Submit your post

Follow Us

दिनेश कार्तिक : टीम इंडिया का बदकिस्मत विकेटकीपर

5 सितम्बर 2004. लॉर्ड्स! इंसान एक मामले में खुद भगवान से भी आगे हैं. वो ये कि सिर्फ इंसानों को लॉर्ड्स के मैदान में क्रिकेट खेलने को मिलता है. ऐसा ही एक खुशनसीब था. दिनेश कार्तिक. कीपिंग ग्लव्स पहनकर इंग्लैण्ड की इनिंग्स में उतरा. इंडिया की ओर से. इंडिया में तमिलनाडु की ओर से खेलता था. अब भी खेलता है. उस मैच की एक याद आज भी दिमाग में जमी पड़ी है. दिनेश कार्तिक इंडिया की जर्सी पहने ज़मीन पर लेटा हुआ था. माइकल वॉन को स्टम्प करने के बाद. उसका पहला इंटरनेशनल डिसमिसल.

लेकिन कार्तिक की समस्या ये रही कि उसका इंटरनेशनल करियर कभी भी एक स्मूद टेक-ऑफ नहीं ले पाया. रनवे पर ही घूमता रहा. ऐसे जैसे कि टेक ऑफ करने की परमीशन तो मिल गयी हो लेकिन आसमान में बादल ही बादल छाये हों. साल 2004 के ही आस पास उसने डोमेस्टिक क्रिकेट में अच्छा रन शुरू किया था. तेज़ी से रन बन रहे थे.

लेकिन उसी वक़्त महेंद्र सिंह धोनी उग रहे थे और स्टम्प के पीछे खड़े मिलते थे. लिहाज़ा डोमेस्टिक में लाख कोशिशों के बाद भी ज़्यादा कुछ हाथ नहीं आ रहा था. दिनेश कार्तिक वो था जो इंडिया की इंग्लैण्ड पर 2007 की जीत का एक बड़ा हिस्सेदार था. दिनेश कार्तिक के आने से वसीम जाफ़र को एक सपोर्ट मिला. इंडिया की ओपनिंग का सरदर्द खतम हुआ. सबसे बड़ी बात, ठन्डे मौसम, हरी पिच पर स्विंग होती हुई गेंदों को झेलने वाला मिल चुका था. लेकिन फिर वही किस्मत के साथ न देने वाली बात. टूर खतम और कार्तिक बाहर.

डोमेस्टिक मैचों में अभी भी दिनेश कार्तिक एक बड़ा नाम था. तमिलनाडु उसपर और कई मायनों में वो तमिलनाडु पर भरोसा कर रहा था. कार्तिक की मजबूती थी कि वो टर्निंग ट्रैक्स पर बीस साबित हो ही जाता था. घूमती गेंदों को बैठ के स्वीप करने का जादू कार्तिक सीख चुका था. मज़ेदार बात ये कि अब डोमेस्टिक मैचों में, जो काफी नीरस और एक समान चलते दिखाई देते थे, रिवर्स स्वीप जैसे शॉट्स मारे जाने लगे. कार्तिक की बदौलत. तेज़ कदम कार्तिक हालांकि कई बार स्टम्प के पीछे चूक जाते थे. बुरी बात ये कि ऐसा कई बार ज़रूरी मौकों पर होता था. 2014 में इंडियन टूर के लिए उन्हें वापस टीम में बुलाया गया. लेकिन वही हुआ. विकेट कीपिंग ने नैय्या डुबो दी.

2008-09 सीज़न में कार्तिक ने फर्स्ट क्लास में 1000 रन बनाये. कुल पांच सेंचुरी. एक स्कोर 213 का. इसी दौरान तमिलनाडु की कप्तानी भी की. सेमी फाइनल तक पहुंचे औ फिर बाहर. एक कदम पहले. बस. तबसे अब तक 2011, 13 को छोड़कर बैटिंग एवरेज 40 के ऊपर. माने देसी माइक हसी. स्टाइल नहीं सिर्फ ऐवरेज के मामले में.

एक उबाल और आया. जब धोनी ने टेस्ट में दस्ताने पहनने बंद किये. और कहा कि टेस्ट अब और नहीं. दिनेश कार्तिक एक बार अपने बिस्तर से कूदे ज़रूर होंगे. बैग पैक करने के लिए. लेकिन इस बार नम्बर ऋद्धिमान साहा का लगा. बंगाली बाबू मोशाय. स्टीरियोटाइप है लेकिन रिफरेन्स में राजेश खन्ना और अमिताभ हैं इसलिए चलेगा. चिल! वैसे साहा को भी इसलिए ही प्रेफ़रेन्स मिली क्यूंकि कीपिंग में साहा बेहतर हैं.

