Submit your post

Follow Us

जब द्रविड़ और गांगुली ने बनाई सबसे बड़ी पार्टनरशिप

साल 1999. वैसे तो वर्ल्ड कप अगले साल तय था लेकिन सदी का आखिरी वर्ल्ड कप होने की खातिर कुछ ढिलाई बरती गयी. तीसरे साल ही वर्ल्ड कप करवा दिया गया. सदी का आखिरी वर्ल्ड कप. अपने आप में भार लिए हुए एक वाक्य. हर कोई विजेता बनने की चाह लिए बल्ले घुमा रहा था. सदी का आखिरी वर्ल्ड कप विजेता बनने की चाह में. वर्ल्ड कप था भी वहां, जहां क्रिकेट के अंकुर फूटे थे. इंग्लैंड.

26 मई. इंडिया बनाम श्री लंका. एशियन सबकॉन्टिनेंट के दो लड़ाके. हथियारों से लैस. हथियार भी ऐसे वैसे नहीं. इधर सचिन, द्रविड़, गांगुली, प्रसाद और श्रीनाथ तो उधर जयसूर्या, अटापट्टू, डिसिल्वा, वास और मुरली. एक से एक बम. कब कौन फट पड़े मालूम नहीं. दोनों देशों के बीच राजनीतिक रिश्ते भी हलचल से भरे ही थे.

# अड़ गए गांगुली-द्रविड़

मैच का दिन. रणतुंगा ने टॉस जीता और अज़हर को बैटिंग करने के लिए कहा. चमिंडा वास ने उन्हें सही भी साबित किया. पहले ओवर की चौथी गेंद पर सदगोपन रमेश ने फ्लिक मारकर लेग साइड पर चौका हासिल किया. लेकिन अगली ही गेंद पर वास ने उन्हें बोल्ड कर दिया. ऑफ स्टम्प पर पड़ी गेंद और पड़ते ही सीधी हो चली. सदगोपन रमेश बॉल की ट्रेजेक्ट्री के हिसाब से मिडल स्टम्प पर डिफेंड करते पाए गए. बॉल ऑफ स्टम्प को चूमती मिली.

अब आना हुआ राहुल द्रविड़ का. राहुल द्रविड़. एक नाम जो कैरियर के शुरुआती दौर में वन-डे मैचों में मिस-फ़िट कहा जा रहा था. द्रविड़ ने उसके बाद सौरव गांगुली के साथ जो खेला वो खेल नहीं करतब था. कमाल. अचरज. उनका खेलना क्रिया नहीं विशेषण बन गया. ऐसा जिसे श्री लंका की टीम में खेलने वाला कोई भी प्लेयर शायद ही कभी भूल पायेगा. द्रविड़ और गांगुली की पार्टनरशिप. 318 रन. पहला विकेट गिरा 6 रन पर. अगला 324. पहला विकेट गिरा पहले ओवर में. अगला छियालिसवें ओवर में.

Image: StartSports
Image: StartSports

गेंद पूरी इनिंग्स में बल्ले पर आ रही थी. दरअसल ये दोनों इतना सटीक खेल रहे थे कि गेंद के पास बल्ले पे आने के सिवा और कोई ऑप्शन भी नहीं था. उस दिन द्रविड़ अपनी इमेज के उलट तेज़ खेल रहे थे. और गांगुली अपनी इमेज के उलट संभल कर. धीरे-धीरे दोनों ने इनिंग्स को बढ़ाया और एक वक्त पर जाकर श्री लंका की गेंदबाजी पर अधिकार जमा दिया. द्रविड़ ने इनिंग्स को गति दी और लगभग 100 के स्ट्राइक रेट से अपनी सेंचुरी पूरी की. साथ ही गांगुली ने 119 गेंद में अपना शतक जड़ा. सेंचुरी के बाद गांगुली प्रिन्स ऑफ़ कोलकाता बन पड़े. आगे बढ़ के छक्के और बेहतरीन ड्राइव्स. अगले 83 रन मात्र 39 गेंद में. ये वो दिन था जब मुरलीधरन ड्राइव खा रहे थे.

कर्णाटक और बंगाल की इस जोड़ी ने कई रिकॉर्ड बनाये और तोड़े. उस वक़्त पर ये 45 ओवर में 318 रन की पार्टनरशिप दुनिया में लिमिटेड ओवर क्रिकेट में सबसे बड़ी पार्टनरशिप थी. इसके पहले ये रिकॉर्ड था अजहरुद्दीन और जडेजा के बीच. 275 रन, ज़िम्बाब्वे. 1997-98 में. गांगुली ने 183 रन बनाये 158 बॉल में. उस वक़्त वर्ल्ड कप में बनाये गए स्कोर में ये सेकण्ड बेस्ट था, पहले नम्बर पर थे गैरी किर्स्टन. 188 रन, यूनाइटेड अरब अमीरात के खिलाफ़. इंडिया ने 373 रन बनाये थे. ये इंडिया का वर्ल्ड कप में सबसे बड़ा स्कोर था. इसके बाद 2007 वर्ल्ड कप में बरमूडा के खिलाफ़ 413 रन बनाये थे.


