Submit your post

Follow Us

बार-बार आने वाले हल्के भूकंप क्या संकेत दे रहे हैं, क्या दिल्ली में बड़ा भूकंप आने वाला है?

दिल्ली-एनसीआर. पिछले दो महीने में यहां 11 बार भूकंप आया. भूकंप के झटके किसी को महसूस हुए, तो किसी को नहीं. सबसे हालिया भूकंप का झटका बुधवार, 3 जून को लगा. रात 10 बजकर 42 मिनट पर. इसका केंद्र नोएडा से 19 किलोमीटर दक्षिण-पूर्व में था. तीव्रता 3.0 थी. बार-बार आ रहे भूकंप क्या संकेत दे रहे हैं. क्या दिल्ली-एनसीआर में कोई बड़ा भूकंप आने वाला है? इसी सवाल का जवाब तलाशने की कोशिश करेंगे. उससे पहले ये जान लेते हैं कि भूकंप क्यों आता है.

क्यों आता है भूकंप?

धरती मोटे तौर पर तीन लेयर में बंटी है. सबसे ऊपरी लेयर को क्रस्ट कहते हैं. ये क्रस्ट पूरी धरती को घेरे रहता है. मतलब हमारे पांव के नीचे की जमीन और नदी-समंदर के नीचे की भी जमीन. ये बहुत ही मोटी परत होती है. जो हम देख पाते हैं, इससे बहुत गहरी.

धरती के लेयर्स
धरती के लेयर्स

जमीन के नीचे बहुत सारी प्लेट होती हैं. आड़ी-तिरछी. इधर-उधर. एकदम फंसी हुई. एक हिली, तो दूसरी भी हिलेगी. एक खिंची, तो कई और खिंच जाएंगी. और जब ये ज्यादा हो जाता है, तो ऊपर की जमीन खड़खड़ा जाती है. भूकंप आ जाता है. करोड़ों बरस पहले जब कई प्लेट ऐसे ही टकराई थीं, तब इसी टक्कर से कई सारे पहाड़ बने थे. हिमालय भी ऐसे ही बना था.

धरती पर कई फॉल्ट जोन हैं. मतलब कई जगह प्लेट एक-दूसरे से मिलती हैं. भूकंप ऐसे ही फॉल्ट जोन में आता है. भूकंप प्रकृति का एक नियम है. जैसे हर चीज टूट-फूटकर फिर कुछ नई चीज बन जाती है, वैसे ही धरती के अन्दर भूकंप प्लेटों को फिर से व्यवस्थित कर देता है.

अब बात दिल्ली-एनसीआर में आने वाले हल्के भूकंप की. ये क्या संकेत दे रहे हैं?

कुछ स्टडी में यह दावा किया गया है कि इस तरह के छोटे भूकंप के झटके, बड़े भूकंप की आहट होते हैं. यूएस के लॉस अलामॉस नेशनल लेबोरेट्री की एक रिपोर्ट के अनुसार, पिछले साल कैलिफोर्निया में 4.0 तीव्रता के भूकंप आने से पहले इसी तरह के कुछ हल्के झटके महसूस किए गए थे. साउथ कैलिफोर्निया में 2008 और 2017 में 4.0 तीव्रता से अधिक के झटके महसूस किए गए. इससे पहले 72 प्रतिशत बार हल्के झटके महसूस किए गए थे.

पूरी दुनिया के प्लेट्स और फाल्ट लाइन्स
पूरी दुनिया के प्लेट्स और फाल्ट लाइन्स

नेशनल सेंटर ऑफ सिस्मोलॉजी के चीफ (ऑपरेशंस) जीएल गौतम कहते हैं कि वैसे भूकंप, जिनकी तीव्रता 4.0 से कम होती है, उनसे नुकसान की आशंका बेहद कम होती है. न के बराबार. यह हल्की एडजेस्टमेंट का नतीजा है, जो खतरनाक नहीं होते. हाल ही में दिल्ली-एनसीआर में आए भूकंप हल्के तीव्रता वाले थे.