Karthik sweeping
Karthik sweeping

टीम से आना-जाना दिनेश कार्तिक से बेहतर कौन ही जानता होगा? और इसने कार्तिक की मुश्किलों को कुछ ख़ास आसान भी नहीं किया. 2004 में वन-डे में पार्थिव पटेल की जगह कार्तिक को मिली. अगस्त. नेटवेस्ट चैलेन्ज में एक बेहतरीन स्टम्पिंग कर सबका ध्यान भी खींचा. वही स्टम्पिंग जिसका ज़िक्र पहले भी हो चुका है. उसके ठीक बाद उन्हें ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ़ टेस्ट सीरीज़ के लिए भी बुलाया गया. ऐसा इंटरनेशनल आगाज़ बिरला ही होता है. लेकिन अगले दस मैचों में जब एक ही पचासा पड़ा तो फिर से टीम से बाहर.

कमबैक हुआ 2008 में. क्रिकेट के तीन फॉरमैटों के लिए उन्हें वापस बुलाया गया. इस बार वीज़ा पर मुहर लगी न्यूज़ीलैंड की. लेकिन फिर से गड्डमगड्ड परफॉरमेंस की वजह से टीम में पक्की जगह नहीं ही बन सकी. क्रीज़ पर दिनेश कार्तिक का होना कभी सुकून या आशा नहीं देता था. हमेशा विकेट गिरने की चिंता ही सताती थी जो देर-सबेर सच हो जाती थी.

लेकिन हर बुरे फेज़ के बाद एक अच्छा फेज़ किनारे ही खड़ा रहता था. दिनेश कार्तिक हमेशा आशावान रहता था. 2012-13 का डोमेस्टिक सीज़न अच्छा रहा. 2014 के चैंपियंस ट्रॉफी में वापसी हुई. टीम इंडिया की नीली जर्सी फिर से पहनने को मिली. लेकिन फिर से वही हाल. ऐवरेज से नीचे की परफॉरमेंस.

his keeping always let him down
his keeping always let him down

कार्तिक अगर अपने करियर को मुड़कर देखें तो वो ज़रूर ये सोचेंगे कि जो चाहा था वो नहीं मिला. मैं जब उनका करियर देखता हूं तो मानता हूं कि बेशक उसे जो मिलना चाहिए वो नहीं मिला. लेकिन सच्चाई ये भी है कि वो जो कर सकते थे, नहीं किया. नहीं हुआ. उन्हें अगर राहत मिली है तो शायद आईपीएल से. साढ़े बारह करोड़ में खरीदा दिल्ली डेयरडेविल्स ने. 2014 में. अगले साल 10.5 करोड़. रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर. और फिर 2016 आईपीएल में गुजरात लायंस. लेकिन कीमत महज़ 2.3 करोड़.

दिनेश कार्तिक का ये ग्राफ़ भले ही नीचे जा रहा हो, लेकिन 2007 वर्ल्ड कप में साउथ अफ्रीका के खिलाफ़ स्लिप में लिया कैच ताउम्र भुलाया नहीं जा सकता. साउथ अफ्रीका की इनिंग्स की दसवीं गेंद. आर पी सिंह. लेफ़्ट आर्म ओवर द विकेट. फुल लेंथ गेंद, बाहर की ओर जाती हुई. ऑफ स्टम्प से बाहर. ड्राइव के लिए एकदम सटीक गेंद. स्ट्राइक पर साउथ अफ़्रीका के सबसे चौड़े प्लेयर. ग्रीम स्मिथ. लेफ़्ट आर्म बॉलर्स से आउट होना जिनकी फितरत थी.

गेंद पड़ने के बाद और भी बाहर होती गयी. T20 गेंद की खासियत ही यही है कि एक बार आप फ़ैसला ले लें, तो उसे वापस लेने का भी वक़्त नहीं मिलता. स्मिथ फ़ैसला ले चुके थे. ड्राइव के लिए गए लेकिन स्विंग नहीं संभाल सके. बाहरी किनारा लगा और गेंद स्लिप में उठ गयी. स्पीड बहुत तेज़. लेकिन कार्तिक उड़ पड़े. उस वक़्त खेत से एक चूहे पर झपट्टा मार ले उड़ने वाला कोई बाज़ भी उनसे जलन खा सकता था. गेंद सीधे कार्तिक के हाथों में और साउथ अफ्रीका का स्कोर 12 पर 2 हो चुका था.

