Submit your post

Follow Us

'हैकसॉ रिज़ः कहानी उस जिद्दी की जो सेना में रहा पर कभी गन नहीं उठाई

89वें एकेडमी पुरस्कार के विनर्स की घोषणा हो गई है. 'द लल्लनटॉप' ने दो महीने पहले प्रडिक्ट किया था और वे फिल्में टॉप विनर्स रहीं.

# Hacksaw Ridge

” डेसमंड डॉस अमेरिकन आर्मी में भर्ती होता है लेकिन ट्रेनिंग के दौरान वो हथियार उठाने से मना कर देता है. वो धार्मिक आदमी है और किसी की जान लेने को गलत मानता है. ट्रेनिंग के दौरान उसके सीनियर और साथी उसे मारते-पीटते हैं और उससे छुटकारा पाना चाहते हैं. हथियार उठाने का आदेश न मानने के लिए उसे जेल में डाल दिया जाता है. अंत में कोर्ट उसे बरी करती है और युद्ध में हथियार न कैरी करने की छूट देती है. वो चिकित्सा सहायक के तौर पर ताउम्र युद्धों में भाग लेता है लेकिन एक भी गोली नहीं चलाता. बल्कि वो विश्व युद्ध-2 के दौरान जापानी सेना से लड़ते हुए हैकसॉ रिज नाम की जगह पर 75 सैनिकों को मरने से बचाता है. “

‘हैकसॉ रिज’ असल कहानी है अमेरिकी सैनिक डॉस की जिन्होंने जीवन में कभी हथियार नहीं चलाया लेकिन हर युद्ध में गए ताकि दूसरों की जानें बचा सकें. अहिंसा के ऐसे बेजोड़ उदाहरण के कारण ये फिल्म 2016 से ही बड़े उत्साह का विषय रही है. इसे डायरेक्ट किया है मेल गिब्सन ने. गिब्सन ने इससे पहले ‘अपोकलिप्टो’, ‘ब्रेवहार्ट’ और ‘द पैशन ऑफ द क्राइस्ट’ जैसी फिल्में डायरेक्ट की थीं जिनका स्केल बहुत बड़ा था. उनकी हर फिल्म ज्यादातर दर्शकों ने बहुत पसंद की है.

डायरेक्टर मेल गिब्सन फिल्म के सेट पर.
डायरेक्टर मेल गिब्सन फिल्म के सेट पर.

गिब्सन नस्लभेदी टिप्पणियों, घरेलू हिंसा और समलैंगिकता पर अपने संकीर्ण विचारों के लिए चर्चा में रहे हैं. हॉलीवुड में भी उनकी इसे लेकर काफी किरकिरी हुई. वे शराब की लत से भी जूझते रहे हैं. लेकिन पिछले कुछ वक्त से वे सुधार के संकेत दिखा रहे हैं. उन्होंने दस साल बाद कोई फिल्म डायरेक्ट की है और ये ऐसा काम है जिसमें वे बेस्ट हैं. विवादों के परे उनकी फिल्म की प्रशंसा हो रही है.

हमने प्रडिक्ट किया था कि “बेस्ट फिल्म के अलावा गिब्सन को डायरेक्शन के लिए नामांकन मिल सकता है.” दोनों ही टॉप श्रेणियों में फिल्म नामांकित हुई.

फिल्म में डॉस का किरदार अदा करने वाले एंड्रयू गारफील्ड के बेस्ट एक्टर कैटेगरी में नामांकन का भी द लल्लनटॉप का पक्का अनुमान था जो सही निकला. वे ‘द अमेजिंग स्पाइडरमैन’, ‘द सोशल नेटवर्क’, ‘बॉय ए’ और ‘नैवर लेट मी गो’ जैसी फिल्मों के लिए जाने जाते हैं. ‘बॉय ए’ उनकी शुरुआती फिल्मों में से थी जिसके लिए उन्हें बेस्ट एक्टर का बाफ्टा मिला था. इस साल वे ‘हैकसॉ रिज’ के बेस्ट एक्टर का गोल्डन ग्लोब नामांकन पा चुके हैं. फिल्म में उनका अभिनय काफी मैच्योर है. पिछले साल उन्होंने डायरेक्टर मार्टिन स्कॉरसेज़ी की ‘साइलेंस’ भी की जो उनके करियर की अहम फिल्मों में होगी.

‘हैकसॉ रिज’ इसके अलावा फिल्म एडिटिंग, साउंड मिक्सिंग और साउंड एडिटिंग श्रेणियों में भी नॉमिनेट हुई है.

