक्त टीम के लिए नये नवेले लौंडे थे. टीम में अपनी जगह सुरक्षित करने के लिए जद्दोजहद कर रहे थे. वहीं दूसरी तरफ़ दक्षिण अफ़्रीका टीम की कप्तानी उस वक्त के सबसे चालाक और इनोवेटिव कप्तान हैंसी क्रोन्ये कर रहे थे. जिनकी टीम में पहले से गैरी कर्स्टन, डेरेल कलीनन, एंड्रयू हडसन जैसे दिग्गज बल्लेबाज़ मौजूद थे. और गेंदबाज़ी की कमान एलन डोनाल्ड और शॉन पोलॉक के हाथ में थी. जिनका साथ निभाने के लिए ब्रायन मैकमिलन, लांस क्लूजनर जैसे ऑल राउंडर और अजीब एक्शन वाले चाईनामैन गेंदबाज़ पॉल एडम्स भी टीम में शामिल थे.

तो टीम इंडिया का अंतरराष्ट्रीय दौरा शुरू होता है डरबन से. और जैसी कि भारतीय उपमहाद्वीप से बाहर टीम इंडिया की लंबे समय से रिवायत रही है, वो अपना पहला मैच 328 रनों के बड़े अंतराल से बुरी तरह हार जाती है. जिसमें दूसरी पारी में 66 रनों पर ऑल आउट होने का एक दाग भी शामिल था. इतनी बुरी हार के चलते भारतीय प्रशंसकों में काफ़ी नाराज़गी थी.

फिर शुरू हुआ दूसरा मैच

दूसरा मैच केप टाउन में खेला गया. दक्षिण अफ्रिका ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाज़ी करने का निर्णय लिया. गैरी कर्स्टन की क्लासिकल 103 रनों की पारी के साथ, अपना चौथा टेस्ट मैच खेल रहे लांस क्लूजनर द्वारा 100 गेंदो पर बनाये गये ताबड़तोड़ 102 रनों की बदौलत, 529 रनों का विशाल स्कोर बोर्ड पर लगाकर पारी घोषित कर दी. दूसरे दिन के बचे हुए वक्त में टीम इंडिया को बल्लेबाज़ी के लिए बुलाया.

इतने बड़े स्कोर के जवाब में भारतीय टीम की शुरुआत बेहद बुरी रही. दूसरे दिन का खेल ख़त्म होने तक भारत का स्कोर 29/3 था. लेकिन तेंडुलकर और सौरव गांगुली क्रीज़ पर मौजूद थे.

अगले दिन की सुबह भी ख़राब रही और सौरव गांगुली के साथ वीवीएस लक्ष्मण भी आउट होकर सस्ते में लौट गये. तीसरा दिन शुरू होते ही दक्षिण अफ्रीका के 529 रनों के पहाड़नुमा स्कोर के सामने भारत का स्कोर था 58/5.

फिर मैदान पर दो ऐसे बल्लेबाज़ों की जोड़ी जमा हुई, जिनके इर्द-गिर्द ही उस दौर में टीम इंडिया की पूरी बल्लेबाज़ी घूमती थी. मतलब कि सचिन तेंदुलकर और मुहम्मद अज़हरुद्दीन.

दक्षिण अफ्रीका के कप्तान हैंसी क्रोन्ये के साथ-साथ उनके गेंदबाज़ों के मुंह में पानी आ गया था. ये सोचकर कि अगर इस जोड़ी को हम जल्द तोड़ने में कामयाब होते हैं, तो एक बेहद ही कमजोर भारतीय लोअर ऑर्डर को बैटिंग क्रीज़ पर खींच लाएंगे. और एक बार फिर से टीम इंडिया को 100 रनों के भीतर ही आराम से समेटा लेंगे. जिसके बाद फॉलो ऑन खिलाकर मैच को बड़ी आराम से जीता जा सकता है.

पर 4 जनवरी 1997 के दिन ये दोनों बल्लेबाज़, इतिहास में एक नया कीर्तिमान लिखने के मूड में थे. एक ऐसा कीर्तिमान जो आज तक क़ायम है.

