Submit your post

Follow Us

मुजफ्फरपुर रेप केस में जिन मंत्री के पति का नाम आया है, वो हर घाट का पानी पिए हैं

बिहार के मुजफ्फरपुर में बालिका गृह में 34 बच्चियों के साथ रेप के मामले में रोज कुछ न कुछ खुलासे हो रहे हैं. मगर फिलहाल सबसे ज्यादा चर्चा एक नाम की है. चंदेश्वर वर्मा की. वो इसलिए क्योंकि चंदेश्वर बिहार की समाज कल्याण मंत्री मंजू वर्मा के पति हैं. उनका नाम भी इस मामले में आ गया है. आरोप लगाया है गिरफ्तार बाल कल्याण समिति के सदस्य रवि रोशन की पत्नी शिभा ने. उनका कहना है कि चंदेश्वर वर्मा भी बालिका गृह में आते-जाते थे. जिस दौरान वह बालिका गृह में जाते थे, अधिकारियों को बालिका गृह के नीचे ही रोक दिया जाता था. ये आरोप इसलिए और गहरा गया है क्योंकि लड़कियों ने भी अपने बयान में बताया था कि एक बडे़ पेट वाले नेता जी आते थे. शिभा के इन आरोपों ने बिहार सरकार और मंत्री मंजू वर्मा की मुश्किलें बढ़ा दी हैं.

मंजू वर्मा ने दी सफाई.
मंजू वर्मा ने दी सफाई.

मुश्किल बढ़ी तो समाज कल्याण मंत्री मंजू वर्मा की तरफ से सफाई भी आ गई है. उनका कहना है कि उनके पति सिर्फ एक बार 2016 में उस बालिका गृह में गए थे और उस वक्त मंत्री वो खुद उनके साथ थीं. मंजू ने कहा कि अगर मेरे पति दोषी साबित होते हैं, तो मैं खुद उन्हें फांसी दूंगी. लेकिन ये साजिश है. मेरे राजनितिक विरोधी बदनाम करने की कोशिश कर रहे हैं.

अब देखिए ये आरोप-प्रत्यारोप तो चलते रहेंगे. पूरा सच क्या है, वो सीबीआई तलाश रही है. हम आपको बताते हैं कि चंदेश्वर वर्मा का इतिहास. उनकी राजनीति का इतिहास. पढ़ें – 

# 60 वर्षीय चंदेश्वर वर्मा का राजनीति से पुराना नाता रहा है, लेकिन वो कभी खुद चुनाव नहीं लड़े. हालांकि उन्होंने पानी हर घाट का पी रखा है. माने बिहार की ज्यादातर पार्टियों में वो रह चुके हैं. शुरुआत सीपीआई से की. फिर 1995 से 2003 तक भाकपा माले में रहे. इसके बाद 2003 में लालू यादव की शरण में चले गए. आरजेडी जॉइन कर ली. सक्रियता बढ़ी. 2005 में आरजेडी और लोकजनशक्ति पार्टी के उम्मीदवार अनिल चौधरी को जिताने में मदद भी की. मगर अपनी दाल नहीं गलती देख 2007 में जनता दल यू का दामन थाम लिया. फायदा भी हुआ. 2010 में पत्नी टिकट पा गईं. और तो और जेडीयू ने इन्हें राज्य परिषद का सदस्य भी बनाया वो अलग.

#चंदेश्वर रहने वाले वैसे बेगूसराय के चेरिया बरियारपुर प्रखंड के श्रीपुर गांव के हैं. पिता सुखेदव महतो सीपीआई के टिकट पर 1980 में चेरिया बरियारपुर विधानसभा से चुनाव लड़े थे और जीते थे. पांच साल विधायकी चली मगर 1985 में टिकट कट गया. नाराज होकर निर्दलीय चुनाव लड़े, लेकिन हार का सामना करना पड़ा. चंदेश्वर का सफर सीपीआई में अच्छा नहीं रहा. सीपीआई के पुराने नेता भी बताते हैं कि सीपीआई में कार्यकर्ता के रूप में भी चंदेश्वर की छवि अच्छी नहीं थी.

मंजू वर्मा 2010 में विधायक बन गईं.
मंजू वर्मा 2010 में विधायक बन गईं.

#खैर जिस चेरिया बरियारपुर विधानसभा से चंदेश्वर के पिता विधायक थे, पत्नी मंजू वर्मा अब वहीं से विधायक हैं. 2015 से बिहार में समाज कल्याण मंत्री हैं. कहा जाता है कि इस विभाग पर चंदेश्वर वर्मा की अच्छी पकड़ है. विभाग के कामकाज में इनका समान रूप से दखल रहता है. हालांकि इसी वजह से वो बदनाम भी हैं. इलाके के लोगों में आम चर्चा है कि वह समाज कल्याण विभाग की दलाली करते हैं.

