Submit your post

Follow Us

पैंगोलिन खाने से फैला कोरोना वायरस!

कोरोना वायरस. जानवर से इंसान में आया. इस पर लगभग सब साइंटिस्ट एकमत हैं. कौन से जानवर से. इसे लेकर राय बंटी है. पहले कहा गया, सांप, फिर बात आई चमगादड़ की और अब नाम लिया जा रहा है पैंगोलिन का. हिंदी में इस जानवर को चींटीखोर कहते हैं.

चीन के लोगों ने इस चींटीखोर को खाया. और फिर वायरस इंसानों में दाखिल हो गया. इस दावे का आधार क्या है. चीनी साइंटिस्ट के मुताबिक पैंगोलिन और कोरोना वायरस से पीड़ित इंसानों का जीनोम यानी Genes का समूह 99 प्रतिशत तक मिलता-जुलता है. साउथ चाइना एग्रीकल्चरल यूनिवर्सिटी के दो वैज्ञानिकों ने दावा किया है कि कोरोना वायरस को फैलाने में पैंगोलिन संभावित माध्यम है. यह वायरस चमगादड़ से पैंगोलिन में आया और पैंगोलिन से इंसान में. आप पूछ सकते हैं कि किससे आया, ये जानना जरूरी क्यों हैं इतना. ये जरूरी है क्योंकि तभी इलाज खोजने में आसानी होगी. अब बात पैंगोलिन की.

Corona China
कोरोना वायरस के मरीजों को अस्पताल लाने वाला स्टाफ, इलाज करने वाले डॉक्टर खास किस्म का सूट पहन रहे हैं, ताकि इंफेक्शन न हो. (फोटो- Twitter | WHO)

हमारा बहुत ही ज्यादा दूर का रिश्तेदार है पैंगोलिन

हम मनुष्य स्तनधारी. पैंगोलिन भी. बस. रिश्तेदारी यहीं खत्म. पैंगोलिन ज्यादातर जंगल में पाया जाता है. इसके शरीर पर शल्क (स्केल) जैसी संरचना होती है. इसी के जरिए वह खुद की रक्षा करता है. इसके पिछले पैर बड़े और मजबूत होते हैं. आगे के पैर छोटे. और इन छोटे पैरों के नाखून लंबे. नाखूनों को यह मिट्टी खोदने, चींटी खोजने में इस्तेमाल करता है. फिर अपनी लंबी जीभ से शिकार करता है. यही इसका काम है और यही इसका आहार. पैंगोलिन हमारे हिसाब से अमेरिकन शिफ्ट करता है. मतलब दिन में सोता है और रात में काम पर निकलता है.

आसपास खतरा होने पर पैंगोलिन गेंद की तरह हो जाता है. और चेहरे को पूंछ के नीचे छुपा लेता है. यह जानवर लुप्त होने की कगार पर है और इसीलिए संरक्षित श्रेणी में है.

पेट में कैसे पहुंचा पैंगोलिन

कोरोना आया चीन के वुहान से. वहां एक चर्चित सीफूड मार्केट है. हुनने के नाम से. यहां हर तरह के दुर्लभ जानवरों का मीट बिकता है. पैंगोलिन का भी. सबसे पहले यहीं के दुकानदारों को कोरोना हुआ. बाजार बंद है, जांच जारी है. चीनी दावा आपने पढ़ा सुना. बाकी विशेषज्ञ पैंगोलिन कनेक्शन पर क्या कह रहे हैं

पैंगोलिन काफी शर्मिला जानवर होता है. (Getty)
पैंगोलिन काफी शर्मिला जानवर होता है. (Getty)

पैंगोलिन के जरिए कोरोना फैलने की बात कनफर्म नहीं की जा सकती. स्टडी का पूरा डेटा रिलीज नहीं किया गया है.– बीबीसी से बात करते हुए ब्रिटिश एक्सपर्ट्स

यह बहुत दिलचस्प ऑब्जरवेशन है लेकिन इससे यह साबित नहीं होता है कि पैंगोलिन के जरिए कोरोना वायरस इंसानों में फैला. इससे यह जरूर साबित होता है कि पैंगोलिन में कुछ ऐसा है जो कोरोना वायरस से बहुत मैच करता है और नज़दीक है.– नेचर मैगजीन से बातचीत में एडवर्ड होम्स, ऑस्ट्रेलिया के वायरोलॉजिस्ट

पैंगोलिन का कई तरह की दवाओं में भी इस्तेमाल होता है.
पैंगोलिन का कई तरह की दवाओं में भी इस्तेमाल होता है.

