Submit your post

Follow Us

कोरोना से दुनिया भर के सेलेब्रिटी खिलाड़ी लड़ रहे हैं, हमारे धोनी सर कहां गायब हैं?

पांच अप्रैल 2005 का दिन था, विशाखापट्टनम का मैदान था. पाकिस्तान के खिलाफ मैच था. एक खिलाड़ी अचानक से नंबर तीन पर उतरता है और 148 रन ठोककर दुनिया को बता देता है कि मैं आ गया हूं. नाम एमएस धोनी. धोनी की इस पारी को आप ट्रेलर से पहले आने वाला टीज़र समझ लीजिए. इसके बाद तो ऐसी कई पारियां और कई मौके आए. धोनी देश के नए हीरो हुए थे. सचिन, सौरव, द्रविड़ के बाद अगला नाम था एमएस धोनी का.

2007 और 2011 का विश्वकप जिताया. दुनिया ने सिर पर बैठा लिया. धमाकेदार बल्लेबाज़ी, लंबे-लंबे बाल, कातिल हंसी, हीरो वाली चाल. धोनी के पास क्या कुछ नहीं था, एक सुपरस्टार बनने के लिए! खेल के साथ-साथ शानदार स्टाइल भी.

साल 2020 आ गया है. साल के आखिर में टी20 विश्वकप होगा भी या नहीं, अभी कोई नहीं जानता. लेकिन फिर भी देश में करोड़ों ऐसे फैंस हैं जो चाहते हैं कि धोनी फिर से टीम इंडिया में एक बार आएं और अपनी झलक दिखा जाएं.

आज धोनी का कद कितना बड़ा है ये बताने की ज़रूरत नहीं है. धोनी अगर आज कोई चुनाव लड़ लें तो हंसते-खेलते जीत जाएं. धोनी के लिए देश में ऐसे जज़्बात हैं कि लोग मैदान में आकर पैर छूने लगते हैं. उन्हें ‘थला’ (बड़ा भाई) बुलाते हैं. उनके टीम से बाहर होने पर सड़कों पर प्रदर्शन करने लगते हैं. धोनी के खिलाफ बड़े से बड़े दिग्गज़ भी बोलने से पहले सोचते हैं. आखिर वो धोनी कहां हैं? किसी को दिखे हैं क्या?

Dhoni Raina 800
हाल ही में प्रैक्टिस पर लौटे थे CSK के Mahendra Singh Dhoni और Suresh Raina (फाइल फोटो, सोशल मीडिया से साभार)

हां दिखे थे, हफ्ते भर पहले. चेन्नई में सीएसके कैम्प में प्रेक्टिस करते. दिखे थे, वापस फ्लाइट में चढ़कर रांची जाते. दिखे थे, रांची की सड़कों पर फर्राटेदार बाइक चलाते.

लेकिन क्या धोनी दिखे, एक बार भी इस मुश्किल घड़ी में लोगों को सांत्वना देते हुए? क्या धोनी किसी अस्पताल में मास्क बांटते दिखे? ये सब छोड़ भी दीजिए, क्या वो कम से कम इतना भी करते दिखे जो विराट से लेकर देश के कई बड़े-बड़े सितारे करते दिख रहे हैं? यानि सोशल मीडिया पर लोगों से संभलकर रहने की अपील करते?

नहीं, धोनी नहीं दिखे. वो आखिरी बार सोशल मीडिया पर दिखे थे फेसबुक पर 17 मार्च को. म्यूचुअल फंड का फायदा बता रहे थे. ट्विटर पर उनका आखिरी पोस्ट 14 फरवरी के दिन आया था. वो कान्हा टाइगर रिज़र्व से टाइगर की फोटो खींचकर लाए थे.

