Submit your post

Follow Us

डोसा कनेक्शन से समझिए कि दुनिया में वीज़ा कितने तरह के होते हैं

करीब 17 बरस पहले की बात है. साल में दर्ज़ था 2003. भारतीय रेलवे का एक हिस्सा है- नॉर्थ-ईस्ट फ्रंटियर. मुख्यालय- गुवाहाटी. इसमें करीब 2,750 भर्तियां निकलीं. आवेदन आए – करीब सवा छह लाख. इनमें से करीब 95 हज़ार आवेदक बिहार के थे. असम के लोगों को लगा कि बिहारी उनकी नौकरियां छीन लेंगे. रिएक्शन क्या हुआ? वहां रहने वाले हिंदीभाषी लोगों के खिलाफ हिंसा. दो हफ़्ते के अंदर 50 से ज़्यादा लोग मारे गए.

इसके अलावा महाराष्ट्र में भी यूपी-बिहार के लोगों को लेकर जो माहौल बना था, उससे देश वाकिफ़ है.

इसमें कोई नई और बड़ी बात नहीं है कि लोग बेहतर मौकों की तलाश में पलायन करते हैं. फिर चाहे बिहार से मुंबई आने वाला राज मिस्त्री हो या मुंबई से अमेरिका जाने वाला आर्किटेक्ट. मैं ख़ुद यूपी का रहने वाला हूं. मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र और अब दिल्ली में रहकर काम कर रहा हूं. लेकिन अगर अमेरिका जैसा बड़ा देश बाहर के कामगारों पर पाबंदी लगा दे, तो?

ऐसा ही हुआ है.

क्या हुआ क्या है?

22 जून की रात अमेरिका के राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप ने एच-1 बी वीज़ा को साल अंत तक के लिए सस्पेंड कर दिया. ट्रंप एडमिनिस्ट्रेशन के मुताबिक, इस फैसले की दो वजहें हैं.

पहली – कोरोना.

दूसरी – अमेरिका फर्स्ट, यानी अमेरिका के लोगों के लिए ज़्यादा से ज़्यादा मौके उपलब्ध कराना.

एच-1 बी वीज़ा का सस्पेंशन 24 जून से लागू होगा. यानी इस बीच नए वीज़ा तो जारी नहीं ही होंगे. साथ ही अमेरिका में रह रहे दूसरे देशों के जिस भी व्यक्ति का वीज़ा 24 जून से लेकर साल अंत तक के बीच में एक्सपायर हो रहा होगा, उसे अब रिन्यू कराने में दिक्कत आएगी.

Untitled Design
डॉनल्ड ट्रंप ने एच-1 बी वीज़ा को साल अंत तक के लिए सस्पेंड कर दिया है.

एच-1 बी क्या होता है?

बार-बार नाम आ रहा है- एच-1 बी. सुनने में तो लगता है जैसे कोई वैक्सीन हो, जो इम्युनिटी बढ़ाने का काम करेगी.

वैक्सीन तो नहीं है, लेकिन इम्युनिटी ज़रूर मिलती है. किसे मिलती है? किसी दूसरे देश से जाकर अमेरिका में काम करने वाले लोगों को. ये वीज़ा उन्हें वहां काम करने की इजाज़त देता है. तमाम तरह के वीज़ा होते हैं. उनमें से ये एक है.

तो वीज़ा होते कुल कितने तरह के हैं?

यही तो हमारी-आपकी आज की बात का कोर एजेंडा है. जानते हैं कि वीज़ा कितने तरह के होते हैं.

1. ई-वीज़ा : ये वीज़ा ऐसे विदेशियों को दिया जाता है, जो घूमने के लिए, किसी से मिलने के लिए, इलाज के लिए या ऐसे ही कारणों से कुछ समय के लिए किसी देश आना चाह रहे हैं. पाकिस्तान वालों को ई-वीज़ा नहीं मिलता. ई-वीज़ा के लिए ऑनलाइन ही अप्लाई करना होता है, ऑनलाइन ही अप्रूव होता है. जब यात्री भारत आएगा, तब उसके पासपोर्ट पर वीज़ा का स्टैम्प लगेगा. यहीं पर उंगलियों के निशान भी लिए जाएंगे. छह महीने से लेकर सालभर तक के लिए वैलिड होता है.

2. ट्रांजिट वीज़ा : ये वीज़ा ज्यादा से ज्यादा पांच दिन के लिए वैलिड होता है. इसे तब जारी किया जाता है, जब किसी व्यक्ति को फलां देश से होकर गुजरना भर हो. वहां पर एक हॉल्ट लेकर आगे बढ़ जाना हो.

