Submit your post

Follow Us

'इत्तू बित्तू झिन्न पतूता' कहकर गायब हो जाने वाली सोन परी आजकल क्या कर रही हैं?

आलिया भट्ट का नया ऐड आया है. विको वज्रदंती का. उसी पॉपुलर सॉन्ग पर, जो विको के प्रोडक्ट में पिछले कई साल से इस्तेमाल होता आया है. विको एक आयुर्वेदिक ब्रैंड है, जिसकी फेस क्रीम और टूथ पाउडर जैसे प्रोडक्ट आते हैं. इसके जिंगल बहुत मशहूर हैं. इसी से जुड़ा हुआ है एक चेहरा, पिछले 23 साल से. आलिया के इस नए एड के बहाने बात उस चेहरे की, जो इस ब्रैंड से ऐसा जुड़ा कि आज भी लोग कहीं भी उसे पहचान लेते हैं. पूरी बात आगे, लेकिन पहले आप वो एड देख लीजिए.

अब देखिए विको के प्रोडक्ट्स पर बना ये चेहरा.

Vicco Vajradanti 700
ये टूथ पाउडर का डब्बा है, जिस पर बना ये चेहरा लोग कहीं भी पहचान जाते हैं और इस ब्रांड से जोड़कर देखते हैं. (तस्वीर: ट्विटर)

कुछ याद आया?

1997 से ये चेहरा विको के प्रोडक्ट पर है. कई ऐड आए और गए, लेकिन ये चेहरा बदस्तूर बना रहा. टूथ पाउडर के डिब्बों पर. फेस क्रीम के कार्टंस पर. इनका नाम है मृणाल कुलकर्णी.

कौन हैं मृणाल कुलकर्णी?

एक्ट्रेस और डायरेक्टर हैं. सोलह साल की उम्र से मराठी टीवी में काम करती आ रही हैं. लेकिन इनको सबसे ज्यादा जिस रोल के लिए जाना गया, वो है हिंदी टीवी सीरियल सोन परी में सोन परी का किरदार.

Son Pari New 700
90 के दशक में भारत में जन्मी पीढ़ी ये तस्वीर कहीं भी पहचान लेगी. (तस्वीर: विकिमीडिया)

एक्टिंग इनकी पहली चॉइस थी नहीं. पुणे यूनिवर्सिटी से मास्टर्स की डिग्री लेने के बाद वो फिलॉसफी में पीएचडी करना चाहती थीं. लेकिन एक्टिंग के इतने ऑफर मिलते गए कि उन्होंने उसी में करियर बना लिया. ‘सोन परी’ के अलावा उन्होंने ‘स्पर्श’, ‘खेल’, और ‘द्रौपदी’ जैसे टीवी सीरियल में काम किया. ‘अवंतिका’ नाम के मराठी टीवी शो में उनके किरदार की बहुत तारीफ़ हुई.

अब कहां हैं मृणाल?

मराठी फिल्में कर रही हैं. डायरेक्शन में भी काफी एक्टिव हैं. हिंदी टीवी या फिल्मों में नहीं दिखती हैं. इनकी डायरेक्ट की हुई फिल्म ‘ती एंड ती’, और ‘फरजंद’ हिट हुई थीं. इनके बेटे विराजस ने भी मराठी टीवी में डेब्यू कर लिया है. माजा होशील ना नाम के टीवी शो में ये दिखाई देंगे.

चलते-चलते विको के बारे में एक छोटी-सी कहानी, जिस ब्रैंड ने मृणाल कुलकर्णी और संगीता बिजलानी को घर-घर पहुंचा दिया. कंपनी शुरू हुई थी 1952 में. शुरू करने वाले थे केवी पेंढरकर. डोम्बिवली, गोवा और नागपुर में इनका प्रोडक्शन यूनिट था. कंपनी का नाम उन्होंने रखा विष्णु इंडस्ट्रियल केमिकल कंपनी. उसी का शार्ट फॉर्म है VICCO.