चंदेश्वर की पत्नी मंजू वर्मा की राजनीति की बात करें तो उनकी शुरुआत अच्छी नहीं रही थी. सबसे पहले मंजू ने 2006 में अपने पैतृक गांव श्रीपुर पंचायत से पंचायत समिति का चुनाव लड़ा था और हार गई थीं. हालांकि 2010 में उनकी किस्मत ने गजब पलटी मारी. उन्हें चेरिया बरियारपुर से जेडीयू का टिकट मिल गया और नीतीश कुमार की लहर में चुनाव भी जीत गईं. पहली बार विधानसभा की सदस्य बनीं.

2015 के चुनाव में फिर मंजू को महागठबंधन का फायदा मिला. वो फिर जेडीयू के टिकट पर चुनाव जीत गईं. पर असली लॉटरी तो अब लगनी थी. नवंबर 2015 में. तब जब नीतीश कुमार ने उन्हें मंत्री पद सौंप दिया. समाज कल्याण मंत्री बना दिया. फिर गठबंधन टूटा. सरकार में बीजेपी शामिल हो गई, लेकिन मंजू वर्मा का विभाग उनके पास ही रहा.

मुजफ्फरपुर कांड में अभी तक कुल 10 गिरफ्तारियां हुई हैं.
मुजफ्फरपुर कांड में अभी तक कुल 10 गिरफ्तारियां हुई हैं.

पर अब बालिका गृह मामले में पति का नाम आने के बाद मंजू की राजनीति थोड़ी डगमगा गई है. तभी तो उन्होंने अब इस आरोप पर जाति का कार्ड उछाल दिया है. मंजू वर्मा का कहना है कि उनके पति पर लगे आरोप कुशवाहा जाति का अपमान है. हम पिछड़ी जाति के हैं इसलिए हमें प्रताड़ित किया जा रहा है. आरोप लगाने के बाद मंजू वर्मा ने कुशवाहा जाति के बड़े नेताओं की एक बैठक भी आयोजित की थी. इसमें भी उन्होंने सफाई दी थी.

इस कदम के पीछे की राजनीति भी समझ लीजिए. दरअसल जिस चेरिया बरियारपुर विधानसभा से मंजू विधायक हैं, वहां कुशवाहा जाति का अच्छा खासा वर्चस्व है. मंजू खुद भी उसी जाति से हैं और उनकी उन पर अच्छी पकड़ है. यही वोटर बेगूसराय लोकसभा चुनाव को भी प्रभावित करते हैं. ऐसे में वो कुशवाहा कार्ड खेलकर सरकार से समर्थन खोने की गुंजाइश खत्म करना चाहती होंगी.

हालांकि ये सब दांव बिहार की जनता को कितना मना पाएंगे, ये देखने वाला होगा. सीएम नीतीश कुमार की भी मामले में आखिरकार चुप्पी टूट गई है. पटना में एक कार्यक्रम में वो बोले-

मुजफ्फरपुर में ऐसी घटना घट गई कि हम शर्मसार हो गए. इस घटना से मुझे बहुत दुख है, इस पीड़ा को मैं बयान नहीं कर सकता. जबतक मैं हूं कानून के राज से कोई समझौता नहीं होगा.

एनडीए ने नीतीश के नाम पर ही गठबंधन के दलों को जुटाया था.
नीतीश ने मुज्जफरपुर कांड पर चुप्पी तोड़ी. 

उम्मीद करते हैं कि सीएम साहब का ये गुस्सा कार्रवाई में भी दिखे. फिर चाहे मामला उनकी किसी मंत्री से ही क्यों न जुड़ा हो. यहां भी कोई समझौता न हो. विपक्ष वैसे भी उनके खिलाफ एकजुट हो रहा है. इसकी बानगी 4 जुलाई को दिल्ली में दिखी. जहां जंतर मंतर पर तेजस्वी यादव नीतीश के खिलाफ धरना दे रहे थे. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी भी वहां पहुंच गए हैं. नीताश पर जमकर हमला बोला. विपक्ष के इस हमले से बचने के लिए नीतीश के पास एक ही तरीका है. मुजफ्फरपुर मामले में ठोस कार्रवाई. देखते हैं वो इसमें कितना कामयाब होते हैं.


ये भी पढ़ें –

मुजफ्फरपुर बालिका गृह : जहां बच्चियों से रेप के लिए इस्तेमाल की जाती थीं 67 किस्म की नशीली दवाएं

मुजफ्फरपुर : कौन हैं वो 10 लोग जिनकी वजह से हुआ था 34 बच्चियों से रेप

कौन है ब्रजेश ठाकुर, जिसके बालिका गृह में 34 बच्चियों से रेप हुआ है?

