Submit your post

Follow Us

इंडस्ट्रियल कचरे से 'जादू' करने वाले सूरत के इस लड़के को कौन सा अवॉर्ड मिला है?

खुर्जा. दिल्ली से करीब 90 किलोमीटर दूर पश्चिमी उत्तर प्रदेश का एक छोटा सा शहर. खुर्जा जाना जाता है यहां बनने वाले चीनी मिट्टी के बर्तन और कुछ सजावटी वस्तुओं की वजह से. बर्तन के अलावा चीनी मिट्टी से बनने वाले बिजली और दूसरी चीजों के उपकरण भी यहां खूब बनते हैं. साल 2017 में नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ डिजाइन अहमदाबाद के कुछ छात्र खुर्जा आए थे. आए तो थे सिरेमिक इंडस्ट्री को देखने के लिए लेकिन यहां कुछ और ही दिख गया. इन छात्रों को सिरेमिक प्रोडक्ट्स तो दिखा ही साथ में पूरे शहर में इनसे निकलने वाला कचरा भी दिखा. मैन्युफैक्चरिंग के दौरान टूट गए, रिजेक्ट हो चुके अवशेष पूरे शहर में जगह-जगह दिखे. यहां इन छात्रों के दिमाग में एक आइडिया आया. आइडिया ये कि क्या इस इंडस्ट्रियल कचरे को रिसाइकल यानी कि दोबारा इस्तेमाल में लाया जा सकता है?

अर्थ तत्व

अपने कॉलेज वापस लौटने के बाद इन छात्रों में शामिल शशांक निमकर ने इस आइडिया को अपने ग्रेजुएशन प्रोजेक्ट के रूप में लिया और इस पर काम करना शुरू किया. जिस समय लोग दूसरी कंपनियों में इंटर्नशिप वगैरह की कोशिश करते हैं. शशांक अपने आइडिया पर काम करते रहे. NID की ओर से भी पूरा सहयोग मिला और शशांक इसमें सफल भी हुए. इंडस्ट्रियल वेस्ट को दोबारा उपयोग में लाने के इस कम्पोजिशन को शशांक ने ‘अर्थ तत्व’ नाम दिया है. दी लल्लनटॉप से बात करते हुए शशांक कहते हैं,

सिरेमिक बायोडिग्रेड होता नहीं है. सैकड़ों सालों तक पड़ा रहता है. आर्कियोलॉजिकल डिपार्टमेंट वाले जब खुदाई करते हैं तो उन्हें कई-कई सौ साल पुराने बर्तन मिलते हैं. मूर्तियां मिलती हैं. वो सब मिट्टी की बनी होती है. ये बायोडिग्रेड नहीं होती हैं. सिरेमिक का जो इंडस्ट्री में प्रोडक्शन होता है उसमें बहुत सारा कचरा निकलता है. इस कचरे को खतम करने का एक ही तरीका है, इन्हें रिसाइकल करना. अर्थ तत्व में हम लोग 60 परसेंट इंडस्ट्रियल वेस्ट यूज करते हैं और 40 परसेंट कच्ची मिट्टी यूज करते हैं.

अर्थ तत्व के जरिए रिसाइकल करके बनाए गए बर्तन
अर्थ तत्व के जरिए रिसाइकल करके बनाए गए बर्तन

इसमें नया क्या है?

यानी कि ये सिरेमिक प्रोडक्ट्स बनाने के लिए ये जमीन के खनन को तो कम करता ही है साथ में जो सिमेरिक कचरा चारों तरफ फैला हुआ है उसे भी कम करता है.

लेकिन अब सवाल ये उठता है कि कचरा चाहे इंडस्ट्रियल हो या घरेलू, कई तरह से उनको रिसाइकल किया जाता है. ऐसे में अर्थ तत्व में अलग क्या है? इस सवाल का जवाब देते हुए शशांक कहते हैं,

आम तौर लोग क्या करते हैं कि जो भी वेस्ट लेते हैं उसे किसी न किसी बाइन्डर के साथ मिला देते हैं. या तो रेग्जीन होता है या सीमेंट होता है फिर उससे ईंटें बना दी या कुछ और प्रोडक्ट बना दिया. इन प्रोडक्ट्स के साथ क्या होता है कि जब ये खत्म हो जाते हैं तो वापस लैंडफिल में ही जाते हैं. अब हम बाइंडर से वेस्ट को अलग नहीं कर सकते. यानी कि फिर से इसे रिसाइकल नहीं कर सकते हैं. मगर अर्थ तत्व में हम क्ले (कच्ची मिट्टी) ही यूज कर रहे हैं.जो नेचुरल बाइंडर ही होता है. आग में तपने के बाद ये सिरेमिक ही बन जाता है. तो बेसिकली हम सिंगल मैटेरियल के साथ ही काम कर रहे हैं.

इसका फायदा हमें ये होता है कि हम इसे बहुत बार रिसाइकल कर सकते हैं. हम वेस्ट प्रोडक्ट्स को रिसाइकल करके नया प्रोडक्ट बना रहे हैं. अगर हमारे प्रोडक्ट से कुछ वेस्ट निकलता है तो हम उसको भी फिर से रिसाइकल करते हैं. अगर हम इसे अच्छे से करें तो जीरो वेस्ट मैन्युफैक्चरिंग तक पहुंच सकते हैं. यानी कि ऐसा प्रोडक्ट जिसे बनाने में कोई भी कचरा न निकले.

