Submit your post

Follow Us

जब स्वामी विवेकानंद को बनारस के बंदरों ने दौड़ा लिया था

स्वामी विवेकानंद उन महापुरुषों में हैं, जिनके कोट्स कॉपी पेस्ट होते हैं. पढ़ने से पहले कन्फर्म करना होता है कि उनके हैं या नहीं. यहां उनकी लाइफ के किस्से हैं, जो दिखाते हैं कि उनकी लाइफ भी एडवेंचर से भरी थी. जैसे हम सबकी होती है. पढ़ो और सबको इस्टाइल में सुनाओ-


1-स्वामी जी अपने रिलीजियस रॉकस्टार. बोलें तो पब्लिक का माथा खुल जाए. और फैन तो सब उनके इत्ते कि कुछ पूछो मत. और फैन हैं तो लॉजिक कभी-कभी लड़खड़ा भी सकता है. तभी की ये बात है.

एक फॉरेनर आई. बोली, स्वामी जी मैं आपसे शादी करना चाहती हूं. स्वामी बोले, मैं तो संन्यासी हूं. नहीं कर सकता. पर तुम्हारी वजह क्या है देवी? महिला बोली, मुझे आपके जैसा बेटा चाहिए और उसके लिए शादी करना मस्ट है.

इत्ती सी बात. स्वामी मुस्कुराए. और बोले, लीजिए. आज से आप मेरी मम्मी. मैं आपका नोनू मोनू सोनू. अब तो हो गई मुराद पूरी. महिला ने श्रद्धा से माथा झुका लिया.

swamiji


2-एक भाई साब आए. बोले- बाकी सब वेदांत वगैरह तो ठीक है, पर एक बात समझ न आई. स्वामी ने कहा- पूछा जाए. साब बोले- ये मां को संसार में बार-बार महापूज्य क्यों बताया जाता है. स्वामी बोले. जवाब मिलेगा. बराबर मिलेगा. बस एक काम कर दो. पूछा गया क्या. स्वामी ने कहा- एक सेर भर का पत्थर ले आओ. आया पत्थर. बोले, इसे कपड़े में लपेट दो. और फिर पेट से बांध लो. उतारना मत और कल आना.

भाईसाब की शाम तक दइया बोल गई. अगले दिन का वेट कौन करे. आए भगे भगे. बोले, महाराज जवाब तो दे नहीं रहे, ये गुम्मा और लाद दिया. तब स्वामी बोले. मां हमें ऐसे ही 9 महीने कैरी करती है. अब समझ आया कि क्यों वो सबसे बढ़कर है.

Swami_Vivekananda_in_Belur_Math_19_June_1899


3- स्वामी गए बनारस. देवी दर्शन किए एक मंदिर में. लौटे तो परसाद मिला. पर उसे खाना चाहते थे बंदर.

अब सोचो जरा. बंदर, वह भी बनारसी. तो कित्ता बम संकर होगा. लगे चीथने झुरिया. स्वामी जी ने लगादी गदबद. अब आगे आगे स्वामी. पीछे पीछे बजरंग बली के चेलों की फौज. तब एक बूढ़े बाबा ने स्वामी को गली किनारे रोका. बोले. जित्ता भागोगे, उत्ते ही भगाए जाओगे. पलटकर घूर काहे नहीं लेते. उल्टा उन्हें ही काहे नहीं तदेर लेते.

स्वामी को समझ आ गया. और फिर.

बंदर आगे और स्वामी पीछे. स्वामी ने बाद में अपनी एक स्पीच में इस कांड का जिक्र किया. और बोले. भय को भगाने के लिए उससे भागो नहीं. उसके पीछे पड़ जाओ. घुस जाओ. आंख मिलाओ. सब धुंध छंट जाएगी.

Vivekananda_Image_August_1894


4-विवेकानंद तो बाद में बने. पहले थे नरेंद्र. बाल नरेंद्र. किस्सा बांधने में छांकड़. सुनने वाला सुधबुध भूल जाए. तो एक दिन क्लास में हुआ कुछ ऐसा कि एक मास्टर गया. घंटी बजी. दूसरे के आने में था टाइम. इत्ती देर में नरेंद्र ने बातों की पुटरिया खोल दी. आसपास के सब हिलग गए. मास्टर आया. पढ़ाना चालू किया. मगर देखे कि कोई देख ही नहीं रहा. खरखराए तो बालक पलटे. अब सबकी पिट्टी सिट्टी वेन्ट ऑन वॉकिंग. और ऐसे टाइम सदियों से गुरु जी लोगों का एक ही औजार रहा है पेलने को. सुनाओ 13 का पहाड़ा टाइप कोई सवाल पूछ दो. मास्टर ने पूछा. कोई जवाब न दे पाए. आखिर में बारी आई अपने नरेंद्र की. और इन्होंने सटासट सब बता दिया. गुरुजी बोले. इसको छोड़कर बाकी सब डेस्क पर ठाणे हो जाओ. हो गए. पर ये क्या. नरेंद्र भी हो गए. टीचर जी पूछे. अरे बेटा नरेंद्र तुम क्यों खडे़ हो गए? तो अपने वीर बालक बोले, गलती इनकी नहीं हमारी है. हम ही इन्हें कुछ बता रहे थे तो ध्यान बंधा था.