ऑस्कर्स-2017 में इसे दो जीत हासिल हुई.

बेस्ट एडिटिंग – जॉन गिलबर्ट
साउंड मिक्सिंग – कैविन ओ-कॉनेल, एंडी राइट, रॉबर्ट मैकेंजी और पीटर ग्रेस

89वें एकेडमी अवॉर्ड की अन्य फिल्मों के बारे में पढ़ेंः

लहू जमा देने वाली कठोर ‘मूनलाइट’ इसलिए बनी ऑस्कर-2017 की बेस्ट फिल्म!
ऑस्कर-2017 में सबसे ज्यादा अवॉर्ड जीती है फिल्म ‘ला ला लैंड’
मैनचेस्टर बाय द सी: इस बार बेस्ट एक्टर इस फिल्म में से चुना गया
‘हैकसॉ रिज़ः कहानी उस जिद्दी की जो सेना में रहा पर कभी गन नहीं उठाई
‘अराइवल’ ने भी जीता ऑस्करः ऐसी एलियन मूवी अभी तक नहीं बनी है
फेंसेज़: इस फिल्म के लिए वायोला डेविस को बेस्ट एक्ट्रेस का ऑस्कर मिला है
हैल ऑर हाई वॉटरः दो निराश लुटेरों की ये कहानी 2016 की मस्ट वॉच इंडी मूवी है!
लविंगः दो प्रेमियों की कहानी जिनकी वजह से कानून को बदलना पड़ा!
ऑस्कर-2017 की फिल्मेंः ‘नॉक्टर्नल एनिमल्स’ – हम ज़हरीले जानवर हैं
फ्लोरेंस फॉस्टर जेनकिन्स: अवॉर्ड न मिला पर ऑस्कर इवेंट के केंद्र में ये एक्ट्रेस थी
लॉयनः 6 ऑस्कर से नामांकित रही इस फिल्म में देव पटेल भी हैं, नवाजुद्दीन भी!

 

(* ये खबर जनवरी के शुरू में प्रकाशित हुई थी. पहले ऑस्कर नॉमिनेशंस और फिर 27 फरवरी को ऑस्कर के विनर्स घोषित होने के बाद इसे संपादित किया गया है. )

Also Read:
ऑस्कर-2017 को होस्ट करेगा ये सेलेब्रिटी, स्वागत नहीं करेंगे इनका!
ऑस्कर जाने वाली फिल्मों को सरकार 1 करोड़ का खर्चा देगी लेकिन ये चंदा कम पड़ेगा

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

कौन हो तुम

संविधान के कितने बड़े जानकार हैं आप?

ये क्विज़ जीत लिया तो आप जीनियस हुए.

क्रिकेट के पक्के वाले फैन हो तो इस क्विज़ को जीतकर बताओ

कित्ता नंबर मिला, सच-सच बताना.

सलमान खान के फैन, इधर आओ क्विज खेल के बताओ

क्विज में सही जवाब देने वाले के लिए एक खास इनाम है.

QUIZ: देश के सबसे महान स्पोर्टसमैन को कितना जानते हैं आप?

आज इस जादूगर की बरसी है.

चाचा शरद पवार ने ये बातें समझी होती तो शायद भतीजे अजित पवार धोखा नहीं देते

शुरुआत 2004 से हुई थी, 2019 आते-आते बात यहां तक पहुंच गई.

रिव्यू पिटीशन क्या होता है? कौन, क्यों, कब दाखिल कर सकता है?

अयोध्या पर फैसले के खिलाफ ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड रिव्यू पिटीशन दायर करने जा रहा है.

इन नौ सवालों का जवाब दे दिया, तब मानेंगे आप ऐश्वर्या के सच्चे फैन हैं

कुछ ऐसी बातें, जो शायद आप नहीं जानते होंगे.

अमिताभ बच्चन तो ठीक हैं, दादा साहेब फाल्के के बारे में कितना जानते हो?

खुद पर है विश्वास तो आ जाओ मैदान में.

‘ताई तो कहती है, ऐसी लंबी-लंबी अंगुलियां चुडै़ल की होती हैं’

एक कहानी रोज़ में आज पढ़िए शिवानी की चन्नी.

मोदी जी का बड्डे मना लिया? अब क्विज़ खेलकर देखो कितना जानते हो उनको

मितरों! अच्छे नंबर चइये कि नइ चइये?