Submit your post

Follow Us

जिन्हें लगता है कि भारत की GDP 23.9% नहीं सिकुड़ी, वो तो ये ख़बर ज़रूर ही पढ़ें

अगर आप अर्थव्यवस्था से जुड़ी हुई ख़बरों में ज़रा भी रुचि रखते हैं तो बीते दिनों में आपने लल्लनटॉप पर खबर देखी होगी. इसमें बताया गया कि भारत में अप्रैल से जून 2020 की तिमाही में 2019 की इसी तिमाही के मुकाबले जीडीपी 23.9 प्रतिशत सिकुड़ गई. इसकी जानकारी लल्लनटॉप ने आपको 1 सितंबर को दी थी. हमारी खबर में हमने तफसील से बताया था कि अर्थव्यवस्था के अलग-अलग सेक्टर्स से जुड़े आंकड़े क्या कहते हैं और इसका आपके जीवन से क्या ताल्लुक है?

इस वीडियो में हमने एक इंफोग्राफिक का इस्तेमाल किया था, जिसे बिज़नेस टुडे ने तैयार किया था. बिज़नेस टुडे आर्थिक मामलों पर इंडिया टुडे समूह की पत्रिका है. आपने इसका ऑनलाइन संस्करण भी देखा होगा.

27 सितंबर को रिलीज़ किया गया बिज़नेस टुडे का इंफोग्राफ.
जीडीपी में गिरावट पर सबसे पहले रिलीज़ किया गया बिज़नेस टुडे का इंफोग्राफिक.

इन आंकड़ों पर चर्चा हुई तो कुछ ने इसे ग़लत बताना शुरू कर दिया. कुछ ने अज्ञानतावश और कुछ ने शायद जानबूझकर. ग़लत कहने वालों का दावा था कि भारत से बुरी स्थिति अमेरिका की रही है, क़रीब 33 प्रतिशत GDP गिरी है, लेकिन बिजनेस टुडे ने वो नहीं दिखाया.

सच क्या है?

पाठकों के सवालों के बाद हमने दोबारा अपना इंफोग्राफिक जांचा. सही बात फिर से आपके सामने रख रहे हैं. सच यही है कि अर्थव्यवस्था को लेकर न लल्लनटॉप की रिपॉर्ट और न ही बिज़नेस टुडे के इंफोग्राफिक में कोई खामी थी.

इस खबर पर लल्लनटॉप ने बिज़नेस टुडे के संपादक राजीव दुबे से बात की. उन्होंने हमें बताया कि दरअसल जीडीपी को आमतौर पर दो तरीके से दिखाया जाता है. Y-O-Y माने ईयर ऑन ईयर या फिर Q-O-Q माने क्वार्टर ऑन क्वार्टर. YoY काम मतलब है बीते साल की उसी तिमाही से तुलना और QoQ का मलतब है पिछली तिमाही से इस तिमाही की तुलना.

अप्रैल से जून 2020 वाली तिमाही की Y0Y तुलना का मतलब हुआ अप्रैल से जून 2019 वाली तिमाही से तुलना. अप्रैल से जून 2020 वाली तिमाही की QoQ तुलना का मतलब हुआ जनवरी से मार्च 2019 वाली तिमाही से तुलना.

YoY तुलना के आधार पर बिजनेस टुडे ने भारत की GDP में 23.9 प्रतिशत सिकुड़न की बात बताई है. इस इंफोग्राफिक में जो भी आंकड़े दिख रहे हैं, जैसे- भारत में 23.9 प्रतिशत की गिरावट, अमेरिका में 9.1 प्रतिशत की गिरावट या फिर चीन में 3.2 प्रतिशत की बढ़ोतरी, ये सब रियल टाइम डेटा है. यानी ये सब हुआ है. ये सब सरकारी आंकड़े हैं.

भ्रम कहां है?

सोशल मीडिया पर लोग मीडिया रिपोर्ट्स के हवाले से दावा कर रहे हैं कि अमेरिका में क़रीब 32-33 प्रतिशत की गिरावट देखी गई है. यहां भ्रम है. दरअसल, अमेरिका में 32 प्रतिशत की गिरावट का दावा डेटा का एक्सट्रापोलेशन है. यानी सीमित डेटा के आधार पर कहा गया है कि GDP में सालाना इतनी सिकुड़न हो सकती है.