पुअर पैंगोलिन

नेशनल जियोग्राफिक मैगजीन के मुताबिक, दुनिया में पैंगोलिन की सबसे ज्यादा तस्करी की जाती है. हर साल लगभग एक लाख. चीन और वियतनाम जैसे देशों में इसके मांस की बहुत डिमांड है. चीन में पैंगोलिन बेचते पाए जाने पर 10 साल की सजा हो सकती है. फिर भी हर साल हजारों पैंगोलिन का शिकार होता है. चाइना बायोडायवर्सिटी एंड ग्रीन डवलपमेंट फाउंडेशन नाम के NGO का कहना है कि चीन में 200 से ज्यादा दवा कंपनियां पैंगोलिन से 60 तरह की दवाएं बनाती हैं.

पैंगोलिन की सबसे ज्यादा तस्करी होती है. (File)
पैंगोलिन की सबसे ज्यादा तस्करी होती है. (File)

 

बात सिर्फ मांस की नहीं है. इसके शल्क (स्केल्स) भी बहुत महंगे बिकते हैं. एक किलो पैंगोलिन शल्क की कीमत लगभग साढ़े तीन लाख रुपये है. क्या होता है इतने महंगे शल्क का. चीन वाले पारंपरिक दवाई के मटीरियल के तौर पर इसे यूज करते हैं. स्केल्स को तेल, मक्खन, सिरका या पेशाब में पकाया जाता है. इससे बहरेपन, मलेरिया और बच्चों के रोने के इलाज का दावा किया जाता है.

चीनी ओझा झाड़ फूंक में भी इन्हें यूज करते हैं. बात सिर्फ गांव के लोगों की नहीं है. न्यूयार्क टाइम्स की एक रिपोर्ट के मुताबिक 2015 में हुए एक सर्वे में 70 फीसद चीनी नागरिकों ने माना था कि पैंगोलिन खाने से स्किन की बीमारी में और घाव भरने में मदद मिलती है.

ये तो हुई पैंगोलिन की पीड़ा भरी कथा. फिलहाल कोरोना कथा चल रही है.


Video: जानिए कोरोनावायरस के बारे में सबकुछ, जो चीन के बाद भारत में भी आ सकता है

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

कौन हो तुम

विधायक विजय मिश्रा, जिन्हें यूपी पुलिस लाने लगी तो बेटियां बोलीं- गाड़ी नहीं पलटनी चाहिए

विधायक विजय मिश्रा, जिन्हें यूपी पुलिस लाने लगी तो बेटियां बोलीं- गाड़ी नहीं पलटनी चाहिए

चलिए, विधायक जी की कन्नी-काटी जानते हैं.

नेशनल हैंडलूम डे: और ये है चित्र देखो, साड़ी पहचानो वाली क्विज

नेशनल हैंडलूम डे: और ये है चित्र देखो, साड़ी पहचानो वाली क्विज

कभी सोचा नहीं होगा कि लल्लन साड़ियों पर भी क्विज बना सकता है. खेलो औऱ स्कोर करो.

सौरव गांगुली पर क्विज़!

सौरव गांगुली पर क्विज़!

सौरव गांगुली पर क्विज़. अपना ज्ञान यहां चेक कल्लो!

कॉन्ट्रोवर्सियल पेंटर एमएफ हुसैन के बारे में कितना जानते हैं आप, ये क्विज खेलकर बताइये

कॉन्ट्रोवर्सियल पेंटर एमएफ हुसैन के बारे में कितना जानते हैं आप, ये क्विज खेलकर बताइये

एमएफ हुसैन की पेंटिंग और विवाद के बारे में तो गूगल करके आपने खूब जान लिया. अब ज़रा यहां कलाकारी दिखाइए.

'हिटमैन' रोहित शर्मा को आप कितना जानते हैं, ये क्विज़ खेलकर बताइए

'हिटमैन' रोहित शर्मा को आप कितना जानते हैं, ये क्विज़ खेलकर बताइए

आज 33 साल के हो गए हैं रोहित शर्मा.

क्विज़: खून में दौड़ती है देशभक्ति? तो जलियांवाला बाग के 10 सवालों के जवाब दो

क्विज़: खून में दौड़ती है देशभक्ति? तो जलियांवाला बाग के 10 सवालों के जवाब दो

जलियांवाला बाग कांड के बारे में अपनी जानकारी आप भी चेक कर लीजिए.

बजट का कितना ज्ञान है, ये क्विज़ खेलकर चेक कर लो!

बजट का कितना ज्ञान है, ये क्विज़ खेलकर चेक कर लो!

कितना नंबर पाया, बताते हुए जाना. #Budget2020

संविधान के कितने बड़े जानकार हैं आप?

संविधान के कितने बड़े जानकार हैं आप?

ये क्विज़ जीत लिया तो आप जीनियस हुए.

क्रिकेट के पक्के वाले फैन हो तो इस क्विज़ को जीतकर बताओ

क्रिकेट के पक्के वाले फैन हो तो इस क्विज़ को जीतकर बताओ

कित्ता नंबर मिला, सच-सच बताना.

सलमान खान के फैन, इधर आओ क्विज खेल के बताओ

सलमान खान के फैन, इधर आओ क्विज खेल के बताओ

क्विज में सही जवाब देने वाले के लिए एक खास इनाम है.