Submit your post

Follow Us

पानीपत ट्रेलर: अर्जुन कपूर की अगली फिल्म, जिसका ट्रेलर देखकर चर्चा रणवीर सिंह की हो रही है

5
शेयर्स

आज कल पीरियड फिल्में यानी पुरानी ऐतिहासिक घटनाओं पर फिल्में बनाने का चलन है. संजय लीला भंसाली ने तो इस तरह की लगातार इतनी फिल्में बना दी कि मेनस्ट्रीम का हिस्सा ही बना दिया. मेनस्ट्रीम कहने से हमारा मतलब है कि आने वाले दिनों में करण जौहर जैसा फिल्ममेकर भी ‘तख्त’ बना रहा है. खैर, भटकाव से बचते हैं और ‘पानीपत’ की ओर चलते हैं. ‘पानीपत’ यानी वॉर बेस्ड एक और पीरियड फिल्म, जिसे उस आदमी ने बनाया है, जिसे हिस्ट्री की किताबों से बेइंतेहा प्यार है. आज अचानक से इस फिल्म की बात इसलिए चल निकली क्योंकि फिल्म ‘पानीपत’ का धांसू सा ट्रेलर आया है. ट्रेलर में क्या है, ये हम नीचे जानेंगे.

फिल्म की कहानी

ये फिल्म पानीपत के तीसरे युद्ध की कहानी बताएगी, जो 1761 में हुआ था. मोटा-मोटी कहानी ये है कि मराठा साम्राज्य अपने चरम पर था. हिंदुस्तान में ऐसा कोई नहीं था, जो उन्हें चैलेंज कर सके. लेकिन तभी अफगानिस्तानी शासक अहमद शाह अब्दाली भारत आता है, जो मराठों को खत्म कर हिंदुस्तान पर राज़ करना चाहता है. अब्दाली की सेना को पीछे हटाने के लिए मराठों का कमांडर-इन-चीफ सदाशिव राव भाउ निकलता है. अहमद शाह अब्दाली और सदाशिव राव की सेनाएं पानीपत के मैदान में एक-दूसरे सामने आती हैं. और फाइनली सदाशिव राव यानी मराठों की सेना की इस युद्ध में हार होती है. ये वो कहानी है, जो ट्रेलर में हमें देखने को मिली है. लेकिन इस फिल्म का जोर धोखे पर है, जो इस युद्ध में मराठों के साथ हुआ था. वो क्या था, अगर वो भी अभी ही बता देंगे, तो फिल्म देखने का मज़ा खत्म जाएगा.

फिल्म के एक सीन में अब्दाली की सेना से लोहा लेने के लिए तैयार सदाशिव राव भाउ की सेना.
फिल्म के एक सीन में अब्दाली की सेना से लोहा लेने के लिए तैयार सदाशिव राव भाउ की सेना.

ट्रेलर कैसा है?

‘पानीपत’ का ट्रेलर पहली बार में देखने पर ऐसा लगता है जैसे रणवीर सिंह के दो अलग-अलग किरदारों को एक ही फिल्म में डाल दिया गया है. ‘बाजीराव मस्तानी’ का बाजीराव और ‘पद्मावत’ का खिलजी. फिल्म के एक डायलॉग में भी ‘बाजीराव मस्तानी’ का रेफरेंस आता है. हालांकि ये फैक्चुअली इनकरेक्ट नहीं है क्योंकि बाजीराव की जो कहानी हमने देखी है, वो ‘पानीपत’ की कहानी से पहले घटी थी. आशुतोष गोवारिकर, संजय लीला भंसाली से पहले कई पीरियड फिल्में बना चुके थे. लेकिन पीरियड फिल्मों को पॉप कल्चर का हिस्सा भंसाली और रणवीर की जुगलबंदी ने बनाया. ऐसे में हम न चाहते हुए भी दोनों फिल्ममेकर्स की तुलना करने से नहीं बच पा रहे. और इस फिल्म में तो रणवीर के बेस्ट फ्रेंड और कंपटीटर काम कर रहे हैं, ऐसे में कंपैरिज़न एक्टिंग परफॉर्मेंस में भी होना लाज़मी है. दिखने में तो ये फिल्म शानदार लग रही है लेकिन इसमें भी अब्दाली का (यानी नेगेटिव) किरदार कहानी और परफॉर्मेंस दोनों ही मामलों में सदाशिव राव भाउ पर भारी पड़ता दिखाई दे रहा है. बाकी फिल्म का ट्रेलर ऐसा कुछ नहीं है, जो हमने नहीं देखा है. लेकिन सुनने यानी कहानी के लेवल पर ये ऑब्वियसली नई है. फिल्म उम्मीदें तो जगा रही है लेकिन कांटा किसी भी ओर झुक सकता है.