ये एनुअलाइज़्ड डेटा है. आसान भाषा में समझें तो एनुअलाइज़्ड डेटा का मतलब है, किसी एक छोटी अवधि (उदारहण के लिए एक महीने) के आंकड़ों के आधार पर कहना कि साल में कितनी गिरावट या बढ़ोतरी होने की संभावना है.

किसी ने बिज़नेस टु़डे के ग्राफिक से छेड़छाड़ करके अमेरिका के नंबर्स को 32.9 प्रतिशत बता दिया. ये ग़लत है. अमेरिका के लिए ये सालाना अनुमानित आंकड़ा है, किसी एक तिमाही का असली आंकड़ा नहीं.
किसी ने बिज़नेस टु़डे के ग्राफिक से छेड़छाड़ करके अमेरिका के नंबर्स को 32.9 प्रतिशत बता दिया. ये ग़लत है. अमेरिका के लिए ये सालाना अनुमानित आंकड़ा है, किसी एक तिमाही का असली आंकड़ा नहीं.

बकौल राजीव दुबे,

कुछ लोग एनुअलाइज़ड डेटा को रियल टाइम डेटा के साथ कन्फ्यूज़ कर रहे हैं. जो आंकड़े हमने दिखाए हैं, वो रियल टाइम डेटा है. यानी ये हुआ है. ये एनुअलाइज़्ड डेटा नहीं है कि हम गिरावट का अनुमान लगा रहे हों. कुछ लोग इसे QoQ डेटा के साथ भी मिक्स कर दे रहे हैं. अर्थशास्त्र में एक तिमाही के आंकड़ों की तुलना दूसरी तिमाही से करने का भी चलन है. लेकिन पूरी दुनिया में वित्त वर्ष एक सा नहीं होता. कई देशों(जैसे- अमेरिका, ब्रिटेन) में ये जनवरी से शुरू होता है, जबकि हमारे यहां अप्रैल से मार्च तक चलता है. जब तक हम 3 महीने का डेटा निकालते हैं, वो 6 महीने का रिलीज़ कर चुके होते हैं. इसलिए बीते साल की किसी एक तिमाही की अगले साल की उसी तिमाही से तुलना करना ज़्यादा बेहतर रहता है. अमेरिका में 32 प्रतिशत गिरावट एक एनुअलाइज़्ड डेटा है. अगर भारत के लिए भी ये डेटा देखना हो, तो आज के हिसाब से ये सिकुड़न 66.5 प्रतिशत से ज़्यादा दर्ज होगी.

तो बिज़नेस टुडे ने नया इंफोग्राफिक क्यों रिलीज़ किया?

इसके जबाब में राजीव दुबे कहते हैं कि पहला ग्राफिक रिलीज़ होने के बाद अमेरिका और इटली ने अपने डेटा में सुधार किया था. पाठकों तक बिल्कुल सटीक जानकारी पहुंचे, इसलिए सुधारे गए आंकड़ों के साथ नया इंफोग्राफिक बनाया गया. लेकिन आंकड़े ग़लत हैं या उन्हें दिखाया ग़लत गया है, ये कयास बेबुनियाद हैं.

जब इटली और अमेरिका ने अपने नंबर सुधारे तो बिज़नेस टुडे ने भी अपने ग्राफ़ को अपडेट किया. लेकिन इससे भारत के नंबर्स में कोई बदलाव नहीं आया.
जब इटली और अमेरिका ने अपने नंबर सुधारे तो बिज़नेस टुडे ने भी अपने ग्राफ़ को अपडेट किया. लेकिन इससे भारत के नंबर्स में कोई बदलाव नहीं आया.

ज़्यादातर लोग इस तकनीकी बिंदु की जानकारी के अभाव में ऐसा कह रहे है. जो बिजनेस टुडे ने दिखाया है या लल्लनटॉप ने दिखाया है, वही सही जानकारी है. भारतीय GDP वाकई 23.9 फीसदी गिरी है.

