Submit your post

Follow Us

वो नेता जिसकी वजह से देश के मुख्यमंत्रियों को तिरंगा फहराने का अधिकार मिला

देश में तिरंगा झंडा फहराने वाला पहला मुख्यमंत्री कौन था? ये सवाल शायद आपको बचकाना लग सकता है. हो सकता है कि आपको लगे कि ये एक सामान्य ज्ञान का प्रश्न है. लेकिन ये सवाल जितना सामान्य ज्ञान का है, उतना ही ये सवाल राजनीति से भी जुड़ा है. वजह ये है कि देश की आजादी से लेकर 1974 तक देश में जब भी गणतंत्र दिवस आता था, तो दिल्ली में राष्ट्रपति झंडा फहराते थे. वहीं राज्यों में राज्य के राज्यपाल तिरंगा फहराते थे. जब स्वतंत्रता दिवस आता था, तो दिल्ली में प्रधानमंत्री तिरंगा फहराते थे और राज्यों में सिर्फ राज्यपाल के पास ही अधिकार था.

करुणानिधि की वजह से ही अब मुख्यमंत्री भी स्वतंत्रता दिवस पर झंडा फहरा पाते हैं.

लेकिन फरवरी1974 में दक्षिण भारत का एक नेता उस वक्त की प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी से मिला. उसने इस नियम को बदलने की मांग की और कहा कि जैसे स्वतंत्रता दिवस पर देश की राजधानी दिल्ली में देश के प्रधानमंत्री झंडा फहराते हैं, वैसे ही स्वतंत्रता दिवस पर राज्य की राजधानी में मुख्यमंत्रियों को झंडा फहराने का नियम बनाया जाए. इंदिरा गांधी से इस नियम की मांग करने वाले नेता का नाम था एम करुणानिधि, जो उस वक्त तमिलनाडु के मुख्यमंत्री थे.

एम करुणानिधि की वजह से ही राज्यों के मुख्यमंत्रियों को तिरंगा फहराने का अधिकार मिला था. ( फोटो : Twitter)

ये वो वक्त था, जब केंद्र और राज्य के रिश्तों पर राजामन्नार कमेटी की सिफारिशें सामने आई थीं. और करुणानिधि इन सिफारिशों के आधार पर ही राज्यों को और ज्यादा अधिकार देने की मांग कर रहे थे. करुणानिधि की इस मांग को इंदिरा गांधी ने मान लिया. इसके बाद जुलाई में केंद्र सरकार की ओर से एक आदेश जारी किया गया कि गणतंत्र दिवस पर राज्यों के राज्यपाल तिरंगा फहराएंगे, वहीं स्वतंत्रता दिवस पर राज्यों के मुख्यमंत्री ही तिरंगा फहराएंगे. इसके बाद 15 अगस्त 1974 को तमिलनाडु की राजधानी चेन्नई में सेंट जॉर्ज किले पर जो तिरंगा फहराया गया, उसे उस वक्त के तमिलनाडु के राज्यपाल कोडरदास कालिदास शाह ने नहीं बल्कि राज्य के मुख्यमंत्री एम. करुणानिधि ने फहराया था. उस साल पूरे देश में अलग-अलग राज्यों में मुख्यमंत्रियों ने ही तिरंगा फहराया था. उसके बाद से हर साल स्वतंत्रता दिवस पर राज्यों के मुख्यमंत्री ही तिरंगा फहराते हैं.


ये भी पढ़ें:

सिर्फ काला चश्मा ही क्यों पहनते थे करुणानिधि?

करुणानिधि को ‘कलईन्यार’ क्यूं पुकारते थे उनके चाहने वाले?

