Submit your post

Follow Us

18 साल का वो लड़का जिसका अरसे से इंतजार था, आज इंडिया के लिए ओपनिंग कर रहा है

इंग्लैंड के खिलाफ आखिरी दो टेस्ट के लिए टीम इंडिया में शामिल हुए, मगर खेलने का मौका नहीं मिला. अब राजकोट में वेस्टइंडीज के खिलाफ आखिर वो मौका आ गया जब मुंबई का ये होनहार खिलाड़ी बल्ला लेकर उतर रहा है. नाम है पृथ्वी शॉ. 18 साल के इस ओपनर पर उम्मीदों के पहाड़ हैं.

मुंबई की क्रिकेट नर्सरी से पैदा इस लड़के ने इसी साल इंडिया की अंडर-19 टीम को वर्ल्ड कप में कप्तानी की और जीत दिलाई. इसके बाद से लग रहा है कि पृथ्वी शॉ सीनियर टीम में आने के एकदम तैयार हैं. तैयार इसलिए क्योंकि वर्ल्ड कप के बाद से शॉ ने इंडिया ए के लिए 10 मैच खेले हैं और 759 रन बना दिए हैं. इन 10 मैचों में 60 के औसत से शॉ ने 4 शतकों और दो अर्धशतक लगाए हैं. हाल ही में पृथ्वी शॉ की जबरदस्त परफॉर्मेंस देखते हुए सुनील गावस्कर ने कहा था कि ये खिलाड़ी अब इंडियन टीम में शामिल होने के लिए पूरी तरह तैयार है और आने वाले ऑस्ट्रेलिया दौरे में शॉ को टीम में शामिल किया जाना चाहिए. बात चल रही थी कि पृ्थ्वी को इंग्लैंड के खिलाफ आखिरी दो टेस्ट मैचों के लिए भी शामिल किया  जा सकता है जिसे अब बीसीसीआई की मुहर लग गई है.

5 साल की उम्र में क्रिकेट बल्ला थामने वाले पृथ्वी ने 2013 में तब सुर्खियां बटोरीं थी जब उनकी तुलना सचिन तेंडुलकर से होने लगी थी. पृथ्वी ने मुंबई में स्कूल क्रिकेट के फेमस हैसिस शील्ड टूर्नामेंट में खेलते हुए 546 रनों की पारी खेली थी. मुंबई में क्रिकेट के लिए मशहूर आजाद मैदान पर उस वक्त पृथ्वी की उम्र 14 साल थी. अपनी क्रिकेट जर्नी के बारे में क्रिकेट वेबसाइट क्रिकइंफो से बात करते हुए पृथ्वी कहते हैं,”मैं सुबह 4.30 बजे उठता था और बाहरी मुंबई के विरार इलाके से चर्चगेट मैच खेलने जाता था और फिर वहां से बांद्रा में स्कूल जाता था. कई बार इतना ट्रैवल करके जाता और जिस दिन मैच नहीं हो पाता था तो दिन भर मूड खराब रहता था.”

Prithvi Shaw1
पृथ्वी शॉ एक मैच्योर क्रिकेटर के तौर पर उभर रहे हैं.

अपनी 546 रनों की उस पारी को सबसे खास बताने वाले पृथ्वी ने 16 साल की उम्र में ही मुंबई रणजी टीम में जगह बना ली थी. साल 2016-17 में तमिलनाडु के खिलाफ रणजी सेमीफाइनल में पृथ्वी को बुलावा मिला और दूसरी पारी में 120 रनों की पारी खेल डाली. इस इंटरव्यू में अपनी स्ट्रेंथ के बारे में बताते हुए ये होनहार खिलाड़ी कहता है,” मुझे अपने शॉट्स खेलना पसंद है. चाहे मैच चार दिन का ही क्यों न हो. मैं लगातार रन में विश्वास रखता हूं और मेरी कोशिश ये रहती है कि स्कोरबोर्ड हमेशा चलता रहे. मगर ऐसा नहीं है कि जब कोई बॉलर खतरनाक स्पेल फेंक रहा हो तो भी मैं आक्रामक खेलूं, मैं लंबे मैचों में लूज गेंदों का इंतजार करता हूं.”

इंडिया ए के लिए खेलते हुए पृथ्वी शॉ ने चार मैच खेले जिसमें वेस्टइंडीज ए के खिलाफ 188, साउथ अफ्रीका ए के खिलाफ 136, लैंकेस्टरशायर के खिलाफ 132 और वेस्टइंडीज ए के खिलाफ 102 रनों की पारी खेली. इंग्लैंड में खेलने के अपने एक्सपीरियंस के बारे में पृथ्वी शॉ कहते हैं,” मैं पहली बार 12 साल की उम्र में इंग्लैंड गया था. उस वक्त क्रिकेट बीयॉन्ड बाउंड्रीज नाम का एक इवेंट था जहां मुझे मैन्चेस्टर जाने का मौका मिला था. उस वक्त मुझे अंग्रेजी नहीं आती थी और वहां मुझे बाते समझने और बोलने में दिक्कत आती थी. मगर मैं वहां 4 महीने रहा और इस बहाने अंग्रेजी भी समझ आने लगी.”

Shaw tons
लंबी पारियां खेलने में उस्ताद है पृथ्वी.

