Submit your post

Follow Us

विदेश में हिंदुओं की छवि देखकर बहुत शर्मिंदा हुए मारिको कंपनी के मालिक

सर…क्या आप भारत से हैं? हमने अख़बारों में पढ़ा है कि हिंदू अपने इर्द-गिर्द मुसलमानों को नहीं देखना चाहते हैं. इसीलिए हम थोड़े परेशान थे.

ये पंक्ति एक विदेशी ने कही. एक हिंदुस्तानी से, जो कि छुट्टियां मनाने भारत से बाहर गया था. ये पूरी बातचीत पढ़कर आप कैसा महसूस करेंगे, हमें नहीं मालूम. मगर हम तो शर्म से कट गए जैसे. शर्मिंदगी से सिर गड़ गया हमारा.

किशोर मारीवाला. ये एक कारोबारी हैं. इनकी कंपनी है- Marico. जिसके चेयरमैन हैं इनके भतीजे हर्ष मारीवाला. Marico भारत की अगड़ी कंज्यूमर गुड्स कंपनी है. पैराशूट तेल, सफोला, हेयर ऐंड केयर, लिवॉन ये सब इसी कंपनी के ब्रैंड हैं. बचपन में जूं होने पर जो मेडिकर शैंपू लगाते थे न, वो भी इनकी ही कंपनी का है. किशोर मारीवाला को समंदर और जहाजों से बड़ी मुहब्बत है. वो ख़ुद भी एक नाविक हैं. तो हुआ ये कि किशोर समंदर में थोड़ा समय गुज़ारना चाहते थे. इसीलिए वो पहुंचे थाइलैंड. वहां उन्होंने किराये पर एक हफ़्ते के लिए यॉट बुक कराई. यॉट के साथ एक कैप्टन को भी होना था. 4 जनवरी को जब किशोर थाइलैंड पहुंचे, तो यॉट की बुकिंग से जुड़ा काम फाइनल करने वो पहुंचे उस चार्टिंग कंपनी के दफ़्तर. वहां ऑफिस में एक रिसेप्शनिस्ट ने उनसे ज़रूरी कागज़ात लिए. बाकी सारी जानकारियां दर्ज़ कीं और फिर सवाल किया-

रिसेप्शनिस्ट- सर, आप भारत से आए हैं. क्या आप हिंदू हैं?
किशोर- हां, मगर आप ये क्यों पूछ रही हैं?

इसके बाद रिसेप्शनिस्ट अपने मैनेजर को बुलाकर लाई. मैनेजर और रिसेप्शनिस्ट, दोनों थाई भाषा में कुछ बातें करने लगे. इसके बाद मैनेजर ने किशोर से कहा-

मैनेजर- सर, हमारे सारे स्किपर (यॉट का कैप्टन) बाकी यॉट के साथ गए हुए हैं. बस एक ही स्किपर अभी मौजूद है, लेकिन वो मुस्लिम है. उम्मीद करता हूं कि आपको ये बुरा नहीं लगेगा.

किशोर- आप मुझसे ये सवाल क्यों कर रहे हैं? मुझे क्यों बुरा लगेगा?

मैनेजर- सर, हमने अख़बारों में पढ़ा है कि हिंदू अपने इर्द-गिर्द मुसलमानों को नहीं देखना चाहते हैं. इसीलिए हम इस बात को लेकर परेशान थे.

5 जनवरी को किशोर मारीवाला ने अपने एक फेसबुक पोस्ट में ये बात लिखी. उन्होंने लिखा है-

मैं बता नहीं सकता कि उस मैनेजर की बात सुनकर मुझे कितनी शर्मिंदगी महसूस हुई. मैंने उसे समझाया कि न केवल मैं, बल्कि ज़्यादातर सभ्य हिंदू उस तरीके का बर्ताव नहीं करते जिसके बारे में उन्होंने अख़बारों में पढ़ा है.

किशोर आगे लिखते हैं-

क्या विदेश में हमारी यही छवि रह गई है? क्या बाहर के आम लोग हमारे बारे में यही सोचते हैं? मैं बहुत शर्मिंदा हूं. मैं बहुत शर्मिंदगी महसूस कर रहा हूं.

