Submit your post

Follow Us

इस अमेरिकी बिल्डिंग में भाजपाई जाते हैं, कांग्रेसी नहीं, क्यों?

अमेरिका के शिकागो की एक बिल्डिंग में बीजेपी नेता श्रद्धा के साथ जाते हैं. कांग्रेसी कभी नहीं जाते. क्या है ये माजरा. बताया देश के कानून- न्याय और आईटी मंत्री रविशंकर प्रसाद ने. दी लल्लनटॉप से बातचीत करते हुए उन्होंने जवानी के दिनों के कई किस्से सुनाए. खेल की बातें कीं. किताबों की बातें कीं. और वकालत से जुड़ा एक लतीफा भी सुनाया.

प्रसाद बोले कि लड़कपन की सबसे तगड़ी याद तो यूनिवर्सिटी के दिनों की है. जल्दी ही संघ और फिर राजनीति से जुड़ गया. प्रसाद बोले, 1974 में जब लालू जी अध्यक्ष थे और सुशील मोदी महामंत्री, तब मैं सहायक मंत्री था यूनिवर्सिटी यूनियन में. मगर इससे हमारी उम्र में गड़बड़ मत करिएगा. लालू जी हमसे 10 साल बड़े हैं.

फिर प्रसाद ने जेल में पढ़ी हिंदी की एक चर्चित किताब का वाकया बताया. साथ ही अमेरिकी शहर की एक इमारत का किस्सा भी सुनाया.

देखें वीडियो:


ये भी पढ़ें:

वीडियो से हुआ खुलासा, सपा-कांग्रेस साथ लड़ेंगे यूपी चुनाव

 

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

कौन हो तुम

संविधान के कितने बड़े जानकार हैं आप?

ये क्विज़ जीत लिया तो आप जीनियस हुए.

क्रिकेट के पक्के वाले फैन हो तो इस क्विज़ को जीतकर बताओ

कित्ता नंबर मिला, सच-सच बताना.

सलमान खान के फैन, इधर आओ क्विज खेल के बताओ

क्विज में सही जवाब देने वाले के लिए एक खास इनाम है.

QUIZ: देश के सबसे महान स्पोर्टसमैन को कितना जानते हैं आप?

आज इस जादूगर की बरसी है.

चाचा शरद पवार ने ये बातें समझी होती तो शायद भतीजे अजित पवार धोखा नहीं देते

शुरुआत 2004 से हुई थी, 2019 आते-आते बात यहां तक पहुंच गई.

रिव्यू पिटीशन क्या होता है? कौन, क्यों, कब दाखिल कर सकता है?

अयोध्या पर फैसले के खिलाफ ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड रिव्यू पिटीशन दायर करने जा रहा है.

इन नौ सवालों का जवाब दे दिया, तब मानेंगे आप ऐश्वर्या के सच्चे फैन हैं

कुछ ऐसी बातें, जो शायद आप नहीं जानते होंगे.

अमिताभ बच्चन तो ठीक हैं, दादा साहेब फाल्के के बारे में कितना जानते हो?

खुद पर है विश्वास तो आ जाओ मैदान में.

‘ताई तो कहती है, ऐसी लंबी-लंबी अंगुलियां चुडै़ल की होती हैं’

एक कहानी रोज़ में आज पढ़िए शिवानी की चन्नी.

मोदी जी का बड्डे मना लिया? अब क्विज़ खेलकर देखो कितना जानते हो उनको

मितरों! अच्छे नंबर चइये कि नइ चइये?