Submit your post

Follow Us

महेंद्र सिंह धोनी का वह लकी मैस्कॉट, जिसने बिना फाइनल खेले ही भारत को दो वर्ल्ड कप जिता दिए

एक खिलाड़ी.

  • सिर्फ 15 साल की उम्र में इंडिया अंडर-19 और उत्तर प्रदेश अंडर-22 दोनों के लिए खेला.
  • टीम इंडिया के साथ दो वर्ल्ड कप जीते.
  • काउंटी क्रिकेट में अपने पहले ही मैच में आठ विकेट लेने के साथ ही 86 बॉल्स पर 102 रन भी मारे.
  • फर्स्ट क्लास डेब्यू से पहले सचिन तेंडुलकर को गुगली पर बोल्ड मारा.
  • अपने पहले ही फर्स्ट क्लास सीजन में 35 विकेट्स लेने के साथ 224 रन भी बनाए और यूपी को पहली बार रणजी ट्रॉफी जिताई.

इंडियन क्रिकेट टीम के लिए टेस्ट डेब्यू करने वाला दूसरा सबसे युवा क्रिकेटर. भारत के लिए दो वर्ल्ड कप जीतने वाली टीम का हिस्सा रहे चंद क्रिकेटर्स में शामिल. अब तक की लाइंस पढ़कर आपको लग रहा होगा कि हम इंडियन क्रिकेट के बहुत बड़े दिग्गज की बात कर रहे हैं. लेकिन यहां हम आपको निराश करना चाहेंगे. क्रिकेटर तो वह तगड़ा है लेकिन उसका करियर इतना बड़ा नहीं रहा कि उसे दिग्गज भारतीय क्रिकेटर कहा जा सके. हम बात कर रहे हैं पीयूष चावला की.

# चौंकाने वाले चावला

चेहरे से अब भी टीनेजर लगने वाले चावला का जन्म 24 दिसंबर 1988 में हुआ था. इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) के इतिहास में 4000 से ज्यादा रन देने वाले इकलौते बोलर चावला IPL2020 की नीलामी में 6.75 करोड़ में बिके हैं. यह इस साल किसी भी भारतीय क्रिकेटर के लिए चुकाई गई सबसे बड़ी रकम है. चावला के करियर की यही खासियत है. उन्होंने हर बार लोगों को चौंकाया है.

साल 2005-06 की चैलेंजर ट्रोफी. यूपी के एक 16-17 साल के लड़के ने सचिन तेंडुलकर को बोल्ड मार दिया. सचिन के बाद उसने इसी मैच में युवराज सिंह और महेंद्र सिंह धोनी को भी चलता कर दिया.

# अंडर-19 का हीरो

इसके बाद हुआ साल 2006 का अंडर-19 वर्ल्ड कप.पीयूष चावला नाम का यह लड़का, जो कई साल से अंडर-19 टीम इंडिया का हिस्सा था, भारत के लिए वर्ल्ड कप खेलने पहुंचा. इस वर्ल्ड कप ने क्रिकेट को कई सितारे दिए जिसमें आरोन फिंच, डेविड वॉर्नर, शाकिब अल हसन, मार्टिन गप्टिल, एंजेलो मैथ्यूज, सुनील नरेन, कीरन पोलार्ड, रोहित शर्मा, चेतेश्वर पुजारा, रविंद्र जडेजा और मनीष पांडेय जैसे दिग्गज शामिल हैं.

Piyush Chawla Suresh Raina
Piyush Chawla और Suresh Raina की फाइल फोटो (क्रिकइंफो से साभार)

श्रीलंका में हुए इस वर्ल्ड कप का फाइनल 19 फरवरी 2006 को खेला गया था. इस फाइनल में भारत और पाकिस्तान पहुंचे थे. पहले बैटिंग करते हुए पाकिस्तान की टीम 109 के टोटल पर सिमट गई. पीयूष चावला ने इस मैच में 8.1 ओवर्स में सिर्फ आठ रन देकर चार विकेट लिए. 110 के टार्गेट को चेज करने उतरी भारतीय टीम ने सिर्फ 9 रन पर 6 विकेट गंवा दिए. 

रविंद्र जडेजा के रूप में सातवां विकेट भी 23 के टोटल पर गिर गया. यहां से पीयूष चावला ने टेलेंडर्स… (आइरनी देखिए कि एक टेलेंडर, टेलेंडर्स के साथ मिलकर पारी आगे बढ़ा रहा है) के साथ मिलकर टीम को 71 के टोटल पर पहुंचाया. टीम 71 पर सिमटी जिसमें पीयूष ने सबसे ज्यादा नॉटआउट 25 रन बनाए.

# टेस्ट डेब्यू का रिकॉर्ड

कट टू 9 मार्च 2006, मोहाली. राहुल द्रविड़ वाली इंडियन क्रिकेट टीम इंग्लैंड के खिलाफ सीरीज का दूसरा टेस्ट मैच खेलने उतरी. इस टीम में 17 साल, दो महीने और 16 दिन के पीयूष चावला भी खेलने उतरे. यहां उतरते ही चावला भारत के लिए टेस्ट डेब्यू करने वाले दूसरे सबसे युवा क्रिकेटर बन गए. इनसे कम उम्र में सिर्फ सचिन तेंडुलकर ने भारत के लिए टेस्ट क्रिकेट खेला है. सचिन ने अपना पहला टेस्ट 16 साल, 6 महीने और 25 दिन की उम्र में खेला था.