अज़हरुद्दीन ने टेस्ट को वन-डे समझकर खेला

इस बेहद नाज़ुक स्थिति में आक्रमण की शुरुआत हुई अज़हरुद्दीन की तरफ़ से. मानो वो उस दिन ड्रेसिंग रूम से निकलते वक्त ही सोचकर आए थे कि आज मुझे टेस्ट मैच को वन डे समझकर खेलना है. पूरी दुनिया में उस वक्त उन्हें कलाइयों के जादूगर के नाम से जाना जाता था. और अज़हर ने भरपूर तरीक़े से साऊथ अफ्रीका के गेंदबाज़ो के साथ साथ मैच देखने आये दर्शकों को भी बख़ूबी अपनी कलाइयों का जादू दिखाया. वहीं दूसरी तरफ़ खड़े होकर अब तक बल्लेबाज़ों को पवेलियन की ओर जाता देख रहे सचिन तेंदुलकर ने भी अब ‘ख़रबूज़े को देखकर ख़रबूज़ा रंग बदलता है’ कहावत के अनुसार अपने तरकश से एक-एक तीर निकालने शुरू कर दिए.

फिर शुरू हुई मैदान पर एक से बढ़कर एक कलात्मक शॉट्स की बारिश. मानो इन दोनों बल्लेबाज़ों के बीच आपस में ही जंग शुरू हो गयी कि कौन ज़्यादा बुरी तरह अफ्रीकी गेंदबाज़ी को धोता है. मैदान पर चल रहे इस टशन को देखकर टीम इंडिया के ड्रेसिंग रूम में भी रोमांच पैदा हो गया. जहां कुछ देर पहले झुके हुए कंधों के साथ उदासीन चेहरों का जमावड़ा था. कुल मिलाकर लगभग तीन घंटे के लिए वाइट लाइटनिंग के नाम से मशहूर एलन डौनाल्ड से लेकर, स्विंग मास्टर शॉन पोलॉक तक, किसी के पास इस जोड़ी के हमले का कोई जवाब नहीं था. बाक़ी गेंदबाज़ों की तो बात ही छोड़ दीजिए.

दुनिया के सबसे माहिर कप्तान और टॉप बॉलिंग अटैक को बिलकुल भी कुछ समझ नहीं आ रहा था कि आख़िरकार उनके साथ मैदान पर चल क्या रहा है! क्योंकि साऊथ अफ्रीका की तेज उछाल भरी पिच पर किसी भी एशियन टीम की हिम्मत नहीं थी कि इस तरीक़े से उनकी गेंदबाज़ी को बिलकुल उधेड़कर रख दे. जिस आत्मविश्वास से ये दोनों उस वक्त बल्लेबाज़ी कर रहे थे, उसे देखकर लग ही नहीं रहा था कि किसी भी दक्षिण अफ्रीकी गेंदबाज़ में वो कुव्वत है, जो इन्हें आउट कर सकता हो. हुआ भी कुछ ऐसा ही. दोनों जब आउट हुए तो उनमें गेंदबाज़ों का कोई ख़ास रोल नहीं था.

Sachin Catch Out Bacher
एडम बकर ने सचिन का शानदार कैच लपका था. (फोटो: यूट्यूब स्क्रीनशॉट)

विकेटों के पीछे खेले गये एक शॉट पर पैदा हुई असमंजस की स्थिति की वजह से अज़हर रन आउट हो गये. नंबर 11 बल्लेबाज़ के साथ खेल रहे सचिन ज़्यादा से ज़्यादा रन बनाने के चक्कर में हर गेंद पर शॉट खेल रहे थे. ऐसे ही एक शानदार टाइम किये हुए पुल शॉट का एडम बाकर ने बाउंड्री पर एक चमत्कारी कैच पकड़ लिया. मुझे लगता है आज भी बाकर को भरोसा नहीं होगा कि वो कैच उन्होंने सही में लपक लिया था. क्योंकि फ़ील्डिंग कोचिंग के अनुसार देखा जाये, तो उनका शरीर किसी भी हालत में कैच पकड़ने की स्थिति में नहीं था. मानो उन्होंने बस हाथ ऊपर किया और भगवान ने कैच उनके हाथ में धर दिया.

