Submit your post

Follow Us

क्या है Tomato Flu जिसने केरल में दर्जनों बच्चे बीमार कर दिए हैं?

केरल (Kerala) का कोल्लम जिला. यहां पांच साल से कम उम्र के दर्जनों बच्चे एक नई बीमारी का शिकार हुए हैं. इस बीमारी में शरीर पर लाल छाले जैसे पड़ जाते हैं. इसलिए इसे नाम दिया गया है टोमैटो फ्लू (Tomato Flu). बीमारी नई है. और अभी इसका कोई सटीक इलाज नहीं पता है. इसलिए केरल के तमाम जिलों में सतर्कता बढ़ा दी गई है. तमिलनाडु-केरल बॉर्डर पर पुलिस और स्वास्थ्य कर्मचारी तैनात कर दिए गए हैं. आने-जाने वाले लोगों की स्क्रीनिंग की जा रही है. दूसरे पड़ोसी राज्य कर्नाटक में इसे लेकर सतर्कता बरती जा रही है.

कहां, कितना प्रकोप है?

आजतक की एक खबर के मुताबिक, केरल के कोल्लम जिले में 80 से ज्यादा बच्चे संक्रमित मिले हैं. कुछ मामले कोल्लम के अलावा अर्यानकावु, आंचल और नेंदूवाथुर जिलों से भी सामने आए हैं. केरल में मामले बढ़ने के बाद उससे सटे कर्नाटक के जिले मंगलुरु, उडुपी, कोडागु, चामराजनगर और मैसूर में निगरानी बढ़ा दी गई है. राज्य के स्वास्थ्य मंत्री के सुधाकर ने इन जिलों के लोगों को ख़ास तौर पर सावधान रहने को कहा है.

इसी तरह तमिलनाडु सरकार ने भी केरल से आने वाले यात्रियों की निगरानी करने के आदेश दिए हैं. तमिलनाडु-केरल बॉर्डर के वालायर चेकपोस्ट पर रेवेन्यू, हेल्थ और पुलिस कर्मचारियों की टीमें लगाई गई हैं. चूंकि ये फ्लू बच्चों को प्रभावित कर रहा है, इसलिए आंगनवाड़ी केन्द्रों की भी स्क्रीनिंग की जा रही है.

क्या है टोमैटो फ्लू?

टोमैटो फ्लू वायरस से होने वाली एक दुर्लभ बीमारी है. इससे संक्रमित होने वाले बच्चों के शरीर पर लाल रंग के चकत्ते या बड़े छाले पड़ जाते हैं. तेज बुखार आता है. साथ ही त्वचा में जलन और डिहाइड्रेशन की समस्या भी होती है. लाल रंग के छाले आने की वजह से इस वायरल फीवर का नाम टोमैटो फ्लू रखा गया है. अभी तक इसके बच्चों में ही फैलने के सबूत मिले हैं. केरल में जितने बच्चे इससे बीमार पड़े हैं, उन सभी की उम्र 5 साल से कम है.

फ्लू के दूसरे मामलों की तरह, टोमैटो फ्लू भी एक संक्रामक बीमारी है. हालांकि ये सेल्फ़-लिमिटिंग डिजीज है. माने अगर जरूरी देखभाल की जाए तो समय के साथ ये बीमारी खुद खत्म हो जाती है. लेकिन अभी तक इसके लिए कोई स्पेसिफ़िक दवाई नहीं बनी है.

टोमैटो फ़्लू के लक्षण

टोमैटो फ्लू के लक्षणों की बात करें तो इसमें और चिकनगुनिया में काफ़ी समानताएं हैं. इससे संक्रमित होने पर तेज बुखार, शरीर में दर्द, जोड़ों में सूजन और थकान आती है. संक्रमित बच्चों में त्वचा में जलन और लाल चकत्ते भी देखे जाते हैं. इसके अलावा संक्रमित होने पर पेट में ऐंठन, उल्टी या दस्त की शिकायत भी होती है. साथ ही हाथ और घुटनों के अलावा शरीर के कुछ अंगों का रंग भी बदल जाता है. हालांकि, इस बीमारी का स्रोत क्या है, मतलब ये कहां से आई है, इस बारे में अभी तक कुछ भी पता नहीं चला है. स्वास्थ्य अधिकारी इसका पता लगाने की कोशिश कर रहे हैं.

सावधानी क्या रखें?

