Submit your post

Follow Us

नूर : हिटलर की जासूसी करने वाली टीपू सुल्तान की शहज़ादी

ब्रिटेन में एक कांसे की मूर्ति लगी है, जिसके बारे में कहा जाता है कि ब्रिटेन में लगी ये मूर्ति किसी मुस्लिम या एशियाई महिला की पहली मूर्ति है. मूर्ति है नूर इनायत खान की. द्वितीय विश्वयुद्ध के दौर की सबसे बहादुर औरतों में से एक. टीपू सुल्तान की खानदानी शहज़ादी. नूर को हिटलर के खिलाफ जासूसी करने के लिए जाना जाता है.

नूर की मां अमीना बेगम, टीपू सुल्तान के खानदान से थीं और वालिद हज़रत इनायत खां यूरोप में सूफी संगीतकार थे. 1914 में पैदा हुई नूर 6 साल की उम्र में परिवार के साथ पेरिस में रहने चली गईं. नूर की फ्रेंच लैंग्वेज बहुत अच्छी थी. 1939 में नूर की जातक कथाओं की किताब लंदन में छपी. 1940 में फ्रांस में जर्मनी की हुकूमत चलने लगी तो खानदान लंदन में रहने चला गया.

1943 में नूर को SEO (स्पेशल ऑपरेशन एक्ज़िक्यूटिव) के फ्रेंच सेक्शन के लिए नर्स के तौर पर जासूसी करने के लिए चुना गया. नाम मिला नोरा बेकर. उनकी ट्रेनिंग पूरी होने से पहले ही ब्रिटिशर्स के पास जासूसों की कमी हो गई. नूर की ट्रेनिंग अधूरी थी, मगर उनकी फ्रेंच पर पकड़ और वायरलेस चलाने की महारत दो ऐसी चीज़ें थी जिसकी वजह से नूर बाकी जासूसों से ज़्यादा काम की थीं. नूर अधूरी ट्रेनिंग के साथ ही पेरिस गईं.

Noor_passport
नूर का पासपोर्ट

पेरिस पहुंचने के अगले महीने ही जर्मन्स ने वायरलेस ऑपरेटर्स के पूरे नेटवर्क को पकड़ लिया और नूर नाज़ी शासन वाले फ्रांस में अकेली वायरलेस ऑपरेटर रह गईं. ब्रिटेन ने उनसे वापस आने को कहा मगर नूर ने मना कर दिया. एक-एक करके ब्रिटेन का पूरा जासूसी नेटवर्क गिरफ्तार हो गया. नूर का हुलिया भी जर्मन्स के पास पहुंच गया. मगर नूर अकेली ही मैसेज भेजती रहीं. एक जगह से अगर 20 मिनट तक ट्रांसमिशन होता तो भेजनेवाले की लोकेशन पता चल जाती. नूर पार्क और ट्राम जैसी जगहों से लोकेशन बदल-बदल कर संदेश भेजती रहतीं.

अक्टूबर 1943 में नूर को पकड़ लिया गया. गिल्बर्ट कोडनेम वाले एक डबल एजेंट ने नूर की मुखबिरी की. इसके पीछे कुछ कहानियां रिश्वत को वजह बताती हैं तो कुछ का इशारा प्रेम त्रिकोण की तरफ भी होता है. नूर को गिरफ्तार करने के बाद एक महीने तक पूछताछ होती रही. इस दौरान उन्हें टॉर्चर करने के कोई सबूत नहीं मिलते हैं. नूर ने कोई जानकारी नहीं दी मगर उनकी डायरी जर्मन्स के हाथ लग गई. इसके चलते तीन और एजेंट पकड़े गए. साथ ही नूर के कोड संदेशों की नकल करके फर्जी संदेश लंदन भेजे जाने लगे. कुछ दिन तक ऊहापोह की स्थिति रही फिर ब्रिटेन ने मान लिया कि नूर की हत्या हो चुकी है.

noor
अलग-अलग भेस में नूर

रिकॉर्ड कहते हैं कि नूर बेहद ज़िद्दी थीं. 25 नवंबर को अपने साथ दो और एजेंट्स को लेकर भाग निकलीं मगर पकड़ी गईं. साथ ही साफ कर दिया कि मौका मिलने पर दुबारा भागेंगी. नूर को जर्मनी भेज दिया गया. वहां बेहद खतरनाक कैदी करार देते हुए 10 महीनों तक हथकड़ी और बेड़ी लगाकर सबसे अलग एक कोठरी में रखा गया. जंग खत्म होने के बाद जेलर ने बताया कि नूर सबसे परेशान करने वाले कैदियों में से एक थी. पूरे दिन खामोश रहती, कोई भी इन्फॉर्मेशन कभी नहीं दी बस रात में रोती. तमाम बंदिशों के बाद भी नूर ने कप के नीचे अपना नाम खोद कर ब्रिटेन तक संदेश भेज दिया कि वो अभी ज़िंदा हैं.

article-0-15EB7560000005DC-592_634x720
नूर की लंदन में लगी मूर्ति

सितंबर 1944 में नूर को डाउशे कसंट्रेशन कैंप में ले जाया गया, जहां 13 तारीख को उन्हें गोली मार दी गई. मारने से पहले नूर को बुरी तरह पीटा गया. नूर के मुंह से निकला आखिरी लफ्ज़ था लिबरेटे जिसका फ्रेंच में मतलब होता है आज़ादी.