मुजफ्फरपुर ही नहीं, बिहार की इन 14 जगहों पर भी बच्चे-बच्चियों से हुआ है रेप!

34 बच्चियों से बार-बार रेप और एक बच्ची की हत्या, फिर भी ये मामला दबा हुआ क्यों है?

TISS के ऑडिट ने बताया था, मुजफ्फरपुर की बालिका गृह में बच्चियों का रेप होता था-

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

कौन हो तुम

'द्रविड़ ने बहुत नाजुक शब्दों से मुझे धराशायी कर दिया था'

'द्रविड़ ने बहुत नाजुक शब्दों से मुझे धराशायी कर दिया था'

रामचंद्र गुहा की किताब 'क्रिकेट का कॉमनवेल्थ' के कुछ अंश.

पहले स्पाइडरमैन टोबी मैग्वायर की कहानी, जिनका सबसे हिट रोल उनके लिए शाप बन गया

पहले स्पाइडरमैन टोबी मैग्वायर की कहानी, जिनका सबसे हिट रोल उनके लिए शाप बन गया

शुद्ध और असली स्पाइडरमैन टोबी मैग्वायर करियर ग्राफ़ बाद में गिरता ही चला गया.

10 साल पहले भी शाहरुख़ का समीर वानखेड़े से सामना हुआ था, समीर ने ठोका था तगड़ा जुर्माना

10 साल पहले भी शाहरुख़ का समीर वानखेड़े से सामना हुआ था, समीर ने ठोका था तगड़ा जुर्माना

जगह थी मुंबई एयरपोर्ट. अब दस साल बाद फिर से दोनों का नाम एक साथ सुर्ख़ियों में है.

'स्क्विड गेम' के प्लेयर नंबर 199 'अली' की कहानी, जिनके इंडियन होने ने सीरीज़ में एक्स्ट्रा मज़ा दिया

'स्क्विड गेम' के प्लेयर नंबर 199 'अली' की कहानी, जिनके इंडियन होने ने सीरीज़ में एक्स्ट्रा मज़ा दिया

अली का रोल करने वाले इंडियन एक्टर अनुपम त्रिपाठी का सलमान-शाहरुख़ कनेक्शन क्या है?

IPL का कित्ता ज्ञान है, ये क़्विज़ खेलकर चेक कल्लो!

IPL का कित्ता ज्ञान है, ये क़्विज़ खेलकर चेक कल्लो!

ईमानदारी से स्कोर भी बताते जाना. हम इंतज़ार करेंगे.

'मनी हाइस्ट' वाले प्रोफेसर की पूरी कहानी, जिनकी पत्नी ने कहा था, 'कभी फेमस नहीं हो पाओगे'

'मनी हाइस्ट' वाले प्रोफेसर की पूरी कहानी, जिनकी पत्नी ने कहा था, 'कभी फेमस नहीं हो पाओगे'

अलवारो मोर्टे ने वेटर तक का काम किया हुआ है. और एक वक्त तो ऐसा था कि बकौल उनके कैंसर से जान जाने वाली थी.

एक्टर शरत सक्सेना की कहानी, जिन्होंने 71 साल की उम्र में ज़बरदस्त बॉडी बनाकर सबको चौंका दिया

एक्टर शरत सक्सेना की कहानी, जिन्होंने 71 साल की उम्र में ज़बरदस्त बॉडी बनाकर सबको चौंका दिया

हीरो बनने आए शरत सक्सेना कैसे गुंडे का चमचा बनने पर मजबूर हुए?

'भीगे होंठ तेरे' वाले कुणाल गांजावाला आजकल कहाँ हैं?

'भीगे होंठ तेरे' वाले कुणाल गांजावाला आजकल कहाँ हैं?

एक वक़्त इंडस्ट्री में टॉप पर थे कुणाल और उनके गाने पार्टियों की जान हुआ करते थे.

राज कुंद्रा की पूरी कहानी, 18 की उम्र में शॉल बेचने से शुरुआत करने वाले राज यहां तक कैसे पहुंचे?

राज कुंद्रा की पूरी कहानी, 18 की उम्र में शॉल बेचने से शुरुआत करने वाले राज यहां तक कैसे पहुंचे?

IPL स्कैंडल, मॉडल्स के आरोप, अंडरवर्ल्ड कनेक्शंस के आरोप, एक्स वाइफ के इल्ज़ाम सब हैं इस कहानी में.

रिचर्ड ब्रैनसन: जिन्होंने पहले अंतरिक्ष के दर्शन करके जेफ बेजोस का मजा खराब कर दिया

रिचर्ड ब्रैनसन: जिन्होंने पहले अंतरिक्ष के दर्शन करके जेफ बेजोस का मजा खराब कर दिया

रिचर्ड ब्रेन्सन की कहानी, जहां भी गए तहलका मचा दिया.