Submit your post

Follow Us

लार टपकती तो पता चल जाता कि सुनील शेट्टी अब अन्हुआ सांड की तरह मारेगा

ना कजरे की धार, ना मोतियों के हार
ना कोई किया सिंगार, फिर भी कितनी सुन्दर हो , तुम कितनी सुन्दर हो….

फिल्म है मोहरा. एकदम मासूमियत से ये गाना गाता हुआ पैंट की जेब में हाथ डाले एक लड़का घूमता है. उसके दोनों अंगूठे जेब से बाहर निकले रहते हैं. फिल्म के अंत में ये लड़का मर जाता है. बिल्कुल शोले के बच्चन की तरह. और उसी अंदाज में लोगों के दिल पर छा जाता है. बाद में ये जेब से बाहर का अंगूठा इस लड़के का स्टाइल बन जाता है. जी हां, बात हो रही है सुनील शेट्टी की. आज माने 11 अगस्त को उनका बड्डे आता है.

ये वो दौर था जब अनिल कपूर, जैकी श्रॉफ और सनी देओल एक्शन हीरो के तौर पर बहुत बड़े हो गए थे. उनकी फीस बढ़ गई थी पर एक्शन वही था. एकदम देसी. शाहरुख़, सलमान और आमिर का अलग क्लास था. ऐसे में तीन नए लड़के आए थे: अजय देवगन, अक्षय कुमार और सुनील शेट्टी. इन तीनों में सुनील शेट्टी उस लड़के की तरह थे जो गली क्रिकेट के मैच से पहले अपनी छत से खड़ा शांत हो के देखते रहता है. कोई बुला ले तो ठीक, ना बुलाये तो वहीं से देखेगा. कोई शिकायत नहीं. बहुत ही तगड़ा, पर मासूम. आंखों में एक अजीब सी ठंडक. एक आम आदमी की शक्ल.

pdvd8_040816055612

पर लड़के में एक बात थी. सारे एक्शन हीरो उड़ के मारते थे, मुक्का नाक पर मारते थे. ये कहीं से भी मार सकता था. चकरी की तरह घूम के मारता था. बाकी जो हीरो थे, विलेन से मार खाने पर उनके खून निकलता था. जब ये लड़का मार खाता तो इसके लार टपकती थी. जब ये अंगूठे से लार पोंछता, जनता उत्तेजित हो जाती. अब मारेगा अन्हुआ सांड की तरह. फिर इसने कभी निराश भी नहीं किया. ‘आगाज़’ में जित्ती मार खाता है, उत्ती लाल मिर्च बदन में लपेटता है. लहरिया कट में चीखता है ‘आ ना…आ ना’ और दौड़ा-दौड़ा के मारता है.

भरोसा था कि सुनील शेट्टी सबको चहेट सकता है

वो वक़्त था जब खेमे बंटते थे हीरो के नाम पर. क्लियर कट था सब कुछ. ये हीरो अच्छा लगता है, ये नहीं. ये मौगा है, ये धांसू है. उस वक्त सुनील के नाम पर कोई नाक नहीं सिकोड़ता था. पर जब ये बात होती कि कौन एक्शन हीरो किसको पटक के मार सकता है तो सुनील सबके तारनहार थे. अक्षय और सनी ऐसे डिस्कशन में पहली पसंद होते थे. पर सुनील को लेकर आप आश्वस्त हो जाते थे कि मार नहीं पाएंगे, तो मार खायेंगे भी नहीं. फिर ये तय था कि अगर अपना लड़का भड़क गया तो किसी को भी पटक सकता है. इस भरोसे ने सुनील को दौड़ में बनाये रखा.

maxresdefault (1)

मैं तुम्हें भूल जाऊं ये हो नहीं सकता…. और तुम मुझे भूल जाओ ये मैं होने नहीं दूंगा

‘दिलवाले’ में दोस्त के लिए अपने इश्क को भूल जाता है. बोलता है: ‘प्यार तो उसने किया, हमने तो बस दिल्लगी की’. यहीं पर उस वक़्त के आशिकों ने लड़के को दिल में बसा लिया. रोल-मॉडल हो गया था ये छोटे शहर के लड़कों का. रेडियो कान में लगाए सारे रोमियो मन में सुनील शेट्टी बनते थे.

more-wallpapers-sunil-shetty

धड़कन में ये पागल प्रेमी बन के आता है. ‘अंजलि, मैं तुम्हें भूल जाऊं ये हो नहीं सकता…. और तुम मुझे भूल जाओ ये मैं होने नहीं दूंगा.’ उस पागलपन में भी ये पब्लिक का दिल लूट ले गया. सबकी सहानुभूति इसके साथ थी. अक्षय कुमार इस फिल्म में सुनील के सामने बच्चे दिखे. हालांकि दोनों ने साथ में कुल बारह फ़िल्में की हैं. और अक्षय पर हर फिल्म में सुनील का रोल कटवाने का आरोप लगता रहा है. पर धड़कन में ये दांव चला नहीं था. ‘विलेन’ होने पर भी सुनील हीरो बन गए.

