Submit your post

Follow Us

जब जावेद अख्तर को यश चोपड़ा की ज़िद के आगे हारना पड़ा

जावेद अख्तर. इनका भी परिचय देना पड़े, तो भइया आपका कुछ नहीं हो सकता. उनका एक चौचक इंटरव्यू पढ़ना चाहोगे? तो पढ़ो, सिर्फ दो सवाल है –


1. आपकी जिंदगी की पहली किताब, जो पढ़ी और याद रही?

देखिए. ये जवाब देना मुश्किल है. मैंने पढ़ना शुरू कर दिया था पांच-छह साल की उमर से. ये बिलकुल सच है. मेरी मदर जो थीं, वो बहुत सारी कहानियों की किताबें देती थीं. छोटी-छोटी, पतली किताबें आती थीं. एक छोटी किताब का टाइटल आज तक याद है- मजदूर का बेटा. कहानी कुछ ऐसी है कि एक गरीब लड़का है. किस तरह पढ़ना शुरू करता है. कैसे पोस्टल लैंप के नीचे पढ़ता है. ये सब बच्चों के लिए लिखी कहानियां थीं. सबसे पहले जिन कहानियों ने असर डाला, जिन्होंने शौक पैदा किया, वो थीं. लेकिन आज सोचता हूं. उस जमाने में उपलब्ध थीं और जो अब बच्चों की कहानियां हैं, उनमें क्या फर्क है. क्या कोई मां आज के दौर में बच्चे को कोई कहानी पढ़ने को देगी, जिसका नाम होगा ‘मजदूर का बेटा’?

ये तो हुई बचपन की बात. जिस घर में हम पले-बढ़े, वहां प्रगतिशील आंदोलन का बड़ा बोलबाला था. तो उम्र कुछ बढ़ने पर जो सीरियस फैन मैं हुआ, वो था कृष्ण चंदर का. मैंने अपने स्कूल और कॉलेज में कृष्ण चंदर को बहुत पढ़ा. उनका सब कुछ. पहले हिंदी और उर्दू ही पढ़ता था. अंग्रेजी नॉवेल 15-16 की उम्र में पढ़ा था. ये था के. अब्बास का लिखा हुआ ‘इंकलाब’. हालांकि, तब तक मैंने और भी विदेशी भाषा के नॉवेल पढ़े थे, मगर ये सब ट्रांसलेशन थे. मसलन, गोर्की और चेखव के, जो उर्दू में थे.

2. आप तो फिल्में लिखते थे. फिर गीतकार कैसे बने?

इत्तेफाक की बात है. 78-79 में मैंने शाइरी लिखनी शुरू की. कहीं छपवाता नहीं था. कुछ लोग थे, जिन्हें मैं सुनाता था. जिनमें एक थे डॉ. राही मासूम रजा. इसके अलावा डॉ. धर्मवीर भारती और उनकी पत्नी पुष्पा जी थे. हरिवंश राय बच्चन और कैफी आजमी साहब थे. इन सबको सुनाता था.

हमारे फिल्मी दोस्तों में अमिताभ बच्चन और यश चोपड़ा थे, जो कभी-कभार श्रोता बना करते थे. उस दौरान यश चोपड़ा ‘सिलसिला’ करके एक फिल्म बना रहे थे. इसमें हीरो शायर था. असल में जो शायर साहब हीरो के लिए शाइरी और गीत लिखने वाले थे, वो बीमार पड़ गए. या शायद इस कहानी और फिल्म से उनका दिल ऊब गया था. तब यश जी मेरे पास आए और बोले, ‘आप मेरे गाने लिख दें.’

javed quote

ये बात मुझे बहुत दिनों बाद डोगरी की साहित्यकार पद्मा सचदेव जी ने बताई. वे और धर्मवीर भारती एक ही ग्रुप में थे. तो पद्मा जी ने भी मेरी कुछ नज्में सुनी थीं. पद्मा जी ने लता मंगेशकर जी से मेरी तारीफ की थी. लता जी और यश जी भाई बहन की तरह थे. लता जी ने भी सजेस्ट किया यश जी को कि शायर दूसरा नहीं मिल रहा, तो जावेद से क्यों नहीं लिखवाते. तब यश जी मेरे पास आए. मैंने इनकार करने की बहुत कोशिश की, मगर उन्होंने मुझसे लिखवा ही लिया. फिर मुझे मजा आने लगा. और ऐसा वक्त भी आया कि स्क्रिप्ट लिखना पॉसिबल नहीं रहा. गाने लिखने में ही मसरूफ रहा. हालांकि, अब मैं वापस स्क्रिप्ट लिख रहा हूं. अभी-अभी दो खत्म की हैं.


लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

कौन हो तुम

'द्रविड़ ने बहुत नाजुक शब्दों से मुझे धराशायी कर दिया था'

'द्रविड़ ने बहुत नाजुक शब्दों से मुझे धराशायी कर दिया था'

रामचंद्र गुहा की किताब 'क्रिकेट का कॉमनवेल्थ' के कुछ अंश.

पहले स्पाइडरमैन टोबी मैग्वायर की कहानी, जिनका सबसे हिट रोल उनके लिए शाप बन गया

पहले स्पाइडरमैन टोबी मैग्वायर की कहानी, जिनका सबसे हिट रोल उनके लिए शाप बन गया

शुद्ध और असली स्पाइडरमैन टोबी मैग्वायर करियर ग्राफ़ बाद में गिरता ही चला गया.

10 साल पहले भी शाहरुख़ का समीर वानखेड़े से सामना हुआ था, समीर ने ठोका था तगड़ा जुर्माना

10 साल पहले भी शाहरुख़ का समीर वानखेड़े से सामना हुआ था, समीर ने ठोका था तगड़ा जुर्माना

जगह थी मुंबई एयरपोर्ट. अब दस साल बाद फिर से दोनों का नाम एक साथ सुर्ख़ियों में है.

'स्क्विड गेम' के प्लेयर नंबर 199 'अली' की कहानी, जिनके इंडियन होने ने सीरीज़ में एक्स्ट्रा मज़ा दिया

'स्क्विड गेम' के प्लेयर नंबर 199 'अली' की कहानी, जिनके इंडियन होने ने सीरीज़ में एक्स्ट्रा मज़ा दिया

अली का रोल करने वाले इंडियन एक्टर अनुपम त्रिपाठी का सलमान-शाहरुख़ कनेक्शन क्या है?

IPL का कित्ता ज्ञान है, ये क़्विज़ खेलकर चेक कल्लो!

IPL का कित्ता ज्ञान है, ये क़्विज़ खेलकर चेक कल्लो!

ईमानदारी से स्कोर भी बताते जाना. हम इंतज़ार करेंगे.

'मनी हाइस्ट' वाले प्रोफेसर की पूरी कहानी, जिनकी पत्नी ने कहा था, 'कभी फेमस नहीं हो पाओगे'

'मनी हाइस्ट' वाले प्रोफेसर की पूरी कहानी, जिनकी पत्नी ने कहा था, 'कभी फेमस नहीं हो पाओगे'

अलवारो मोर्टे ने वेटर तक का काम किया हुआ है. और एक वक्त तो ऐसा था कि बकौल उनके कैंसर से जान जाने वाली थी.

एक्टर शरत सक्सेना की कहानी, जिन्होंने 71 साल की उम्र में ज़बरदस्त बॉडी बनाकर सबको चौंका दिया

एक्टर शरत सक्सेना की कहानी, जिन्होंने 71 साल की उम्र में ज़बरदस्त बॉडी बनाकर सबको चौंका दिया

हीरो बनने आए शरत सक्सेना कैसे गुंडे का चमचा बनने पर मजबूर हुए?

'भीगे होंठ तेरे' वाले कुणाल गांजावाला आजकल कहाँ हैं?

'भीगे होंठ तेरे' वाले कुणाल गांजावाला आजकल कहाँ हैं?

एक वक़्त इंडस्ट्री में टॉप पर थे कुणाल और उनके गाने पार्टियों की जान हुआ करते थे.

राज कुंद्रा की पूरी कहानी, 18 की उम्र में शॉल बेचने से शुरुआत करने वाले राज यहां तक कैसे पहुंचे?

राज कुंद्रा की पूरी कहानी, 18 की उम्र में शॉल बेचने से शुरुआत करने वाले राज यहां तक कैसे पहुंचे?

IPL स्कैंडल, मॉडल्स के आरोप, अंडरवर्ल्ड कनेक्शंस के आरोप, एक्स वाइफ के इल्ज़ाम सब हैं इस कहानी में.

रिचर्ड ब्रैनसन: जिन्होंने पहले अंतरिक्ष के दर्शन करके जेफ बेजोस का मजा खराब कर दिया

रिचर्ड ब्रैनसन: जिन्होंने पहले अंतरिक्ष के दर्शन करके जेफ बेजोस का मजा खराब कर दिया

रिचर्ड ब्रेन्सन की कहानी, जहां भी गए तहलका मचा दिया.