मैच का बाकी समय कार्तिक ने कीपिंग करते हुए बिताया. यही दिनेश कार्तिक हैं. अभी स्लिप में थे, अभी कीपिंग करने लगे. कुछ स्थिर नहीं. कुछ निश्चित नहीं. बस क्रिकेट.


ये भी पढ़ेंः

युवराज सिंह वो गर्लफ्रेंड है जो छोड़कर चली गई है और अब सपने में आती है

“आप जितनी गालियां सोच सकते हैं, मुझे ड्रेसिंग रूम में वो सभी दी गयीं”

जैसे सुपरहीरोज़ के बीच शक्तिमान, वैसे टीम इंडिया में मिसफिट रिद्धिमान

एक इनिंग्स में 9 विकेट लेने वाले इंडियन ने छेड़खानी के आरोप पर देश छोड़ दिया था

जिस झूलन को लड़कों ने स्लो बॉलर बोल के भगा दिया था वो आज शिखर पर बैठी है

 

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

कौन हो तुम

राज कुंद्रा की पूरी कहानी, 18 की उम्र में शॉल बेचने से शुरुआत करने वाले राज यहां तक कैसे पहुंचे?

राज कुंद्रा की पूरी कहानी, 18 की उम्र में शॉल बेचने से शुरुआत करने वाले राज यहां तक कैसे पहुंचे?

IPL स्कैंडल, मॉडल्स के आरोप, अंडरवर्ल्ड कनेक्शंस के आरोप, एक्स वाइफ के इल्ज़ाम सब हैं इस कहानी में.

रिचर्ड ब्रैनसन: जिन्होंने पहले अंतरिक्ष के दर्शन करके जेफ बेजोस का मजा खराब कर दिया

रिचर्ड ब्रैनसन: जिन्होंने पहले अंतरिक्ष के दर्शन करके जेफ बेजोस का मजा खराब कर दिया

रिचर्ड ब्रेन्सन की कहानी, जहां भी गए तहलका मचा दिया.

'सिंघम' IPS से तमिलनाडु BJP के सबसे युवा अध्यक्ष बने अन्नामलाई की कहानी

'सिंघम' IPS से तमिलनाडु BJP के सबसे युवा अध्यक्ष बने अन्नामलाई की कहानी

पहला चुनाव हार गए थे, बीजेपी ने राज्य की जिम्मेदारी सौंपी है.

'तड़प-तड़प के' जैसा प्रेमियों का ब्रेकअप एंथम देने वाले सिंगर के के आजकल कहां हैं?

'तड़प-तड़प के' जैसा प्रेमियों का ब्रेकअप एंथम देने वाले सिंगर के के आजकल कहां हैं?

उनके गाए 'पल' गाने के बगैर आज भी किसी कॉलेज का फेयरवेल पूरा नहीं होता.

कर लिया योगा? अब क्विज खेलने से होगा

कर लिया योगा? अब क्विज खेलने से होगा

आन्हां, ऐसे नहीं कि योग बस किए, दिखाना पड़ेगा कि बुद्धिबल कित्ता बढ़ा.

तमिल जनता आखिर क्यों कर रही है 'फैमिली मैन-2' का विरोध, क्या है LTTE की पूरी कहानी?

तमिल जनता आखिर क्यों कर रही है 'फैमिली मैन-2' का विरोध, क्या है LTTE की पूरी कहानी?

जब ट्रेलर आया था, तबसे लगातार विरोध जारी है.

माधुरी से डायरेक्ट बोलो 'हम आपके हैं फैन'

माधुरी से डायरेक्ट बोलो 'हम आपके हैं फैन'

आज जानते हो किसका हैप्पी बड्डे है? माधुरी दीक्षित का. अपन आपका फैन मीटर जांचेंगे. ये क्विज खेलो.

जिन मीम्स को सोशल मीडिया पर शेयर कर चौड़े होते हैं, उनका इतिहास तो जान लीजिए

जिन मीम्स को सोशल मीडिया पर शेयर कर चौड़े होते हैं, उनका इतिहास तो जान लीजिए

कौन सा था वो पहला मीम जो इत्तेफाक से दुनिया में आया?

पार्टियों को चुनाव निशान के आधार पर पहचानते हैं आप?

पार्टियों को चुनाव निशान के आधार पर पहचानते हैं आप?

चुनावी माहौल में क्विज़ खेलिए और बताइए कितना स्कोर हुआ.

लगातार दो फिफ्टी मारने वाले कोहली ने अब कहां झंडे गाड़ दिए?

लगातार दो फिफ्टी मारने वाले कोहली ने अब कहां झंडे गाड़ दिए?

राहुल के साथ यहां भी गड़बड़ हो गई.