इंडिया अंडर-19 और इंडिया ए के कोच राहुल द्रविड़ ने शॉ के बारे में कहा है कि ये लड़का लगातार अपने गेम को सुधार रहा है. वहीं इस आईपीएल सीजन डेल्ही डेयरडेविल्स के लिए खेले शॉ के बारे में टीम के कोच रिकी पोंटिंग ने भी ऑन रिकॉर्ड कहा था कि पृथ्वी शॉ में एक खूब है कि उसे पता है किस गेंद पर शॉट मारनी है और किस गेंद पर डिफेंसिव होकर खेलना है. वहीं सुनील गावस्कर के ये कहने कि शॉ टीम इंडिया में शामिल होने के लिए तैयार हैं, खुद पृथ्वी शॉ कहते हैं,” मेरे एक दोस्त ने सोशल मीडिया पर चल रही इस खबर का एक स्कीनशॉट भेजा था. पढ़कर लगा कि मैं कितना खुशकिस्मत हूं कि सुनील गावस्कर ने मेरी तारीफ की. मेरी कोशिश रहेगी कि कभी भी उन्हें गलत साबित न होने दूं. बाकी हर एक मौके को आखिरी मान कर खेलने की कोशिश करता हूं. यही करता रहूंगा.”


Also Read

पृथ्वी को तेंडुलकर कह कर सीमित क्यों किया जाए?

टीम में बुमराह की वापसी हो रही है, मगर उमेश यादव का क्या होगा?

शिवनारायण चंद्रपॉल की आंखों के नीचे ये काली पट्टी क्यों होती थी?

विराट कोहली की टीम को इंग्लैंड में जीत का मंत्र अजीत वाडेकर दे गए हैं

अजीत वाडेकर, वो कप्तान जिसने दुनिया जीती अौर फिर खो दी

वीडियो भी देखें:

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

कौन हो तुम

'स्क्विड गेम' के प्लेयर नंबर 199 'अली' की कहानी, जिनके इंडियन होने ने सीरीज़ में एक्स्ट्रा मज़ा दिया

'स्क्विड गेम' के प्लेयर नंबर 199 'अली' की कहानी, जिनके इंडियन होने ने सीरीज़ में एक्स्ट्रा मज़ा दिया

अली का रोल करने वाले इंडियन एक्टर अनुपम त्रिपाठी का सलमान-शाहरुख़ कनेक्शन क्या है?

IPL का कित्ता ज्ञान है, ये क़्विज़ खेलकर चेक कल्लो!

IPL का कित्ता ज्ञान है, ये क़्विज़ खेलकर चेक कल्लो!

ईमानदारी से स्कोर भी बताते जाना. हम इंतज़ार करेंगे.

'मनी हाइस्ट' वाले प्रोफेसर की पूरी कहानी, जिनकी पत्नी ने कहा था, 'कभी फेमस नहीं हो पाओगे'

'मनी हाइस्ट' वाले प्रोफेसर की पूरी कहानी, जिनकी पत्नी ने कहा था, 'कभी फेमस नहीं हो पाओगे'

अलवारो मोर्टे ने वेटर तक का काम किया हुआ है. और एक वक्त तो ऐसा था कि बकौल उनके कैंसर से जान जाने वाली थी.

एक्टर शरत सक्सेना की कहानी, जिन्होंने 71 साल की उम्र में ज़बरदस्त बॉडी बनाकर सबको चौंका दिया

एक्टर शरत सक्सेना की कहानी, जिन्होंने 71 साल की उम्र में ज़बरदस्त बॉडी बनाकर सबको चौंका दिया

हीरो बनने आए शरत सक्सेना कैसे गुंडे का चमचा बनने पर मजबूर हुए?

'भीगे होंठ तेरे' वाले कुणाल गांजावाला आजकल कहाँ हैं?

'भीगे होंठ तेरे' वाले कुणाल गांजावाला आजकल कहाँ हैं?

एक वक़्त इंडस्ट्री में टॉप पर थे कुणाल और उनके गाने पार्टियों की जान हुआ करते थे.

राज कुंद्रा की पूरी कहानी, 18 की उम्र में शॉल बेचने से शुरुआत करने वाले राज यहां तक कैसे पहुंचे?

राज कुंद्रा की पूरी कहानी, 18 की उम्र में शॉल बेचने से शुरुआत करने वाले राज यहां तक कैसे पहुंचे?

IPL स्कैंडल, मॉडल्स के आरोप, अंडरवर्ल्ड कनेक्शंस के आरोप, एक्स वाइफ के इल्ज़ाम सब हैं इस कहानी में.

रिचर्ड ब्रैनसन: जिन्होंने पहले अंतरिक्ष के दर्शन करके जेफ बेजोस का मजा खराब कर दिया

रिचर्ड ब्रैनसन: जिन्होंने पहले अंतरिक्ष के दर्शन करके जेफ बेजोस का मजा खराब कर दिया

रिचर्ड ब्रेन्सन की कहानी, जहां भी गए तहलका मचा दिया.

'सिंघम' IPS से तमिलनाडु BJP के सबसे युवा अध्यक्ष बने अन्नामलाई की कहानी

'सिंघम' IPS से तमिलनाडु BJP के सबसे युवा अध्यक्ष बने अन्नामलाई की कहानी

पहला चुनाव हार गए थे, बीजेपी ने राज्य की जिम्मेदारी सौंपी है.

'तड़प-तड़प के' जैसा प्रेमियों का ब्रेकअप एंथम देने वाले सिंगर के के आजकल कहां हैं?

'तड़प-तड़प के' जैसा प्रेमियों का ब्रेकअप एंथम देने वाले सिंगर के के आजकल कहां हैं?

उनके गाए 'पल' गाने के बगैर आज भी किसी कॉलेज का फेयरवेल पूरा नहीं होता.

कर लिया योगा? अब क्विज खेलने से होगा

कर लिया योगा? अब क्विज खेलने से होगा

आन्हां, ऐसे नहीं कि योग बस किए, दिखाना पड़ेगा कि बुद्धिबल कित्ता बढ़ा.