उन्होंने कहा,

जब बहुत कम समय में कई छोटे भूकंप आते हैं, तो बहुत अधिक ऊर्जा निकलती है. फिर बड़े भूकंप की आशंका कम हो जाती है. लेकिन पिछले एक महीने में दर्ज की गई चीजें मामूली हैं और उन्होंने थोड़ी ऊर्जा जारी की है, इसलिए यह नहीं कहा जा सकता है कि बड़े भूकंप की आने की आशंका नहीं है.

वाडिया इंस्टीट्यूट ऑफ हिमालयन जियोलॉजी के प्रमुख डॉक्टर कलाचंद सेन का कहना है कि हम भूकंप आने के समय, जगह और उसकी तीव्रता का अनुमान नहीं लगा सकते. लेकिन यह मानते हैं कि दिल्ली-एनसीआर क्षेत्र में लगातार भूंकपीय गतिविधि चल रही है, जो बड़े भूकंप का कारण बन सकती है.

इंडियन मेट्रोलॉजी डिपार्टमेंट के Earthquake Risk Evaluation Centre यानी भूकंप जोखिम मूल्यांकन केंद्र के पूर्व प्रमुख डॉक्टर एके शुक्ला का कहना है,

हाल ही में दिल्ली-एनसीआर में आए भूकंप के झटके कम तीव्रता वाले थे. लेकिन इन भूकंप की श्रृंखला ने आने वाले समय में दिल्ली में बड़े भूकंप के संकेत दिए हैं. दिल्ली में भूकंप के बढ़ते झटकों की एक वजह लोकल फॉल्ट सिस्टम है, जो काफी एक्टिव है. दिल्ली के आसपास के ऐसे फॉल्ट सिस्टम 6 से 6.5 के आसपास की तीव्रता के भूकंप लाने की क्षमता रखते हैं.

दिल्ली हिमालय के करीब है, जहां 8 से अधिक तीव्रता के कई भूकंप आए हैं. अध्ययन से पता चलता है कि हिमालयी क्षेत्र में कुछ बड़े झटके आने की आशंका है, जो दिल्ली-एनसीआर को बुरी तरह प्रभावित कर सकते हैं.

डॉक्टर शुक्ला का कहना है कि लोकल और हिमालयन फॉल्ट सिस्टम को ध्यान में रखते हुए उन्होंने कुछ साल पहले दिल्ली-एनसीआर के भूकंपीय खतरे का अध्ययन किया था. इसके अनुसार दिल्ली की अधिकांश बिल्डिंगें भूकंपरोधी नहीं हैं. अगर ज्यादा तीव्रता वाला भूकंप आता है, तो यहां नुकसान की आशंका ज्यादा है.

हालांकि मिनिस्ट्री ऑफ अर्थ साइंस के Scientist G के वैज्ञानिक डॉक्‍टर बीआर बंसल की इस बारे में अलग राय है. बंसल के मुताबिक,

हाल ही में जितने भू‍कंप दिल्‍ली-एनसीआर में आए हैं, वो रिक्‍टर स्‍केल पर काफी कम मापे गए हैं. ये भूकंप किसी एक जगह न आकर अलग-अलग जगह पर आए हैं. इनका केंद्र अलग-अलग है और इनका सोर्स जोन भी अलग था. इसलिए ये भूकंप किसी बड़े भूकंप की आहट नहीं हैं. इस तरह के भूकंप पहले भी आते रहे हैं. बीते 10 वर्षों में दिल्‍ली में भूकंप आने की गतिविधियां तेज हुई हैं. लगातार आ रहे भूकंपों से डरने की जरूरत नहीं है.

एनसीएस वेबसाइट पर उपलब्ध आंकड़ों के अनुसार, मई 2015 से मार्च 2019 के बीच राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र और इसके आस-पास के क्षेत्रों में 65 से अधिक बार भूकंप आए.