Mahi New
माही की एक ऐड की तस्वीर. फोटो: MS facebook

ये मायूस करने वाली बात है. उन करोड़ों देशवासियों के लिए जो इन बड़े-बड़े हीरोज़ के लिए दिन-रात जाग-जागकर मैच देखते हैं.  इनके लिए आखिरी गेंद तक जीत-हार की दुआएं पढ़ते हैं. आखिर जब देश को उनकी ज़रूरत होती है तो वो ऐसी कौन सी स्ट्रेटेजी बनाने चले जाते हैं, जो मैदान (सड़क) पर कभी अमल में नहीं आती.

हाल ही में एक रिपोर्ट आई है, जिसमें सरकार के पास फंड की कमी वाली बात कही गई है. देश को कोरोना जैसी महामारी से लड़ने के लिए बड़े फंड की ज़रूरत है. बांग्लादेश के 27 खिलाड़ियों ने अपनी आधी मैच फीस दान कर दी है. लेकिन हमारे ये सितारें ना जानें कब नज़र आएंगे! देश के कई राजनेता इस ज़िम्मेदारी में हाथ आगे बढ़ाते दिख रहे हैं. हरियाणा के सभी विधायक दान कर रहे हैं, कई सासदों ने अपनी सांसद निधि से पैसा दिया है. लेकिन खेल जगत से हमारे दिग्गज़ कहां हैं, नज़र नहीं आता. जबकि दुनियाभर में कई स्पोर्ट्समन दिखा रहे हैं कि वो सच में असली हीरो हैं. सिर्फ पर्दे के ही नहीं.

मैं अपने साथी सूरज की एक रिपोर्ट का ज़िक्र करूंगा. जिसमें उन्होंने बताया कि किस तरह से यूरोप और विदेशों के कई स्पोर्ट्सपर्सन्स ने ना सिर्फ लोगों को सांत्वना दी बल्कि बड़ा दिल भी दिखाया.

उनकी रिपोर्ट के आधार पर आपको बताते हैं कि विदेशों में किन खिलाड़ियों ने क्या किया है.

# फ्रांस के रहने वाले फुटबॉलर पॉल पोग्बा ब्रिटिश स्वास्थ्यकर्मियों के लिए पैसे खर्च कर रहे हैं.
# स्वीडन के रहने वाले फुटबॉलर ज़्लाटन इब्राहिमोविच इटली के अस्पतालों की मदद कर रहे हैं.
# पोलैंड के रॉबर्ट लेवांडोव्स्की और उनकी बीवी एना ने मिलकर 10 लाख यूरो की रकम दान की है.
# जर्मन क्लब बायर्न म्यूनिख में उनके साथ खेलने वाले लिओन गोरेत्ज़का और जोशुआ किमिख ने मिलकर ‘वी किक कोरोना’ नाम से फंड शुरू किया है. दोनों ने मिलकर इसमें 10 लाख यूरो की रकम दी है. वी किक कोरोना में अब तक 25 लाख यूरो इकट्ठा हो चुके हैं.
# अमेरिकी एथलीट्स ने मिलकर एथलीट्स रिलीफ के नाम से एक मुहिम ही छेड़ दी है.
# पाकिस्तान में शाहिद अफरीदी भी लगातार खाने का सामान और ज़रूरत की चीज़ें, ज़रूरतमंदों तक पहुंचाकर मदद कर रहे हैं.
# वहीं भारत में इरफान पठान और उनके भाई यूसुफ पठान ने किसी ना किसी तरह से लोगों की मदद की है.

लेकिन हिन्दुस्तान के बड़े खिलाड़ी ज़मीन पर नहीं दिखते, जिन्होंने बड़े-बड़े ब्रांड्स से करोड़ों रूपये कमाए हैं. जिनकी तस्वीर देखकर हिन्दुस्तान के करोड़ों लोग भरोसा कर लेते हैं. ना जाने कितने ब्यूटी प्रॉडक्ट्स, कितने टर्म-लाइफ इंश्योरेंस और यहां तक कि कितने फ्लैट्स और अपार्टमेंट्स. सिर्फ इन दिग्गज़ों के नाम और चेहरे पर भरोसा करके लोगों ने ले लिए.