क्यों ये जगह खास है, जहां करुणानिधि को दफनाने के लिए विवाद हुआ

करुणानिधि : वो नास्तिक, जिसे समर्थकों ने ‘भगवान’ बना दिया

करुणानिधि नहीं रहे, 94 की उम्र में कावेरी हॉस्पिटल में निधन

वो मौका, जब सोनिया को किनारे ले जाकर करुणानिधि ने अपने ही भांजे की कहानी लगा दी

तमिलनाडु: करप्शन का कालीन और मुफ्तमाल का खेला

करण थापर की किताब डेविल्स एडवोकेट के किस्से

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

कौन हो तुम

राज कुंद्रा की पूरी कहानी, 18 की उम्र में शॉल बेचने से शुरुआत करने वाले राज यहां तक कैसे पहुंचे?

राज कुंद्रा की पूरी कहानी, 18 की उम्र में शॉल बेचने से शुरुआत करने वाले राज यहां तक कैसे पहुंचे?

IPL स्कैंडल, मॉडल्स के आरोप, अंडरवर्ल्ड कनेक्शंस के आरोप, एक्स वाइफ के इल्ज़ाम सब हैं इस कहानी में.

रिचर्ड ब्रैनसन: जिन्होंने पहले अंतरिक्ष के दर्शन करके जेफ बेजोस का मजा खराब कर दिया

रिचर्ड ब्रैनसन: जिन्होंने पहले अंतरिक्ष के दर्शन करके जेफ बेजोस का मजा खराब कर दिया

रिचर्ड ब्रेन्सन की कहानी, जहां भी गए तहलका मचा दिया.

'सिंघम' IPS से तमिलनाडु BJP के सबसे युवा अध्यक्ष बने अन्नामलाई की कहानी

'सिंघम' IPS से तमिलनाडु BJP के सबसे युवा अध्यक्ष बने अन्नामलाई की कहानी

पहला चुनाव हार गए थे, बीजेपी ने राज्य की जिम्मेदारी सौंपी है.

'तड़प-तड़प के' जैसा प्रेमियों का ब्रेकअप एंथम देने वाले सिंगर के के आजकल कहां हैं?

'तड़प-तड़प के' जैसा प्रेमियों का ब्रेकअप एंथम देने वाले सिंगर के के आजकल कहां हैं?

उनके गाए 'पल' गाने के बगैर आज भी किसी कॉलेज का फेयरवेल पूरा नहीं होता.

कर लिया योगा? अब क्विज खेलने से होगा

कर लिया योगा? अब क्विज खेलने से होगा

आन्हां, ऐसे नहीं कि योग बस किए, दिखाना पड़ेगा कि बुद्धिबल कित्ता बढ़ा.

तमिल जनता आखिर क्यों कर रही है 'फैमिली मैन-2' का विरोध, क्या है LTTE की पूरी कहानी?

तमिल जनता आखिर क्यों कर रही है 'फैमिली मैन-2' का विरोध, क्या है LTTE की पूरी कहानी?

जब ट्रेलर आया था, तबसे लगातार विरोध जारी है.

माधुरी से डायरेक्ट बोलो 'हम आपके हैं फैन'

माधुरी से डायरेक्ट बोलो 'हम आपके हैं फैन'

आज जानते हो किसका हैप्पी बड्डे है? माधुरी दीक्षित का. अपन आपका फैन मीटर जांचेंगे. ये क्विज खेलो.

जिन मीम्स को सोशल मीडिया पर शेयर कर चौड़े होते हैं, उनका इतिहास तो जान लीजिए

जिन मीम्स को सोशल मीडिया पर शेयर कर चौड़े होते हैं, उनका इतिहास तो जान लीजिए

कौन सा था वो पहला मीम जो इत्तेफाक से दुनिया में आया?

पार्टियों को चुनाव निशान के आधार पर पहचानते हैं आप?

पार्टियों को चुनाव निशान के आधार पर पहचानते हैं आप?

चुनावी माहौल में क्विज़ खेलिए और बताइए कितना स्कोर हुआ.

लगातार दो फिफ्टी मारने वाले कोहली ने अब कहां झंडे गाड़ दिए?

लगातार दो फिफ्टी मारने वाले कोहली ने अब कहां झंडे गाड़ दिए?

राहुल के साथ यहां भी गड़बड़ हो गई.