चूंकि अभी टोमैटो फ्लू के बारे में ज्यादा जानकारी उपलब्ध नहीं है, और इसका कोई विशेष या पुख्ता इलाज भी नहीं है, लिहाजा संक्रमण से बचने के लिए सामान्य सावधानियां रखनी चाहिए. मेडिकल जानकार बताते हैं कि टोमैटो फ्लू के हालात में साफ़-सफ़ाई रखें, पर्याप्त पानी पीते रहें और अगर कोई लक्षण नजर आए तो डॉक्टर से संपर्क करें. बच्चों में संक्रमण है तो उन्हें आइसोलेट करने की कोशिश करें और उन्हें शरीर पर आए छालों को खुजलाने न दें.


पिछला वीडियो देखें: सरकार ने 12-14 साल के बच्चों और 60+ आयु वर्ग के लिए क्या बड़ी घोषणा कर दी?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

कौन हो तुम

धान खरीद के मुद्दे पर बीजेपी की नाक में दम करने वाले KCR की कहानी

धान खरीद के मुद्दे पर बीजेपी की नाक में दम करने वाले KCR की कहानी

KCR की बीजेपी से खुन्नस की वजह क्या है?

कौन हैं सीवान के खान ब्रदर्स, जिनसे शहाबुद्दीन की पत्नी को डर लगता है?

कौन हैं सीवान के खान ब्रदर्स, जिनसे शहाबुद्दीन की पत्नी को डर लगता है?

सीवान के खान बंधुओं की कहानी, जिन्हें शहाबुद्दीन जैसा दबदबा चाहिए था.

'द्रविड़ ने बहुत नाजुक शब्दों से मुझे धराशायी कर दिया था'

'द्रविड़ ने बहुत नाजुक शब्दों से मुझे धराशायी कर दिया था'

रामचंद्र गुहा की किताब 'क्रिकेट का कॉमनवेल्थ' के कुछ अंश.

पहले स्पाइडरमैन टोबी मैग्वायर की कहानी, जिनका सबसे हिट रोल उनके लिए शाप बन गया

पहले स्पाइडरमैन टोबी मैग्वायर की कहानी, जिनका सबसे हिट रोल उनके लिए शाप बन गया

शुद्ध और असली स्पाइडरमैन टोबी मैग्वायर करियर ग्राफ़ बाद में गिरता ही चला गया.

10 साल पहले भी शाहरुख़ का समीर वानखेड़े से सामना हुआ था, समीर ने ठोका था तगड़ा जुर्माना

10 साल पहले भी शाहरुख़ का समीर वानखेड़े से सामना हुआ था, समीर ने ठोका था तगड़ा जुर्माना

जगह थी मुंबई एयरपोर्ट. अब दस साल बाद फिर से दोनों का नाम एक साथ सुर्ख़ियों में है.

'स्क्विड गेम' के प्लेयर नंबर 199 'अली' की कहानी, जिनके इंडियन होने ने सीरीज़ में एक्स्ट्रा मज़ा दिया

'स्क्विड गेम' के प्लेयर नंबर 199 'अली' की कहानी, जिनके इंडियन होने ने सीरीज़ में एक्स्ट्रा मज़ा दिया

अली का रोल करने वाले इंडियन एक्टर अनुपम त्रिपाठी का सलमान-शाहरुख़ कनेक्शन क्या है?

IPL का कित्ता ज्ञान है, ये क़्विज़ खेलकर चेक कल्लो!

IPL का कित्ता ज्ञान है, ये क़्विज़ खेलकर चेक कल्लो!

ईमानदारी से स्कोर भी बताते जाना. हम इंतज़ार करेंगे.

'मनी हाइस्ट' वाले प्रोफेसर की पूरी कहानी, जिनकी पत्नी ने कहा था, 'कभी फेमस नहीं हो पाओगे'

'मनी हाइस्ट' वाले प्रोफेसर की पूरी कहानी, जिनकी पत्नी ने कहा था, 'कभी फेमस नहीं हो पाओगे'

अलवारो मोर्टे ने वेटर तक का काम किया हुआ है. और एक वक्त तो ऐसा था कि बकौल उनके कैंसर से जान जाने वाली थी.

एक्टर शरत सक्सेना की कहानी, जिन्होंने 71 साल की उम्र में ज़बरदस्त बॉडी बनाकर सबको चौंका दिया

एक्टर शरत सक्सेना की कहानी, जिन्होंने 71 साल की उम्र में ज़बरदस्त बॉडी बनाकर सबको चौंका दिया

हीरो बनने आए शरत सक्सेना कैसे गुंडे का चमचा बनने पर मजबूर हुए?

'भीगे होंठ तेरे' वाले कुणाल गांजावाला आजकल कहाँ हैं?

'भीगे होंठ तेरे' वाले कुणाल गांजावाला आजकल कहाँ हैं?

एक वक़्त इंडस्ट्री में टॉप पर थे कुणाल और उनके गाने पार्टियों की जान हुआ करते थे.