इंडिया के ख़िलाफ इतिहास रचने से पहले नेट्स पर मैच क्यों खेला ये जमाती?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

कौन हो तुम

धान खरीद के मुद्दे पर बीजेपी की नाक में दम करने वाले KCR की कहानी

धान खरीद के मुद्दे पर बीजेपी की नाक में दम करने वाले KCR की कहानी

KCR की बीजेपी से खुन्नस की वजह क्या है?

कौन हैं सीवान के खान ब्रदर्स, जिनसे शहाबुद्दीन की पत्नी को डर लगता है?

कौन हैं सीवान के खान ब्रदर्स, जिनसे शहाबुद्दीन की पत्नी को डर लगता है?

सीवान के खान बंधुओं की कहानी, जिन्हें शहाबुद्दीन जैसा दबदबा चाहिए था.

'द्रविड़ ने बहुत नाजुक शब्दों से मुझे धराशायी कर दिया था'

'द्रविड़ ने बहुत नाजुक शब्दों से मुझे धराशायी कर दिया था'

रामचंद्र गुहा की किताब 'क्रिकेट का कॉमनवेल्थ' के कुछ अंश.

पहले स्पाइडरमैन टोबी मैग्वायर की कहानी, जिनका सबसे हिट रोल उनके लिए शाप बन गया

पहले स्पाइडरमैन टोबी मैग्वायर की कहानी, जिनका सबसे हिट रोल उनके लिए शाप बन गया

शुद्ध और असली स्पाइडरमैन टोबी मैग्वायर करियर ग्राफ़ बाद में गिरता ही चला गया.

10 साल पहले भी शाहरुख़ का समीर वानखेड़े से सामना हुआ था, समीर ने ठोका था तगड़ा जुर्माना

10 साल पहले भी शाहरुख़ का समीर वानखेड़े से सामना हुआ था, समीर ने ठोका था तगड़ा जुर्माना

जगह थी मुंबई एयरपोर्ट. अब दस साल बाद फिर से दोनों का नाम एक साथ सुर्ख़ियों में है.

'स्क्विड गेम' के प्लेयर नंबर 199 'अली' की कहानी, जिनके इंडियन होने ने सीरीज़ में एक्स्ट्रा मज़ा दिया

'स्क्विड गेम' के प्लेयर नंबर 199 'अली' की कहानी, जिनके इंडियन होने ने सीरीज़ में एक्स्ट्रा मज़ा दिया

अली का रोल करने वाले इंडियन एक्टर अनुपम त्रिपाठी का सलमान-शाहरुख़ कनेक्शन क्या है?

IPL का कित्ता ज्ञान है, ये क़्विज़ खेलकर चेक कल्लो!

IPL का कित्ता ज्ञान है, ये क़्विज़ खेलकर चेक कल्लो!

ईमानदारी से स्कोर भी बताते जाना. हम इंतज़ार करेंगे.

'मनी हाइस्ट' वाले प्रोफेसर की पूरी कहानी, जिनकी पत्नी ने कहा था, 'कभी फेमस नहीं हो पाओगे'

'मनी हाइस्ट' वाले प्रोफेसर की पूरी कहानी, जिनकी पत्नी ने कहा था, 'कभी फेमस नहीं हो पाओगे'

अलवारो मोर्टे ने वेटर तक का काम किया हुआ है. और एक वक्त तो ऐसा था कि बकौल उनके कैंसर से जान जाने वाली थी.

एक्टर शरत सक्सेना की कहानी, जिन्होंने 71 साल की उम्र में ज़बरदस्त बॉडी बनाकर सबको चौंका दिया

एक्टर शरत सक्सेना की कहानी, जिन्होंने 71 साल की उम्र में ज़बरदस्त बॉडी बनाकर सबको चौंका दिया

हीरो बनने आए शरत सक्सेना कैसे गुंडे का चमचा बनने पर मजबूर हुए?

'भीगे होंठ तेरे' वाले कुणाल गांजावाला आजकल कहाँ हैं?

'भीगे होंठ तेरे' वाले कुणाल गांजावाला आजकल कहाँ हैं?

एक वक़्त इंडस्ट्री में टॉप पर थे कुणाल और उनके गाने पार्टियों की जान हुआ करते थे.