Submit your post

Follow Us

आयुष्मान खुराना की अगली फिल्म 'शुभ मंगल ज़्यादा सावधान' की 5 बातें, जिसमें वो गे बने हैं

2017 में आई ‘शुभ मंगल सावधान’ के बाद 2020 में आ रही है ‘शुभ मंगल ज़्यादा सावधान’. 6 सितंबर, 2018 को भारतीय संविधान की धारा 377 को सुप्रीम कोर्ट ने डिक्रिमिनलाइज़ कर दिया. इसके बाद इस मसले पर बनने वाली पहली फिल्म थी सोनम और अनिल कपूर स्टारर ‘एक लड़की को देखा तो ऐसा लगा’. 2016 में ‘अलीगढ़’ आई थी. जो चीज़ हम कहने-लिखने से बच रहे हैं, वो है होमोसेक्शुएलिटी. गे होना. सेम सेक्स रिलेशनशिप. आदमी हूं आदमी से प्यार करता हूं. इसे जिस नाम से चाहें बुला लें. लेकिन बुलाएं, तो सही. ऐसी ही एक कोशिश करने आ रही है फिल्म ‘शुभ मंगल ज़्यादा सावधान’. फिल्म को तो आने में समय है लेकिन ट्रेलर आ गया.

कहानी क्या है?

अमन नाम का एक मिडल क्लास फैमिली से आने वाला लड़का है. लड़का क्या मतलब पूरी फैमिली भी है. अलाहाबाद में रहती है. लेकिन उनके पांव तले ज़मीन तब खिसक जाती है, जब उन्हें पता चलता है कि उनका लड़का, कार्तिक नाम के एक लड़के से प्यार करता है. यानी गे है. छोटे शहर के लोग ये मानते हैं कि होमोसेक्शुएलिटी कोई बीमारी या सनक है. वो इसे नैचुरल नहीं मानते. जिन इलाकों में लोग अपने बेटियों की शादी दूसरी कुल-जाति में नहीं करते, वो अपने लड़के की शादी ‘लड़के’ से कैसे करेंगे. इतना सोशल प्रेशर है. इसी प्रेशर में पैरेंट्स अमन की शादी अपने पसंद की लड़की से करवाने लगते हैं. अब वो शादी पूरी होती है कि नहीं? अमन और कार्तिक मिल पाते हैं नहीं? यही कुछ सवाल हैं, जिनके जवाब ट्रेलर ऑलमोस्ट दे ही देता है.

होमोसेक्शुएलिटी से जुड़े सबसे बड़े और ज़रूर सवाल का जवाब देता कार्तिक. फिल्म के एक सीन में आयुष्मान और मनु ऋषि चड्ढा.
होमोसेक्शुएलिटी से जुड़े सबसे बड़े और ज़रूरी सवाल का जवाब देता कार्तिक. फिल्म के एक सीन में आयुष्मान और मनु ऋषि चड्ढा.

ट्रेलर कैसा है?

‘शुभ मंगल ज़्यादा सावधान’ का ट्रेलर खुलता ही उस सवाल के साथ है, जो होमोसेक्शुएलिटी के बारे में सबसे ज़्यादा पूछा जाता है. ‘तुमने कब तय किया कि तुम ये हो’? गे बोलने में भी लोगों को शर्म आती है. तो ये ट्रेलर स्क्रैच से शुरू करके शादी तक की जर्नी पूरी करता है. इस फिल्म में वो सब है, जो इस मुद्दे को बहुत बड़ी ऑडियंस तक पहुंचाएगा. एक टैबू इशू साथ में कॉम्प्लिमेंट्री हीरो, छोटे शहर की कंजर्वेटिव फैमिली और साफ-सुथरी कॉमेडी. फिल्म में काम की बातें हो रही हैं, लेकिन फनी तरीके से. लोग देखकर हंसेंगे लेकिन ये सोचना पड़ेगा न क्यों हंस रहे थे? यहां ये फिल्म सार्थक होती है. गे कोई अलग प्रजाति नहीं है, हमारे-आपके जैसे लोग वो भी हैं. वैसे नहीं जैस कई बॉलीवुड फिल्मों में दिखाया गया है. सबकुछ कहने-सुनने के बाद एक कन्फेशन ये है कि हटके टॉपिक पर फिल्में बनाने के चक्कर में हमने उसे भी क्लीशे कर दिया है. अब हमें इस हटके से कुछ हटके चाहिए.

फिल्म के एक सीन में लड़की से शादी करवाए जाने के खिलाफ अपने मां-बाप को समझाता अमन उर्फ जितेंद्र कुमार.
फिल्म के एक सीन में लड़की से शादी करवाए जाने के खिलाफ अपने मां-बाप को समझाता अमन उर्फ जितेंद्र कुमार.

कौन-कौन काम कर रहा है?

फिल्म में अमन के बॉयफ्रेंड कार्तिक सिंह के रोल में आयुष्मान खुराना दिखाई देंगे. उनकी पिछली रिलीज़ थी ‘बाला’. अमन त्रिपाठी यानी फिल्म की जड़ के किरदार में हैं जितेंद्र कुमार. स्ट्रीमिंग प्लैटफॉर्म टीवीएफ के कई पॉपुलर वेब शोज़ में काम कर चुके हैं. 2019 में आई फिल्म ‘गोन केश’ से अपना फिल्मी डेब्यू किया था. नेशनल अवॉर्ड विनिंग फिल्म ‘बधाई हो’ के बाद एक बार फिर से गजराज राव और नीना गुप्ता की जोड़ी वापस आ रही है. इनके अलावा मनुऋषि चड्ढा (ओए लक्की, लक्की ओए) और मानवी गगरू (फोर मोर शॉट्स प्लीज़) भी फिल्म में काम कर रही हैं. बाकी फैमिली मेंबर्स के कैरेक्टर में पंखुड़ी अवस्थी, सुनीता राजकंवर और नीरज सिंह दिखाई देंगे.