3. टूरिस्ट वीज़ा : यह वीज़ा सिर्फ घूमने-फिरने के लिए जारी किया जाता है. टूरिस्ट वीज़ा लेकर किसी देश गए हैं, तो कोई बिज़नेस एक्टिविटी नहीं कर सकते. एक साल तक वैलिड होता है.

4. बिज़नेस वीज़ा : किसी दूसरे देश में जाकर बिज़नेस एक्टिविटी करनी है, पैसा कमाना है, तो बिज़नेस वीज़ा लेना होगा. इसमें किसी पक्की नौकरी को भी शामिल किया जा सकता है और उसके लिए वर्क वीज़ा लिया जा सकता है. एक साल से ज़्यादा की भी वैलिडिटी मिल सकती है.

5. टेंपररी वर्कर वीज़ा : ये वीज़ा किसी और देश में जाकर नौकरी के लिए दिया जाता है. बिज़नेस वीज़ा की तुलना में ये कुछ ज़्यादा दिन के लिए वैलिड होता है. एच-1 बी भी एक किस्म का टेंपररी वर्क वीज़ा ही है, जो छह साल तक की वैलिडिटी देता है.

6. पार्टनर वीज़ा : एक देश में रहने वाला कोई व्यक्ति दूसरे देश मे रहने वाले अपने पार्टनर को अपने पास बुलाना चाहता है, तो पार्टनर वीज़ा लेना होता है. वैलिडिटी – दो साल तक.

7. स्टूडेंट वीज़ा : नाम से ही साफ है- दूसरे देश में जाकर पढ़ाई करने के लिए. अमूमन एक से डेढ़ साल में रिन्यू कराना होता है.

8. वर्किंग हॉलिडे वीज़ा : ये वीज़ा उन लोगों के लिए होता है, जिन्हें किसी कंपनी या ऑर्गनाइज़ेशन की तरफ से वर्किंग हॉलिडे प्रोग्राम के लिए दूसरे देश भेजा जाता है. ये वीज़ा घूमने के साथ-साथ छुट-पुट काम की भी इजाज़त देता है. छह महीने से साल भर तक वैलिड.

9. डिप्लोमेटिक वीज़ा : ये वीज़ा सिर्फ राजनयिकों के लिए होता है.

10. वीज़ा ऑन-अराइवल : कई देश वीज़ा ऑन अराइवल की सुविधा देते हैं. माने वहां के एयरपोर्ट पर उतरने पर वीज़ा लिया जा सकता है. भारत के लोगों को 50 से ज़्यादा देशों में वीज़ा ऑन अराइवल की सुविधा मिली है.

11. जर्नलिस्ट वीज़ा : एक देश से दूसरे देश किसी ख़बर से जुड़े काम के लिए जा रहे पत्रकारों के लिए. अमूमन साल भर से ज़्यादा वैलिड नहीं होता.

12. मैरिज वीज़ा : अगर एक देश का कोई व्यक्ति किसी दूसरे देश के व्यक्ति से शादी करना चाहता है और सिर्फ शादी के लिए पार्टनर को अपने देश बुलाता है, तो आने वाले को मैरिज वीज़ा के लिए अप्लाई करना होगा.

13. इमिग्रेंट वीज़ा : जब कोई व्यक्ति किसी दूसरे देश में बस ही जाना चाहता है, तो इमिग्रेंट वीज़ा लेना होता है. ये वीज़ा लेना इतना आसान नहीं होता. दूसरा देश जब आपको अपने यहां बसने की इजाज़त देने को तैयार हो, तभी मिलता है.

14. पेंशन/रिटायरमेंट वीज़ा : इस तरह का वीज़ा ऑस्ट्रेलिया और कुछ गिने-चुने देश ही देते हैं. यह उन लोगों को ही दिया जाता है, जिनका मकसद दूसरे देश में जाकर किसी तरह पैसा कमाने का नहीं होता. मान लीजिए बच्चे किसी देश में बसे हैं और बूढ़े मां-बाप उनके पास जाकर रहना चाहते हैं, तो ये वीज़ा मिल सकता है.

इतने ही वीज़ा होते हैं न?

