Submit your post

Follow Us

सुबह का भूला पाकिस्तान घर लौटने की सोच रहा है!

सुबह का भूला पाकिस्तान शायद शाम को घर आ रहा है. पाकिस्तान से आने वाली दस में से नौ खबरें बर्बाद होती हैं. मार-काट. धमाका. आतंकवाद. ऐसा ही सब. थोड़ा उन्नीस-बीस. मगर आज वहां से एक अच्छी खबर आई है.


हम एक लाइन में पाकिस्तान कहें और फिर बुद्ध का भी नाम लें. कैसा लगेगा आपको? आपके नजरिये के हिसाब से जमेगा नहीं शायद. मगर अपने मजहबी पागलपन के लिए बदनाम पाकिस्तान ने खुद बुद्ध को गले लगाया है. खुलेआम. सबके सामने. 1,700 साल पुरानी एक मूर्ति है. इतिहास की विरासत. अबतक गर्द खा रही थी. कोई नामलेवा नहीं था उसका. अब पाकिस्तान ने उसे सजा-धजाकर, एकदम करीने से लोगों के हवाले कर दिया है. मकसद है, इस्लाम के साथ-साथ बाकी धर्मों को भी जगह देना. इसके लिए पाकिस्तान ने जो इलाका चुना है, वो बहुत सही है. खैबर-पख्तूनख्वा. यहीं पर है हरिपुर. जहां ये जगह है. इस इलाके की नस-नस में इस्लामिक कट्टरता भरी पड़ी है. वैसे, इस फैसले के खिलाफ भी ‘मुर्दाबाद’ टाइप खूब नारे लग रहे हैं. मगर सरकार इस हाय-तौबा को तवज्जो नहीं दे रही.

खैबर पख्तूनख्वा का मौहाल बहुत खराब है. यहां इस्लामिक कट्टरपंथ हावी है. मुसलमानों के अलावा किसी को देखना ही नहीं चाहते. मुसलमानों में भी कई फाड़ हैं. बस सुन्नियों की पूछ है, बाकी मुसलमानों को मुसलमान तक नहीं मानते.
खैबर पख्तूनख्वा का मौहाल बहुत खराब है. यहां इस्लामिक कट्टरपंथ हावी है. मुसलमानों के अलावा किसी को देखना ही नहीं चाहते. मुसलमानों में भी कई फाड़ हैं. बस सुन्नियों की पूछ है, बाकी मुसलमानों को मुसलमान तक नहीं मानते.

बुद्ध के सोने के पोज वाली ये सबसे पुरानी मूर्ति है दुनिया में
ये मूर्ति थोड़ी खास है. इसमें बुद्ध सो रहे हैं. इस स्टाइल में इतनी पुरानी मूर्ति दुनिया में कोई और नहीं है. इसको पहले-पहल 1929 में खोजा गया था. फिर 88 साल यूं ही बीत गए. खुदाई पूरी करने की भी जहमत नहीं उठाई गई. खैर, देर आए दुरुस्त आए. अब खुदाई निपट चुकी है. बुद्ध की मूर्ति बाहर लाई जा चुकी है. संभालकर रख दी गई है. आने-जाने वाले अब इसे निहार सकेंगे. इतनी देर से ही सही, मगर अब पाकिस्तान ने इसे अपनी विरासत मान लिया है. पिछले कुछ समय से रह-रहकर पाकिस्तान थोड़े अच्छे काम कर रहा है. उसने अपने यहां रहने वाले अल्पसंख्यकों की सुध लेनी शुरू कर दी है. कुछ समय पहले कटास राज के हिंदू मंदिरों के भी दिन फिरे थे. उनकी शक्ल-सूरत संवारने का काम शुरू हुआ था.

ये है मुख्य स्तूप. अब इसे लोगों के लिए खोल दिया गया है.
ये है मुख्य स्तूप. अब इसे लोगों के लिए खोल दिया गया है.

पाकिस्तान में इतिहास और धर्म में ज्यादा फर्क नहीं है
पाकिस्तान में मनमर्जी का इतिहास है. इतिहास क्या है, धर्म का एक्सटेंशन कॉर्ड है एक तरह का. मुस्लिम हमलावरों से अपना इतिहास शुरू करते हैं. ताकि खुद को भारत से अलग कर सकें. मगर सच तो ये है नहीं. सच ये है कि इस पार और उस पार, दोनों ओर की मिट्टी का इतिहास एक ही है. भूगोल और राजनीति ने अब हमको बांट दिया. मगर इतिहास मां के पेट की गर्भ नाल है हमारी. जुड़ी हुई. जिस इलाके में ये बुद्ध की मूर्ति मिली, वहां कभी बौद्ध धर्म आबाद था. खूब फलता-फूलता हुआ. अशोका द ग्रेट. मौर्य खानदान का सबसे नामी राजा. ये करीब 2,300 साल पहले की बात है. कलिंग युद्ध के बाद अशोक ने अपनी जिंदगी और मौत, सब बौद्ध धर्म के हवाले कर दिया था. गद्दी पर तो नाम के लिए था. काम उसने बिल्कुल धर्म प्रचारकों वाला किया. उसके ही कर्म थे कि बौद्ध धर्म पाटलिपुत्र (बिहार) से यहां तक पहुंच गया था.