नूर को मरणोपरांत जॉर्ज क्रॉस मिला जो गैर सैनिकों के लिए बहादुरी का सबसे बड़ा सम्मान होता है. बाद में नूर पर कई किताबें लिखी गईं, डॉक्युमेंट्री बनीं, स्टैम्प जारी किया गया. नूर पर बायोपिक भी बनी है उसका ट्रेलर देखिए.

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

कौन हो तुम

'मनी हाइस्ट' की खतरनाक इंस्पेक्टर अलिशिया, जिन्होंने असल में भी मीडिया के सामने उत्पात किया था

'मनी हाइस्ट' की खतरनाक इंस्पेक्टर अलिशिया, जिन्होंने असल में भी मीडिया के सामने उत्पात किया था

सब सही होता तो, टोक्यो या मोनिका में से एक रोल करती नजवा उर्फ़ अलिशिया.

कहानी 'मनी हाइस्ट' वाली नैरोबी की, जिन्होंने कभी इंडियन लड़की का किरदार करके धूम मचा दी थी

कहानी 'मनी हाइस्ट' वाली नैरोबी की, जिन्होंने कभी इंडियन लड़की का किरदार करके धूम मचा दी थी

जानिए क्या है नैरोबी उर्फ़ अल्बा फ्लोरेस का इंडियन कनेक्शन और कौन है उनका फेवरेट को-स्टार?

10 साल पहले भी शाहरुख़ का समीर वानखेड़े से सामना हुआ था, समीर ने ठोका था तगड़ा जुर्माना

10 साल पहले भी शाहरुख़ का समीर वानखेड़े से सामना हुआ था, समीर ने ठोका था तगड़ा जुर्माना

जगह थी मुंबई एयरपोर्ट. अब दस साल बाद फिर से दोनों का नाम एक साथ सुर्ख़ियों में है.

'स्क्विड गेम' के प्लेयर नंबर 199 'अली' की कहानी, जिनके इंडियन होने ने सीरीज़ में एक्स्ट्रा मज़ा दिया

'स्क्विड गेम' के प्लेयर नंबर 199 'अली' की कहानी, जिनके इंडियन होने ने सीरीज़ में एक्स्ट्रा मज़ा दिया

अली का रोल करने वाले इंडियन एक्टर अनुपम त्रिपाठी का सलमान-शाहरुख़ कनेक्शन क्या है?

IPL का कित्ता ज्ञान है, ये क़्विज़ खेलकर चेक कल्लो!

IPL का कित्ता ज्ञान है, ये क़्विज़ खेलकर चेक कल्लो!

ईमानदारी से स्कोर भी बताते जाना. हम इंतज़ार करेंगे.

'मनी हाइस्ट' वाले प्रोफेसर की पूरी कहानी, जिनकी पत्नी ने कहा था, 'कभी फेमस नहीं हो पाओगे'

'मनी हाइस्ट' वाले प्रोफेसर की पूरी कहानी, जिनकी पत्नी ने कहा था, 'कभी फेमस नहीं हो पाओगे'

अलवारो मोर्टे ने वेटर तक का काम किया हुआ है. और एक वक्त तो ऐसा था कि बकौल उनके कैंसर से जान जाने वाली थी.

एक्टर शरत सक्सेना की कहानी, जिन्होंने 71 साल की उम्र में ज़बरदस्त बॉडी बनाकर सबको चौंका दिया

एक्टर शरत सक्सेना की कहानी, जिन्होंने 71 साल की उम्र में ज़बरदस्त बॉडी बनाकर सबको चौंका दिया

हीरो बनने आए शरत सक्सेना कैसे गुंडे का चमचा बनने पर मजबूर हुए?

'भीगे होंठ तेरे' वाले कुणाल गांजावाला आजकल कहाँ हैं?

'भीगे होंठ तेरे' वाले कुणाल गांजावाला आजकल कहाँ हैं?

एक वक़्त इंडस्ट्री में टॉप पर थे कुणाल और उनके गाने पार्टियों की जान हुआ करते थे.

राज कुंद्रा की पूरी कहानी, 18 की उम्र में शॉल बेचने से शुरुआत करने वाले राज यहां तक कैसे पहुंचे?

राज कुंद्रा की पूरी कहानी, 18 की उम्र में शॉल बेचने से शुरुआत करने वाले राज यहां तक कैसे पहुंचे?

IPL स्कैंडल, मॉडल्स के आरोप, अंडरवर्ल्ड कनेक्शंस के आरोप, एक्स वाइफ के इल्ज़ाम सब हैं इस कहानी में.

रिचर्ड ब्रैनसन: जिन्होंने पहले अंतरिक्ष के दर्शन करके जेफ बेजोस का मजा खराब कर दिया

रिचर्ड ब्रैनसन: जिन्होंने पहले अंतरिक्ष के दर्शन करके जेफ बेजोस का मजा खराब कर दिया

रिचर्ड ब्रेन्सन की कहानी, जहां भी गए तहलका मचा दिया.