Submit your post

रोजाना लल्लनटॉप न्यूज चिट्ठी पाने के लिए अपना ईमेल आईडी बताएं !

Follow Us

बाबरी गिराने में पीठ पर गिरा था गुंबद का हिस्सा, 26 साल से बिस्तर पर पड़ा कारसेवक

41.77 K
शेयर्स

राम जन्मभूमि आंदोलन से राजनीति चमकाने वाले कितने लोग भितरामपुर चले गए. कितने चमक गए. लेकिन जो कुदाल लेकर गुंबद पर चढ़े थे, उनकी कहानी जाननी बहुत जरूरी है. इन लोगों का स्वागत किसी हीरो की तरह हुआ था. बाद में क्या हुआ, ये सुध लेने वाला कोई नहीं बचा. इनमें से एक बलबीर सिंह था. जो बाद में मुसलमान बनकर मस्जिदें बनवाने लगा. उसकी कहानी यहां क्लिक करके पढ़ सकते हैं. ये कहानी है मध्य प्रदेश के अंचल मीणा की. वो 30 साल के थे जब बाबरी गिराने गए. अब 56 के हैं. लेकिन ये 26 साल नर्क की तरह गुजरे हैं. एक कमरे में बिस्तर पर पड़े रहकर ये साल गुजारे हैं.

बाबरी की ये तस्वीर, जिसे कोई नहीं भूल सकता
बाबरी की ये तस्वीर, जिसे कोई नहीं भूल सकता

‘राम के काम से निकले’

भोपाल के नजदीक सुआखेड़ा है. वहां अंचल सिंह मीणा का घर है. 26 साल पहले अंचल कारसेवक हो गए. अयोध्या में राम मंदिर की चाह थी. विश्व हिंदू परिषद समेत तमाम संगठन आग में पेट्रोल झोंके पड़े थे. 3 दिसंबर 1992 को अंचल भोपाल पहुंचे और 27 लोगों के जत्थे में पुष्पक एक्सप्रेस में बैठकर लखनऊ पहुंच गए. लखनऊ से फैजाबाद. 6 दिसंबर को बाबरी मस्जिद गिराने के लिए ऊपर चढ़ गए. भीड़ की चीख पुकार में जोश का आलम यह था कि अगले पल क्या होने वाला है, ये कोई नहीं सोच रहा था. गुंबद नीचे गिरा तो उसके साथ अंचल भी नीचे आ गए. मलबा का बड़ा हिस्सा अंचल की पीठ पर गिरा. अंचल बेहोश हो गए. पहले फैजाबाद के एक अस्पताल में भर्ती कराया गया. जहां से लखनऊ भेज दिया गया. वहां होश आया तो पता चला कि कमर के नीचे का हिस्सा बेकार हो गया है.

anchal singh meena 2

फिर क्या हुआ

आजतक चैनल के रिपोर्टर रवीश पाल सिंह बताते हैं कि अंचल चल नहीं सकते. बिस्तर पर पड़े रहते हैं. पूछने पर बताया कि 1992 के बाद तमाम छोटे बड़े नेता भोपाल आए लेकिन उनके पास तक कोई न आया. सिर पर लगी चोट दिखाते हैं और फूट फूटकर रो पड़ते हैं. कहते हैं- कोई नेता नहीं कह सकता कि एक गिलास पानी भी पिलाया हो. लेकिन मैं जिस राम के नाम से गया उस पर विश्वास है कि पूरा करेगा.

कमाल की बात ये है कि अंचल सिं मीणा को अब भी अहसास नहीं है कि पॉलिटिक्स ने इस्तेमाल किया. राम ने किसी को नहीं बुलाया मस्जिद गिराने के लिए. जिन्होंने बुलाया वो खूब खेले खाए. कई तो अब दरकिनार कर दिए गए हैं. ठीक अंचल की ही तरह. लेकिन अंचल को अभी भी लगता है कि वह काम उनसे राम ने करवाया था. वो कहते हैं कि अब कमजोर हो गया हूं, इलाज चल रहा है, लेकिन अयोध्या में राम मंदिर बन जाएगा और कोई दर्शन कराने ले जाएगा तो जरूर जाऊंगा.


लल्लनटॉप न्यूज चिट्ठी पाने के लिए अपना ईमेल आईडी बताएं !

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें
Story of kar sevak Anchal Singh Meena, who became handicapped in Babri demolition

कौन हो तुम

फवाद पर ये क्विज खेलना राष्ट्रद्रोह नहीं है

फवाद खान के बर्थडे पर सपेसल.

दुनिया की सबसे खूबसूरत महिला के बारे में 9 सवाल

कुछ ऐसी बातें, जो शायद आप नहीं जानते होंगे.

कोहिनूर वापस चाहते हो, लेकिन इसके बारे में जानते कितना हो?

आओ, ज्ञान चेक करने वाला खेल खेलते हैं.

कितनी 'प्यास' है, ये गुरु दत्त पर क्विज़ खेलकर बताओ

भारतीय सिनेमा के दिग्गज फिल्ममेकर्स में गिने जाते हैं गुरु दत्त.

इंडियन एयरफोर्स को कितना जानते हैं आप, चेक कीजिए

जो अपने आप को ज्यादा देशभक्त समझते हैं, वो तो जरूर ही खेलें.

इन्हीं सवालों के जवाब देकर बिनिता बनी थीं इस साल केबीसी की पहली करोड़पति

क्विज़ खेलकर चेक करिए आप कित्ते कमा पाते!

सच्चे क्रिकेट प्रेमी देखते ही ये क्विज़ खेलने लगें

पहले मैच में रिकॉर्ड बनाने वालों के बारे में बूझो तो जानें.

कंट्रोवर्शियल पेंटर एम एफ हुसैन के बारे में कितना जानते हैं आप, ये क्विज खेलकर बताइये

एम.एफ हुसैन की पेंटिंग और विवाद तो गूगल कर आपने खूब समझ लिया. अब जरा यहां कलाकारी दिखाइए

KBC क्विज़: इन 15 सवालों का जवाब देकर बना था पहला करोड़पति, तुम भी खेलकर देखो

अगर सारे जवाब सही दिए तो खुद को करोड़पति मान सकते हो बिंदास!

राजेश खन्ना ने किस हीरो के खिलाफ चुनाव लड़ा और जीता था?

राजेश खन्ना के कितने बड़े फैन हो, ये क्विज खेलो तो पता चलेगा.