बौद्ध धर्म से जुड़ी कई शुरुआती और अहम जगहें पाकिस्तान और अफगानिस्तान में हैं. इस पूरे इलाके में बौद्ध धर्म को मानने वालों की काफी तादाद थी. मगर ये सब बहुत पहले की बात है. सदियों पहले की बात.
बौद्ध धर्म से जुड़ी कई शुरुआती और अहम जगहें पाकिस्तान और अफगानिस्तान में हैं. इस पूरे इलाके में बौद्ध धर्म को मानने वालों की काफी तादाद थी. मगर ये सब बहुत पहले की बात है. सदियों पहले की बात.

बड़े बुरे हालात हैं, तभी तो इतनी छोटी बात भी खबर बनती है
पाकिस्तान जब से बना, तब से पूरा फोकस इस्लाम पर ही रहा. बाकी धर्मों की कभी कोई औकात ही नहीं समझी गई. उनको सताना-मारना सब खूब होता है वहां. सरकारें भी इतनी छोटे दिल की हुईं कि कट्टरता के खिलाफ चोंच भी नहीं खोली. गैर-मुसलमानों से वास्ता रखना भी मुनासिब नहीं समझा गया. दो साल पहले एक बार नवाज शरीफ किसी दिवाली प्रोग्राम में गए थे. खूब बात हुई उसपर. हंगामा भी हुआ. अब इसी से सोच लीजिए कि उस पार क्या हाल है.


ये भी पढ़ें: 

भगवान बुद्ध की मूर्ति तोड़ते मुस्लिमों की इस तस्वीर की हकीकत क्या है?

अशोक से भी महान वो राजा, जिसे हिंदुस्तान ने भुला दिया

ओम पुरी को गाली देने वाले अपनी गाली चाट लेंगे, जब ये जानेंगे

हमारे सैनिकों को इस तरह फंसा उनसे इनफॉर्मेशन निकाल रहा है चीन

‘मैं अल्लाह के घर से चोरी कर रहा हूं, तुम कौन होते हो बीच में नाक घुसाने वाले’

पाकिस्तान में भारतीय कैदियों के साथ क्या होता है, रोंगटे खड़े कर देने वाली बात सामने आई


हिमाचल बॉर्डर पर भाजपा और कांग्रेस समर्थकों के बीच बहस देखिए

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

कौन हो तुम

'हिटमैन' रोहित शर्मा को आप कितना जानते हैं, ये क्विज़ खेलकर बताइए

आज 33 साल के हो गए हैं रोहित शर्मा.

क्विज़: खून में दौड़ती है देशभक्ति? तो जलियांवाला बाग के 10 सवालों के जवाब दो

जलियांवाला बाग कांड के बारे में अपनी जानकारी आप भी चेक कर लीजिए.

मधुबाला को खटका लगा हुआ था इस हीरोइन को दिलीप कुमार के साथ देखकर

एक्ट्रेस निम्मी के गुज़र जाने पर उनको याद करते हुए उनकी ज़िंदगी के कुछ किस्से

90000 डॉलर का कर्ज़ा उतारकर प्राइवेट जेट खरीद लिया था इस 'गैंबलर' ने

उस अमेरिकी सिंगर की अजीब दास्तां, जो बात करने के बजाए गाने में ज़्यादा कंफर्टेबल महसूस करता था

YES Bank शुरू करने वाले राणा कपूर कौन हैं, जिन्होंने नोटबंदी को 'मास्टरस्ट्रोक' बताया था

यस बैंक डूब रहा है.

सात साल पहले केजरीवाल ने वो बात कही थी जो आज वो ख़ुद नहीं सुनना चाहते

बरसों पुरानी इस बात की वजह से सोशल मीडिया पर घेर लिए गए हैं.

क्या भारत सरकार से पूछे बिना पाकिस्तान चली गई इंडियन कबड्डी टीम?

अब ढेरों खेल-तमाशा हो रहा है.

बजट का कितना ज्ञान है, ये क्विज़ खेलकर चेक कर लो!

कितना नंबर पाया, बताते हुए जाना. #Budget2020

संविधान के कितने बड़े जानकार हैं आप?

ये क्विज़ जीत लिया तो आप जीनियस हुए.

क्रिकेट के पक्के वाले फैन हो तो इस क्विज़ को जीतकर बताओ

कित्ता नंबर मिला, सच-सच बताना.