किस्सा बस इतना ही. मैच का रिजल्ट क्या रहा, ये आप गूगल कर ही लेंगे. मुझे तो सचिन-अज़हर के उस जवाबी हमले पर बात करनी थी, जो इतिहास में दर्ज हो गया.

उस हमले को उस वक्त के दक्षिण अफ्रीका क्रिकेट बोर्ड के अंतरिम अध्यक्ष अली बाकर ने अपनी धरती पर सबसे तगड़ा काउंटर अटैक बताया था. आज भी 222 रनों की ये पार्टनरशिप भारतीय क्रिकेट के इतिहास में छठे विकेट के लिए सबसे बड़ी पार्टनरशिप का रिकॉर्ड रखती है. यूं तो रिकॉर्ड बनते ही टूटने के लिए हैं, पर मैदान में जिस परिस्थिति में आक्रामक और बेबाक़ रवैया अपनाकर ये रिकॉर्ड बनाया गया था, वही बात इसे स्पेशल बनाती है.


विडियो- रैना ने बताया धोनी और उनके रिटायरमेंट के पीछे का अनसुना किस्सा

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

कौन हो तुम

संविधान के कितने बड़े जानकार हैं आप?

संविधान के कितने बड़े जानकार हैं आप?

ये क्विज़ जीत लिया तो आप जीनियस हुए.

आप अपने देश की सेना को कितना जानते हैं?

आप अपने देश की सेना को कितना जानते हैं?

कितना स्कोर रहा ये बता दीजिएगा.

जानते हो ऋतिक रोशन की पहली कमाई कितनी थी?

जानते हो ऋतिक रोशन की पहली कमाई कितनी थी?

सलमान ने ऐसा क्या कह दिया था, जिससे ऋतिक हो गए थे नाराज़? क्विज़ खेल लो. जान लो.

सलमान खान के फैन, इधर आओ क्विज खेल के बताओ

सलमान खान के फैन, इधर आओ क्विज खेल के बताओ

क्विज में सही जवाब देने वाले के लिए एक खास इनाम है.

किसान दिवस पर किसानी से जुड़े इन सवालों पर अपनी जनरल नॉलेज चेक कर लें

किसान दिवस पर किसानी से जुड़े इन सवालों पर अपनी जनरल नॉलेज चेक कर लें

कितने नंबर आए, ये बताते हुए जाइएगा.

इन नौ सवालों का जवाब दे दिया, तब मानेंगे आप ऐश्वर्या के सच्चे फैन हैं

इन नौ सवालों का जवाब दे दिया, तब मानेंगे आप ऐश्वर्या के सच्चे फैन हैं

कुछ ऐसी बातें, जो शायद आप नहीं जानते होंगे.

क्विज़: नुसरत फतेह अली खान को दिल से सुना है, तो इन सवालों का जवाब दो

क्विज़: नुसरत फतेह अली खान को दिल से सुना है, तो इन सवालों का जवाब दो

आज बड्डे है.

ये क्विज जीत नहीं पाए तो तुम्हारा बचपन बेकार गया

ये क्विज जीत नहीं पाए तो तुम्हारा बचपन बेकार गया

आज कार्टून नेटवर्क का हैपी बड्डे है.

रणबीर कपूर की मम्मी उन्हें किस नाम से बुलाती हैं?

रणबीर कपूर की मम्मी उन्हें किस नाम से बुलाती हैं?

आज यानी 28 सितंबर को उनका जन्मदिन होता है. खेलिए क्विज.

करीना कपूर के फैन हो तो इ वाला क्विज खेल के दिखाओ जरा

करीना कपूर के फैन हो तो इ वाला क्विज खेल के दिखाओ जरा

बेबो वो बेबो. क्विज उसकी खेलो. सवाल हम लिख लाए. गलत जवाब देकर डांट झेलो.