होमोफोबिया के बारे में लाउड स्पीकर से जनता को बताता कार्तिक उर्फ आयुष्मान.
होमोफोबिया के बारे में लाउड स्पीकर लेकर जनता को बताता कार्तिक उर्फ आयुष्मान.

किन्होंने बनाई है?

इस फिल्म को डायरेक्ट कर रहे हैं हितेश केवल्या. हितेश ‘शुभ मंगल सावधान’ के डायलॉग्स राइटर थे. उससे पहले  ‘आगे से राइट’ (2009) और ‘सिद्धार्थ- द प्रिज़नर’ जैसी फिल्में लिख चुके हैं. इस फिल्म से डायरेक्शन में डेब्यू करने जा रहे हैं. अगर डायरेक्शन की बात करें, तो उन्होंने ‘रिद्मैटिक्स’ नाम की एक शॉर्ट फिल्म डायरेक्ट कर रखी है. फिल्म के प्रोड्यूसर आनंद एल. राय (रांझणा) ने इस फिल्म की अनाउंसमेंट के समय मीडिया को बताया था कि इसकी कहानी का पिछली फिल्म से कोई-लेना नहीं है. ‘शुभ मंगल सावधान’ को एक कन्सेप्चुअल सीरीज़ में ढ़ाला जा रहा है. सीरीज़ की हर फिल्म में किसी ऐसे मसले पर बात की जाएगी, जो ज़रूरी तो है लेकिन उसके ऊपर लोग बात करने से बचते हैं. उसी कड़ी में ‘शुभ मंगल ज़्यादा सावधान’ दूसरी फिल्म है.

'बधाई हो' फेम गजराज राव और नीना गुप्ता. दोनों लोगों ने फिल्म में अमन के माता-पिता का रोल किया है.
‘बधाई हो’ फेम गजराज राव और नीना गुप्ता. दोनों लोगों ने फिल्म में अमन के माता-पिता का रोल किया है.

कब आ रही है?

‘शुभ मंगल ज़्यादा सावधान’ की शूटिंग सितंबर में बनारस में शुरू हुई थी. 16 दिसंबर, 2019 को खत्म हो गई. फिल्म के टीज़र और कैरेक्टर इंट्रो वीडियो में रिलीज़ डेट 13 मार्च बताई गई थी. लेकिन अब ये 21 फरवरी, 2020 को रिलीज़ हो रही है. 21 फरवरी को अनुराग बासु डायरेक्टेड फिल्म ‘लुडो’ भी थिएटर्स में लगनी थी. ‘शुभ मंगल…’ और ‘लुडो’, दोनों के प्रोड्यूसर भूषण कुमार (टी-सीरीज़) हैं. ऐसे में उन्होंने दोनों की रिलीज़ डेट एक्सचेंज की. अब ‘लुडो’ 13 मार्च को आ रही है.

फिल्म का ट्रेलर यहां देखिए: 


वीडियो देखें: कार्तिक आर्यन और सारा अली खान की लव आज कल के ट्रेलर की 5 बातें 

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

कौन हो तुम

संविधान के कितने बड़े जानकार हैं आप?

ये क्विज़ जीत लिया तो आप जीनियस हुए.

क्रिकेट के पक्के वाले फैन हो तो इस क्विज़ को जीतकर बताओ

कित्ता नंबर मिला, सच-सच बताना.

सलमान खान के फैन, इधर आओ क्विज खेल के बताओ

क्विज में सही जवाब देने वाले के लिए एक खास इनाम है.

QUIZ: देश के सबसे महान स्पोर्टसमैन को कितना जानते हैं आप?

आज इस जादूगर की बरसी है.

चाचा शरद पवार ने ये बातें समझी होती तो शायद भतीजे अजित पवार धोखा नहीं देते

शुरुआत 2004 से हुई थी, 2019 आते-आते बात यहां तक पहुंच गई.

रिव्यू पिटीशन क्या होता है? कौन, क्यों, कब दाखिल कर सकता है?

अयोध्या पर फैसले के खिलाफ ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड रिव्यू पिटीशन दायर करने जा रहा है.

इन नौ सवालों का जवाब दे दिया, तब मानेंगे आप ऐश्वर्या के सच्चे फैन हैं

कुछ ऐसी बातें, जो शायद आप नहीं जानते होंगे.

अमिताभ बच्चन तो ठीक हैं, दादा साहेब फाल्के के बारे में कितना जानते हो?

खुद पर है विश्वास तो आ जाओ मैदान में.

‘ताई तो कहती है, ऐसी लंबी-लंबी अंगुलियां चुडै़ल की होती हैं’

एक कहानी रोज़ में आज पढ़िए शिवानी की चन्नी.

मोदी जी का बड्डे मना लिया? अब क्विज़ खेलकर देखो कितना जानते हो उनको

मितरों! अच्छे नंबर चइये कि नइ चइये?