मास्टर साब कुछ दयालु रहे होंगे. तो मुस्कुरा दिए. बोले शाबाश. ये सच बोला. इनाम पूरी क्लास को मिलेगा. सब बैठ जाओ. और गाओ, 13 एकम 13.

Swami_vivekanand_old_archive


5- साल था 1900. विवेकानंद की मौत से दो साल पहले. आखिरी बार इंडिया आए थे वो. मन में खलबली मची थी. कि जल्दी से अपने दोस्तों से मिल लें. गुरुभाइयों से मीटिंग वीटिंग कर लें. बेलूर पहुंचे. भूख भी जकड़ के लगी थी. लेकिन दरवज्जे पर पहुंचे तो देखा गेट बंद. बड़े परेशान. दिमाग लगाया हिसाब लगाया. फांद गए दीवार. जाकर अटैक किया सीधे किचन में. वहां उनकी फेवरेट खिचड़ी बनी रखी थी. पूरी साफ कर गए. उनकी स्पीड देख कर किसी को लगा नहीं था कि उनकी तबियत बिगड़ जाएगी.

Swami_Vivekananda_Jaipur


 

वीडियो भी देखें: पड़ताल: अजरबैजान का ये ‘यूनेस्को धरोहर’ क्या हिंदुओं का मंदिर था?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

कौन हो तुम

जानते हो ऋतिक रोशन की पहली कमाई कितनी थी?

जानते हो ऋतिक रोशन की पहली कमाई कितनी थी?

सलमान ने ऐसा क्या कह दिया था, जिससे ऋतिक हो गए थे नाराज़? क्विज़ खेल लो. जान लो.

सलमान खान के फैन, इधर आओ क्विज खेल के बताओ

सलमान खान के फैन, इधर आओ क्विज खेल के बताओ

क्विज में सही जवाब देने वाले के लिए एक खास इनाम है.

किसान दिवस पर किसानी से जुड़े इन सवालों पर अपनी जनरल नॉलेज चेक कर लें

किसान दिवस पर किसानी से जुड़े इन सवालों पर अपनी जनरल नॉलेज चेक कर लें

कितने नंबर आए, ये बताते हुए जाइएगा.

इन नौ सवालों का जवाब दे दिया, तब मानेंगे आप ऐश्वर्या के सच्चे फैन हैं

इन नौ सवालों का जवाब दे दिया, तब मानेंगे आप ऐश्वर्या के सच्चे फैन हैं

कुछ ऐसी बातें, जो शायद आप नहीं जानते होंगे.

क्विज़: नुसरत फतेह अली खान को दिल से सुना है, तो इन सवालों का जवाब दो

क्विज़: नुसरत फतेह अली खान को दिल से सुना है, तो इन सवालों का जवाब दो

आज बड्डे है.

ये क्विज जीत नहीं पाए तो तुम्हारा बचपन बेकार गया

ये क्विज जीत नहीं पाए तो तुम्हारा बचपन बेकार गया

आज कार्टून नेटवर्क का हैपी बड्डे है.

रणबीर कपूर की मम्मी उन्हें किस नाम से बुलाती हैं?

रणबीर कपूर की मम्मी उन्हें किस नाम से बुलाती हैं?

आज यानी 28 सितंबर को उनका जन्मदिन होता है. खेलिए क्विज.

करीना कपूर के फैन हो तो इ वाला क्विज खेल के दिखाओ जरा

करीना कपूर के फैन हो तो इ वाला क्विज खेल के दिखाओ जरा

बेबो वो बेबो. क्विज उसकी खेलो. सवाल हम लिख लाए. गलत जवाब देकर डांट झेलो.

रवनीत सिंह बिट्टू, कांग्रेस का वो सांसद जिसने एक केंद्रीय मंत्री के इस्तीफे का प्लॉट तैयार कर दिया!

रवनीत सिंह बिट्टू, कांग्रेस का वो सांसद जिसने एक केंद्रीय मंत्री के इस्तीफे का प्लॉट तैयार कर दिया!

17 सितंबर को किसानों के मुद्दे पर बिट्टू ऐसा बोल गए कि सियासत में हलचल मच गई.

मोदी जी का बड्डे मना लिया? अब क्विज़ खेलकर देखो उनको कितना जानते हो मितरों

मोदी जी का बड्डे मना लिया? अब क्विज़ खेलकर देखो उनको कितना जानते हो मितरों

अच्छे नंबर चइये कि नइ चइये?