लेकिन आज ये महानुभव कहीं नहीं दिखते. अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर अपील करते हुए भी नहीं.

महेंद्र सिंह धोनी
महेंद्र सिंह धोनी

धोनी साहब, इस देश ने हर उस नाज़ुक मौके पर आपका हौंसला बढ़ाया है, जब कभी आप मुश्किल में फंसे. जब कभी आपके खराब प्रदर्शन पर तलवार लटकी, ये देश आपके साथ था. जब कभी आपको टीम से बाहर करने की बात दबी आवाज़ में भी हुई, तो इस देश ने ही उस आवाज़ को दबा दिया.

आज भी ना जानें कितने ऐसे खेलप्रेमी हैं जो इस मुश्किल वक्त में भी आईपीएल देखना चाहते हैं. और चाहते हैं कि उनका वो हीरो फिर से आईपीएल के रास्ते ही टीम में वापसी करे. और एक बार फिर से टी20 विश्वकप में खेले और रवि शास्त्री की उसी लाइन के साथ टी20 विश्वकप खत्म हो, जो उन्होंने 2011 में कही थी.

”Dhoni finishes off in style.” (धोनी फिनिशिस ऑफ इन स्टाइल)

Ms New
एमएस धोनी. फोटो: Getty Images

आज जब देश पर इतनी बड़ी आपदा आई है, तो आपका इस तरह से चुप बैठना, अच्छा नहीं लगता. धोनी सर, अब आपको और आप जैसे हमारे दिग्गज़ क्रिकेटर्स को ये सोचना ही होगा कि आपको सिर्फ मैदान या पर्दे का हीरो बने रहना है, या फिर इस नाज़ुक वक्त में असली हीरो बनकर हिन्दुस्तान के साथ कंधे से कंधा मिलाकर खड़े होना है. 


कोरोना वायरस से इटली में मची आफत के बीच लड़ने आ गया ये फुटबालर 

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

कौन हो तुम

90000 डॉलर का कर्ज़ा उतारकर प्राइवेट जेट खरीद लिया था इस 'गैंबलर' ने

उस अमेरिकी सिंगर की अजीब दास्तां, जो बात करने के बजाए गाने में ज़्यादा कंफर्टेबल महसूस करता था

YES Bank शुरू करने वाले राणा कपूर कौन हैं, जिन्होंने नोटबंदी को 'मास्टरस्ट्रोक' बताया था

यस बैंक डूब रहा है.

सात साल पहले केजरीवाल ने वो बात कही थी जो आज वो ख़ुद नहीं सुनना चाहते

बरसों पुरानी इस बात की वजह से सोशल मीडिया पर घेर लिए गए हैं.

क्या भारत सरकार से पूछे बिना पाकिस्तान चली गई इंडियन कबड्डी टीम?

अब ढेरों खेल-तमाशा हो रहा है.

बजट का कितना ज्ञान है, ये क्विज़ खेलकर चेक कर लो!

कितना नंबर पाया, बताते हुए जाना. #Budget2020

संविधान के कितने बड़े जानकार हैं आप?

ये क्विज़ जीत लिया तो आप जीनियस हुए.

क्रिकेट के पक्के वाले फैन हो तो इस क्विज़ को जीतकर बताओ

कित्ता नंबर मिला, सच-सच बताना.

सलमान खान के फैन, इधर आओ क्विज खेल के बताओ

क्विज में सही जवाब देने वाले के लिए एक खास इनाम है.

QUIZ: देश के सबसे महान स्पोर्टसमैन को कितना जानते हैं आप?

आज इस जादूगर की बरसी है.

चाचा शरद पवार ने ये बातें समझी होती तो शायद भतीजे अजित पवार धोखा नहीं देते

शुरुआत 2004 से हुई थी, 2019 आते-आते बात यहां तक पहुंच गई.