Piyush Chawla Test Credit B
Piyush Chawla की फाइल फोटो BCCI से साभार

# जीत ली दुनिया

अगले ही साल पीयूष पहला टी20 वर्ल्ड कप खेल रही टीम इंडिया का हिस्सा थे. भारत ने यह वर्ल्ड कप जीत भी लिया. इस तरह अपने डेब्यू के अगले ही साल पीयूष वर्ल्ड चैंपियन बन चुके थे. इतनी कम उम्र में वर्ल्ड चैंपियन बनने के बाद आमतौर पर प्लेयर्स का करियर ऊपर जाता है, लेकिन पीयूष के साथ ऐसा नहीं हुआ.

पीयूष छिटपुट मैच खेलने के बाद बड़े लेवल पर एक बार फिर साल 2011 में चर्चा में आए. उन्हें एक और वर्ल्ड कप के लिए चुना गया. बताया गया कि धोनी को लगता है कि पीयूष उनके लकी मैस्कट हैं. इंडिया टुडे के मुताबिक़ उस वक्त एक पूर्व इंडियन क्रिकेटर ने कहा था,

‘कैप्टन महेंद्र सिंह धोनी को लगता है कि चावला ने ICC वर्ल्ड ट्वेंटी20 की स्क्वॉड में रहकर टीम को वर्ल्ड चैंपियन बनाने में मदद की थी. उन्हें लगता है कि वह टीम के लकी मैस्कट हैं’

उनकी ये बात सही भी साबित हुई. भारत ने यह वर्ल्ड कप भी जीता और पीयूष के खाते में आ गया एक और वर्ल्ड कप. अपने पहले टेस्ट में सिर्फ एक विकेट लेने वाले पीयूष ने अपने करियर में अब तक कुल तीन टेस्ट, 25 वनडे और सात T20I मैच खेले हैं. इन मैचों में उन्होंने कुल 43 विकेट्स लिए हैं.

# IPL में नया ठिकाना

इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) की शुरुआत से ही इसका हिस्सा रहे पीयूष ने कोलकाता नाइट राइ़डर्स को उनका दूसरा IPL जिताने में बड़ा रोल प्ले किया था. पीयूष ने साल 2014 में किंग्स XI पंजाब के खिलाफ हुए इस फाइनल में चौका मारकर अपनी टीम को जीत दिलाई थी. इससे पहले 19वें ओवर में उन्होंने मिशेल जॉनसन की बॉल पर लंबा छक्का भी मारा था.

अपने IPL करियर में किंग्स XI पंजाब और KKR के लिए खेल चुके पीयूष अब चेन्नई सुपरकिंग्स (CSK) के साथ खेलने के लिए तैयार हैं.

# उपसंहार

साल 2008. हैदराबाद में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ एक प्रैक्टिस मैच में चावला बोल लेकर भागते हुए आए. अंपायर को क्रॉस किया, हाथ घुमाया लेकिन बॉल नहीं डाली. अंपायर ने उनके पैर को क्रीज़ से बाहर देखा और तुरंत इसे नो बॉल करार दे दिया. बॉल अपने हाथ में लिए चावला चौंक गए. और तुरंत ही उन्होंने अंपायर से माफी मांगी.

चावला का पूरा करियर इस एक घटना में समेटा जा सकता है. वह आए… डेब्यू किया…टिक नहीं पाए. लोगों को चौंकाया और अब अपने टैलेंट से माफी मांग रहे होंगे.


जिसे भारत ने 21 सालों तक एक भी मैच नहीं खिलाया, उसे साउथ अफ्रीका ने कोच बना लिया है

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

कौन हो तुम

संविधान के कितने बड़े जानकार हैं आप?

ये क्विज़ जीत लिया तो आप जीनियस हुए.

क्रिकेट के पक्के वाले फैन हो तो इस क्विज़ को जीतकर बताओ

कित्ता नंबर मिला, सच-सच बताना.

सलमान खान के फैन, इधर आओ क्विज खेल के बताओ

क्विज में सही जवाब देने वाले के लिए एक खास इनाम है.

QUIZ: देश के सबसे महान स्पोर्टसमैन को कितना जानते हैं आप?

आज इस जादूगर की बरसी है.

चाचा शरद पवार ने ये बातें समझी होती तो शायद भतीजे अजित पवार धोखा नहीं देते

शुरुआत 2004 से हुई थी, 2019 आते-आते बात यहां तक पहुंच गई.

रिव्यू पिटीशन क्या होता है? कौन, क्यों, कब दाखिल कर सकता है?

अयोध्या पर फैसले के खिलाफ ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड रिव्यू पिटीशन दायर करने जा रहा है.

इन नौ सवालों का जवाब दे दिया, तब मानेंगे आप ऐश्वर्या के सच्चे फैन हैं

कुछ ऐसी बातें, जो शायद आप नहीं जानते होंगे.

अमिताभ बच्चन तो ठीक हैं, दादा साहेब फाल्के के बारे में कितना जानते हो?

खुद पर है विश्वास तो आ जाओ मैदान में.

‘ताई तो कहती है, ऐसी लंबी-लंबी अंगुलियां चुडै़ल की होती हैं’

एक कहानी रोज़ में आज पढ़िए शिवानी की चन्नी.

मोदी जी का बड्डे मना लिया? अब क्विज़ खेलकर देखो कितना जानते हो उनको

मितरों! अच्छे नंबर चइये कि नइ चइये?