भारत में इस साल जेम्स डायसन अवॉर्ड शशांक को मिला है
भारत में इस साल जेम्स डायसन अवॉर्ड शशांक को मिला है

अर्थ तत्व के लिए शशांक को जेम्स डायसन अवॉर्ड 2020 मिला है. ये अवॉर्ड 27 देशों के इंडस्ट्रियल डिजाइन और इंजीनियरिंग स्टूडेंट्स को जेम्स डायसन अवॉर्ड अलग-अलग दिया जाता है. भारत में इस साल ये शशांक को अर्थ तत्व के लिए मिला है. इस साल जेम्स डायसन अवॉर्ड के लिए इंडिया से 241 लोगों ने एंट्री भेजी थी. इसमें 93 लोगों को शॉर्ट लिस्ट किया गया. दूसरे स्थान पर IIT मद्रास और NID अहमदाबाद का ही एक प्रोजेक्ट दृष्टि रहा. अर्थ तत्व के जरिए शशांक अभी टेबल वेयर यानी कप प्लेट आदि ही बना रहे हैं. इन प्रोडक्ट्स को आप इस वेबसाइट पर देख सकते हैं.


रंगरूट. दी लल्लनटॉप की एक नई पहल. जहां पर बात होगी नौजवानों की. उनकी पढ़ाई-लिखाई और कॉलेज-यूनिवर्सिटी कैंपस से जुड़े मुद्दों की. हम बात करेंगे नौकरियों, प्लेसमेंट और करियर की. अगर आपके पास भी ऐसा कोई मुद्दा है तो उसे भेजिए हमारे पास. हमारा पता है  YUVA.LALLANTOP@GMAIL.COM


मध्य प्रदेश: दो साल में दो सरकारें बदल गईं, लेकिन 30 हजार शिक्षकों की भर्ती पूरी नहीं हो पाई

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

कौन हो तुम

करीना कपूर के फैन हो तो इ वाला क्विज खेल के दिखाओ जरा

करीना कपूर के फैन हो तो इ वाला क्विज खेल के दिखाओ जरा

बेबो वो बेबो. क्विज उसकी खेलो. सवाल हम लिख लाए. गलत जवाब देकर डांट झेलो.

रवनीत सिंह बिट्टू, कांग्रेस का वो सांसद जिसने एक केंद्रीय मंत्री के इस्तीफे का प्लॉट तैयार कर दिया!

रवनीत सिंह बिट्टू, कांग्रेस का वो सांसद जिसने एक केंद्रीय मंत्री के इस्तीफे का प्लॉट तैयार कर दिया!

17 सितंबर को किसानों के मुद्दे पर बिट्टू ऐसा बोल गए कि सियासत में हलचल मच गई.

मोदी जी का बड्डे मना लिया? अब क्विज़ खेलकर देखो उनको कितना जानते हो मितरों

मोदी जी का बड्डे मना लिया? अब क्विज़ खेलकर देखो उनको कितना जानते हो मितरों

अच्छे नंबर चइये कि नइ चइये?

KBC में करोड़पति बनाने वाले इन सवालों का जवाब जानते हो कि नहीं, यहां चेक कर लो

KBC में करोड़पति बनाने वाले इन सवालों का जवाब जानते हो कि नहीं, यहां चेक कर लो

करोड़पति बनने का हुनर चेक कल्लो.

विधायक विजय मिश्रा, जिन्हें यूपी पुलिस लाने लगी तो बेटियां बोलीं- गाड़ी नहीं पलटनी चाहिए

विधायक विजय मिश्रा, जिन्हें यूपी पुलिस लाने लगी तो बेटियां बोलीं- गाड़ी नहीं पलटनी चाहिए

चलिए, विधायक जी की कन्नी-काटी जानते हैं.

नेशनल हैंडलूम डे: और ये है चित्र देखो, साड़ी पहचानो वाली क्विज

नेशनल हैंडलूम डे: और ये है चित्र देखो, साड़ी पहचानो वाली क्विज

कभी सोचा नहीं होगा कि लल्लन साड़ियों पर भी क्विज बना सकता है. खेलो औऱ स्कोर करो.

सौरव गांगुली पर क्विज़!

सौरव गांगुली पर क्विज़!

सौरव गांगुली पर क्विज़. अपना ज्ञान यहां चेक कल्लो!

कॉन्ट्रोवर्सियल पेंटर एमएफ हुसैन के बारे में कितना जानते हैं आप, ये क्विज खेलकर बताइये

कॉन्ट्रोवर्सियल पेंटर एमएफ हुसैन के बारे में कितना जानते हैं आप, ये क्विज खेलकर बताइये

एमएफ हुसैन की पेंटिंग और विवाद के बारे में तो गूगल करके आपने खूब जान लिया. अब ज़रा यहां कलाकारी दिखाइए.

'हिटमैन' रोहित शर्मा को आप कितना जानते हैं, ये क्विज़ खेलकर बताइए

'हिटमैन' रोहित शर्मा को आप कितना जानते हैं, ये क्विज़ खेलकर बताइए

आज 33 साल के हो गए हैं रोहित शर्मा.

क्विज़: खून में दौड़ती है देशभक्ति? तो जलियांवाला बाग के 10 सवालों के जवाब दो

क्विज़: खून में दौड़ती है देशभक्ति? तो जलियांवाला बाग के 10 सवालों के जवाब दो

जलियांवाला बाग कांड के बारे में अपनी जानकारी आप भी चेक कर लीजिए.