Vicco Wso Rakul Preet
विको की ही दूसरी क्रीम के ऊपर एक्ट्रेस रकुल प्रीत का चेहरा बना है. (तस्वीर: ट्विटर)

ख़ास बात ये रही कि जिस समय पाउडर और स्नो क्रीम का दबदबा था, उस समय विको ने खुद को एक इंडियन ब्यूटी ब्रांड की तरह पेश किया. इस क्रीम का रंग भी पीला था. इस वजह से लोग चिंता करते थे कि कहीं उनका चेहरा भी तो पीला नहीं हो जाएगा. तो उनका डर दूर करने के लिए क्रीम बेचने वाले सेल्समैन अपने साथ शीशा लेकर चला करते थे, ताकि क्रीम का इस्तेमाल करके फ़ौरन लोग अपना चेहरा देख सकें.

विको उन चंद कम्पनियों में से एक थी, जिसने टीवी शो स्पॉन्सर किए. फिल्मों के वीडियो कैसेट में अपने विज्ञापन डलवाए. इसके मशहूर जिंगल की एक लाइन भी कानों में पड़ जाए, तो लोग गाए बिना नहीं रह पाते. ये ऐसी क्रीम थी, जिसने अपने विज्ञापनों में पुरुषों को भी रखा. जब ब्यूटी प्रोडक्ट अपने एड महिलाओं को टारगेट करके बना रहे थे, विको ने महिलाओं और पुरुषों, दोनों की त्वचा के देखभाल को इम्पॉर्टेंट बताया.

‘आलिया’ शब्द अरबी से आया है. इसका अर्थ होता है- सर्वोत्तम. सबसे बढ़िया. कई मामलों में विको को अपने क्षेत्र का पायोनियर कहा गया. बोले तो ट्रेंड सेट करने वाला. अपने समय के सबसे यादगार और लीडिंग प्रोडक्ट में से एक माने जाने वाले ब्रैंड का चेहरा आलिया बनी हैं. कनेक्शन तो सॉलिड है बॉस!


वीडियो: ताजमहल में क्या है सबसे खास, जिसे ज्यादातर लोग नहीं देख पाते लेकिन आप देख सकते हैं

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

कौन हो तुम

सात साल पहले केजरीवाल ने वो बात कही थी जो आज वो ख़ुद नहीं सुनना चाहते

बरसों पुरानी इस बात की वजह से सोशल मीडिया पर घेर लिए गए हैं.

क्या भारत सरकार से पूछे बिना पाकिस्तान चली गई इंडियन कबड्डी टीम?

अब ढेरों खेल-तमाशा हो रहा है.

बजट का कितना ज्ञान है, ये क्विज़ खेलकर चेक कर लो!

कितना नंबर पाया, बताते हुए जाना. #Budget2020

संविधान के कितने बड़े जानकार हैं आप?

ये क्विज़ जीत लिया तो आप जीनियस हुए.

क्रिकेट के पक्के वाले फैन हो तो इस क्विज़ को जीतकर बताओ

कित्ता नंबर मिला, सच-सच बताना.

सलमान खान के फैन, इधर आओ क्विज खेल के बताओ

क्विज में सही जवाब देने वाले के लिए एक खास इनाम है.

QUIZ: देश के सबसे महान स्पोर्टसमैन को कितना जानते हैं आप?

आज इस जादूगर की बरसी है.

चाचा शरद पवार ने ये बातें समझी होती तो शायद भतीजे अजित पवार धोखा नहीं देते

शुरुआत 2004 से हुई थी, 2019 आते-आते बात यहां तक पहुंच गई.

रिव्यू पिटीशन क्या होता है? कौन, क्यों, कब दाखिल कर सकता है?

अयोध्या पर फैसले के खिलाफ ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड रिव्यू पिटीशन दायर करने जा रहा है.

इन नौ सवालों का जवाब दे दिया, तब मानेंगे आप ऐश्वर्या के सच्चे फैन हैं

कुछ ऐसी बातें, जो शायद आप नहीं जानते होंगे.