मीडिया रिपोर्ट्स दिखाकर किया जा रहा दावा ग़लत है. मीडिया रिपोर्ट्स में दिए गए आंकड़े एनुअलाइज़्ड डेटा पर आधारित हैं.
मीडिया रिपोर्ट्स दिखाकर किया जा रहा दावा ग़लत है. मीडिया रिपोर्ट्स में दिए गए आंकड़े एनुअलाइज़्ड डेटा पर आधारित हैं.

कुल मिलाकर इस भ्रम का निवारण अर्थशास्त्र में है. हमने जो दिखाया, वो हो चुका है. भारत सरकार के आंकड़े हैं. अमेरिका में गिरावट के जो आंकड़े दिखाए जा रहे हैं, वो सालाना अनुमान है. संभावना या आशंका है. तथ्य नहीं कि ग़लत साबित ना हों. पढ़ते रहिए लल्लनटॉप.


दी लल्लनटॉप शो: अर्थव्यवस्था की खस्ता हालत कैसे सुधारेगी मोदी सरकार?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

कौन हो तुम

IPL सिर पर है, पर टीम मालिकों की नज़र इंग्लैंग-ऑस्ट्रेलिया सीरीज़ पर क्यों टिकी है?

IPL सिर पर है, पर टीम मालिकों की नज़र इंग्लैंग-ऑस्ट्रेलिया सीरीज़ पर क्यों टिकी है?

UAE में सिर्फ मुंबई इंडियंस के खिलाड़ी ही टेंशन फ्री होकर प्रैक्टिस कर रहे हैं.

विधायक विजय मिश्रा, जिन्हें यूपी पुलिस लाने लगी तो बेटियां बोलीं- गाड़ी नहीं पलटनी चाहिए

विधायक विजय मिश्रा, जिन्हें यूपी पुलिस लाने लगी तो बेटियां बोलीं- गाड़ी नहीं पलटनी चाहिए

चलिए, विधायक जी की कन्नी-काटी जानते हैं.

नेशनल हैंडलूम डे: और ये है चित्र देखो, साड़ी पहचानो वाली क्विज

नेशनल हैंडलूम डे: और ये है चित्र देखो, साड़ी पहचानो वाली क्विज

कभी सोचा नहीं होगा कि लल्लन साड़ियों पर भी क्विज बना सकता है. खेलो औऱ स्कोर करो.

सौरव गांगुली पर क्विज़!

सौरव गांगुली पर क्विज़!

सौरव गांगुली पर क्विज़. अपना ज्ञान यहां चेक कल्लो!

कॉन्ट्रोवर्सियल पेंटर एमएफ हुसैन के बारे में कितना जानते हैं आप, ये क्विज खेलकर बताइये

कॉन्ट्रोवर्सियल पेंटर एमएफ हुसैन के बारे में कितना जानते हैं आप, ये क्विज खेलकर बताइये

एमएफ हुसैन की पेंटिंग और विवाद के बारे में तो गूगल करके आपने खूब जान लिया. अब ज़रा यहां कलाकारी दिखाइए.

'हिटमैन' रोहित शर्मा को आप कितना जानते हैं, ये क्विज़ खेलकर बताइए

'हिटमैन' रोहित शर्मा को आप कितना जानते हैं, ये क्विज़ खेलकर बताइए

आज 33 साल के हो गए हैं रोहित शर्मा.

क्विज़: खून में दौड़ती है देशभक्ति? तो जलियांवाला बाग के 10 सवालों के जवाब दो

क्विज़: खून में दौड़ती है देशभक्ति? तो जलियांवाला बाग के 10 सवालों के जवाब दो

जलियांवाला बाग कांड के बारे में अपनी जानकारी आप भी चेक कर लीजिए.

बजट का कितना ज्ञान है, ये क्विज़ खेलकर चेक कर लो!

बजट का कितना ज्ञान है, ये क्विज़ खेलकर चेक कर लो!

कितना नंबर पाया, बताते हुए जाना. #Budget2020

संविधान के कितने बड़े जानकार हैं आप?

संविधान के कितने बड़े जानकार हैं आप?

ये क्विज़ जीत लिया तो आप जीनियस हुए.

क्रिकेट के पक्के वाले फैन हो तो इस क्विज़ को जीतकर बताओ

क्रिकेट के पक्के वाले फैन हो तो इस क्विज़ को जीतकर बताओ

कित्ता नंबर मिला, सच-सच बताना.