Submit your post

Follow Us

पलटकर पूछे गए एक सवाल से मैं सबसे ज्यादा सम्मान इस क्रिकेटर का करने लगा

भारतीय महिला क्रिकेट टीम की कप्तान मिताली राज.  2017 की बात है. एक डिनर के दौरान मीडिया से बात करते वक़्त मिताली राज ने एक रिपोर्टर के सवाल को फुलटॉस बना कर स्टेडियम के बाहर उछाल दिया था. सवाल तो खैर बेतुका था, लेकिन मिताली के दिए जवाब ने उसे एक गंभीर विमर्श में बदल दिया था.

रिपोर्टर ने पूछा था,

”आपका फेवरेट मेल क्रिकेटर कौन है?”

मिताली ने पलट कर पूछ लिया था,

“क्या आप यही सवाल मेल क्रिकेटर्स से पूछेंगे? क्या आप पूछ पाएंगे कि उनकी फेवरेट महिला क्रिकेटर कौन है?”

मिताली राज की बात को सोशल मीडिया ने हाथोहाथ ले लिया है.
मिताली राज की बात को सोशल मीडिया ने हाथो-हाथ ले लिया है.

ये सवाल सिर्फ सवाल नहीं, पीड़ा है. आक्रोश है. एक ही खेल में देश का प्रतिनिधित्व करने वाली दो टीमों के साथ अलग-अलग बर्ताव होता है. मेल क्रिकेटर्स को जहां दुनिया जहान की अटेंशन हासिल है, वही महिला क्रिकेट टीम की एकाध खिलाड़ी को छोड़ के बाकियों की कोई शक्ल नहीं पहचानता. शक्ल छोड़िये, जहां मेल क्रिकेट टीम के एक्स्ट्रा खिलाड़ी तक का पूरा बायोडाटा लोगों के पास रहता है, वही महिला क्रिकेट टीम की 11 खिलाड़ियों का नाम कोई विरला ही बता पाएगा.

मिताली राज.
मिताली राज.

इस समय क्रिकेट विश्वकप चल रहा है. लोगों की नजर हर मैच पर टिकी रहती हैं. लेकिन महिला वर्ल्ड कप को भी क्या इसी तरह की अटेंशन मिलती है?

ये स्थापित सत्य है कि महिला क्रिकेट टीम को कोहली एंड कंपनी को मिलते अटेंशन का दस परसेंट भी नहीं हासिल. पैसे की तो बात ही छोड़िये. ये टीम भी उसी नीली जर्सी में खेलती है, जिससे सारे फैन इश्क करते हैं. ये टीम भी उतनी ही मेहनत करती है फील्ड पर, जितनी मेल टीम. उसी जोश से गेंद फेंकती है, बल्ला चलाती है, फील्डिंग करते वक़्त डाइव लगाती है. इनका भी उतना ही पसीना बहता है, जितना लड़कों का. बावजूद इसके ये टीम लगभग हाशिए पर रहती है.

इससे बड़ा कटु सत्य क्या होगा कि इस टीम को ये देश तभी सर पर बिठाएगा जब वो कोई वर्ल्ड कप जीत लेगी. उस एक दिन ज़रूर ‘फीलिंग प्राउड’ वाले मैसेजेस की बाढ़ आ जाएगी. वो भी एक-दो दिन के लिए. उसके बाद फिर वही सौतेला बर्ताव लौट आएगा. 

‘चक दे इंडिया’ का आफ्टर क्लाइमैक्स सीन याद आता है. भारतीय महिला हॉकी टीम वर्ल्ड कप जीत कर इंडिया आई है. क्रिकेट का एक मशहूर खिलाड़ी हॉकी टीम की प्रीति सबरवाल को शादी के लिए प्रपोज़ करने एयरपोर्ट पहुंचा हुआ है. बंदा फुल कॉन्फिडेंस में है कि प्रपोजल तो एक्सेप्ट हो ही जाना है. न्यूज़ टीम साथ लेकर पहुंचा है. पूरे मीडिया के सामने वो उसे अंगूठी पेश करता है.

'चक दे इंडिया' का वो सीन.
‘चक दे इंडिया’ का वो सीन.

लेकिन लड़की मना कर देती है. सेल्फ-सेंटर्ड क्रिकेटर को धरती पर उतारने का काम करती है. अपने पुरुष होने को अपना अपर हैंड समझने वाले आदमी को एहसास करवाती है कि उसके अलावा भी दुनिया में कुछ है. प्रीति का कहा लोग अपने साथ घर ले के जाते हैं. वो कहती हैं,

“ये हमारे बारे में था ही कब? अब तक जो भी था सिर्फ तुम्हारे बारे में था. लेकिन अब मैं भी हूं.”

इस ‘मैं भी हूं’ के ऐलान को फिल्म से निकाल कर असली ज़िंदगी में ले आई हैं मिताली.


ऑडियो लीक: शोएब मलिक कप्तान सरफराज के खिलाफ बगावत करने की तैयारी में हैं?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

कौन हो तुम

YES Bank शुरू करने वाले राणा कपूर कौन हैं, जिन्होंने नोटबंदी को 'मास्टरस्ट्रोक' बताया था

यस बैंक डूब रहा है.

सात साल पहले केजरीवाल ने वो बात कही थी जो आज वो ख़ुद नहीं सुनना चाहते

बरसों पुरानी इस बात की वजह से सोशल मीडिया पर घेर लिए गए हैं.

क्या भारत सरकार से पूछे बिना पाकिस्तान चली गई इंडियन कबड्डी टीम?

अब ढेरों खेल-तमाशा हो रहा है.

बजट का कितना ज्ञान है, ये क्विज़ खेलकर चेक कर लो!

कितना नंबर पाया, बताते हुए जाना. #Budget2020

संविधान के कितने बड़े जानकार हैं आप?

ये क्विज़ जीत लिया तो आप जीनियस हुए.

क्रिकेट के पक्के वाले फैन हो तो इस क्विज़ को जीतकर बताओ

कित्ता नंबर मिला, सच-सच बताना.

सलमान खान के फैन, इधर आओ क्विज खेल के बताओ

क्विज में सही जवाब देने वाले के लिए एक खास इनाम है.

QUIZ: देश के सबसे महान स्पोर्टसमैन को कितना जानते हैं आप?

आज इस जादूगर की बरसी है.

चाचा शरद पवार ने ये बातें समझी होती तो शायद भतीजे अजित पवार धोखा नहीं देते

शुरुआत 2004 से हुई थी, 2019 आते-आते बात यहां तक पहुंच गई.

रिव्यू पिटीशन क्या होता है? कौन, क्यों, कब दाखिल कर सकता है?

अयोध्या पर फैसले के खिलाफ ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड रिव्यू पिटीशन दायर करने जा रहा है.