मोहब्बत और पागलपन का बहुत पुराना रिश्ता है

बॉर्डर में सुनील का ये धांसू डायलाग था. रेत में सोये रहने का काम सुनील पर ही फबा था. अंधाधुंध गोलियां चल रही हैं. उनके बीच सुनील खड़े हैं. देखते-देखते वो पाकिस्तानी टैंक के सामने बम लेकर पहुंच जाते हैं. और वहां जब हंसते हैं तो जनता पागल हो उठती है.

border_040816060804

शरीफ आदमी का रोमांस

हाय हुक, हाय हुक से लेकर शहर की लड़की में सुनील ने नाचने की भरपूर कोशिश की. वो जमाना था एक्शन, रोमांस और गानों का. एक्शन में तो कोई इनका हाथ नहीं धरता था. पर मासूम पारिवारिक आदमी रोमांस कहां करता. हां, ये भी है कि सुनील ने अपनी फिल्मों में लड़कियां नहीं ‘छेड़ीं’ जो उस वक़्त हर फिल्म का अनिवार्य सीन हुआ करता था. तो ‘आंखों में बसे हो तुम’ गाने में लड़के ने अपना रोमांस भी दिखा ही दिया. शरीफ आदमी का रोमांस.

हर कलाकार से हम ‘महान’ और ‘परपिचुअल मोशन मशीन’ होने की उम्मीद नहीं कर सकते. करनी भी नहीं चाहिए. जो जैसा था, ठीक था. जितना किया, ठीक किया. तो 90 के दशक में सुनील शेट्टी का क्रेज बना था, साहब. और इस बात को भुलाया नहीं जा सकता.

सुनील शेट्टी को उनके जन्मदिन पर हार्दिक बधाई. सबको पता होना चाहिए कि सुनील शेट्टी आज भी उतने ही हैंडसम और जवान दीखते हैं जितना ‘बलवान’ के वक़्त थे.

suniel-shetty-athiya_040816060509
अपनी बेटी अथिया के साथ

क्या राम मंदिर के लिए शाहरुख खान ने पांच करोड़ रुपये डोनेट किए?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

कौन हो तुम

नेशनल हैंडलूम डे: और ये है चित्र देखो, साड़ी पहचानो वाली क्विज

कभी सोचा नहीं होगा कि लल्लन साड़ियों पर भी क्विज बना सकता है. खेलो औऱ स्कोर करो.

सौरव गांगुली पर क्विज़!

सौरव गांगुली पर क्विज़. अपना ज्ञान यहां चेक कल्लो!

कॉन्ट्रोवर्सियल पेंटर एमएफ हुसैन के बारे में कितना जानते हैं आप, ये क्विज खेलकर बताइये

एमएफ हुसैन की पेंटिंग और विवाद के बारे में तो गूगल करके आपने खूब जान लिया. अब ज़रा यहां कलाकारी दिखाइए.

'हिटमैन' रोहित शर्मा को आप कितना जानते हैं, ये क्विज़ खेलकर बताइए

आज 33 साल के हो गए हैं रोहित शर्मा.

क्विज़: खून में दौड़ती है देशभक्ति? तो जलियांवाला बाग के 10 सवालों के जवाब दो

जलियांवाला बाग कांड के बारे में अपनी जानकारी आप भी चेक कर लीजिए.

बजट का कितना ज्ञान है, ये क्विज़ खेलकर चेक कर लो!

कितना नंबर पाया, बताते हुए जाना. #Budget2020

संविधान के कितने बड़े जानकार हैं आप?

ये क्विज़ जीत लिया तो आप जीनियस हुए.

क्रिकेट के पक्के वाले फैन हो तो इस क्विज़ को जीतकर बताओ

कित्ता नंबर मिला, सच-सच बताना.

सलमान खान के फैन, इधर आओ क्विज खेल के बताओ

क्विज में सही जवाब देने वाले के लिए एक खास इनाम है.

QUIZ: देश के सबसे महान स्पोर्टसमैन को कितना जानते हैं आप?

आज इस जादूगर की बरसी है.