नोप. दरअसल वीज़ा और डोसे का मामला एक जैसा होता है. कितने तरह के होते हैं, ये कभी गिना नहीं जा सकता. क्षेत्र, ज़रूरतों और अपने-अपने तरीकों के हिसाब से बदलते रहते हैं. रवा डोसा अलग है, मसाला डोसा अलग है. दोनों को मिला दिया, तो नए तरह का डोसा बन गया- रवा मसाला डोसा. एक जगह तो मैं मैगी डोसा भी खा चुका हूं.

ठीक इसी तरह, अलग-अलग देशों में वीज़ा को लेकर अलग-अलग पॉलिसी होती है. अलग-अलग ज़रूरतों, नियमों और आपके यहां जिन वजहों से विदेशियों की ज़्यादा आवन है, उसी हिसाब से देशों में वीज़ा नियम तय होते हैं.

जैसे कि हमने आपको अभी 14 तरह के वीज़ा बताए, जो आम तौर पर अधिकतर देश देते हैं. लेकिन हमारे अपने देश में ही विदेशियों को कुल 21 तरह के वीज़ा दिए जाते हैं.

इसलिए लल्लनटॉप जानकारी तो यहां मिल गई, लेकिन लल्लनटॉप सलाह भी लेते जाइए. जिस भी देश में जाइए, वहां के गृह मंत्रालय, विदेश मंत्रालय या इमिग्रेशन साइट पर जाकर पहले वीज़ा नियम अच्छे से पढ़ लीजिए. समझ लीजिए कि आपको किस तरह के वीज़ा की ज़रूरत है.

बाकी दुनिया क्षणभंगुर है. यहां मिस्टर ट्रंप एक कदम आगे निकलते हुए ‘अमेरिका फर्स्ट’ भी कर सकते हैं. आप वीज़ा लेकर विदेश में हों और ऐसा हो जाए, तो दो ही विकल्प हैं –

1. आर माधवन की फिल्म ‘राम जी लंदन वाले’ देखिए.

2. वहां के इमिग्रेशन या अपनी एंबेसी से संपर्क कर जानिए कि आगे क्या कर सकते हैं.


कोरोना वायरस के बहाने ट्रंप के USA में इमिग्रेशन रोकने का भारतीयों पर कितना असर?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

कौन हो तुम

चीन और जापान जिस द्वीप के लिए भिड़ रहे हैं, उसकी पूरी कहानी

आइए जानते हैं कि मामला अभी क्यों बढ़ा है.

भारतीयों के हाथ में जो मोबाइल फोन हैं, उनमें चीन की कितनी हिस्सेदारी है

'बॉयकॉट चाइनीज प्रॉडक्ट्स' के ट्रेंड्स के बीच ये बातें जान लीजिए.

कॉन्ट्रोवर्सियल पेंटर एमएफ हुसैन के बारे में कितना जानते हैं आप, ये क्विज खेलकर बताइये

एमएफ हुसैन की पेंटिंग और विवाद के बारे में तो गूगल करके आपने खूब जान लिया. अब ज़रा यहां कलाकारी दिखाइए.

'हिटमैन' रोहित शर्मा को आप कितना जानते हैं, ये क्विज़ खेलकर बताइए

आज 33 साल के हो गए हैं रोहित शर्मा.

क्विज़: खून में दौड़ती है देशभक्ति? तो जलियांवाला बाग के 10 सवालों के जवाब दो

जलियांवाला बाग कांड के बारे में अपनी जानकारी आप भी चेक कर लीजिए.

मधुबाला को खटका लगा हुआ था इस हीरोइन को दिलीप कुमार के साथ देखकर

एक्ट्रेस निम्मी के गुज़र जाने पर उनको याद करते हुए उनकी ज़िंदगी के कुछ किस्से

90000 डॉलर का कर्ज़ा उतारकर प्राइवेट जेट खरीद लिया था इस 'गैंबलर' ने

उस अमेरिकी सिंगर की अजीब दास्तां, जो बात करने के बजाए गाने में ज़्यादा कंफर्टेबल महसूस करता था

YES Bank शुरू करने वाले राणा कपूर कौन हैं, जिन्होंने नोटबंदी को 'मास्टरस्ट्रोक' बताया था

यस बैंक डूब रहा है.

सात साल पहले केजरीवाल ने वो बात कही थी जो आज वो ख़ुद नहीं सुनना चाहते

बरसों पुरानी इस बात की वजह से सोशल मीडिया पर घेर लिए गए हैं.

क्या भारत सरकार से पूछे बिना पाकिस्तान चली गई इंडियन कबड्डी टीम?

अब ढेरों खेल-तमाशा हो रहा है.