अफगानिस्तानी शासक अहमद शाह अब्दाली के किरदार में संजय दत्त. ट्रेलर देखने के बाद दत्त से उम्मीदें बढ़ सी गई हैं.
अफगानिस्तानी शासक अहमद शाह अब्दाली के किरदार में संजय दत्त. ट्रेलर देखने के बाद दत्त से उम्मीदें बढ़ सी गई हैं.

कौन-कौन काम कर रहा है?

फिल्म में सदाशिव राव भाउ यानी मराठों के सेनापति का रोल कर रहे हैं अर्जुन कपूर. ये अर्जुन के करियर की पहली पीरिडय फिल्म है, जो असल घटनाओं से प्रेरित है. ‘इंडियाज़ मोस्ट वॉन्टेड’ पीरियड फिल्म नहीं थी और ‘गुंडे’ रियल स्टोरी पर बेस्ड नहीं थी. उनके सामने अहमद शाह अब्दाली के किरदार में संजय दत्त दिखाई दे रहे हैं. संजय का करियर बहुत लंबा-चौड़ा रहा है. बहुत सारी फिल्में. ढेरों किरदार. लेकिन ये कुछ अलग है, जो याद रखा जाएगा. सदाशिव राव भाउ की दूसरी पत्नी पार्वती बाई के रोल में हमें कृति सैनन नज़र आएंगी. कृति अभी हाल ही में ‘हाउसफुल 4’ में भी एक राजकुमारी के किरदार में दिखाई दी थीं. लेकिन ट्रेलर देखकर अंदाज़ा ये लग रहा है कि कृति के किरदार की लंबाई उनकी खुद की लंबाई से भी छोटी होने वाली है. साथ में मोहनिश बहल, पद्मिनी कोल्हापुरे, कुणाल कपूर, सुहासिनी मूले और जीनत अमान जैसे एक्टर्स भी इस फिल्म का हिस्सा हैं.

मराठों के सेनापति सदाशिव राव भाउ के रोल में अर्जुन कपूर.
मराठों के सेनापति सदाशिव राव भाउ के रोल में अर्जुन कपूर. ट्रेलर में अर्जुन की डायलॉग डिलीवरी थोड़ी खटक रही है.

किन्होंने बनाई है?

आशुतोश गोवारिकर ने. इनका नाम आप ऊपर पढ़ चुके हैं लेकिन इनकी फिल्मों के बारे में हम यहां बात करेंगे. आशुतोष ने अपने करियर की शुरुआत एक्टर के तौर पर की थी. वो आमिर खान के साथ केतन मेहता की ‘होली’ में दिखाई दिए थे. कई फिल्मों और टीवी सीरियल्स में छोटे-बड़े रोल्स करने के बाद 1993 में उन्होंने बतौर डायरेक्टर अपने करियर की शुरुआत की. फिल्म थी ‘पहला नशा’. एकमात्र फिल्म, जिसमें शाहरुख और आमिर खान एक साथ नज़र आए हैं. खैर, फिल्म फिर भी नहीं चली. उसके बाद 1995 में आशु ने आमिर को लेकर ‘बाज़ी’ नाम की फिल्म बनाई. बात फिर से नहीं बनी. इसके 6 साल बाद आशुतोष ने आमिर खान को लेकर एक कोशिश और की. और इस बार वो सीधे ऑस्कर (बेस्ट फॉरन फिल्म कैटेगरी) में नॉमिनेशन पा गए. फिल्म थी ‘लगान’ (2001). इसके बाद उन्होंने शाहरुख के साथ ‘स्वदेश’ (2004) बनाई. फिर ऋतिक रौशन के साथ ‘जोधा अकबर’ (2008). इसके बाद कुछ आसानी से भुलाई जा सकने वाली फिल्मों (व्हाट्स योर राशी और खेलें हम जी जान से) के बाद वो अपनी मैग्नम ओपस ‘मोहनजोदड़ो’ (2016) लेकर आए. लेकिन ऋतिक रौशन का स्टारडम भी इस फिल्म की नैया को पार नहीं लगा पाया. अब वही आशुतोष गोवारिकर ‘पानीपत’ ला रहे हैं.