मौसम और तूफान की तरह भूकंप की भविष्यवाणी नहीं की जा सकती कि ये कब आएंगे, कहां आएंगे और इनकी तीव्रता क्या होगी. वैज्ञानिकों के कुछ अपने अध्ययन हैं, जिसके आधार पर वो ये अनुमान लगाते हैं कि बार-बार आने वाले हल्के भूकंप किस बात के संकेत दे रहे हैं.


Video: मोदी 2.0 के एक साल में विदेश मंत्रालय का कामकाज कैसा रहा ?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

कौन हो तुम

इन नौ सवालों का जवाब दे दिया, तब मानेंगे आप ऐश्वर्या के सच्चे फैन हैं

इन नौ सवालों का जवाब दे दिया, तब मानेंगे आप ऐश्वर्या के सच्चे फैन हैं

कुछ ऐसी बातें, जो शायद आप नहीं जानते होंगे.

क्विज़: नुसरत फतेह अली खान को दिल से सुना है, तो इन सवालों का जवाब दो

क्विज़: नुसरत फतेह अली खान को दिल से सुना है, तो इन सवालों का जवाब दो

आज बड्डे है.

ये क्विज जीत नहीं पाए तो तुम्हारा बचपन बेकार गया

ये क्विज जीत नहीं पाए तो तुम्हारा बचपन बेकार गया

आज कार्टून नेटवर्क का हैपी बड्डे है.

रणबीर कपूर की मम्मी उन्हें किस नाम से बुलाती हैं?

रणबीर कपूर की मम्मी उन्हें किस नाम से बुलाती हैं?

आज यानी 28 सितंबर को उनका जन्मदिन होता है. खेलिए क्विज.

करीना कपूर के फैन हो तो इ वाला क्विज खेल के दिखाओ जरा

करीना कपूर के फैन हो तो इ वाला क्विज खेल के दिखाओ जरा

बेबो वो बेबो. क्विज उसकी खेलो. सवाल हम लिख लाए. गलत जवाब देकर डांट झेलो.

रवनीत सिंह बिट्टू, कांग्रेस का वो सांसद जिसने एक केंद्रीय मंत्री के इस्तीफे का प्लॉट तैयार कर दिया!

रवनीत सिंह बिट्टू, कांग्रेस का वो सांसद जिसने एक केंद्रीय मंत्री के इस्तीफे का प्लॉट तैयार कर दिया!

17 सितंबर को किसानों के मुद्दे पर बिट्टू ऐसा बोल गए कि सियासत में हलचल मच गई.

मोदी जी का बड्डे मना लिया? अब क्विज़ खेलकर देखो उनको कितना जानते हो मितरों

मोदी जी का बड्डे मना लिया? अब क्विज़ खेलकर देखो उनको कितना जानते हो मितरों

अच्छे नंबर चइये कि नइ चइये?

KBC में करोड़पति बनाने वाले इन सवालों का जवाब जानते हो कि नहीं, यहां चेक कर लो

KBC में करोड़पति बनाने वाले इन सवालों का जवाब जानते हो कि नहीं, यहां चेक कर लो

करोड़पति बनने का हुनर चेक कल्लो.

विधायक विजय मिश्रा, जिन्हें यूपी पुलिस लाने लगी तो बेटियां बोलीं- गाड़ी नहीं पलटनी चाहिए

विधायक विजय मिश्रा, जिन्हें यूपी पुलिस लाने लगी तो बेटियां बोलीं- गाड़ी नहीं पलटनी चाहिए

चलिए, विधायक जी की कन्नी-काटी जानते हैं.

नेशनल हैंडलूम डे: और ये है चित्र देखो, साड़ी पहचानो वाली क्विज

नेशनल हैंडलूम डे: और ये है चित्र देखो, साड़ी पहचानो वाली क्विज

कभी सोचा नहीं होगा कि लल्लन साड़ियों पर भी क्विज बना सकता है. खेलो औऱ स्कोर करो.