किशोर मारीवाला ने थाइलैंड की अपनी ये आपबीती 5 जनवरी को फेसबुक पर बताई. ये ख़बर लिखे जाने तक ढाई हज़ार से ज़्यादा लोग उनकी ये पोस्ट शेयर कर चुके हैं.
किशोर मारीवाला ने थाइलैंड की अपनी ये आपबीती 5 जनवरी को फेसबुक पर बताई. ये ख़बर लिखे जाने तक ढाई हज़ार से ज़्यादा लोग उनकी ये पोस्ट शेयर कर चुके हैं.

इस ख़बर में आगे कुछ नहीं बच जाता है बताने को. लेकिन इससे आगे सोचने-समझने को बहुत कुछ है. लोग कहते हैं, उन्हें इस देश से मुहब्बत है. जो कोई अपने वतन से सच में प्यार करे, तो हमवतनों से नफ़रत कैसे करेगा? हो सकता है आप कहें कि विदेशी मीडिया पक्षपाती है. सोचें कि भारत के बहुसंख्यकों के बारे में बाहर झूठी बातें फैलाई जा रही हैं. लेकिन फिर अपने आसपास देखिए. क्या आपको सच में नफ़रत नहीं दिखती लोगों में. क्या धार्मिक असहिष्णुता नज़र नहीं आती? एक अजीब सा आक्रामक और ज़हरीला माहौल नहीं दिखता आस-पास?

 

जैसे आप विदेशों के बारे में ख़बरें पढ़ते-सुनते-देखते हैं. इसके आधार पर उस मुल्क और उसकी आबादी के बारे में राय बनाते हैं. उसी तरह हमारे यहां हो रही चीजों के बारे में बाहर लोग पढ़-सुन-देख रहे हैं. आप उनको राय बनाने से नहीं रोक सकते. और अगर आपको थाइलैंड के उस मैनेजर, उस रिसेप्शनिस्ट की हिंदुस्तानी हिंदुओं के बारे में बनी राय जानकर शर्मिंदगी नहीं हो रही, तो बॉस आप भी शायद उसी जमात में हैं जिनकी वजह से हम सबकी थू-थू हो रही है.

फोर्ब्स की ‘Billionaires 2019’ लिस्ट में 1,227 नंबर पर था किशोर मारीवाला का नाम. फोर्ब्स पर किशोर की प्रोफाइल देखने के लिए इस लिंक पर क्लिक कीजिए.  


JNU हिंसा: प्रत्यक्षदर्शी, छात्रसंघ, ABVP और दिल्ली पुलिस क्या कह रही है?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

कौन हो तुम

YES Bank शुरू करने वाले राणा कपूर कौन हैं, जिन्होंने नोटबंदी को 'मास्टरस्ट्रोक' बताया था

यस बैंक डूब रहा है.

सात साल पहले केजरीवाल ने वो बात कही थी जो आज वो ख़ुद नहीं सुनना चाहते

बरसों पुरानी इस बात की वजह से सोशल मीडिया पर घेर लिए गए हैं.

क्या भारत सरकार से पूछे बिना पाकिस्तान चली गई इंडियन कबड्डी टीम?

अब ढेरों खेल-तमाशा हो रहा है.

बजट का कितना ज्ञान है, ये क्विज़ खेलकर चेक कर लो!

कितना नंबर पाया, बताते हुए जाना. #Budget2020

संविधान के कितने बड़े जानकार हैं आप?

ये क्विज़ जीत लिया तो आप जीनियस हुए.

क्रिकेट के पक्के वाले फैन हो तो इस क्विज़ को जीतकर बताओ

कित्ता नंबर मिला, सच-सच बताना.

सलमान खान के फैन, इधर आओ क्विज खेल के बताओ

क्विज में सही जवाब देने वाले के लिए एक खास इनाम है.

QUIZ: देश के सबसे महान स्पोर्टसमैन को कितना जानते हैं आप?

आज इस जादूगर की बरसी है.

चाचा शरद पवार ने ये बातें समझी होती तो शायद भतीजे अजित पवार धोखा नहीं देते

शुरुआत 2004 से हुई थी, 2019 आते-आते बात यहां तक पहुंच गई.

रिव्यू पिटीशन क्या होता है? कौन, क्यों, कब दाखिल कर सकता है?

अयोध्या पर फैसले के खिलाफ ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड रिव्यू पिटीशन दायर करने जा रहा है.