अपनी पत्नी पार्वती बाई के साथ सदाशिव राव. फिल्म में पार्वती बाई का रोल कृति सैनन ने किया है.
अपनी पत्नी पार्वती बाई के साथ सदाशिव राव. 

कब आ रही है?

‘पानीपत’ की शूटिंग 30 नवंबर, 2018 को शुरू हुई और 30 जून, 2019 को खत्म हो गई. फिल्म के अधिकतर हिस्से को मुंबई और आसपास के इलाकों में ही फिल्माया गया है. फिल्म की शूटिंग के लिए करजत के एनडी स्टूडियोज़ में शानदार शनिवार वाड़ा का सेट बनवाया गया है, जहां फिल्म का बड़ा हिस्सा शूट हुआ है. फिल्म की रिलीज़ डेट 6 दिसंबर, 2019 बताई जा रही है. इसी दिन कार्तिक आर्यन, भूमि पेडनेकर और अनन्या पांडे स्टारर ‘पति पत्नी और वो’ भी थिएटर्स में लग रही है.

पार्वती बाई के किरदार में फिल्म में कृति सैनन दिखाई देंगी.
पार्वती बाई के किरदार में फिल्म में कृति सैनन दिखाई देंगी.

‘पानीपत’ का ट्रेलर आप यहां देख सकते हैं:


वीडियो देखें: दबंग 3 ट्रेलर रिएक्शन: सलमान खान के फैंस के लिए ट्रीट लग रही है फिल्म

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

कौन हो तुम

क्रिकेट के पक्के वाले फैन हो तो इस क्विज़ को जीतकर बताओ

कित्ता नंबर मिला, सच-सच बताना.

सलमान खान के फैन, इधर आओ क्विज खेल के बताओ

क्विज में सही जवाब देने वाले के लिए एक खास इनाम है.

QUIZ: देश के सबसे महान स्पोर्टसमैन को कितना जानते हैं आप?

आज इस जादूगर की बरसी है.

संविधान के कितने बड़े जानकार हैं आप?

ये क्विज़ जीत लिया तो आप जीनियस हुए.

चाचा शरद पवार ने ये बातें समझी होती तो शायद भतीजे अजित पवार धोखा नहीं देते

शुरुआत 2004 से हुई थी, 2019 आते-आते बात यहां तक पहुंच गई.

रिव्यू पिटीशन क्या होता है? कौन, क्यों, कब दाखिल कर सकता है?

अयोध्या पर फैसले के खिलाफ ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड रिव्यू पिटीशन दायर करने जा रहा है.

इन नौ सवालों का जवाब दे दिया, तब मानेंगे आप ऐश्वर्या के सच्चे फैन हैं

कुछ ऐसी बातें, जो शायद आप नहीं जानते होंगे.

अमिताभ बच्चन तो ठीक हैं, दादा साहेब फाल्के के बारे में कितना जानते हो?

खुद पर है विश्वास तो आ जाओ मैदान में.

‘ताई तो कहती है, ऐसी लंबी-लंबी अंगुलियां चुडै़ल की होती हैं’

एक कहानी रोज़ में आज पढ़िए शिवानी की चन्नी.

मोदी जी का बड्डे मना लिया? अब क्विज़ खेलकर देखो कितना जानते हो उनको

मितरों! अच्छे नंबर चइये कि नइ चइये?